myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

कैसलमैन डिसीज क्या है?
कैसलमैन रोग एक दुर्लभ स्थिति है, जो तब होती है जब लिम्फ नोड्स में बहुत अधिक कोशिकाएं विकसित हो जाती हैं। बता दें, लिम्फ नोड्स ऐसी छोटी ग्रंथियां हैं, जो रोगाणु को फिल्टर करती हैं।
कैसलमैन रोग कैंसर नहीं है, लेकिन यह काफी हद तक लिम्फोमा (लिम्फ नोड्स का कैंसर) की तरह काम कर सकता है। कैसलमैन रोग के लिए डॉक्टर कई सारे टर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं :

  • कैसलमैन ट्यूमर
  • एंजियोमेटस लिम्फोइड हैमर्टोमा
  • एंजियोफॉलिक्युलर गैंग्लिओनिक हाइपरप्लासिया
  • एंजियोफॉलिक्युलर लिम्फ हाइपरप्लासिया
  • जायंट लिम्फ नोड हाइपरप्लासिया
  • बिनाइन जायंट लिंफोमा

कैसलमैन डिसीज के प्रकार
कैसलमैन रोग दो में से एक तरीके से होता है : यूनिसेंट्रिक कैसलमैन डिसीज (यूसीडी) और मल्टीसेंट्रिक कैसलमैन डिसीज (एमसीडी)

यूनिसेंट्रिक कैसलमैन डिसीज (यूसीडी) लिम्फ नोड्स के एक समूह को प्रभावित करता है। यह कैसलमैन डिसीज का सबसे आम प्रकार है। आमतौर पर उन लिम्फ नोड्स को हटाने के लिए सर्जरी की जरूरत पड़ती है।

दूसरा प्रकार है - मल्टीसेंट्रिक कैसलमैन रोग (एमसीडी) जो कि कई लिम्फ नोड्स को प्रभावित करता है। चूंकि, यह इतना फैला हुआ होता है, कि डॉक्टर सभी प्रभावित नोड्स को यूसीडी के साथ नहीं हटा सकते हैं, लेकिन कुछ दवाएं इसे नियंत्रण में रख सकती हैं।

कैसलमैन डिसीज के संकेत और लक्षण
आपको किस प्रकार की कैसलमैन बीमारी है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कैसा महसूस करते हैं। यूसीडी की स्थिति में, हो सकता है कि आपमें कोई लक्षण दिखाई न दें या आप अपनी गर्दन या बाहों के नीचे लिम्फ नोड्स में कुछ कठोर सा उभार देख सकते हैं।

जब यूसीडी छाती या पेट में लिम्फ नोड्स में वृद्धि का कारण बनती है, तो ऐसे में जरूरी नहीं है कि आपको सूजन महसूस हो। लेकिन लिम्फ नोड्स में वृद्धि की वजह से कुछ अन्य लक्षण देखे जा सकते हैं। आपके सीने में लिम्फ नोड में वृद्धि होने पर निम्नलिखित समस्याएं हो सकती हैं :

यदि आपके पेट में लिम्फ नोड में वृद्धि हुई है, तो निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं :

  • खाने में दिक्कत
  • पेट में भारीपन

एमसीडी की स्थिति में आपको यूसीडी के समान लक्षण दिखाई दे सकते हैं। इसके अलावा आप निम्नलिखित लक्षणों को भी पहचान सकते हैं :

कैसलमैन डिसीज के कारण

कैसलमैन रोग पुरुषों और महिलाओं दोनों को समान रूप से प्रभावित करता है। यह किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन इसका कारण पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली, कीटाणुओं के खिलाफ लड़ने की शारीरिक क्षमता और जीन में होने वाले बदलावों से जुड़ा हो सकता है।

यदि किसी व्यक्ति को एचआईवी है, तो उसे मल्टीसेंट्रिक कैसलमैन डिसीज होने का खतरा अधिक हो सकता है। चूंकि, इस बीमारी में प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है ऐसे में आपको एचएचवी-8 नामक एक अन्य वायरस से समस्याएं हो सकती हैं। फिलहाल, वैज्ञानिकों का मानना है कि यह लिम्फ नोड्स में बहुत अधिक कोशिकाओं के विकास से जुड़ा हुआ है।

कैसलमैन डिसीज का निदान
डॉक्टर मेडिकल हिस्ट्री, लक्षणों व अन्य स्थितियों के बारे में पूछ सकते हैं। वे इमेजिंग टेस्ट की मदद ले सकते हैं जैसे :

कैसलमैन डिसीज  का उपचार
कैसलमैन रोग का इलाज इसके प्रकार पर निर्भर करता है।

यूनिसेंट्री कैसलमैन रोग की स्थिति में लिम्फ नोड्स को निकालने के लिए सर्जरी की मदद ली जा सकती है। यदि यह लिम्फ नोड्स सीने या पेट में है तो ऐसे में मेजर सर्जरी की जाती है।

यदि सर्जरी के जरिये इन्हें नहीं हटाया जा सकता है, तो ऐसे में लिम्फ नोड को सिकोड़ने के लिए दवा का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, रेडिएशन थेरेपी भी प्रभावित ऊतक को नष्ट करने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है।

मल्टीसेंट्रिक कैसलमैन डिजीज को ठीक करने के लिए इम्यूनोथेरेपी, कीमोथेरेपी, कोर्टिकोस्टेरोइड और एंटीवायरल ड्रग्स की मदद ली जा सकती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें