क्या आपके भी शरीर पर बेहद बाल आते हैं और आप पार्लर में पैसे खर्च करने से परेशान हैं? तो ज़्यादा चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि आज से आप घर बैठे-बैठे भी कुछ आसान तरीकों और विधि से खुद वैक्सिंग कर सकते हैं। बस आपको घर में वैक्स बनाने में थोड़ा समय लगेगा। फिर वैक्स बनते ही आप अपनी त्वचा से अनचाहे बालों को बिल्कुल साफ़ कर सकते हैं।

(और पढ़ें - स्किन केयर टिप्स)

तो आइये आपको बताते हैं वैक्सिंग कैसे करते हैं, बनाने की विधि, वैक्सिंग का तरीका, प्रकार, लाभ और नुकसान -

(और पढ़ें - हेयर केयर टिप्स)

  1. वैक्सिंग क्या है - What is waxing in Hindi
  2. वैक्स के प्रकार - Types of waxing in Hindi
  3. वैक्सिंग करने का तरीका - How to do waxing in Hindi
  4. घर पर वैक्स बनाने की विधि - How to make wax at home in Hindi
  5. वीट वैक्स स्ट्रिप्स का इस्तेमाल कैसे करें - How to use veet wax strips in Hindi
  6. वैक्स के फायदे - Benefits of waxing in Hindi
  7. वैक्सिंग के नुकसान - Side effects of waxing in Hindi
वैक्सिंग क्या है - What is waxing in Hindi

वैक्सिंग बालों को हटाने की प्रक्रिया है, जिसमें सेमी-परमानेंट ट्रीटमेंट होता है। यानी कुछ ही दिनों बाद बाल फिर से आ जाते हैं। इसमें बाल जड़ से निकल जाते हैं और फिर से आने में बालों को दो से आठ हफ्ते लग जाते हैं। हालाँकि, कुछ लोगों में बाल हफ्ते के अंदर ही दिखना शुरू हो जाते हैं। लगभग शरीर के सभी क्षेत्रों को वैक्स किया जा सकता है, जैसे आईब्रो, चेहरा, पैर, हाथ, कमर, पेट और बिकनी क्षेत्र। अनचाहे बालों को हटाने के लिए वैक्स करने के कई प्रकार होते हैं। वैक्सिंग किसी प्रशिक्षित व्यक्ति से कराई जाती है।

(और पढ़ें - अपर लिप्स के बाल हटाने के उपाय)

वैक्स के प्रकार - Types of waxing in Hindi

वैक्सिंग के प्रकार कुछ इस प्रकार हैं –

1. सॉफ्ट वैक्स –

सभी वैक्स में से सबसे ज़्यादा इस्तेमाल सॉफ्ट वैक्स का किया जाता है। आप जब पार्लर में जाते होंगे तो जो सबसे पहला डब्बा ट्रेनर खोलती होंगी वही सॉफ्ट वैक्स होती है (आमतौर पर ये वैक्स पैराफिन की होती है)। इस वैक्स को दो हिस्सों में बांटते है - गर्म और ठंडी वैक्स। गर्म वैक्स ठंडी वैक्स के मुकाबले कम दर्द करती है और बाल इसमें आसानी से निकल जाते हैं। कोल्ड वैक्स कम ठोस वाली वैक्स होती है जो पहले से ही वैक्सिंग पट्टी पर लगी होती है, लेकिन इसमें दर्द अधिक होता है। 

(और पढ़ें - सीने के बाल हटाने के उपाय)

2. हार्ड वैक्स - 

हार्ड वैक्स का इस्तेमाल त्वचा के छोटे-छोटे क्षेत्रों पर किया जाता है, जैसे अप्पर लिप्स, आईब्रो और अंडरआर्म्स। इस वैक्स को इन क्षेत्रों पर गर्म-गर्म लगाया जाता है और फिर ठंडा किया जाता है, जिससे वैक्स कठोर हो जाए और बाल आसानी से हट जाएँ। हार्ड वैक्स से आपकी त्वचा को कोई नुकसान नहीं पहुँचता, जबकि सॉफ्ट वैक्स से आपकी त्वचा पर खुजली हो सकती है। ये दोनों सामान्य त्वचा के लिए ठीक होते हैं, हालाँकि अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो आप इन वैक्स का इस्तेमाल न करें। 

(और पढ़ें - अनचाहे बालों को हटाने के नुस्खे)

3. फ्रूट वैक्स -

क्या आपकी त्वचा संवेदनशील है? तो फ्रूट वैक्स आप ही की त्वचा के लिए बनी है, ये ज़्यादातर फलों के जूस से बनी होती है (खासकर बेरी) और ये एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध होती है। जो आपकी संवेदनशील त्वचा के लिए बिल्कुल भी नुकसानदायक नहीं है। ये आपके लिए थोड़ी महंगी हो सकती है, लेकिन इसका परिणाम आपको बेहद अच्छा मिलेगा। 

(और पढ़ें - चेहरे से बाल हटाने के घरेलू उपाय

4. शुगर वैक्स -

शुगर वैक्स में, शुगर के अलावा नींबू और पानी भी होता है। ये तो आप सभी जानते हैं कि त्वचा के लिए चीनी और नींबू कितनी बेहतरीन सामग्रियां हैं। अगर आपकी तैलीय या संवेदनशील त्वचा है तो शुगर वैक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर अगर आपको बहुत जल्दी रेशेस हो जाते हैं तो भी इस वैक्स का उपयोग आप कर सकते हैं। ये पूरी तरह से प्राकृतिक होता है और आपकी त्वचा को हानि नहीं पहुंचाता।

(और पढ़ें - हेयर रिमूवल टिप्स)

5. चॉक्लेट वैक्स -

चॉक्लेट न सिर्फ खाने में बेहद स्वादिष्ट लगती है, बल्कि त्वचा के लिए भी स्वस्थ होती है। चॉक्लेट का इस्तेमाल वैक्सिंग के लिए भी किया जाता है। चॉक्लेट वैक्सिंग न सिर्फ बालों को हटाती है, बल्कि त्वचा को निखारती भी है। इसमें मॉइस्चराइज़िंग के भी गुण मौजूद होते हैं जो कि रूखी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है।

(और पढ़ें - ब्यूटी केयर टिप्स)

वैक्सिंग करने का तरीका - How to do waxing in Hindi

वैक्स के तरीके कुछ इस प्रकार है -

(और पढ़ें - अंदरूनी बालों से छुटकारा पाने के उपाय)

  1. सबसे पहले उस क्षेत्र को साफ़ करें जहां आप वैक्स करना चाहते हैं और फिर त्वचा को सूखा लें।
  2. इस बात का ध्यान रखें कि त्वचा पर किसी भी तरह के तेल या क्रीम के अंश न रह जाए। इससे आपके बाल बीच में से ही टूट सकते हैं।
  3. अब वैक्स को गर्म करें, पर वैक्स को ज़्यादा गर्म न करें। बस गुनगुना होने तक ही वैक्स को गर्म करें।
  4. अब जहां आपको वैक्स करनी है वहां कोई पाउडर लगाएं, जिससे त्वचा का तेल या गंदगी आसानी से हट जाए। इससे आपको वैक्स की पट्टी हटाने में भी आसानी होगी।
  5. अब अपनी त्वचा पर, जहां आपको अपने अनचाहे बाल हटाने हैं वहां किसी बिना नोक वाले चाक़ू से वैक्स को लगाएं।
  6. इस बात का ध्यान रखें कि आप जहां वैक्स लगा रही हैं उसकी दिशा एकदम सही होनी चाहिए।
  7. अब त्वचा पर वैक्स लगाने के बाद उसपर पतला कपड़े का टुकड़ा या वैक्सिंग पट्टी को रखें। अब पट्टी को अच्छे से त्वचा पर दबाएं, जिससे पट्टी अच्छे से त्वचा पर चिपक जाए (एक बार वैक्सिंग पट्टी का इस्तेमाल करने के बाद उसे फिर से उपयोग न करें। 
  8. अब त्वचा से वैक्सिंग पट्टी बढ़ते बालों के उल्टी दिशा से हटाएँ।
  9. वैक्सिंग पट्टी को जल्दी-जल्दी हटाएँ। धीरे-धीरे हटाने से आपको हानि पहुँच सकती है, इसके साथ ही बालों के रोम को नुकसान पहुंचेगा।
  10. वैक्सिंग के बाद आप उस क्षेत्र पर बर्फ लगा सकते हैं, जिससे उस क्षेत्र पर जलन या दर्द न हो।
  11. लेकिन ध्यान रखें, घर पर बनी वैक्स को बिकनी लाइन या चेहरे पर इस्तेमाल न करें। इनके लिए बाजार में अन्य मुलायम वैक्स उपलब्ध होती हैं।

(और पढ़ें - आइब्रो को घना करने के उपाय)

घर पर वैक्स बनाने की विधि - How to make wax at home in Hindi

आप घर में कुछ सामग्रियों से वैक्स बना सकते हैं –

1. चीनी और शहद वैक्स-

(और पढ़ें - चीनी खाने के फायदे)

सामग्री –

  1. ब्राउन शुगर या रोज़ाना इस्तेमाल में आने वाली चीनी - एक चम्मच
  2. शहद - एक चम्मच
  3. पानी - एक चम्मच
  4. माइक्रोवेव - एक कटोरा
  5. एक चम्मच
  6. पतला कपड़ा।

(और पढ़ें - दालचीनी और शहद के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले एक बड़े कटोरे में ब्राउन शुगर (या फिर चीनी), शहद और पानी को मिला लें और फिर उसे माइक्रोवेव में रख दें।
  2. कुछ देर के लिए पूरे मिश्रण को माइक्रोवेव में रखे रहने दें। अगर सही मिश्रण बनाना है, तो मिश्रण को 30 से 35 सेकेंड के लिए माइक्रोवेव में रखे रहने दें या तब तक रखें जब तक मिश्रण भूरा न हो जाए या उसमें से बुलबुले न आने लगे।
  3. अब कटोरे को माइक्रोवेव से निकाल लें और वैक्स को ठंडा होने के लिए रख दें। जब वैक्स ठंडी हो जाए तो फिर आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  4. अब घर की बनी हुई वैक्स में कोई बिना नोकदार वाला चाक़ू डालें और फिर उसे वहां लगाएं जहां से बालों को हटाना हो।
  5. अब पतला कपड़ा लें और उसके ऊपर रखें, जहां आपने वैक्स लगायी है। फिर धीरे-धीरे कपड़े को त्वचा पर दबाएं और उस तरफ दबाएं जहां आपके बढ़ते बालों की दिशा जा रही है।
  6. फिर, कपड़े को अपने बालों की दिशा के उल्टी तरफ तेज़ी से हटाएँ।
  7. इसी तरह अपनी त्वचा के सारे बाल आसानी से हटाएँ।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्रीम)

2.  चीनी और नींबू जूस से बनी वैक्स

सामग्री –

  1. ब्राउन शुगर या रोज़ाना इस्तेमाल में आने वाली चीनी - एक कप
  2. नींबू का रस - दो चम्मच (ध्यान रखे नींबू ताज़ा हो)
  3. पानी - दो चम्मच
  4. एक कटोरा
  5. एक चम्मच
  6. कुछ पतले कपड़े के टुकड़े

(और पढ़ें - नींबू पानी के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले एक कटोरे में चीनी को डाल लें। इसके साथ ही नींबू के जूस और पानी को भी डाल लें।
  2. फिर कटोरे को माइक्रोवेव में रखें या गैस के ऊपर रखें और मिश्रण को चम्मच से चलाते रहें।
  3. इसी तरह इसे 8 से 10 मिनट तक करते रहें। तब तक जब तक मिश्रण हल्का गाढ़ा न हो जाए और शहद जैसा न दिखने लगे।
  4. जब मिश्रण वैक्स जैसा बन जाए, फिर गैस को बंद कर दें और कटोरे को हटा लें। फिर कुछ मिनट के लिए इसे ठंडा होने को रख दें।
  5. अब गुनगुनी वैक्स को वहां लगाएं जहां आपको बाल हटाने हैं। इतना ध्यान रखें आपको पहले त्वचा के छोटे क्षेत्र पर वैक्स को लगाना है।
  6. फिर वैक्स के ऊपर पतला कपड़े का टुकड़ो लगाएं। फिर धीरे-धीरे कपड़े को त्वचा पर दबाएं और उस तरफ दबाएं जहां आपके बढ़ते बालों की दिशा जा रही है।
  7. फिर, कपड़े को अपने बालों की दिशा के उल्टी तरफ तेज़ी से हटाएँ।
  8. इसी प्रकार सभी अनचाहे बालों को हटाएँ।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्रीम)

3. चीनी, शहद और नींबू के जूस से बना वैक्स

सामग्री –

  1. ब्राउन शुगर या रोज़ाना इस्तेमाल में आने वाली चीनी - एक कप
  2. कच्चा शहद - दो चम्मच
  3. ताज़ा नींबू का जूस - एक चम्मच
  4. माइक्रोवेव में उपयोग होने वाला एक कटोरा
  5. एक चम्मच
  6. कुछ कपड़े के टुकड़े

(और पढ़ें - नींबू के तेल के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले एक कटोरे में चीनी, शहद और नींबू का जूस मिला लें और फिर इसे गैस के ऊपर या माइक्रोवेव में रख दें।
  2. पूरे मिश्रण को दो से तीन मिनट तक गरम करें, जिससे एक सही वैक्स का मिश्रण मिल जाए।
  3. अब कटोरे को गैस या माइक्रोवेव से हटा लें और फिर इसे थोड़ा गुनगुने होने तक अलग रख दें।
  4. अब गुनगुनी वैक्स को वहां लगाएं, जहां आपको बाल हटाने हैं।
  5. अब पतला कपड़ा लें और उसके ऊपर रखें, जहां आपने वैक्स लगायी है। फिर धीरे-धीरे कपड़े को त्वचा पर दबाएं और उस तरफ दबाएं जहां आपके बढ़ते बालों की दिशा जा रही है।
  6. फिर, कपड़े को अपने बालों की दिशा के उल्टी तरफ तेज़ी से हटाएँ।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्लीन्ज़र)

4. चीनी, शहद और गुड़ से बनी वैक्स

सामग्री –

  1. चीनी का घोल
  2. गुड़ 
  3. नींबू का जूस
  4. कपडे के छोटे-छोटे टुकड़े

(और पढ़ें - नींबू के छिलके के फायदे)

विधि -

  1. सबसे पहले एक कटोरा लें और उसमे चीनी और गुड़ मिलाएं। दो से तीन मिनट तक इसे माइक्रोवेव या गैस के ऊपर रखें। जब चीनी एक बार अच्छे से पिघल जाए तो उसमे नींबू का जूस मिलाएं। पूरे मिश्रण को अच्छे से मिला लें।
  2. फिर मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें। जब मिश्रण गुनगुना हो जाए, फिर इसे वहां लगाएं जहां आपको अपने बालों को हटाना है।
  3. फिर वैक्स के ऊपर कपड़े का पतला टुकड़ा लगाएं। अब धीरे-धीरे कपड़े को त्वचा पर उस तरफ दबाएं जहां आपके बढ़ते बालों की दिशा जा रही है।
  4. फिर, कपड़े को अपने बालों की दिशा के उल्टी तरफ तेज़ी से हटाएँ।
  5. इसी प्रकार सभी अनचाहे बालों को हटाएँ।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा से छुटकारा पाने के उपाय)

वीट वैक्स स्ट्रिप्स का इस्तेमाल कैसे करें - How to use veet wax strips in Hindi

वीट का इस्तेमाल क्रीम के अलावा वैक्स स्ट्रिप्स में भी किया जाता है। आप आसानी से बालों को हटाने के लिए वीट वैक्स स्ट्रिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं । इसके इस्तेमाल करने का तरीका निम्नलिखित है -

(और पढ़ें - फेशियल करने का सही तरीका)

  1. सबसे पहले वीट के डब्बे में से स्ट्रिप निकालें और अगर आपको किसी छोटे क्षेत्र पर वैक्स करनी है तो उस स्ट्रिप को काट लें वरना पूरी भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. अब अपने हाथों के बीच वीट वैक्स स्ट्रिप को रखें और रगड़ें, जिससे चिपकी हुई वैक्स स्ट्रिप थोड़ी अलग हो जाएँ। फिर धीरे-धीरे स्ट्रिप को अलग करें।
  3. अब वीट वेस्ट स्ट्रिप को त्वचा पर रखें और धीरे-धीरे पांच सेकेंड तक स्ट्रिप को बढ़ते बालों की दिशा की तरफ रगड़ें।
  4. अब वैक्स स्ट्रिप की नीचे की छोर को एक हाथ से पकड़े और दूसरे हाथ से त्वचा को कसकर पकड़ लें। फिर बालों की दिशा के उल्टी तरफ तेज़ी से स्ट्रिप को हटाएँ।
  5. बचे हुए बालों को हटाने के लिए आप फिर से उस स्ट्रिप का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  6. वैक्स के बाद आप त्वचा पर बेबी आयल या कोई क्रीम लगा सकते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे पर बर्फ लगाने के फायदे)

इसके अलावा अगर आपको इस उत्पाद से किसी भी तरह से संतुष्टि नहीं मिलती है तो आप हमारे द्वारा ऊपर बताई गयी विधियों को भी अपना सकते हैं। 

वीट वैक्स स्ट्रिप्स यहाँ क्लीक करके खरीदें

वैक्स के फायदे - Benefits of waxing in Hindi

वैक्सिंग करने के फायदे कुछ इस प्रकार है –

1. त्वचा को खूबसूरती बनाती है -

वैक्सिंग के बाद त्वचा एकदम मुलायम हो जाती है। साफ त्वचा के लिए यह बेहतरीन माना जाता है। वैक्सिंग से अनचाहे बालों के साथ-साथ मृत कोशिकाएं और रूखी त्वचा एकदम साफ़ हो जाती है। ये अन्य अनचाहे बालों को हटाने वाली तकनीकों में मुमकिन नहीं होता है, जैसे बालों को हटाने वाली क्रीम या शेविंग क्रीम। इसके आलावा कुछ ऐसे भी वैक्स आते हैं जो एलोवेरा या क्रीम से बनी होती है, जिनके इस्तेमाल से आपकी त्वचा को मॉइस्चर मिलता है।

(और पढ़ें - चेहरा गोरा करने के उपाय)

2. किसी भी तरह की इरिटेशन या एलर्जी नहीं होती -

वैक्सिंग से कभी-कभी ही त्वचा पर इरिटेशन या एलर्जी होती है। इसके अलावा बालों को हटाने वाली क्रीम से कई लोगों को एलर्जी की समस्या होने लगती है। हालाँकि, सही तरीके से वैक्सिंग करने से कभी भी त्वचा पर किसी भी तरह की समस्या पैदा नहीं होती।

(और पढ़ें - एलर्जी के उपाय)

3. वैक्सिंग से किसी भी तरह के कट या चोटें नहीं लगती -

वैक्सिंग में किसी भी तरह के ऐसे पदार्थ नहीं होते, जिनसे त्वचा पर कट या चोट लगे।

(और पढ़ें - चोट की सूजन का इलाज)

4. वैक्सिंग से बाल खड़े-खड़े नहीं आते -

वैक्सिंग त्वचा पर से बाल पूरी तरह से हटा देती है। त्वचा से छोटे-छोटे बाल भी एकदम साफ़ हो जाते हैं। अन्य अनचाहे बालों को हटाने की प्रक्रिया में (जैसे शेविंग में) छोटे-छोटे बाल रह जाते हैं, जिससे फिर टेड़े-मेढे और खड़े-खड़े बाल उगते हैं। लेकिन, वैक्सिंग से बाल एकदम साफ़ तो होते ही हैं, साथ ही त्वचा मुलायम भी रहती है।

5. वैक्सिंग से बाल धीरे-धीरे बढ़ते हैं -

वैक्सिंग का सबसे बेहतरीन फायदा यह है कि इससे बाल धीरे-धीरे बढ़ते हैं। वैक्सिंग से बाल जड़ से निकल जाते हैं, जिसकी वजह से 3 से 4 हफ्ते तक फिर बाल नहीं आते हैं।

(और पढ़ें - वैक्सिंग या शेविंग क्या है बाल हटाने का बेहतर तरीका)

वैक्सिंग के नुकसान - Side effects of waxing in Hindi

वैक्सिंग के नुकसान निम्नलिखित हैं –

1. वैक्सिंग से त्वचा की लोच चली जाती है -

वैक्सिंग करने का यह सबसे बड़ा साइड इफ़ेक्ट माना जाता है। ये देखा गया है कि रोज़ाना वैक्सिंग कराने से या लम्बे समय तक वैक्सिंग करने से त्वचा की लोच चली जाती है।

(और पढ़ें - खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)

2. वैक्सिंग से झुर्रियां पड़ने लगती हैं -

रोज़ाना वैक्सिंग करवाने से आपकी त्वचा पर झुर्रियां पड़ने का जोखिम बढ़ सकता है। इससे त्वचा अपनी लोच खो देती है और धीरे-धीरे झुर्रियां पड़नी शुरू हो जाती हैं। 

(और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियां हटाने के टिप्स)

3. वैक्सिंग से इरिटेशन और लालिमा की समस्या दिखने लगती है -

वैक्सिंग से जुड़ा ये सबसे आम नुकसान माना जाता है। ये देखा गया है कि ज़्यादातर लोगो को वैक्स करवाने के बाद इरिटेशन और लालिमा दिखने लगती है। लेकिन इरिटेशन और लालिमा की समस्या आप बर्फ लगाने से कम कर सकते हैं।

(और पढ़ें - त्वचा के चकत्ते का इलाज)

4. वैक्सिंग से त्वचा पर रेशेस, लाल चकत्ते और थोड़ी ब्लीडिंग हो सकती है -

वैक्सिंग के बाद रेशेस, लाल चकत्ते और थोड़ी ब्लीडिंग की समस्या उन लोगों में देखी जाती है, जिनकी त्वचा संवेदनशील होती है। बल्कि शरीर के संवेदनशील क्षेत्र जैसे बिकनी की जगह भी ऐसे साइड इफेक्ट्स दिख सकते हैं। 

(और पढ़ें - त्वचा पर चकत्तों के घरेलू उपाय)

5. वैक्सिंग से त्वचा जल सकती है -

जब वैक्सिंग अधिक गर्म लगायी जाती है तो उसके बाद त्वचा काली पड़ सकती है और जल भी सकती है। अधिक गर्म वैक्स लगाने से त्वचा पर कही-कही लाल और भूरे रंग के चकत्ते दिखाई दे सकते हैं। ये समस्या त्वचा के प्रकार के अनुसार भी होती है और इन चकत्तों को जाने में 1 साल या उससे ज़्यादा समय भी लग सकता है।

(और पढ़ें - काले दाग मिटाने के उपाय)

6. वैक्सिंग से त्वचा पर संक्रमण -

यह वैक्सिंग साइड इफ़ेक्ट तभी होता है जब त्वचा पर अस्वच्छ उपकरण या उत्पाद का इस्तेमाल किया जाए। शुगर से पीड़ित लोगों को वैक्सिंग कराने से बचना चाहिए, क्योंकि उनकी त्वचा संक्रमण से जल्दी प्रभावित हो जाती है। 

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए फेस पैक)

7. वैक्सिंग से एलर्जी रिएक्शन हो जाता है -

वैक्सिंग से इस तरह का नुकसान आमतौर पर लोगो में वैक्स और उसके उत्पाद के कारण देखा जाता हैं। एलर्जी रिएक्शन में गंभीर त्वचा सम्बन्धी रेशेस हो सकते हैं। ये भी देखा गया है कि जिन लोगो की त्वचा संवेदनशील होती है, उन्हें वैक्स हुए क्षेत्र पर दाने हो जाते हैं। अगर ऐसा कुछ आपको भी दिखता है तो जल्द से जल्द अपने डर्मेटोलॉजिस्ट के पास जाएँ। अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है और पहली बार वैक्स करने जा रहे हैं तो आप त्वचा पर पहले पैच टेस्ट करवा लें।

(और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट कैसे होता है)

सम्बंधित लेख

वैक्सिंग

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें

वैक्सिंग या शेविंग

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें
और पढ़ें ...