अकार्ड थियर्स सिंड्रोम - Achard Thiers Syndrome in Hindi

Dr. Anurag Shahi (AIIMS)MBBS,MD

December 22, 2020

February 08, 2021

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम
अकार्ड थियर्स सिंड्रोम

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम​ का क्या है?
अकार्ड थियर्स सिंड्रोम एक दुर्लभ विकार है जो मुख्य रूप से उन महिलाओं में देखा जाता है जो मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) से गुजर चुकी होती हैं। इस बीमारी के दौरान विशेषकर टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस (इंसुलिन प्रतिरोधी) और एंड्रोजेन (एक प्रकार का हार्मोन) के बढ़ने जैसी समस्याएं नजर आती हैं। हालांकि यह सिंड्रोम क्यों होता है इसका कोई सटीक कारण अब तक पता नहीं है।

इस सिंड्रोम का सामान्य असर डायबिटीज मेलिटस से पीड़ित महिलाओं में देखने को मिलता है क्योंकि उनके चेहरे पर पुरुषों की दाढ़ी के समान काफी मात्रा में बाल आ जाते हैं। बता दें कि डायबिटीज को मेडिकल टर्म में डायबिटीज मेलिटस के रूप में जाना जाता है और इसकी पहचान खून में हाई ब्लड ग्लूकोज (शुगर) की उपस्थिति से की जाती है।

बुजुर्ग या अधिक उम्र की महिलाओं में, पहले क्लीनिकल ​​लक्षण अक्सर क्लासिक डायबिटीज से जुड़े होते हैं और इसमें असामान्य रूप से हाई ब्लड ग्लूकोज की समस्या होती है क्योंकि व्यक्ति का शरीर इंसुलिन का सही तरीके से उपयोग नहीं कर पाता है।

(और पढ़ें- महिलाओं के चेहरे पर बाल आने के कारण)

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम के लक्षण - Achard Thiers Syndrome Symptoms in Hindi

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम के लक्षण और संकेतों की बात करें तो इसमें पीड़ित व्यक्ति के यूरिन में ग्लूकोज का लेवल असामान्य रूप से बहुत अधिक हो जाता है। इसके साथ ही बार-बार पेशाब आना, अधिक प्यास और भूख लगने के साथ ही वजन कम होने जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं। सिंड्रोम के अन्य लक्षणों का सीधा संबंध एंड्रोजन (एक प्रकार का हार्मोन) के अत्यधिक उत्पादन से है जिसमें शरीर के बाल असामान्य रूप से बढ़ने लगते हैं, विशेष रूप से चेहरे पर, छाती पर, पीठ पर और शरीर के अन्य हिस्सों में भी। बाकी लक्षणों में हेयर लाइन का पीछे होना, आवाज का भारी होना, क्लाइटोरिस के साइज में बढ़ोतरी होना, बांझपन और मोटापे की समस्या शामिल है।

(और पढ़ें- अनचाहे बाल हटाने के घरेलू उपाय)

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम का कारण - Achard Thiers Syndrome Causes in Hindi

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम का सटीक कारण अज्ञात है लेकिन ये सिंड्रोम परिवार के सदस्यों के जरिए एक से दूसरे में ट्रांसफर होता है। जिन महिलाओं को पीसीओएस की समस्या होती है उनकी बहनों में 50 प्रतिशत मामलों में इस सिंड्रोम का कोई न कोई रूप जरूर देखने को मिलता है। हालांकि इस बीमारी के जेनेटिक ट्रांसमिशन की सटीक प्रक्रिया क्या है, इस बारे में अब तक सोई जानकारी नहीं मिल पायी है।

(और पढ़ें- पीसीओएस के घरेलू उपाय)

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम का निदान - Diagnosis of Achard Thiers Syndrome in Hindi

क्लिनिकल परिणामों के आधार पर देखा जाए तो अकार्ड थियर्स सिंड्रोम का निदान संदिग्ध होता है मतलब नतीजों को लेकर आशंका बनी रहती है। वो इसलिए क्योंकि, प्रभावित महिलाएं हाइपरइन्सुलिनीमिया से पीड़ित होती हैं। यह एक ऐसी स्थिति हैं जिसमें खून में इंसुलिन की मात्रा सामान्य से अधिक होती है। यही वजह है कि दो घंटे के ओरल ग्लूकोज टॉलरेंस टेस्ट में ब्लड ग्लूकोज, असामान्य रूप से हाई लेवल पर दिखाई देता है।

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम का इलाज - Achard Thiers Syndrome Treatment in Hindi

अकार्ड थियर्स सिंड्रोम का इलाज अलग-अलग तरह से किया जा सकता है। इसके तहत डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आवश्यकता अनुसार आहार, इंसुलिन या फिर अन्य दवाएं लेने की सलाह दी जाती है। वहीं, बालों को हटाने के लिए सुविधाजनक कॉस्मेटिक उपायों (उदाहरण के लिए, वैक्सिंग और इलेक्ट्रोलाइसिस) का इस्तेमाल किया जा सकता है।

दूसरी ओर पीसीओएस से पीड़ित युवा महिलाओं का इलाज ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव दवा (गर्भनिरोधक) के साथ किया जा सकता है और यह एक कॉमन थेरेपी है। इसके अलावा पोस्ट मेनोपॉज वाली महिलाएं जिनमें अकार्ड थियर्स सिंड्रोम की समस्या होती है उनके लिए आमतौर पर हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी की सलाह दी जाती है। एंटी-एंड्रोजन दवा का भी इस्तेमाल किया जाता है।



अकार्ड थियर्स सिंड्रोम के डॉक्टर

Dr. Khushali Vyas Dr. Khushali Vyas मधुमेह चिकित्सक
11 वर्षों का अनुभव
Dr. Shailendra Mishra Dr. Shailendra Mishra मधुमेह चिकित्सक
20 वर्षों का अनुभव
Dr. Pradeep Aggarwal Dr. Pradeep Aggarwal मधुमेह चिकित्सक
8 वर्षों का अनुभव
Dr. Sourav Rana Dr. Sourav Rana मधुमेह चिकित्सक
5 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ