myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

बचपन से ही हमें बताया जाता है कि दूध, दही, घी और अन्य डेयरी उत्पाद हड्डियों को मजबूत बनाते हैं। इसके साथ ही यह शरीर में आवश्यक विटामिन और मिनरल्स की भी पूर्ति करते हैं। ऐसे में प्रश्न यह कि क्या वास्तव में तब की कही गई बातें अब भी असरकारक हैं? यह प्रश्न अब इसलिए उठ रहे हैं, क्योंकि विशेषज्ञों का मानना है कि इन उत्पादों की गुणवत्ता अब पैमाने पर खरी नहीं उतर रही है। इतना ही नहीं हाल के दिनों में कई डेयरी उत्पादों को जांच के दायरे में भी रखा गया।

डेयरी उत्पादों की गुणवत्ता को लेकर उठ रहे सवालों के बीच एक और सवाल ने जन्म लिया है कि क्या हमारे लिए इन उत्पादों का सेवन करना फायदेमंद है? इस लेख में हम डेयरी उत्पादों और उनकी गुणवत्ता से जुड़े सभी प्रश्नों का उत्तर ढूंढने की कोशिश करेंगे।

 
  1. क्या हैं डेयरी उत्पाद - Kya hain Dairy Products
  2. डेयरी उत्पादों में पोषकता - Dairy Products me Nutritional Value
  3. डेयरी उत्पादों के स्वास्थ्य लाभ - Dairy Products ke Health Benefits
  4. डेयरी उत्पादों के दुष्प्रभाव (साइडिफेक्ट्स) - Dairy Products ke Side Effects
  5. डेयरी उत्पादों से दिल की बीमारियों का खतरा - Dairy Utpado se Dil ki Beemariyon ka Khatra
  6. फ्रैक्चर के खतरे को कम नहीं करते डेयरी उत्पाद - Fracture ke Khatre ko Kam nhi karte Dairy Products
  7. कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं डेयरी उत्पाद - Cancer ke khatre ko Badha Sakte hain Dairy Products
  8. डेयरी उत्पादों के उपयोग और उनके प्रभाव - Dairy Utpado ke Upyog aur unke Prabhav

क्या हैं डेयरी उत्पाद - Kya hain Dairy Products

डेयरी उत्पाद मुख्य रूप से पशुओं के दूध से निर्मित खाद्य या पेय पदार्थ होते हैं। मुख्य रूप से जिन पशुओं के दूध का प्रयोग इन उत्पादों को बनाने के लिए किया जाता है उनमें गाय, भैंस, बकरी, भेड़, याक और ऊंट शामिल हैं। जिस जगह दूध से तरह-तरह के उत्पादों को तैयार किया जाता है, उसे डेयरी कहते हैं।

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार दुनियाभर के 15 करोड़ परिवार डेयरी उत्पादन में लगे हुए हैं। यही इन परिवारों की आजीविका है। आंकड़े बताते हैं कि वैश्विक स्तर पर साल 1987 में दूध का उत्पादन 52.2 करोड़ टन था। साल 2017 में यह बढ़कर 82.8 करोड़ टन पहुंच गया है। मतलब 30 वर्षों में उत्पादन में करीब 58 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है। दुनिया के कुल दूध उत्पादन का 21 प्रतिशत भारत में होता है। इसके बाद अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और ब्राजील हैं। गरीबी और प्रतिकूल जलवायु परिस्थितियों के कारण अफ्रीकी महाद्वीप में दूध उत्पादन में कमी दर्ज की गई है। दुनियाभर में उत्पादित डेयरी उत्पाद निम्न प्रकार के हैं।

डेयरी उत्पादों में पोषकता - Dairy Products me Nutritional Value

ज्यादातर लोगों का मानना है कि डेयरी उत्पाद प्रोटीन और कैल्शियम के बड़े स्रोत हैं। इसके अलावा यह उत्पाद विटामिन और मिनरल्स के भी बड़े संयोजक होते हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए इनकी बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के दिशा-निर्देशों के आधार पर दूध या किसी अन्य डेयरी उत्पाद के मात्र 28 ग्राम मात्रा में निम्नलिखित पोषक तत्वों की मौजूदगी होती है।

  • प्रोटीन
    मांसपेशियों के ऊतकों के निर्माण में मदद करता है। अधिकांश डेयरी उत्पादों में केसीन की मात्रा उच्च स्तर पर होती है। यह एक प्रकार का प्रोटीन है जो मांसपेशियों को मजबूत करता है। यह उन्हें आसानी से खंडित होने से भी बचाता है।
  • कैल्शियम
    हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है।
  • राइबोफ्लेविन
    यह एक प्रकार का विटामिन बी है जो प्रतिरक्षा, लाल रक्त कोशिका के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है।
  • फास्फोरस
    हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।
  • विटामिन डी
    शरीर में कैल्शियम के अवशोषण को बेहतर बनाने में मदद करता है।
  • पैंटोथेनिक एसिड
    भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है।
  • पोटैशियम
    द्रव संतुलन को नियंत्रित करता है और ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है।
  • विटामिन ए
    त्वचा को स्वस्थ रखने और आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद करता है।
  • नियासिन
    विटामिन बी3 के रूप में प्रसिद्ध यह विटामिन मस्तिष्क के क्रियाकलापों को बेहतर बनाता है और दिमाग को स्वस्थ रखता है।

डेयरी उत्पादों के स्वास्थ्य लाभ - Dairy Products ke Health Benefits

​हड्डियों को मजबूत बनाते हैं डेयरी उत्पाद - Bones ko Majboot Banate hain Dairy Utpaad

दूध और अन्य डेयरी उत्पाद कैल्शियम, फास्फोरस और विटामिन डी से भरपूर होते हैं। ये सभी हड्डियों को मजबूती देने के लिए आवश्यक हैं। हड्डियों में होने वाली कोई भी समस्या आमतौर पर आनुवंशिक और जीवन शैली से जुड़ी होती है। इन समस्याओं को दूर करने में डेयरी उत्पाद सहायक होते हैं।

दूध, दही, पनीर और अन्य डेयरी उत्पादों को अपने खान-पान में शामिल कर लेने से आप भविष्य में होने वाली संभावित समस्याओं से निजात पा सकते हैं। दैनिक रूप से इनके इस्तेमाल से आपकी हड्डियों को मजबूती मिलेगी साथ ही गठिया संबंधी रोगों के होने का खतरा भी कम रहेगा। यह उन महिलाओं के लिए अति आवश्यक है जिनको रजोनिवृत्ति के बाद ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा है।

पाचन को सुधारें डेयरी उत्पादों से - Pachan ko Sudhare Dairy Utpado se

अधिकांश डेयरी उत्पादों में राइबोफ्लेविन की उच्च मात्रा पाई जाती है, जो पाचन में सहायक  है। वहीं खमीर युक्त डेयरी उत्पादों में बहुत प्रोबायोटिक की भी मात्रा अधिक होती है। यह एक प्रकार की सक्रिय बैक्टीरिया है जो आपकी आंतों को स्वस्थ्य रखने में मदद करती है।
ग्रीक योगर्ट और दही जैसे प्रोबायोटिक डेयरी उत्पादों की पर्याप्त मात्रा में सेवन करने की सलाह दी जाती है, जिसके बाद आप अपने पाचन स्तर में स्वयं सुधार का एहसास कर सकेंगे। गैस, पेट फूलने और दस्त जैसी बीमारियों को सही करने के लिए यह बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है।

दांतो को मजबूती देते हैं डेयरी उत्पाद - Danto ko Majbooti Dete hain Dairy Products

ब्रश करने और मुंह को स्वच्छ बनाए रखने के अलावा भी दांतों के स्वास्थ्य के लिए कई पहलू आवश्यक होते हैं। दांतों को मजबूत बनाने के लिए पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम, पोटैशियम और फास्फोरस की आवश्यकता होती है। डेयरी उत्पाद इन आवश्यकताओं को आसानी से पूरा कर सकते हैं।

अधिकांश डेयरी उत्पादों में केसीन अधिक मात्रा में  होती है। यह एक प्रकार का प्रोटीन है जो दांतों के क्षय को रोकता है। पर्याप्त मात्रा में केसीन के सेवन से दांतों की मजबूती के आवश्यक सभी तत्वों की पूर्ति हो जाती है।

वजन घटाने में सहायक होते हैं डेयरी उत्पाद - Dairy Products se Kam karen Apna Weight

आपने कई बार सुना होगा कि डेयरी के कई उत्पादों के सेवन से वजन को बढ़ाया जा सकता है, लेकिन इसका दूसरा पहलू भी है। शोध से पता चला है कि कैल्शियम की कमी वाले लोगों में फैट की मात्रा अधिक होती है और उनकी भूख को नियंत्रित करना मुश्किल होता है। टेनेसी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन से साबित हुआ जो लोग डेयरी के किन्ही तीन उत्पादों का सेवन करते हैं और अन्य खाद्य पदार्थों से मिलने वाली कैलोरी की मात्रा को कम करते हैं तो ऐसा करके आप अपने वजन को काबू में कर सकते हैं। खमीर युक्त डेयरी उत्पाद शरीर के मेटाबॉलिज्म दर को बढ़ाते हैं लिहाजा तेजी से वजन में कमी आनी शुरू हो जाती है।

मांसपेशियों के निर्माण और मजबूती देने में सहायक हैं डेयरी उत्पाद - Manspeshiyo ke Nirman aur unhe Majboot Banate hain Dairy Products

एथलीटों और आकर्षक शरीर की चाहत रखने वालों को वे और केसीन नामक दो प्रोटीन सप्लीमेंट लेने की सलाह दी जाती है। इनके सेवन से आहार और आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरतों को पूरा किया जा सकता है। बाजार में इन दोनों सप्लीमेंट को खरीदने के ​लिए हजारों खर्च करने पड़ सकते हैं, लेकिन दूध और डेयरी उत्पादों में यह दोनों आसानी से उपलब्ध होते हैं।

वे प्रोटीन तेजी से काम करने और आसानी से अवशोषित हो जाने वाला प्रोटीन है। यह नई मांसपेशियों के निर्माण में सहायक होता है वहीं दूसरी ओर यह बिल्कुल विपरीत एक धीमी गति से पचने वाला प्रोटीन है जो मांसपेशियों के टूटने और उनके क्षरण को कम करता है। पर्याप्त मात्रा में दूध का सेवन करने से आपके शरीर को आवश्यक सभी पोषक तत्वों की पूर्ति हो सकती है।

डेयरी उत्पादों के दुष्प्रभाव (साइडिफेक्ट्स) - Dairy Products ke Side Effects

जहां एक ओर बेहतर स्वास्थ्य के लिए डेयरी उत्पादों के सेवन की सलाह दी जाती है, वहीं इन उत्पादों के ​कुछ मामलों में दुष्प्रभाव भी देखने को मिले हैं। अध्ययनों में सामने आया है कि डेयरी उत्पादों से होने वाले दुष्प्रभाव कई मामलों में स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव डाल सकते हैं। आइए जानते हैं स्वास्थ्यवर्धक डेयरी उत्पादों के क्या साइडिफेक्ट्स हो सकते हैं।

डेयरी उत्पादों से दिल की बीमारियों का खतरा - Dairy Utpado se Dil ki Beemariyon ka Khatra

शोध में पता चला है कि डेयरी उत्पादों से दिल की बीमारियों का खतरा होता है। दूध, पनीर जैसे डेयरी उत्पादों में फैट की मात्रा अधिक होती है जो दिल की बीमारियां को जन्म दे सकते हैं। इन उत्पादों में कोलेस्ट्रॉल, विशेष रूप से बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है। कोलेस्ट्रॉल युक्त खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन से रक्त वाहिकाओं में दबाव आना शुरू हो जाता है, जोकि बाद में हृदय रोगों के खतरे को बढ़ा देता है। यही कारण है कि बहुत से हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोग डेयरी उत्पादों के सेवन से बचते हैं।

फ्रैक्चर के खतरे को कम नहीं करते डेयरी उत्पाद - Fracture ke Khatre ko Kam nhi karte Dairy Products

डेयरी उत्पादों को हड्डियों के लिए बेहतर बताया गया है, लेकिन इसके सेवन से फ्रैक्चर का खतरा पूरी तरह खत्म नहीं हो जाता है। 2015 में ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक विश्लेषण के अनुसार, अधिक मात्रा में डेयरी उत्पादों का सेवन हड्डियों और फ्रैक्चर के जोखिम को कम नहीं का सकता है।अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा 2014 में प्रकाशित एक अन्य अध्ययन से पता चलता है कि किशोरावस्था में दूध का लगातार सेवन भी बुढ़ापे में होने वाले हिप फ्रैक्चर के जोखिम को कम नहीं कर सकता। यही कारण है कि लोग अब डेयरी उत्पादों के बजाय कैल्शियम और अन्य पोषक तत्वों पर निर्भर होने का विकल्प चुन रहे हैं।

कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं डेयरी उत्पाद - Cancer ke khatre ko Badha Sakte hain Dairy Products

डेयरी और कैंसर के खतरे को लेकर कई मत हैं। कुछ अध्ययनों का कहना है कि डेयरी उत्पादों का सेवन कैंसर के खतरे को कम कर सकता है, जबकि कुछ अन्य अध्ययन इसके उलट साबित करते हैं कि इन उत्पादों के अधिक सेवन से कई तरह के कैंसर हो सकते हैं। 

2015 में अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित 32 अध्ययनों पर आधारित एक लेख में कहा गया कि डेयरी उत्पादों के नियमित सेवन से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है । इससे फेफड़ों के कैंसर, स्तन कैंसर और डिम्बग्रंथि के कैंसर होने का खतरा भी बना रहता है।

डेयरी उत्पादों के उपयोग और उनके प्रभाव - Dairy Utpado ke Upyog aur unke Prabhav

दूध और अन्य डेयरी उत्पाद प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और मिनरल्स से परिपूर्ण होते हैं, जो आपके शरीर को फिट और स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक हैं। हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाने, मांसपेशियों का निर्माण करने के लिए डेयरी उत्पादों की आवश्यकता होती है। यह उत्पाद आपके वजन को भी बेहतर ढंग से नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

ध्यान रखें अगर डेयरी उत्पाद आपको अधिक नुकसान पहुंचा रहे हैं। जैसे आपको लैक्टोज इंटाजरेंस या वजन बढ़ने संबंधी समस्या हो रही है तो इनके सेवन को बंद कर दें। इसके साथ ही डेयरी उत्पादों से लेने वाले पोषक तत्वों को अन्य दूसरे माध्यमों से प्राप्त करें।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें