मौखिक कैंसर या मुंह के कैंसर के लिए सर्जरी सबसे पहला विकल्प है, विशेषकर शुरुआती चरणों में जब कैंसर अधिक नहीं फैला होता है। मौखिक गुहा या ओरल कैविटी के किस भाग में कैंसर है उसके अनुसार भिन्न तरह की सर्जरी होती है। पहली सर्जरी में रेडिएशन थेरेपी, कीमोथेरेपी या कोई अन्य थेरेपी साथ की जा सकती है, ताकि शरीर की कार्य प्रक्रिया ठीक तरह से चलती रहे। इसके साथ अन्य ट्रीटमेंट जैसे स्पीच थेरेपी, डेंटल केयर और न्यूट्रिशनल थेरेपी दी जा सकती है, ताकि मरीज जल्दी से ठीक हो जाए।

  1. मुंह के कैंसर का ऑपरेशन क्या है - Oral Cancer Surgery kya hai
  2. मुंह के कैंसर के ऑपरेशन की तैयारी - Oral Cancer Surgery ki taiyari
  3. मुंह के कैंसर का ऑपरेशन कैसे होता है - Oral Cancer Surgery kaise hoti hai
  4. मुंह के कैंसर के ऑपरेशन के बाद देखभाल - Oral Cancer Surgery ke baad dekhbhal
  5. मुंह के कैंसर के ऑपरेशन की जटिलताएं - Oral Cancer Surgery ki jatiltain

मौखिक कैंसर सर्जरी (ओरल कैंसर सर्जरी) को आपकी मौखिक गुहा में मौजूद कैंसर कोशिकाओं या ट्यूमर को निकालने के लिए किया जाता है। सर्जरी मुख्य रूप से इसीलिए की जाती है, ताकि कैंसर आपके शरीर के अन्य भागों में न फैले। इसलिए, सर्जरी करने का उद्देश्य कैंसर प्रभावित ऊतकों को दूर करना है, जिससे मुंह को न्यूनतम नुकसान हो। सर्जरी में कैंसरयुक्त लिम्फ नोड्स को भी निकाला जा सकता है। इसके अलावा, अन्य आसपास के लिम्फ नॉड्स भी हटाए जा सकते हैं।

ओरल कैंसर सर्जरी के परिणाम बहुत अच्छे आते हैं विशेषकर अगर ट्यूमर शरीर के अन्य अंगों तक न फैला हो। 

ओरल कैविटी, दांतों और गले की लसिका ग्रंथियों की जांच की जाएगी जो कि परीक्षण के लिए जरूरी है। परीक्षण की पुष्टि करने के लिए माइक्रोस्कोपिक परीक्षण द्वारा छोटा सा मांस लिया जाएगा और ट्रीटमेंट के तरीके का पता लगाया जाएगा। कैंसर कितना ज्यादा फैल गया है इसकी जांच करने के लिए सीटी स्कैन किया जाता है। कुछ मामलों में एमआरआई या पेट स्कैन की भी सलाह दी जाती है। 

एक बार परीक्षण हो जाने के बाद सर्जरी का तरीका तय हो जाता है और निम्न चीज़ें करनी होती हैं -

  • यदि सर्जरी से पहले आपके कोई भी सवाल हैं तो उन्हें सर्जन से पूछ लें 
  • यदि आप किसी भी तरह की दवा ले रहे हैं या फिर आपको कोई भी अन्य मेडिकल स्थिति है तो इसके बारे में डॉक्टर को बता दें। ताकि यह बाद में सर्जरी को प्रभावित न करे
  • सर्जरी से पहले कैविटी वाले दांतों, मसूड़े की समस्या आदि को ठीक किया जाता है ताकि सर्जरी में समस्या न हो

सर्जरी से पहले डॉक्टर आपको अनुमति फॉर्म भरने को कहेंगे।

मौखिक कैंसर को हटाने के लिए कई तरीके हैं। आपके द्वारा आवश्यक सर्जरी की मात्रा आपके कैंसर के चरण पर भी निर्भर करती है। प्रारंभिक चरण के लिए, लेजर सर्जरी का उपयोग करके कैंसर को हटाया जा सकता है।

मौखिक कैंसर के लिए अधिकांश ऑपरेशन प्रमुख सर्जरी होती है, हटाए जाने वाले ऊतकों की मात्रा इस बात पर निर्भर करती है कि कैंसर किस जगह है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी जीभ कैंसर से प्रभावित होती है, तो आप अपनी जीभ के एक बड़े हिस्से को निकाल सकते हैं।

मौखिक कैंसर (ओरल कैंसर) सर्जरी में निम्नलिखित शामिल हैं -
प्राथमिक ट्यूमर रिसेक्शन
यह सर्जरी ट्यूमर और उसके आसपास के ऊतकों को हटाने के लिए की जाती है। इस प्रक्रिया में कैंसर ग्रस्त क्षेत्र के सीमान्त ऊतकों के साथ पूरे कैंसर को हटाना शामिल है। इससे यह आश्वासन मिलता है कि कैंसर पूरी तरह समाप्त हो चुका है। सर्जन कैंसर के ऊतकों को इकट्ठा करके उन्हें लैब में भेजेगा। पैथोलॉजी लैब में, इन ऊतकों के नमूने की जांच की जाती है। यदि ऊतक के किनारे पर कोई कैंसर कोशिका नहीं पाई जाती हैं, तो यह स्पष्ट मार्जिन को इंगित करता है।

यदि ट्यूमर छोटा है और सर्जन के लिए पहुंच योग्य है, तो आपके मुंह के माध्यम से सर्जरी की जा सकती है। बड़े ट्यूमर होने के मामले में, सर्जन ट्यूमर तक पहुंचने के लिए आपके जबड़े की हड्डी या गर्दन के माध्यम से चीरा बना कर सर्जरी कर सकते हैं। इस प्रक्रिया को मैन्डीबुलोटोमी के रूप में जाना जाता है।

मैंडिब्यूलर रिसेक्शन
यदि कैंसर से आपके जबड़े की हड्डी पर असर पड़ता है, तो आपका चिकित्सक आपको मैंडिब्यूलर रिसेक्शन कराने का सुझाव देगा। इस सर्जरी में ट्यूमर के साथ-साथ आपके जबड़े के ऊतकों और हड्डी के कुछ भाग या पूरे हिस्से को हटा देना शामिल है। सर्जरी में पार्शियल थिकनेस रिसेक्शन या फुल थिकनेस रिसेक्शन हो सकता है।

पार्शियल थिकनेस रिसेक्शन में आपके जबड़े की एक पतली परत को निकला जाता है जो आपके दांतों को समाविष्ट करता है। यह तब किया जाता है जब आपके चिकित्सक को संदेह होता है कि कैंसर ने आपके जबड़े की हड्डी को प्रभावित किया हो, भले ही एक्स-रे में ऐसे लक्षण नहीं दिखाई दिए हों।

फुल थिकनेस रिसेक्शन में पूरे जबड़े की हड्डी को हटा दिया जाता है, इस सर्जरी का सुझाव उन रोगियों को दिया जाता है, जिनके एक्स-रे रिपोर्ट से यह पता चलता है कि कैंसर ने उनके जबड़े की हड्डी को प्रभावित किया है।

मैक्सिलेक्टोमी
यदि कैंसर के ट्यूमर आपके मुंह (तालू) की ऊपरी सतह की हड्डियों में फैल गया है, तो आपको इनमें से एक या अधिक हड्डियों को निकालने के लिए मैक्सिलेक्टोमी की आवश्यकता होती है। इस ऑपरेशन में दो श्रेणियां हैं - पार्शियल मैक्सिलेक्टोमी और फुल मैक्सिलेक्टोमी - इन दोनों सर्जरियों में आपके तालू में नाक के लिए एक जगह छोड़ी जाती है। नाक और मुंह के बीच विभाजन बनाने के लिए और खाली जगह को भरने के लिए उस क्षेत्र में आपका सर्जन पुनर्निर्माण सर्जरी कर सकता है। 

मोहस 'सर्जरी 
मोहस सर्जरी को माइक्रोग्राफिक सर्जरी के रूप में भी जाना जाता है। स्किन कैंसर का इलाज करने के लिए यह एक उन्नत उपचार प्रक्रिया है। यदि कैंसर से आपके होंठ प्रभावित हुए हैं, तो यह सर्जरी इसके लिए बहुत प्रभावी है। इस सर्जरी की प्रक्रिया में आपके होंठ की एक पतली परत से कैंसर हटाया जाता है। जब तक सर्जन को कैंसर मुक्त परत नहीं मिलती है तब तक प्रत्येक परत की जांच होती है। यह सर्जरी बहुत उपयोगी है, क्योंकि इसमें ऊतकों की न्यूनतम मात्रा को हटाने की सम्भावना होती है। हालांकि, होंठ से हटाए गए ऊतकों की मात्रा आपके चेहरे की दिखावट पर फर्क डाल सकती है।

ग्लोसेक्टमी
इसमें दो प्रकार होते हैं; पार्शियल ग्लोसेक्टमी और फुल ग्लोसेक्टमी। पार्शियल ग्लोसेक्टमी में आपकी जीभ का एक हिस्सा निकाला जाता है। फुल ग्लोसेक्टमी में आपकी पूरी जीभ निकाली जाती है। ये सर्जरी केवल तब ही की जाती हैं जब कैंसर को ख़त्म करना बहुत ज़रूरी हो जाता है। मरीजों को यह काफी भयावह महसूस होता है जब उन्हें ग्लोसेक्टमी सर्जरी कि सलाह दी जाती है। जीभ कैंसर के अधिकांश मामलों में रेडियोथेरेपी या कीमोथेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है।

इस सर्जरी के बाद आपके बोलने के तरीके में बहुत अंतर आएगा और साथ ही आपके खाने-पीने की आदतों में भी बहुत बदलाव आएगा। पार्शियल ग्लोसेक्टमी में आपकी आधे से कम जीभ को हटाया जाता है। कुल ग्लोससेक्टमी के मामले में, आपका सर्जन आपकी जीभ को पुनर्निर्मित कर सकता है।

लैरिंजेक्टोमी

आपके लैरिंक्स को हटाने के लिए की जाने वाली सर्जरी (वॉयस बॉक्स) को लैरिंजेक्टोमी कहा जाता है। अगर आपकी जीभ पर बड़े कैंसरयुक्त ट्यूमर हैं तो उसके लिए ऊतकों को हटाने की आवश्यकता है, जो आपको निगलने में सहायता करते हैं। एक संभावित जटिलता यह हो सकती है कि भोजन आपके ट्रेकिआ (विंडपाइप) और फेफड़ों में प्रवेश कर सकता है। इससे चोकिंग (श्वसन मार्ग में अवरोध) और फेफड़ों में संक्रमण हो सकता है। यदि कैंसर अधिक जोखिम भरा दिखता है, तो आपका सर्जन आपकी जीभ के ट्यूमर के साथ-साथ आपके पूरे लैरिंक्स या इसके एक भाग को निकाल सकता है।

लैरिंक्स एक अंग है जो आपको सांस लेने में सहायता देता है। यदि यह अंग हटा दिया जाए, तो आपका सर्जन आपके ट्रेकिआ के अंत को आपकी गर्दन को जोड़ने वाले छिद्र में जोड़ देगा। फिर आप छिद्र के माध्यम से सांस ले सकते हैं। आपकी गर्दन में मौजूद इस छेद को स्टोमा या ट्रैकिओस्टोमी कहा जाता है।

दांतों को हटाना और दंत प्रत्यारोपण

आपके कुछ दांतों या सभी दांतों को पहले रेडियोथेरेपी से हटाया जा सकता है। सर्जरी के दौरान या सर्जरी के बाद में दंत प्रत्यारोपण किया जा सकता है। 

पुनर्निर्माण सर्जरी 

उपरोक्त कुछ प्रक्रियाओं के लिए पुनर्निर्माण सर्जरी की आवश्यकता होती है।  यदि आपके ऊतकों का एक बड़ा हिस्सा कैंसर सर्जरी के दौरान हटा दिया जाता है, तो आपका सर्जन उस हिस्से या अंग का पुनर्निर्माण कर सकता है। वे इस प्रक्रिया में निम्न विधियों का उपयोग कर सकते हैं :

शरीर के दूसरे हिस्सों के ऊतकों का उपयोग करना

जिस सर्जरी में शरीर के एक हिस्से के ऊतकों को दूसरे हिस्से में उपयोग किया जाता है इसे फ्लैप की मरम्मत या फ्री फ्लैप पुनर्निर्माण कहा जाता है। उदाहरण के लिए, यदि आपके सर्जन ने आपके मुंह की परत को हटाया है, तो आपकी आंत्र से ऊतक या आपकी बाहों, पीठ या पेट क्षेत्र से मांसपेशियों का इस्तेमाल किया जा सकता है। सूक्ष्म संवहनी तकनीक का इस्तेमाल करके छोटी रक्त वाहिकाओं को माइक्रोस्कोप से टांका जाता है। यह विशेष रूप से प्रशिक्षित सर्जनों द्वारा किया जाता है।

फ्लैप की मरम्मत के बाद, आपके डॉक्टर और नर्स यह सुनिश्चित करेंगे कि फ्लैप को अच्छी मात्रा में रक्त मिल रहा है, ताकि रक्त से ऑक्सीजन और पोषक तत्व से ऊतकों को ठीक होने में मदद मिले। यह सुनिश्चित करने के लिए कि फ्लैप ठीक से काम कर रहा है, उस क्षेत्र की ढंग से जांच की जाती है।

त्वचा उपरोपण करना या स्किन ग्राफ्ट

इस प्रक्रिया में आपकी त्वचा के एक क्षेत्र पर आपके शरीर के अन्य क्षेत्र से ली गई त्वचा का उपरोप होता है। आपके सर्जन आपके फ्लैप को त्वचा उपरोपण से ढक सकते हैं। यह आपकी आंतरिक जांघ से त्वचा की एक पतली परत लेकर किया जाता है, इस साइट को डोनर साइट के रूप में जाना जाता है।

सर्जरी के बाद, डोनर साइट की त्वचा कुछ हफ्तों के भीतर ही बढ़ जाती है/ वापिस आ जाती है। कभी-कभी डोनर साइट से भारी मात्रा में त्वचा को हटाया जा सकता है। ऐसे अवसरों पर, डोनर साइट को एक साथ वापस टांक कर ठीक कर दिया जाता है।

त्वचा उपरोपण प्रक्रिया के बाद, नई त्वचा अपने आसपास के क्षेत्र से अलग दिखती है। इसमें रंग और सतह का अंतर देखा जा सकता है। आप पहले की तुलना में भी अलग दिखाई दे सकते हैं।

शरीर के दूसरे भाग की हड्डी का उपयोग करना

जब सर्जरी में आपके जबड़े की हड्डी को निकालने की आवश्यकता होती है, तो इसे आपके कूल्हे, पीठ या निचले पैर से ली गई हड्डियों का उपयोग करके प्रतिस्थापित किया जा सकता है।

लिम्फ नोड्स निकालना 

ओरल कैंसर आपके लिम्फ नोड्स में फैल सकता है। यदि आपकी लिम्फ नोड्स कैंसर से प्रभावित होती हैं तो उन्हें निकाला जा सकता है। इस प्रक्रिया को एक नैक डिसेक्शन कहा जाता है। नैक डिसेक्शन में आपके कुछ या सभी लिम्फ ग्रंथियों और उसके आसपास की प्रभावित संरचनाओं को हटा दिया जाता है। ज़्यादातर, सर्जन प्रभावित लिम्फ नोड्स का इलाज करने के लिए रेडियोथेरेपी का इस्तेमाल करते हैं, क्योंकि सर्जिकल तरीके से दीर्घकालिक दुष्प्रभाव होते हैं।

ऐसी कई बातें हैं, जिनका रोगियों को कैंसर ऑपरेशन के बाद पालन करना चाहिए।

अस्पताल में रिकवरी

यदि उनकी जीभ या जबड़े की हड्डियों के लिए पुनर्निर्माण सर्जरी की गयी है तो मरीजों को चेहरे के लिए व्यायाम सिखाए जाते हैं। तनाव को दूर करने के लिए ध्यान करने की सलाह दी जाती है। रोगियों को सलाह दी जाती है कि अस्पताल से घर जाने के बाद भी वे इन बातों का पालन करें।

अस्पताल में रहने के दौरान रोगियों की नब्ज़ की नियमित रूप से निगरानी की जाती हैं। रोगियों को उनके स्वास्थ्य और स्वास्थ्य स्थिति के आधार पर कुछ दवाएं निर्धारित की जाती हैं।

घर पर रिकवरी

डॉक्टर कैंसर के रोगियों के लिए आहार चार्ट तैयार करेंगे। स्वस्थ रहने के लिए आहार चार्ट का पालन करना चाहिए। आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाले भोजन में विभिन्न आवश्यक पोषक तत्व शामिल होते हैं जो आपके शरीर को तेजी से ठीक करने में सहायता करते हैं। आपके शरीर को मजबूत दवाओं को सहन करने में सक्षम होना चाहिए। इसलिए, पोषक आहार आपके शरीर को इसे सहन करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

फॉलो-अप अपॉइंटमेंट्स

सर्जरी के बाद, रोगी के लिए उनके स्वास्थ्य और रिकवरी स्थिति का ट्रैक रखना बहुत महत्वपूर्ण है

निम्न के बारे में जानने के लिए आपको अपने डॉक्टर के साथ फॉलो-अप अपॉइंटमेंट्स का पालन करना होगा  -

  • दवाएं कितनी अच्छी तरह से काम कर रही हैं
  • दुष्प्रभाव
  • उपचार, चिकित्सा या दवाओं में कोई परिवर्तन आवश्यक है कि नहीं 
  • अपनी नब्ज की जानकारी के लिए
  • आपका स्वस्थ्य दर 

सर्जरी के बाद जीवन

मौखिक कैंसर आपकी जीभ, होंठ, दांत, गले और आपके मुंह के आसपास के कई अन्य अंगों को प्रभावित कर सकता है। मौखिक कैंसर की सर्जरी जहां आपके जीभ, गले, आदि का कुछ भाग या पूरा भाग हटाया जाता है आपके जीवन को कई तरह से प्रभावित कर सकता है। बोलने, खाने और श्वास जैसी क्रियाएं ऐसी सर्जरी के बाद समस्या ग्रस्त हो सकती हैं। कभी-कभी, यदि जीभ को हटा दिया जाता है, तो चिकित्सक सर्जरी की सहायता से उसका पुनर्निर्माण करते हैं। लेकिन इसे ठीक होने के लिए समय की आवश्यकता होती है। ऐसे समय में, कोई थेरेपिस्ट आपकी सहायता कर सकता है

मौखिक कैंसर सर्जरी के बाद, मरीजों के चेहरे की दिखावट में कुछ बदलाव आ सकते हैं। कभी-कभी ऐसा परिवर्तन देखने में काफी निराशा होती है, आपका थेरेपिस्ट आपको तनाव से बचने के लिए कुछ दिशा-निर्देश दे सकता है।

यदि कैंसर का निदान पहले किया गया है तो कैंसर की वापसी की 20 फीसदी सम्भावना हमेशा होती है। मरीजों को हमेशा आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए, ताकि कैंसर को वापस आने से रोक सकें।

सावधानियां -

  • धूम्रपान से बचें
  • शराब से बचें
  • जब तक आपके आंतरिक ज़ख्म ठीक नहीं हो जाते तब तक सख्त भोजन लेने से बचें
  • समय-समय पर ड्रेसिंग बदलें
  • उन खाद्य पदार्थों से बचें, जिनसे आपकी चिकित्सा प्रक्रिया में परेशानी आ सकती है 
  • जब आप सो रहे हों तो अपना सिर ऊंचा रखें, ताकि आप उस क्षेत्र को क्षति न पहुंचा दें, जहां टांके लगे हों
  • इससे पहले कि आप अपना चेहरा धोएं या स्नान करें। सर्जरी हुए हिस्से को कवर करें ताकि पानी से टांके और जख्म प्रभावित न हों

आपके मौखिक खंड में हुई सर्जरी से होने वाले जोखिम और जटिलताएं आपके मुंह के कामकाज संबंधित कई कारकों पर प्रभाव डालती हैं। इनमें से कुछ निम्नलिखित हैं -

  • सांस लेने में परेशानी
  • खाने और बोलने में समस्याएं (अगर जीभ, गला, जबड़े या दांत निकाल दिए जाते हैं)
  • चेहरे की दिखावट में बदलाव
  • मौखिक कैंसर या कैंसर के किसी अन्य रूप की पुनरावृत्ति
  • संक्रमण
  • निशान पड़ना
और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. American Cancer Society [internet]. Atlanta (GA). USA; Surgery for oral cavity and oropharyngeal cancer
  2. American Head and Neck Society [Internet]. California. US; Oral Cancer – Frequently Asked Questions
  3. National Institute of Dental and Craniofacial Research [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Oral Cancer
  4. MedlinePlus Medical Encyclopedia [Internet]. US National Library of Medicine. Bethesda. Maryland. USA; Oral cancer
  5. The Oral Cancer Foundation [Internet]. California. US; Surgery
  6. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Oral Cancer: Surgery
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ