myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

एक स्वस्थ दिमाग और शरीर के लिए संतुलित आहार और दैनिक व्यायाम बहुत आवश्यक है। लेकिन सर्वोत्तम स्वास्थ्य के लिए यह तो सिर्फ शुरुआत है। 5,000 वर्ष पुराने आयुर्वेदिक विज्ञान में सुखी और लम्बा जीवन जीने के राज छुपे हुए हैं। आइए आज हम आपको कुछ ऐसे ही प्राचीन आयुर्वेदिक अभ्यासों के बारे में बताते हैं जो आपके जीवन को हमेशा के लिए बदल देंगे।

  1. गर्म पानी और अदरक की चाय के फायदे पाचन अग्नि को बढ़ाएं - Warm water and ginger tea good for digestion in hindi
  2. अधिक खाने से बचने के लिए चुप होकर खाएं - Eating in silence reduces overeating in hindi
  3. अच्छे पाचन तंत्र के लिए दुपहर में ज़्यादा खाएं - Eating your biggest meal at lunch useful for digestion in hindi
  4. ज़ोर से हंसने के फायदे रक्त परिसंचरण को सुधारें - Laughter increases blood flow in hindi
  5. मालिश करने के फायदे होते हैं तनाव में - Massage good for stress in hindi
  6. मेडिटेशन के लाभ अच्छी एकाग्रता बनायें - Meditation good for concentration in hindi
  7. आयल पुलिंग है शरीर को शुद्ध करने के लिए ज़रूरी - Oil pulling for detox in hind
  8. प्राणायाम का महत्व है शरीर को एक नयी ऊर्जा देने में - Pranayama for increased energy in hindi
  9. अच्छी नींद लेना वजन कम करने के लिए है आवश्यक - Proper sleep for weight loss in hindi
  10. जीभ की सफाई मौखिक स्वच्छता के लिए है फायदेमंद - Tongue scraping good for oral health in hindi

वास्तव में ठंडा पानी आपके पाचन क्रिया में बाधा डाल सकता है। इसलिए पूरे दिन अपने भोजन के साथ बहुत अधिक मात्रा में गर्म पानी और अदरक की चाय पिएं। अदरक की चाय पाचन अग्नि को तेज करने और पाचन को बढ़ाने में मदद करती है।

(और पढ़ें – क्या शहद और गर्म पानी पीने से हो सकता है मोटापा कम)

आयूर्वेद के अनुसार आपको खाना खाते समय चुप रहना चाहिए। इससे आप भोजन को स्वाद लेकर खाते हैं और आपके शरीर को संकेत मिलता है कि आपका पेट भर चुका है। यह आपको अधिक खाने से रोकने में मदद करता है और आपको भोजन के बाद अधिक संतुष्ट रखता है।

(और पढ़ें – पाचन क्रिया सुधारने के आयुर्वेदिक उपाय)

आयुर्वेद का मानना है कि जब सूर्य आकाश में अपने उच्चतम बिंदु पर होता है तो हमारी पाचन अग्नि भी बहुत तेज होती है। इसलिए दुपहर में सबसे अधिक खाएं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की हम दोपहर का भोजन ज़रुरत से ज़्यादा कर लें। सुबह का नाश्ता और रात का खाना कम मात्रा में और आसानी से पचाने वाला होता चाहिए।

(और पढ़ें – सही पाचन तंत्र के लिए सुबह खाली पेट पानी पीने का लाभ)

ज़ोर से हंसना हमारे शरीर में एंडोर्फिन (endorphins) को रिलीज करता है, रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है और हमें आराम महसूस होता है। इसलिए अच्छी कॉमेडी फिल्म देखें, चुटकुले सुनें और हस्ते रहें।

(और पढ़ें – रक्त परिसंचरण)

कई अध्ययनों ने मालिश के अद्भभुत स्वास्थ्य लाभ बताए हैं। मालिश से रक्तचाप कम होता है, मांसपेशियों की ताकत बढ़ती है, तनाव कम होता है और लिम्फेटिक (lymphatic) बढ़ता है। एक अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला है कि पेट की मालिश करने से सफलतापूर्वक कब्ज की समस्या खत्म हो जाती है और आँतों के कार्य में भी वृद्धि होती है।

(और पढ़ें – जैतून के तेल से मालिश के फायदे बालों के लिए)

मेडिटेशन आयुर्वेद की एक प्राचीन विधि है। स्वस्थ जीवन और एकाग्रता बढ़ाने के लिए मेडिटेशन का इस्तेमाल किया जाता है। मेडिटेशन में श्वास जागृति के साथ मूविंग मेडिटेशन या योग भी शामिल किया जा सकता है। मेडिटेशन की वो तकनीक अपनाएं जो आपको अच्छे से समझ आए। जितना आप मेडिटेशन का अभ्यास करेंगे। उतना ही आपके लिए मेडिटेशन आसान हो जाएगी।

(और पढ़ें – ध्यान या मेडिटेशन कैसे करें?)

आयल पुलिंग एक प्राचीन आयुर्वेदिक चिकित्सा है। आयल पुलिंग मुंह के द्वारा विषाक्त पदार्थों और जीवाणु को निकालने की विधि है जिससे शरीर शुद्ध होता है। आयल पुलिंग में पाचन विकारों से लेकर हृदय रोग तक के इलाज करने की क्षमता है।

(और पढ़ें – दांतों का पीलापन दूर करने का उपाय है आयल पुलिंग)

प्राणायाम एक ऐसी क्रिया है जो खुली हवा में की जाती है। प्राणायाम का मतलब है सांस को नियंत्रित करना जिससे शरीर और मन दोनों स्वस्थ रहते हैं। गहरी डायाफ्रामिक श्वास फेफड़ों से कार्बन डाइऑक्साइड को साफ करती है और ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाती है। जिससे शरीर को अधिक ऊर्जा मिलती है। यह आपके मेटाबोलिज्म को उत्तेजित करके पाचन को भी बढ़ाती है।

(और पढ़ें – मेटाबोलिज्म बढाने के लिए क्या खाएं)

आयुर्वेद के अनुसार हमें पर्याप्त नींद लेनी चाहिए। 16 साल तक 68,183 महिलाओं पर अध्ययन के नतीजो से पता चला कि जो महिलाएं कम से कम सात घंटे सोती हैं उनकी तुलना में प्रति रात पांच घंटे या उससे कम समय सोने वाली महिलाओं का वजन 30 पौंड या उससे ज्यादा बढ़ गया।

(और पढ़ें - वजन घटाने के घरेलू नुस्खे)

टंग स्क्रैपिंग या जीभ की सफाई आयुर्वेद के अनुसार आपके स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरूरी है। यह मौखिक स्वच्छता अभ्यास टूथब्रश से बेहतर आपकी जीभ से गंदगी को हटाने में मदद करता है। यदि आपके टेस्ट बड्स (स्वाद कलिका) बैक्टीरिया से ढके रहेंगे तो आपको भोजन का स्वाद लेने में कठिनाई होगी। यह अभ्यास बैक्टीरिया और प्लेग (plague) को साफ करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – पाइनएप्पल के फायदे लाएं मौखिक स्वास्थ्य में सुधार)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
184905 भारत
33अंडमान निकोबार
3679आंध्र प्रदेश
4अरुणाचल प्रदेश
1272असम
3815बिहार
293चंडीगढ़
498छत्तीसगढ़
2दादरा नगर हवेली
19844दिल्ली
70गोवा
16779गुजरात
2091हरियाणा
331हिमाचल प्रदेश
2446जम्मू-कश्मीर
610झारखंड
3221कर्नाटक
1269केरल
74लद्दाख
8089मध्य प्रदेश
67655महाराष्ट्र
71मणिपुर
27मेघालय
1मिजोरम
43नगालैंड
1948ओडिशा
70पुडुचेरी
2263पंजाब
8831राजस्थान
1सिक्किम
22333तमिलनाडु
2698तेलंगाना
313त्रिपुरा
907उत्तराखंड
7823उत्तर प्रदेश
5501पश्चिम बंगाल

मैप देखें