myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हर घर में अंडे को अलग तरह से अलग जगह पर रखा जाता है। कुछ लोग अंडे रसोई में रखते हैं तो कुछ इन्‍हें फ्रिज में रखना पसंद करते हैं। आपको बता दें कि दुनियाभर में अंडों को फ्रिज में रखने को लेकर एक राय नहीं पाई जाती है।

क्या सामान्य तापमान में रखा अंडा, फ्रिज में रखे अंडे से ज्यादा बेहतर होता है? अगर विदेशियों की बात करें तो अमेरिकी नागरिक अंडे की उम्र बढ़ाने और बैक्टीरिया को फैलने से रोकने के लिए अंडे को फ्रिज में रखते हैं। इसके उलट यूरोपीय देशों में सिर्फ ब्रिटिश लोगों को ही अंडे फ्रिज में रखना पसंद नहीं होता है। डेली मेल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है।

बहरहाल, सवाल ये उठता है कि अंडे को फ्रिज में रखना चाहिए या नहीं? इस संबंध में हाल ही में एक अध्ययन हुआ था जिसके निष्कर्ष के बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं।

(और पढ़ें - क्या गर्मियों में अंडे खाना है सेहत के लिए नुकसान )

अंडे में मौजूद साल्मोनेला

साल्मोनेला, बैक्टीरिया का एक प्रकार है जो गर्म खून वाले जानवरों में होता है। यह जब तक जानवर की आंत की नली में मौजूद है, तब तक यह पूरी तरह सुरक्षित है। यदि साल्मोनेला जानवर के फूड सप्लाई में पहुंच जाए तो कोई गंभीर बीमारी पैदा कर सकता है।

साल्मोनेला संक्रमण होने पर उल्टी और डायरिया की शिकायत हो सकती है। इससे खासकर बच्चों और बुजुर्गों की प्रतिरक्षा प्रणाली प्रभावित हो सकती है। साल्मोनेला पीनट बटर, चिकन और अंडे में पाया जाता है।

अगर बैक्‍टीरिया अंडे के खोल में पहुंच जाता है या मुर्गी खुद साल्‍मोनेला को अंडे में पहुंचाती है तो इस स्थिति में अंडा साल्‍मोनेला से दूषित हो सकता है। अंडों में साल्‍मोनेला को बढ़ने से रोकने में उनका रख-रखाव और कुकिंग का तरीका महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

(और पढ़ें - अंडे का पीला भाग या सफेद भाग, क्या है ज्यादा फायदेमंद)

किस तापमान में रहता है अंडा सुरक्षित

उदाहरण के तौर पर 40 डिग्री फारेनहाइट या 4 डिग्री सेल्सियस में अंडे को रखने से साल्मोनेला की वृद्धि रूक जाती है और 160 डिग्री फारेनहाइट में पकाने से अंडे में मौजूद सभी बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं। साल्मोनेला संक्रमण होने पर प्रत्येक देश में अलग-अलग तरह से ट्रीटमेंट किया जाता है। इसी क्रम में यानी बैक्टीरिया को फैलने से रोकने के लिए कुछ जगहों पर अंडे को फ्रिज में रखा जाता है, जबकि कुछ देशों में अंडे को फ्रिज में रखना सही नहीं माना जाता है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी या गर्भावस्था में अंडा खाना चाहिए या नहीं)

क्या अंडा खाना रिस्की है

कच्चा अंडा खाने की वजह से स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। इस विषय पर हुए विविध अध्ययन यही साबित करते हैं कि जब अंडे को अच्छी तरह से पकाया नहीं जाता है या कच्चा खाया जाता है तब यह सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

जिन कारकों की वजह से अंडा खाना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है, उनमें पूरी तरह अंडा न पकाना और कच्चे अंडे को सही तापमान में न रखना शामिल है। जैसा कि ऊपर भी जिक्र किया गया है कि तापमान की वजह से अंडे में मौजूद साल्मोनेला का विकास बाधित होता है। अतः कच्चे अंडे से बनी चीजें मसलन एग मेयोनेज़ को फ्रिज में रखना जोखिमभरा हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि दूषित अंडे से मेयोनेज़ बनाना सही नहीं है और न ही उसे फ्रिज में रखना उचित है।

इन बातों का रखें ध्यान

  • अंडे को पूरी तरह से पकाएं
  • अंडों को खरीदने से पहले ध्यान रखें कि अंडा कहीं से टूटा हुआ न हो या उस पर धूल-मिट्टी तो नहीं लगी है
  • घर में बनी एग मेयोनेज़ को फ्रिज में रखें। साथ ही अंडे के अन्य पदार्थों को भी फ्रिज में रखना चाहिए
  • हाथों को अच्छी तरह से धोने के बाद ही अंडों को छुएं
और पढ़ें ...