myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

जननांग दाद:-

जननांग के दाद एक यौन संचारित रोग होता है। यह दाद के एक 'हार्पिज़ सिंप्लेक्स' वायरस (Herpes Simplex Virus) के फैलने से होता है।

हर्पिज़ सिंपलेक्स वायरस त्वचा या श्लेष्मा झिल्ली (Mucous Membranes) में अति सूक्ष्म छेदों की मदद से उनके अंदर घुसकर जननांग दाद का कारण बनते हैं।

हर्पिज़ वायरस के प्रकार निम्न हैं:

  • हर्पिज़ सिंप्लेक्स वायरस 1 – आमतौर पर यह वायरस जलन रहित घाव का कारण बनता है।
  • हर्पिज़ सिंप्लेक्स वायरस 2 – यह वायरस आमतौर पर जननांग दाद का कारण बनता है।
  • इसके अलावा हर्पिज सिंप्लेक्स वायरस जननांग हिस्सों पर घावों का कारण भी बन सकता है।

जब जननांग दाद के लक्षण शुरू होते हैं तो इसमें जननांग क्षेत्र में दर्दनाक फफोले या छाले, खुजली व झुनझुनी और जलन आदि लक्षण शामिल होते हैं। इसके अलावा बुखार, शरीर में दर्द और लसीका ग्रंथि में सूजन जैसे लक्षण भी दिख सकते हैं। वायरस के पुनसक्रिय होने के कारण जननांग दाद किसी व्यक्ति को जीवन भर आते-जाते रहते हैं। किसी व्यक्ति में जननांग दाद आम तौर पर उसको संक्रमण के संपर्क में आने के चार दिन के भीतर विकसित होने लग जाते हैं।

(और पढ़ें - खुजली के घरेलू नुस्खे)

आम तौर पर इसका निदान त्वचा में बदलाव की जांच करके किया जाता है, लेकिन वायरल कल्चर, हर्पिज़ सिंप्लेक्स वायरस की जीनोम सामग्री का अनुवांशिक विस्तारण (Genetic Amplification) और अन्य टेस्ट भी जननांग दाद के निदान में शामिल हो सकते हैं।

वैसे तो जननांग दाद का कोई पूर्ण इलाज नहीं होता, मगर कुछ दवाएं हैं, जो दाद से होने वाली परेशानियों को काफी हद तक कम करने में मदद कर सकती हैं। एंटीवायरल दवाओं का प्रयोग जननांग दाद की गंभीरता और बारंबारता (बार बार आना) को कम कर देती है। गर्भावस्था के दौरान आमतौर पर खाने वाली एंटीवायरल दवाइयां प्रयोग की जाती हैं।

कुछ दाद के घरेलू नुस्खे दाद की गंभीरता को कम करने या थोड़ी राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं, मगर इसका पूर्ण इलाज उपलब्ध नहीं करवा पाते।

  1. जननांग दाद के लक्षण - Genital Herpes Symptoms in Hindi
  2. जननांग दाद के कारण - Genital Herpes Causes in Hindi
  3. जननांग दाद से बचाव - Prevention of Genital Herpes in Hindi
  4. जननांग दाद का परीक्षण - Diagnosis of Genital Herpes in Hindi
  5. जननांग दाद का इलाज - Genital Herpes Treatment in Hindi
  6. जननांग दाद के जोखिम और जटिलताएं - Genital Herpes Risks & Complications in Hindi
  7. जननांग दाद में परहेज़ - What to avoid during Genital Herpes in Hindi?
  8. जननांग दाद में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Genital Herpes in Hindi?
  9. जननांग दाद की दवा - Medicines for Genital Herpes in Hindi
  10. जननांग दाद के डॉक्टर

जननांग दाद के लक्षण - Genital Herpes Symptoms in Hindi

जननांग दाद के लक्षण:-

त्वचा के बाहर फफोले या छाले के रूप में घाव  का दिखना दाद का संक्रमण माना जाता है। दाद का पहला लक्षण दिखने में, वायरस के संपर्क में आने के 2 दिन या देर होने की स्थिति में 30 दिन तक का समय ले सकता है।

पुरूषों में दाद के सामान्य लक्षणो में पुरूषों के जननांग जैसे लिंग, अंडकोष थैली और गुदा के आस पास छाले होना शामिल है। महिलाओ में दाद के लक्षण में उनके जननांग (योनि), गुदा और नितंबों पर छाले होना शामिल हैं।

पुरूषों और महिलाओं दोनों के लिए दाद के लक्षणों में निम्नलिखित शामिल है:

  • मुंह, होठ, चेहरे और अन्य स्थान जो संक्रमित क्षेत्र के संपर्क में आते हैं वहां पर छाले व फफोले बनना।
  • फफोला बनने से पहले उसकी जगह पर पहले खुजली या झुनझुनी से शुरूआत होती है।
  • फफोला एक घाव भी बन सकता है, जिससे द्रव निकलने लगता है।
  • घाव बनने के एक हफ्ते के भीतर उनपर पपड़ी आनी शुरू हो सकती है।
  • लसीका ग्रंथि में सूजन आ सकती है, क्योंकि लसीका ग्रंथि शरीर के संक्रमण और सूजन से लड़ती है।
  • जननांग दाद के दौरान आपको बुखार, सिर दर्द और बदन दर्द हो सकता है। 

(और पढ़ें - बुखार के घरेलू नुस्खे)

दाद के साथ पैदा हुऐ बच्चों (डिलीवरी के दौरान योनि से वायरस का संक्रमण शिशु में फैलना) में दाद के सामान्य लक्षण जैसे चेहरे, जननांग और अन्य शरीर पर छाले बने होते हैं। जननांग दाद के संक्रमण के साथ पैदा हुए शिशुओं में अत्याधिक गंभीर स्थिति भी पैदा हो सकती हैं। जिनमें निम्नलिखित शामिल हो सकती हैं:

गर्भवती महिलाएं जिन्हें जननांग दाद है, उन्हें इस बारे में अपने डॉक्टर को बताना बहुत जरूरी होता है। ताकि डिलीवरी करने के दौरान डॉक्टर शिशु को वायरस के संपर्क में आने से रोकथाम कर सकें। संक्रमण की ज्यादा संदिग्ध स्थिति होने पर डॉक्टर सामान्य योनि डीलिवरी की बजाए सिजेरियन डिलीवरी का माध्यम भी चुन सकते हैं।

जननांग दाद के कारण - Genital Herpes Causes in Hindi

जननांग दाद के कारण:-

जननांग दाद दो प्रकार के वायरसों के कारण होता है, जो हर्पिज सिंप्लेक्स वायरस 1 (HSV-1) और हर्पिज़ सिंप्लेक्स वायरस 2 (HSV-2) के नाम से जाने जाते हैं। ये दोनों एक ही वायरस समूह के वायरस होते हैं।

दाद का वायरस श्लेष्मा झिल्ली के माध्यम से शरीर में प्रवेश करता है, क्योंकि श्लेष्मा झिल्ली में ऊतकों की काफी पतली परत होती है, जो शरीर के अंदर खुलती है। ये वायरस व्यक्ति की नाक, मुंह और जननांगों में पाए जा सकते हैं। जब एक बार वायरस शरीर के अंदर चले जाते हैं, तो वे खुद ही अपने आपको कोशिकाओं में सम्मिलित कर लेते हैं। ये वायरस बड़ी आसानी से खुद की संख्या को कई गुणा बढ़ा लेते हैं और जिस वातावरण में उनको परेशानी हो वे खुद को उसके अनुकूल बना लेते हैं।

ये दोनों प्रकार के वायरस संक्रमित व्यक्ति के शरीर के द्रव में भी पाए जाते हैं, जिनमें शामिल है -

(और पढ़ें - दाद का इलाज

जननांग दाद से बचाव - Prevention of Genital Herpes in Hindi

जननांग के दाद से बचाव के उपाय:-

जननांग दाद की रोकथाम के सुझाव भी अन्य यौन संचारित संक्रमणों से बचने के लिए दिए गए सुझावों के समान होते हैं, जैसे यौन गतिविधी से बचना या यौन गतिविधी सिर्फ एक ही संक्रमण-मुक्त व्यक्ति तक रखना। इसके अलावा निम्न उपाय भी किए जा सकते हैं:

  • प्रत्येक यौन संपर्क के दौरान लेटेक्स कंडोम का प्रयोग करना। (और पढ़ें - कंडोम इस्तेमाल करने का तरीका)
  • अगर पार्टनर के जननांग या अन्य किसी जगह पर जननांग दाद का प्रकोप ज्यादा हो गया हो तो, संभोग करने से बचना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान सावधानी:

अगर किसी गर्भवती महिला को पता है, कि वह जननांग दाद से संक्रमित है, तो आवश्यक रूप से उसे डॉक्टर को बताना चाहिए। अगर दाद संक्रमण की पुष्टि ना हो तो डॉक्टर से टेस्ट के लिए बात करनी चाहिए।

डिलीवरी के दौरान जननांग दाद के प्रकोप की रोकथाम के लिए डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान एंटीवायरल दवाइयों का सेवन करने की सलाह दे सकते हैं। यदि प्रसव के दौरान जाते समय दाद का प्रकोप ज्यादा बढ़ा हुआ हो, तो डॉक्टर डिलीवरी के लिए सिजेरियन डिलीवरी की मदद लेने का सुझाव दे सकते हैं ताकि शिशु को वायरस संक्रमण के संपर्क से बचाया जा सके। 

(और पढ़ें - गर्भावस्था के लक्षण)

जननांग दाद का परीक्षण - Diagnosis of Genital Herpes in Hindi

जननांग दाद का परीक्षण :- 

डॉक्टर आम तौर पर जननांग दाद की जाँच शारीरिक परिक्षण और कुछ अन्य टेस्ट की मदद से करते हैं। जिनमें निम्न टेस्ट शामिल हो सकते हैं।

  1. वायरल कल्चर (Viral Culture) टेस्ट
    इस टेस्ट में त्वचा से ऊतक का टुकड़ा या दाद के छाले से खरोंच कर निकाले गए पदार्थ के नमूने को लेबोरेट्री में टेस्ट के लिए भेजा जाता है।
     
  2. पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (Polymerase chain reaction) टेस्ट
    यह टेस्ट मरीज के घाव के ऊतक, रीढ़ द्रव (Spinal fluid) या खून के नमूने से डीएनए (DNA) को कॉपी करने के लिए किया जाता है। डीएनए का टेस्ट, वायरस (HSV) की उपस्थिति को स्थापित करने के लिए और वायरस के प्रकार को निर्धारित करने के लिए किया जाता है।
     
  3. खून की जांच – यह परीक्षण एचएसवी एंटीबॉडीज (HSV Antibodies) की उपस्थिति लिए खून के एक नमूने का विश्लेषण करता है ताकि हर्पिज़ वायरस के पिछले संक्रमण का पता लगाया जा सके।

(और पढ़ें - लैब टेस्ट)

जननांग दाद का इलाज - Genital Herpes Treatment in Hindi

जननांग दाद का उपचार:-

जननांग के दाद के लिए कोई भी इलाज उपलब्ध नहीं है, मगर संक्रमण की गंभीरता को कम करने के लिए डॉक्टर कुछ दवाएं दे सकते हैं, जो निम्न हैं:

इन सभी एंटी-वायरल दवाओं का प्रयोग दाद के प्रकोप को रोकने अथवा कम करने के लिए किया जाता है। रोजाना सुप्रेसिव थेरेपी (Suppressive Therapy) जननांग दाद के प्रकोप को कम करने मे मदद कर सकती है और जब छाले स्पष्ट ना दिख रहे हों तो उनको फैलने से रोकती है। फैमवियर और वैल्ट्रैक्स जैसी  दवाइयों को कभी-कभी ले सकते हैं। ये दवाईयां अच्छी तरह से अवशोषित और सहन की जा सकने योग्य होती हैं।

 जननांग दाद के सक्रिय इलाज के दौरान, दूसरों को संक्रमण से दूर रखने के लिए निम्नलिखित कदम उठाए जाने चाहिए।

  • वायरस प्रभावित क्षेत्र को साफ और सूखा रखें, ऐसा करने से स्वस्थ व्यक्तियों को संक्रमण से दूर रहने में मदद मिलेगी।
  • घावों को ना छूएं और छू लेने के बाद हाथों को अच्छी तरह से धो लें।

जननांद दाद के पहले लक्षण या संकेत से लेकर घावों को अच्छी तरह से ठीक होने तक यौन संपर्क करने से बचना चाहिए। घाव ठीक तब होता है, जब घाव के उपर से पपड़ी सूख कर गिर जाए और घाव की जगह पर नई त्वचा आ जाए। पर हमेशा याद रखना चाहिए कि अगर किसी संक्रमित व्यक्ति के लक्षण पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं, तब भी वह किसी स्वस्थ व्यक्ति को संक्रमित कर सकता है। 

(और पढ़ें - घाव ठीक करने के घरेलू उपाय)

जननांग दाद के जोखिम और जटिलताएं - Genital Herpes Risks & Complications in Hindi

जननांग दाद के जोखिम कारक:-

जननांग दाद से संक्रमित होने पर जोखिम और बढ़ जाते हैं अगर स्थिति निम्न में से हो:

  1. महिलाओं में संक्रमण – महिलाओं को जननांग दाद होने की संभावना पुरूषों से ज्यादा होती है। जननांग दाद का वायरस यौन गतिविधियों के दौरान, महिलाओं से पुरूषों की तुलना में, पुरूषों से महिलाओं में काफी आसानी से प्रेषित हो जाता है। (और पढ़ें - योनि में इन्फेक्शन के घरेलू नुस्खे)
  2. एक से अधिक यौन पार्टनर – प्रत्येक अतिरिक्त पार्टनर के साथ यौन गतिविधि इसके वायरस के संपर्क में आने का जोखिम बढ़ा देती है।

जननांग दाद की जटिलताएं:

जननाग दाद से जुड़ी जटिलताओं में  निम्नलिखित शामिल है:-

  1. अन्य यौन संचारित संक्रमण – जननागों में घाव होने से एड्स सहित अन्य यौन संचारित संक्रमण फैलने और ग्रहण करने के जोखिम बढ़ जाते हैं।
  2. नवजात शिशुओं में संक्रमण – संक्रमित मां से जन्म लेने वाले शिशुओं में भी डिलीवरी के दौरान वायरस के संपर्क में आने का जोखिम होता है। जिसके कारण से शिशु में अंधापन, मस्तिष्क में क्षति और यहां तक की मृत्यु के जोखिम बढ़ जाते हैं।
  3. मूत्राशय संबंधी समस्याएं – कुछ मामलों में जननांग दाद से घाव होने के कारण मूत्रमार्ग और नली के आस पास सूजन आ जाती है। सूजन के कारण कुछ दिन तक मूत्रमार्ग अवरुद्ध हो सकता है और पेशाब को बाहर निकालने के लिए एक कैथेटर की जरूरत पड़ सकती है।
  4. मैनिन्जाइटिस (Meningitis) – यह काफी दुर्लभ उदाहरणों में से एक है, जिसमें एचएसवी वायरस संक्रमित मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के आस-पास की झिल्ली और सेरिब्रोस्पाइनल द्रव (cerebrospinal fluid) में सूजन पैदा हो जाती है।
  5. गुदा की सूजन (Rectal Inflammation) – जननांग दाद के कारण गुदा की परत में सूजन आ जाती है, यह समस्या विशेषकर समलैंगिक पुरूषों में होती है। 

जननांग दाद में परहेज़ - What to avoid during Genital Herpes in Hindi?

जननांग दाद के दौरान किन चीजों से बचना चाहिए:

  • घावों पर पट्टी ना बांधें, क्योंकि हवा में घाव जल्दी भरते हैं।
  • घावों की पपड़ी ना उतारें या छूएं नहीं, जिस कारण से ये संक्रमित हो सकते हैं और ठीक होने में समय लगता है।
  • डॉक्टर की सलाह के बिना कोई मरहम या लोशन ना लगाएं,
  • नायलोन और अन्य सेंटेथिक पैंटीज़ और अंडरवियर न पहने, इसके साथ ही साथ अधिक तंग पैंट पहनने से भी बचें।
  • लक्षण गंभीर होने के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से बचें।
  • जननांगों और मुंह के आस-पास घाव होने पर वेजाइनल, ओरल या किसी भी प्रकार की सेक्स गतिविधी करने से बचें। (और पढ़ें - sex karne ke tarike)
  • अगर घाव मुंह के अंदर हैं, तो चुंबन व ओरल सेक्स गतिविधि ना करें।
  • अपना तौलिया, टूथब्रश व लिपस्टिक आदि को किसी के साथ शेयर ना करें।
  • बर्तनों का उपयोग करने से पहले उनको डिटेर्जेंट से अच्छी तरह से धो लें।

जननांग दाद में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Genital Herpes in Hindi?

जननांग दाद के मरीजों के लिए खाद्य पदार्थों में निम्म शामिल हैं:

  1. फल – शरीर में लाइसिन की आपूर्ती के लिए फलों का सेवन बेहतर तरीका माना जाता है। पतझड़ के मौसम वाले फलों में उच्च मात्रा में लाइसिन (Lysine) पाया जाता है। अपने रोजाना आहार में सेब और नाशपाती शामिल करने की भी कोशिश करें। गर्मी के दिनो में आम और खुबानी जैसे फल काफी लाभदायक रहते हैं।
  2. सब्जियां – शोध के अनुसार जननांग दाद के फैलने से रोकने के लिए फूलगोभी और ब्रोकोली सबसे बेहतर सब्जियां मानी जाती है। ज्यादतर सब्जियों में लाइसिन उच्च मात्रा में और आर्जिनाइन (Arginine) कम मात्रा में पाई जाती है। बीन्स (राजमा आदि) और आलू में उच्च मात्रा में लाइसिन पाया जाता है, जिसे आप अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।
  3. डेयरी उत्पाद – दाद से पीड़ित व्यक्तियों को डेयरी उत्पादों का सेवन करना चाहिए क्योंकि इनसे घाव को जल्दी ठीक करने में मदद मिलती है। दही को सबसे ज्यादा लाइसिन वाले पदार्थो में शामिल किया जाता है। ध्यान रखें कि जब आप दही खाएं तो उसमें जिलेटिन (Gelatin) या कॉर्न सिरप ना मिलाएं। क्योंकि जिलेटिन में आर्जिनाइन होता है, जो दाद की गंभीरता बढ़ाने का काम करता है।
  4. मीट – विभिन्न प्रकार के मीट खाने से दाद के घाव को ठीक होने में मदद मिलती है, ये खाद्य पदार्थ 'लाइसिन' से भरपूर होते हैं। जैसे मछलीचिकन आदि। 
Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग

Dr. Amisha Mirchandani

Dr. Amisha Mirchandani

संक्रामक रोग

जननांग दाद की दवा - Medicines for Genital Herpes in Hindi

जननांग दाद के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Acicet TabletAcicet 200 Mg Tablet Dt49.0
AciherpinAciherpin 200 Mg Tablet57.0
AcivexAcivex 200 Mg Tablet Dt78.0
AxovirAxovir 250 Mg Injection258.0
Lovir (Eli Lilly)Lovir 400 Mg Tablet124.0
NeoclovirNeoclovir 250 Mg Injection218.0
TriclovirTriclovir 400 Mg Tablet120.0
TrikaseTrikase 800 Mg Tablet233.0
VazovirVazovir 500 Mg Injection670.0
Vir InjectionVir 250 Mg Injection471.0
AcivAciv 400 Mg Tablet110.0
AcivirAcivir 200 Mg Tablet Dt66.0
AclovirAclovir 200 Mg Tablet55.0
AtcAtc 800 Mg Capsule38.0
CyclopizCyclopiz 200 Mg Tablet55.0
DocvirDocvir 400 Mg Tablet Dt51.0
GlenviraxGlenvirax 200 Mg Tablet18.0
HerperaxHerperax 200 Mg Tablet36.0
HerpesafeHerpesafe 400 Mg Tablet Dt66.0
HerpexHerpex 100 Mg Tablet81.0
HerpikindHerpikind 200 Mg Tablet72.0
HerzovirHerzovir 250 Mg Injection465.0
LovirLovir 200 Mg Tablet365.0
NorbitaNorbita 400 Mg Tablet12.0
OcuvirOcuvir 120 Mg Suspension128.0
OptiviralOptiviral 200 Mg Tablet51.0
PsyvirPsyvir 400 Mg Tablet137.0
RivolRivol 200 Mg Tablet60.0
ViraxVirax 800 Mg Tablet211.0
ZosterZoster 5%W/W Cream15.0
ZoviraxZovirax 200 Mg Tablet33.0
ZovistarZovistar 200 Mg Tablet56.0
ZoylexZoylex 500 Mg Injection670.0
Zoylex RdZoylex Rd 250 Mg Injection529.0
RhovirRhovir 800 Mg Tablet204.0
ZovirZovir 400 Mg Tablet129.0
ClovirClovir 5% Ointment37.63
OpthovirOpthovir 3% Ointment46.66
SetuvirSetuvir 5% Cream36.4
ToxinexToxinex 3% Eye Ointment65.0
ViraVira Eye Ointment38.25
VirinoxVirinox 3% W/W Eye Ointment43.5
VirucidVirucid 3% Eye Ointment49.95
YavirYavir 3% Eye Ointment38.0
AcyclovirAcyclovir 5% W/W Eye Ointment67.17
ClovidermCloviderm 5% Ointment18.75
EyevirEyevir 3% Eye Ointment45.0
Primacort PlusPrimacort Plus 5% Cream66.67
Virax FcVirax Fc Tablet190.47
VirovirVirovir 250 Mg Tablet255.75
FamcimacFamcimac 250 Mg Tablet177.8
FamtrexFamtrex 250 Mg Tablet431.0
MicrovirMicrovir 250 Mg Tablet149.5
PenvirPenvir 250 Mg Tablet180.0
ValcetValcet 1000 Mg Tablet180.0
ValcivirValcivir 1000 Mg Tablet200.5
ZimivirZimivir 1000 Mg Tablet164.9
ValamacValamac 1000 Mg Tablet112.0
ValavirValavir 500 Mg Tablet113.0
ValtovalValtoval 1000 Mg Tablet182.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...