myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो क्या है?

एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो यूरिन में मौजूद एल्ब्यूमिन की कम मात्रा का पता करता है। यह गुर्दे के रोग का परीक्षण और स्थिति की गंभीरता की जांच करता है।

एल्ब्यूमिन एक प्रोटीन है जिसकी जरूरत हमारे शरीर को ऊतकों के विकास और टूटे हुए ऊतकों को ठीक करने के लिए होती है। आमतौर पर यूरिन में एल्ब्यूमिन नहीं पाया जाता है, हालांकि यह रक्त में मौजूद होता है। यदि आपके गुर्दे ठीक तरह से कार्य नहीं कर रहे हैं, तो एल्ब्यूमिन की कुछ मात्रा यूरिन में भी जा सकती है। यूरिन में एल्ब्यूमिन की मात्रा दिन के हर समय अलग हो सकती है।

दूसरी तरफ क्रिएटिनिन सामान्य तौर पर मांसपेशियों के टूटने से बना अपशिष्ट पदार्थ है। यह यूरिन में एक स्थिर गति से निकलता है। यूरिन में मौजूद क्रिएटिनिन की मात्रा से इसके यूरिन में सामान्य जमाव के बारे में पता चल जाता है जो कि एल्ब्यूमिन के स्राव की गंभीरता के बारे में एक मानक की तरह कार्य कर सकता है। यह टेस्ट यूरिन में मौजूद एल्ब्यूमिन की मात्रा के बारे में, एल्ब्यूमिन टेस्ट से ज्यादा सटीक परिणाम देता है।

यूरिन में एल्ब्यूमिन की छोटी सी मात्रा किडनी संबंधी रोग होने का संकेत दे सकती है। किडनी रोग का ठीक तरह से इलाज करने के लिए इसका समय पर परीक्षण करना जरूरी होता है ताकि भविष्य में होने वाली जटिलताओं से बचा जा सके।

गुर्दे खराब होना सिर्फ किडनी रोगों के कारण ही नहीं बल्कि शरीर के अन्य किसी हिस्सों में होने वाले रोगों के कारण भी यह स्थिति हो सकती है जैसे लुपस और डायबिटीज। लुपस में प्रतिरक्षा प्रणाली अपने शरीर के ऊतकों पर ही हमला करने लगती है। जिन लोगों को उच्च रक्त चाप या हृदय रोग संबंधी कोई समस्या है, तो उन्हें भी गुर्दे संबंधी रोग होने का खतरा हो सकता है।

  1. एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो क्यों किया जाता है - Albumin/creatinine ratio Kyu Kiya Jata Hai
  2. एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो से पहले - Albumin/creatinine ratio Se Pahle
  3. एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो के दौरान - Albumin/creatinine ratio Ke Dauran
  4. एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो के परिणाम का क्या मतलब है - Albumin/creatinine ratio Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो किसलिए किया जाता है?

डायबिटीज के कारण  होने वाले किडनी रोग की जांच करने के लिए यह टेस्ट किया जाता है। ऐसे लोग जिनकी उम्र बारह वर्ष से अधिक है और वे डायबिटीज से पीड़ित हैं तो उन्हें यह टेस्ट हर साल करवाना चाहिए। जिन लोगों को टाइप 1 डायबिटीज होती है उन्हें यह रोग होने के पांच साल बाद ये टेस्ट करवाना चाहिए और फिर हर साल यह टेस्ट करवाते रहना चाहिए।

यदि आपको उच्च रक्त चाप है तो डॉक्टर आपको समय-समय पर यह टेस्ट करवाने के लिए कह सकते हैं।

एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो की तैयारी कैसे करें?

इस टेस्ट के लिए किसी भी विशेष तैयारी की जरूरत नहीं होती। हालांकि, टेस्ट से पहले अधिक शारीरिक व्यायाम न करें, इससे टेस्ट के परिणाम प्रभावित हो सकते हैं।

इसके अलावा, यदि आप कोई भी विटामिन, सप्लीमेंट, दवाएं या फिर कोई नशीला पदार्थ ले रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं।

एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो कैसे किया जाता है?

डॉक्टर आपसे चौबीस घंटे के यूरिन सैंपल या फिर दिन के किसी भी समय का यूरिन सैंपल लेने के लिए कह सकते हैं। चौबीस घंटे के सैंपल लेने से ज्यादा आसान दिन के किसी भी समय का सैंपल लेना होता है और यह परीक्षण के लिए भी पर्याप्त होता है।

इस प्रक्रिया में आपको सैंपल लेने के लिए विशेष कंटेनर दिया जाएगा। नीचे सैंपल लेने का सही तरीका लिखा गया है:

रैंडम सैंपल 

  • अपने हाथ धोएं। 
  • साफ कपड़े से अपने जननांग को साफ करें। महिलाएं वेजाइना को आगे से पीछे तक पूरी तरह साफ करें और पुरुष पेनिस का सिरा साफ करें। 
  • यूरिन की कुछ बूंदे छोड़कर कंटेनर में पेशाब करें, मिड-स्ट्रीम यूरिन लें। 
  • कंटेनर को बंद कर के अपने हाथ धो लें। 

मिड-स्ट्रीम यूरिन सैंपल का मतलब है कि आप पेशाब की शुरुआती और आखिरी की बूंदें न लें। इस तरह से यूरिन सैंपल को आपके हाथों या मूत्राशय (एक ट्यूब जिससे यूरिन शरीर से बाहर आता है) के आस-पास की त्वचा में मौजूद बैक्टीरिया से संक्रमण का खतरा नहीं होता।

चौबीस घंटे के यूरिन सैंपल

चौबीस घंटे का यूरिन सैंपल लेने के लिए आपको एक कंटेनर में पूरे दिन का यूरिन लेना होगा। बेहतर होगा यदि आप यूरिन सैंपल सुबह से लेना शुरू करें। दिन के पहले यूरिन का सैंपल नहीं लिया जाता। अगले चौबीस घंटे का सारा सैंपल एक कंटेनर में लिया जाता है और इसे रेफ्रीजिरेटर में रख दिया जाता है। दिए गए निर्देशों के अनुसार सैंपल का कंटेनर लैब में ले जाएं।

एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो के रिजल्ट का क्या मतलब है?

इस टेस्ट के परिणाम आपकी उम्र, लिंग, स्वास्थ्य स्थिति और अन्य कारकों के अनुसार अलग आ सकते हैं।

सामान्य परिणाम:
एल्बुमिन/क्रिएटिनिन रेशो को एम/जी क्रिएटिनिन (Milligrams of albumin per gram of creatinine) के रूप में प्रदर्शित किया जाता है।
< 30 mg/g से कम एल्ब्यूमिन/क्रिएटिनिन रेश्यो को सामान्य माना जाता है और इसका मतलब है कि आपकी किडनी ठीक तरह से कार्य कर रही है। 

असामान्य परिणाम:
क्रिएटिनिन के 30-299 mg/g  में एल्ब्यूमिन की सामान्य बढ़ोतरी को माइक्रोएल्ब्यूमिन्यूरिया माना जाता है, यह किडनी रोग की शुरुआत के बारे में बताता है। यूरिन में एल्ब्यूमिन के अधिक स्तर गंभीर किडनी रोग में देखे जा सकते हैं। 

हालांकि, माइक्रोएल्ब्यूमिन्यूरिया निम्न कारणों से भी हो सकता है:

  • कार्डियोवैस्कुलर रोग
  • उच्च रक्तचाप
  • यूरिनरी ब्लीडिंग (पेशाब में खून आना)
  • हीमोग्लोबिन्यूरिया (लाल रक्त कोशिकाओं में मौजूद प्रोटीन हीमोग्लोबिन का यूरिन में पाया जाना)
  • मयोग्लोबिन्यूरिया (मांसपेशियों में मौजूद प्रोटीन मायोग्लोबिन का यूरिन में पाया जाना)

इसके अलावा, यूरिनरी इन्फेक्शन, यूरिन में रक्त और रक्त में अम्ल-क्षार के असंतुलन से भी माइक्रोएल्ब्यूमिन्यूरिया हो सकता है।

और पढ़ें ...

References

  1. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Microalbumin (Urine)
  2. National Kidney Disease Education Program [Internet]: National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases. US Department of Health and Human Services; Urine: Albumin-to-Creatinine Ratio (UACR)
  3. Lab Tests Online. Washington D.C.: American Association for Clinical Chemistry; 24-Hour Urine Sample
  4. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Assess Urine Albumin
  5. Nemours Children’s Health System [Internet]. Jacksonville (FL): The Nemours Foundation; c2017. Urine Test: Microalbumin-to-Creatinine Ratio
  6. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; 24-Hour Urine Collection
  7. UW Health [Internet]. Madison (WI): University of Wisconsin Hospitals and Clinics Authority; Health Information: Albumin Urine Test
  8. American Diabetes Association [internet]; Common Terms
  9. Lab Tests Online. Washington D.C.: American Association for Clinical Chemistry; Urine Albumin and Albumin to Creatinine Ratio
  10. Nah EH, Cho S, Kim S, Cho HI. Comparison of Urine Albumin-to-Creatinine Ratio (ACR) Between ACR Strip Test and Quantitative Test in Prediabetes and Diabetes. Ann Lab Med 2017 Jan; 37(1): 28–33. PMID: 27834062
  11. National Kidney Foundation [Internet]. New York (NY), U.S. Know Your Kidney Numbers: Two Simple Tests
  12. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Nephrotic Syndrome in Adults
  13. Pagana KD, Pagana TJ, Pagana TN. Mosby’s Diagnostic & Laboratory Test Reference. Microalbumin (MA). 14th ed. 2019. Pp:626-27
  14. National Health Service [internet]. UK; How should I collect and store a pee (urine) sample?
  15. Benioff Children's Hospital [internet]: University of California, San Francisco; Hemoglobinuria
  16. Trivedi DJ, Kulkarni SP, Mudaraddi R. Primary Myoglobinuria: Differentiate Myoglobinuria from Hemoglobinuria. Indian J Clin Biochem. 2017 Jul;32(3):367-369. PMID: 28811700
ऐप पर पढ़ें