myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आंख में कुछ चले जाना क्या है?

आंख में कुछ चले जाने का अर्थ होता है आंख में कोई भी ऐसी बाहरी वस्तु चले जाना जो स्वाभाविक रूप से आंख का हिस्सा नहीं होती। ये वस्तु मिट्टी के कण से लेकर मेटल के टुकड़े तक कुछ भी हो सकती है। आंख में कुछ भी जाने पर वो वस्तु आंख के कॉर्निया या कंजक्टिवा को नुकसान पहुंचाती है। कोई भी वस्तु आंख की ऊपरी परत के अंदर नहीं जा सकती, लेकिन वो वस्तु कॉर्निया या कंजक्टिवा को नुकसान जरूर पहुंचा सकती है। वैसे तो आंख में लगने वाली इस प्रकार की चोट गंभीर नहीं होती, लेकिन कुछ मामलों में इससे इन्फेक्शन या देखने की क्षमता को नुकसान हो सकता है।

(और पढ़ें - आंख में चोट लगने पर क्या करना चाहिए)

आंख में कुछ चले जाने के लक्षण क्या हैं?

आंख में कुछ चला जाए तो परेशानी होने के कारण व्यक्ति को पता चल जाता है। हालांकि, इससे कई लक्षण भी होते हैं, जैसे आंख में दर्द के साथ जलन व लालिमा होना, आंख में खून आना, आंख से पानी आना, आंख बंद करके घुमाने पर आंख में कुछ महसूस होना, धुंधला दिखाई देना, पलक झपकने पर आंख में खरोंच लगना और प्रभावित आंख से दिखाई न देना।

(और पढ़ें - आंखों की बीमारी का इलाज)

आंख में कुछ चले जाने की समस्या क्यों होती है?

रोजाना हवा व मौसम जैसे कई कारणों से आंख में कुछ न कुछ जाता ही रहता है, जैसे पलकें, धूल-मिट्टी, कॉस्मेटिक्स, कांटेक्ट लेंस आदि। इसके अलावा मेटल या कांच जैसी नुकीली चीजें एक्सीडेंट या किसी भी अन्य वजह से आंख में जाकर उसे नुकसान पहुंचा सकती हैं। जो चीजें बहुत तेजी से आंख में जाती हैं, उनसे आंख को गंभीर चोट लगने की संभावना भी अधिक होती है।

(और पढ़ें - आंख लाल होने पर क्या करना चाहिए)

आंख में कुछ चले जाने का इलाज कैसे होता है?

आंख में कुछ चले जाने पर डॉक्टर आपकी नजर की जांच करते हैं और आंख को सुन्न करके उस वस्तु को निकालते हैं। अगर कोई वस्तु आंख में ज्यादा अंदर की तरफ चली गई है, तो आपको आंख के स्पेशलिस्ट के पास भेजा जा सकता है। आंख में से धूल-मिट्टी को निकालने के लिए आपकी आंख को विसंक्रमित नमक के पानी से धोया जाता है और आंख का एक्स-रे किया जाता है। आपकी आंख पर ठीक होने तक पैच लगाया जा सकता है और गाड़ी चलाने के लिए मना किया जा सकता है। अगर आपके कॉर्निया पर खरोंच आई है, तो इन्फेक्शन से बचने के लिए डॉक्टर आपको एंटीबायोटिक दवाएं दे सकते हैं। अगर खरोंच ज्यादा बड़ी है, तो आंख ठीक होने तक मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है। इसके अलावा दर्द से राहत के लिए आपको एसीटामिनोफेन दी जा सकती है।

(और पढ़ें - आंखों की सूजन के घरेलू उपाय)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...