myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

शायद आपको पता होगा कि मेयोनेज़ बिल्कुल स्वस्थ ड्रेसिंग नहीं है लेकिन शायद आपको यह पता नहीं होगा कि इसमें वसा और अन्य हानिकारक पोषक तत्व कितने अधिक होते हैं। यदि आप अपने आहार से मेयोनेज़ को पूरी तरह नहीं छोड़ना चाहते हैं तो आप कम वसा वाले मेयोनेज़ का अपने आहार में उपयोग कर सकते है जो आपके लिए थोड़ा कम अस्वस्थ हैं। लेकिन आपको इसका सेवन जितना संभव हो उतना कम करना चाहिए। 

लेकिन फिर भी मन में एक सवाल है क्या मेयोनेज़ वाकई में एक अस्वस्थ खाद्य पदार्थ है? अंडे, तेल, और सिरके से बने इस मसाले में कुछ तो अच्छा होगा। मेयोनेज़ में लगभग 80 प्रतिशत वनस्पति तेल होता है। इसका मतलब यह है कि इसमें 80 प्रतिशत शुद्ध वसा होता है। 100 ग्राम मेयोनेज़ में लगभग 700 कैलोरी होती है। यानि एक चम्मच मेयोनेज़ में लगभग 90 कैलोरी। मेयोनेज़ कुछ पॉलीअनसेचुरेटेड वसा और मोनोनसस्यूटेटेड वसा के साथ संतृप्त वसा और ट्रांस वसा का मिश्रण है। इसमें पोटेशियम के साथ कोलेस्ट्रॉल और सोडियम भी पाया जाता है। पर सबसे अच्छी बात है कि इसमें विटामिन ई और विटामिन K पाया जाता है जो हमारे त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। विटामिन ई एक एंटीऑक्सीडेंट है जो हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनता है। इसमें मौजूद विटामिन K हड्डियों को मजबूत बनाने और रक्त जमावट (blood coagulation) के लिए आवश्यक है। पर इसके बावजूद भी यह हमारे स्वस्थ के लिए हानिकारक होता है।    

तो चलिए जानते हैं मेयोनेज़ क्यों एक अस्वस्थ खाद्य पदार्थ है -

  1. मेयोनेज़ के नुकसान मोटापा के लिए - Can mayonnaise cause weight gain in hindi
  2. मेयोनेज़ खाने के नुकसान बढ़ाए फैट - Is mayonnaise high in saturated fat in hindi
  3. मेयोनेज़ से नुकसान बढ़ाए कोलेस्ट्रॉल - Does mayonnaise increase cholesterol in hindi
  4. मेयोनेज़ के हानिकारक परिणाम बढ़ाए उच्च रक्तचाप - Does mayonnaise raise blood pressure in hindi
  5. मेयोनेज़ खाने के हानिकारक परिणाम साल्मोनेला में - Can mayonnaise cause salmonella in hindi
  6. क्या गर्भवती होने पर मेयोनेज़ खा सकते हैं - Can i eat mayonnaise while pregnant in hindi

मेयोनेज़ आपको वजन को बढ़ सकता है। क्योंकि एक चम्मच मेयोनेज़ में लगभग 90 कैलोरी होता है जो आपके दैनिक अनुशंसित कैलोरी सेवन का लगभग 4.5 प्रतिशत होता है। मेयोनेज़ और इसी तरह के खाद्य पदार्थों को खाते समय हम कैलोरी को भूल जाते हैं और अधिक खा लेते हैं। इसलिए नियमित रूप से मेयोनेज़ खाने वाले व्यक्ति अपनी दैनिक अनुशंसित कैलोरी से अधिक कैलोरी का सेवन करते हैं जिसके कारण उनका वजन और मोटापा बढ़ सकता है। (और पढ़ें – मोटापा कम करने के घरेलू उपाय)

एक चम्मच मेयोनेज़ में 10 ग्राम कुल वसा होता है जो हमारी प्रतिदिन अनुशंसित वसा सेवन का लगभग 15.4 प्रतिशत होता है और इसमें 1.5 ग्राम संतृप्त वसा होता है जो हमारी दैनिक अनुशंसित संतृप्त वसा लगभग 7.5 प्रतिशत है। शारीरिक रूप से सक्रिय व्यक्तियों को भी वसा का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। बहुत से लोग नियमित रूप से स्वस्थ होने के कारण संतृप्त वसा का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं। द हार्वर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ के मुताबिक बहुत अधिक संतृप्त वसा खाने से हृदय सम्बंधित स्वास्थ्य समस्याएं होती है। (और पढ़ें – एक महीने में फैट से फिट होने का आसान तरीका)

एक बड़े चम्मच मेयोनेज़ में 5 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है जो हमारी दैनिक कोलेस्ट्रॉल सिफारिश का लगभग 1.7 प्रतिशत है। द सेंटर्स फॉर डिजीज कण्ट्रोल के अनुसा कोलेस्ट्रॉल का अधिक सेवन करने से यह धमनियों में जा कर जम जाता है जिसके कारण हृदय रोग, स्ट्रोक और इसी प्रकार की कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती है। (और पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए क्या खाएं)

मेयोनेज़ के प्रत्येक चम्मच में लगभग 90 मिलीग्राम सोडियम पाया जाता है जो हमारी प्रतिदिन अनुशंसित सोडियम खपत का 3.8 प्रतिशत है। द यूनिवर्सिटी ऑफ़ मेरीलैंड मेडिकल सेण्टर के अनुसार शरीर में तंत्रिका और मांसपेशियों के कामकाज को पूरी तरह रखने के लिए हमें सोडियम की जरूरत होती है लेकिन अधिकांश लोग अपने आहार में बहुत अधिक सोडियम एक सेवन करते हैं जिसके कारण हाई बीपी और अन्य प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होती हैं। (और पढ़ें – उच्च रक्तचाप के उपचार के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियाँ)

अंडो से साल्मोनेला का खतरा होता है। साल्मोनेला (Salmonella) एक बैक्टीरियल संक्रमण होता है जिसके कारण दस्त, बुखार और पेट की ऐंठन जैसी समस्याएं होती है। बाजार में मिलने वाले अधिकतर मेयोनेज़ में अंडे होते हैं। अतः इसके सेवन से साल्मोनेला को समस्या हो सकती है। (और पढ़ें – क्या गर्मियों में अंडे खाना है सेहत के लिए नुकसानदायक?)

गर्भावस्था के दौरान कच्चे या कम पके पशु खाद्य पदार्थ को सेवन करने से मना किया जाता है। इसका कारण यह है कि ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन से साल्मोनेला जैसे संक्रमण हो सकते हैं। चूंकि मेयोनेज़ में अन्य सामग्रियों के साथ कच्चे अंडे की जर्दी मिली होती है इसलिए गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन सुरक्षित नहीं होता है। गर्भावस्था के दौरान बहुत अधिक मेयोनेज़ का सेवन करने से गर्भ में पल रहे बच्चे में पैदा होने के बाद अस्थमा की समस्या हो सकती है। अध्ययन के मुताबिक जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान मेयोनेज़ जैसे स्प्रेअदबले फैट (spreadable fats) का अधिक सेवन करती हैं, उनके बच्चे को अस्थमा की समस्या होने की सम्भावना ज़्यादा है। (और पढ़ें – गर्भावस्था में सोते समय इन खास बातों का ध्यान रखें)

और पढ़ें ...