myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

साबूदाना कसावा पौधे से उत्पन्न एक स्वादिष्ट स्टार्च है। कसावा पौधे का उपयोगी हिस्सा जड़ होती है। इस पौधे की खेती अब दुनिया भर में की जाती है। इस पौधे की खेती सबसे पहले दक्षिण अमरीका में की गई थी। उत्तर-पूर्व ब्राजील में इसे केवल कसावा के रूप में जाना जाता है। लेकिन दुनिया भर में इसे अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसे सागू। इस पौधे की जड़ लगभग 1-2 किलो और यह भूरे रंग की होती है। इसका गुदा सफेद रंग और कार्बोहाइड्रेट में भरपूर होता है।

टैपिओका को स्पर्ज (एक प्रकार का रसदार पौधा) माना जाता है। यह यूफ़ोर्बियासी (Euphorbiaceae) परिवार का सदस्य है और इसका वैज्ञानिक नाम मनिहोट एस्कलेंटा (Manihot esculenta) है। भारत में साबूदाने का इस्तेमाल अधिकतर पापड़, खीर और खिचड़ी बनाने के लिए किया जाता है। सूप और अन्य चीज़ों को गाढ़ा बनाने के लिए भी इसका उपयोग होता है।

टैपिओका का पूरे विश्व में आनंद उठाया जाता है। साबूदाना  कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, खनिज और कार्बनिक यौगिकों एक आवश्यक सोर्स है। इसमें संतृप्त वसा, कोलेस्ट्रोल और सोडियम बहुत कम मात्रा में पाया जाता है। यह प्रोटीन और आहार फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है और इसके अलावा, टैपिओका में कुछ विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स भी शामिल हैं, जिनमें पैंटोथेनिक एसिड, फॉलेट और बी 6, साथ ही लौह, मैंगनीज, कैल्शियम, तांबा और सेलेनियम शामिल हैं। इसके एक कप सेवन से आप अपने दैनिक आवश्यकता का लगभग 45% कार्ब्स प्राप्त कर सकते हैं।

  1. साबूदाना के नुकसान - Sabudana ke Nuksan in Hindi
  2. साबूदाना के फायदे - Sabudana ke Fayde in Hindi
  3. साबूदाने की खिचड़ी कैसे बनाते हैं
  4. साबूदाना वड़ा कैसे बनाते हैं

विभिन्न रूपों में टैपिओका खाने के कई फायदे होने के बावजूद, यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि कसावा बहुत जहरीला हो सकता है यदि यह सही से पकाया नहीं गया है।

कसावा साइनाइड पैदा करता है, जो मनुष्य के लिए एक अत्यंत जहरीला कंपाउंड है। इसलिए जब आप एक दुकान से साबूदाना खरीदते है तो वह पूरी तरह से स्वस्थ होता है।
इसके अलावा, टैपिओका में बहुत अधिक कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी सामग्री होती है, यदि आप अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, तो यह आपके आहार में शामिल करने के लिए सबसे अच्छा भोजन नहीं होगा।

(और पढ़ें - वजन घटाने के आसान तरीके)

साबू है एनर्जी के लिए अच्छा - Sago for Energy in Hindi

कार्बोहाइड्रेट हमारी ऊर्जा का स्रोत हैं, क्योंकि सूक्रोज जैसी सरल शर्करा को प्रयोग करने योग्य ऊर्जा में विभाजित किया जाता है। हालांकि, संतृप्त वसा और कोलेस्ट्रॉल जैसी चीजें ऊर्जा से छुटकारा पाती हैं, इतने सारे पदार्थ जो हमें वजन बढ़ाने में मदद करते हैं, ऊर्जा को बढ़ावा नहीं देते हैं। टैपिओका में बड़ी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट नकारात्मक कोलेस्ट्रॉल और संतृप्त वसा के बिना होता है। इसलिए इससे ऊर्जा का स्तर अधिक होगा और आप भूख भी महसूस नहीं करेंगे।

(और पढ़ें - वजन बढ़ाने के लिए डाइट चार्ट)

साबूदाना के फायदे वजन बढ़ाने के लिए - Tapioca for Weight Gain in Hindi

अधिकांश लोगों को पतले और फिट रहने के बारे में चिंता रहती हैं, लेकिन बहुत से लोग स्वस्थ वजन बढ़ाने के तरीके तलाशते हैं। अधिक कम वजन वाला होना भी मोटापे की तरह खतरनाक हो सकता है और टैपिओका एक तेज और स्वस्थ तरीके से वजन बढ़ाने का एक जल्दी और आसान तरीका प्रदान करता है। इसकी उच्च कार्बोहाइड्रेट सामग्री (1 कप टैपिओका = दैनिक कार्बोहाइड्रेट की आवश्यकता का 45%) का मतलब है कि आप अस्थिर कोलेस्ट्रॉल या संतृप्त वसा के बिना अपने आहार में बल्क और कैलोरी को जोड़ सकते हैं। इनमें से अधिकांश कार्बोहाइड्रेट सुक्रोज के रूप में आते हैं। टैपिओका ऐसे कई लोगों के लिए एक आदर्श विकल्प जिन्हें वजन अधिक करने की आवश्यकता होती है, खासकर बीमारी, चोट, सर्जरी या ईटिंग डिसऑर्डर के बाद।

(और पढ़ें - मोटा होने के लिए क्या खाएं)

साबूदाना के गुण करें ब्लड सर्कुलेशन में मदद - Sabudana ke Fayde for Blood Circulation in Hindi

साबूदाना के सबसे मूल्यवान खनिज योगदानों में से एक है लोहा। मानव शरीर के सामान्य कार्यों के लिए आयरन आवश्यक होता है और इसकी सबसे महत्वपूर्ण भूमिका नई लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में होती हैं। लोहा तांबे के साथ मिलकर शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की मात्रा को बढ़ाता है जिससे एनीमिया और उससे संबंधित स्थितियों को रोक जाता है। 

(और पढ़ें - खून की कमी का कारण)

साबूदाना के लाभ हैं प्रेगनेंसी में उपयोगी - Sago for Pregnancy in Hindi

जन्म दोष से पैदा हुए बच्चे माता-पिता के लिए दर्दनाक (traumatic) हो सकते हैं, इसलिए यदि संभव हो तो इसे रोकना जरूरी है। टैपिओका में बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन की एक महत्वपूर्ण मात्रा है, जिसमें फोलिक एसिड शामिल है, जो कि शिशुओं में न्यूरल ट्यूब दोषों की संभावना को कम करने के लिए सीधे जुड़ा हुआ है। पैदा होने वाले बच्चे की अच्छी सेहत के लिए साबूदाना एक कारगर दवाई है। यदि गर्भवती महिला साबूदाने का सेवन करती हैं तो इससे बच्चे का उचित विकास होता है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे)

साबूदाना का उपयोग करें पाचन के लिए - Tapioca for Digestion in Hindi

साबूदाना में डाइटरी फाइबर के गुण होते हैं। फाइबर सीधे मानव शरीर के भीतर कई स्थितियों में सुधार के लिए अच्छा होता है। फाइबर मल में बल्क जोड़ता है जो मल को पाचन तंत्र के माध्यम से पारित करने में मदद करता है जिससे कब्ज, सूजन, आंतों का दर्द और कोलोरेक्टल कैंसर जैसी अधिक गंभीर स्थितियों को नष्ट करने में मदद मिलती है। इसके अलावा फाइबर धमनियों और रक्त वाहिकाओं की दीवारों पर अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को स्क्रैप करके हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में सहायता करता है, जिससे एथेरोस्क्लेरोसिस को खत्म करने और दिल के दौरे और स्ट्रोक से संबंधित समस्याओं को समाप्त करने में मदद मिलती है। 

(और पढ़ें - कब्ज का कारण)

साबूदाना है प्रोटीन का अच्छा स्रोत

प्रोटीन मानव स्वास्थ्य के लिए एक अनिवार्य तत्व है, जबकि कई लोग मीट, मछली, मुर्गी और डेयरी उत्पादों से प्रोटीन प्राप्त करते हैं। लेकिन अन्य स्रोतों के बीच, शाकाहारी हमेशा स्वस्थ और प्रोटीन से भरपूर रहने के नए तरीके तलाश रहे हैं। जैसा कि आप शायद जानते हैं, प्रोटीन एक स्वस्थ जीवन का बिल्डिंग ब्लॉक है। इसलिए, टैपिओका शाकाहारियों के लिए एक बढ़िया विकल्प है क्योंकि यह पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन प्रदान करता है इसलिए इससे शारीरिक प्रक्रिया, मांसपेशियों के विकास, ग्रोथ, उपचार और अन्य आवश्यक गतिविधियां सामान्य रूप से जारी रह सकती हैं यदि आपके आहार में नियमित रूप से टैपिओका शामिल किया जाएँ।

साबूदाने के फायदे बनाएं हड्डियों को मजबूत - Sabudana Khane ke Fayde for Bones in Hindi

टैपिओका विटामिन K, कैल्शियम, और लोहे का एक समृद्ध स्रोत है, जो सभी हड्डियों के संरक्षण और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उम्र बढ़ने के साथ साथ अस्थि खनिज घनत्व कम हो जाता है, जिसके परिणामस्वरूप ऑस्टियोपोरोसिस, ओस्टियोआर्थराइटिस, सामान्य कमजोरी और लचीलेपन की कमी जैसी स्थिति होती है। अगर टैपिओका नियमित रूप से लिया जाये तो यह हमारी हड्डियों को संरक्षित और विकसित कर सकता है।

साबूदाना खाने के लाभ मानसिक स्वास्थ्य के लिए - Tapioca for Brain in Hindi

विटामिन K के गुण हमारे मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण है। यह देखा गया है कि विटामिन K मस्तिष्क में न्यूरोनल गतिविधि को उत्तेजित करके अल्जाइमर रोग विकसित होने की संभावनाओं को कम कर सकता है। गतिविधि या मानसिक स्थिरता की कमी के कारण अल्जाइमर अक्सर होता है; विटामिन K तंत्रिका पथ को सक्रिय और व्यस्त रखता हैं और मुक्त कणों से मुक्त रखता हैं जो मस्तिष्क के ऊतकों के टूटने का कारण बन सकते हैं।

साबूदाने का सेवन करें उच्च रक्तचाप के लिए - Tapioca Good for High Blood Pressure in Hindi

टैपिओका में पोटेशियम भी शामिल है, जो एक अन्य आवश्यक खनिज है जिसे मानव शरीर की आवश्यकता होती है। पोटेशियम एक वैसोसिलेटर है, जिसका अर्थ है कि यह रक्त वाहिकाओं और धमनियों के तनाव और चिंता को कम करता है। इससे रक्त के प्रवाह को शरीर के हिस्सों में बढ़ाया जा सकता है जिससे कार्डियोवास्कुलर सिस्टम पर तनाव कम हो सकता है। इसका अर्थ है एथोरोस्क्लेरोसिस में कमी और खून के थक्के ज़मने कम संभावना होती है। इसके अलावा, पोटेशियम शरीर में द्रव संतुलन के लिए महत्वपूर्ण है और यह चयापचय दक्षता और ऊर्जा को बढ़ा सकता है। इसलिए जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है साबूदाने का सेवन उनके लिए उचित है।

और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Basic Report: 20068, Tapioca, pearl, dry. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  2. Yessoufou A et al. Cassava-enriched diet is not diabetogenic rather it aggravates diabetes in rats. Fundam Clin Pharmacol. 2006 Dec;20(6):579-86. PMID: 17109651
  3. Kato R et al. High-hydroxypropylated tapioca starch improves insulin resistance in genetically diabetic KKAy mice. J Food Sci. 2009 Apr;74(3):H89-96. PMID: 19397723
  4. Flibert Guira et al. Origins, production, and utilization of cassava in Burkina Faso, a contribution of a neglected crop to household food security. Food Sci Nutr. 2017 May; 5(3): 415–423. PMID: 28572925
  5. Morales E, Graham GG. Digestibility of boiled and oven-dried cassava in infants and small children. J Nutr. 1987 Jan;117(1):129-32. PMID: 3029354
  6. Kevin Stephenson et al. Consuming cassava as a staple food places children 2-5 years old at risk for inadequate protein intake, an observational study in Kenya and Nigeria . Nutr J. 2010; 9: 9. PMID: 20187960
  7. Joanne Slavin. Fiber and Prebiotics: Mechanisms and Health Benefits . Nutrients. 2013 Apr; 5(4): 1417–1435. PMID: 23609775
  8. Kurup PG, Krishnamurthy S. Glycemic response and lipemic index of rice, raggi and tapioca as compared to wheat diet in human. Indian J Exp Biol. 1993 Mar;31(3):291-3. PMID: 8388856
  9. University of California San Francisco. Hemoglobin and Functions of Iron. [Internet]
  10. Michael J Hall . The Dangers of Cassava (Tapioca) Consumption . Bristol Medico-Chirurgical Journal Volume 102 (ii) May 1987
  11. Ibero M, Castillo MJ, Pineda F. Allergy to cassava: a new allergenic food with cross-reactivity to latex. J Investig Allergol Clin Immunol. 2007;17(6):409-12. PMID: 18088025
ऐप पर पढ़ें