• हिं
  • हिं

ज्यादातर लोग दिन की शुरुआत चाय के साथ करते हैं. कई लोगों का मानना है कि चाय का सेवन करने से पूरा दिन एलर्जेटिक रहता है. वहीं, कुछ लोग चाय को हेल्दी नहीं मानते हैं, लेकिन ऐसी कई चाय हैं, जो स्वास्थ्य के लिए हेल्दी मानी जाती हैं. इसमें ग्रीन टी व ब्लैक टी इत्यादि शामिल है. हार्ट हेल्थ के लिए भी कई तरह की चाय फायदेमंद हो सकती हैं. इसके अलावा, इन चाय के सेवन से कोलेस्ट्रॉल को भी कंट्रोल किया जा सकता है, जिससे हृदय के स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है.

आप यहां दिए लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं कि हृदय रोग का आयुर्वेदिक इलाज क्या है.

आज इस लेख में आप हृदय के लिए फायदेमंद विभिन्न चाय के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - हृदय रोग से बचने के उपाय)

  1. हृदय के लिए फायदेमंद चाय
  2. सारांश
हृदय के लिए फायदेमंद चाय के डॉक्टर

दिल को स्वस्थ रखने के लिए ब्लैक टी व ग्रीन टी आदि का सेवन किया जा सकता है. आइए, इन चायों के बारे में विस्तार से जानते हैं -

ब्लैक टी

ब्लैक टी में कार्डियो-प्रोटेक्टिव गुण मौजूद होता है, जो नसों में ब्लड फंक्शन और ब्लड फ्लो को बेहतर करने में मददगार हो सकता है. ब्लैक टी पॉलीफेनोल्स और फ्लेवोनोइड्स जैसे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं, जो सेल्स को क्षतिग्रस्त होने से रोक सकते हैं. इसके अलावा, इस चाय के सेवन से सूजन को कम किया जा सकता है. इतना ही नहीं, नियमित रूप से ब्लैक टी पीने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार करने में मदद मिल सकती है. 

मार्च 2018 में लिपिड्स इन हेल्थ एंड डिजीज प्रिवेंटिव मेडिसिन में प्रकाशित अध्यन के मुताबिक, ब्लैक टी में मौजूद पॉलीफेनोल हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद हो सकता है. नियमित रूप से इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल में 10.39 प्रतिशत की कमी, एलडीएल कोलेस्ट्रॉल में 10.84 प्रतिशत की कमी और ट्राइग्लिसराइड्स में 6.6 प्रतिशत की कमी देखी गई है.

(और पढ़ें - हृदय रोग के लिए आयुर्वेदिक दवा)

ग्रीन टी

हार्ट हेल्थ के लिए ग्रीन टी भी फायदेमंद हो सकती है. ग्रीन टी में एपिगैलोकैटेचिन गैलेट (Epigallocatechin Gallate) नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो आर्टरी में एथेरोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis) और प्लाक बिल्डअप को रोकने में मदद कर सकता है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि नियमित रूप से ग्रीन टी के सेवन से हार्ट डिजीज व हार्ट स्ट्रोक के खतरों को कम किया जा सकता है. जनवरी 2020 में यूरोपियन सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, नियमित रूप से ग्रीन टी पीने से हृदय रोग और स्ट्रोक से मरने की संभावना और सामान्य मृत्यु के जोखिमों को लगभग 25 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है.

(और पढ़ें - हृदय वाल्व रोग का इलाज)

ओलोंग टी

दिल को स्वस्थ रखने के लिए ओलोंग टी का भी सेवन किया जा सकता है. ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक अध्ययन में देखा गया है कि ओलोंग टी के सेवन से एचडीएल यानी गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है. वहीं, ओवरऑल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कम आ सकती है.

एक्सपर्ट का कहना है कि ओलोंग टी में लैक्सेटिव प्रभाव होता है. ऐसे में इस चाय का सेवन करने से पहले सावधानी बरतने की आवश्यकता है. ऐसे में हृदय को स्वस्थ रखने के लिए अगर आप ओलोंग टी का सेवन करने जा रहे हैं तो एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें.

(और पढ़ें - दिल में छेद का इलाज)

कैमोमाइल टी

दिल को स्वस्थ रखने के लिए कैमोमाइल टी का भी सेवन किया जा सकता है. रिसर्च के मुताबिक, कैमोमाइल टी में फ्लेवोनोइड्स होता है, जो अच्छी और गहरी नींद लाने में मददगार साबित हो सकता है.

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के जर्नल में मार्च 2021 में प्रकाशित एक अध्ययन में देखा गया है कि अच्छी और गहरी नींद न लेने के कारण हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ता है. ऐसे में कैमोमाइल टी का सेवन आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए प्रभावी है.

एकेडमी ऑफ न्यूट्रिशन एंड डाइटेटिक्स की डेरोचा कहती हैं, "फ्लेवोनोइड्स हमें आराम करने और सोने में मदद करते हैं. यह ही मासिक धर्म में ऐंठन और दर्द को कम करने में भी मदद कर सकते हैं." बस ध्यान रखें कि कोरोनरी आर्टरी वाले मरीज अगर एस्पिरिन या वारफरिन ब्लड थिनर ले रहे हैं, तो उन्हें कैमोमाइल टी पीने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए, क्योंकि यह चाय आंतरिक रक्तस्राव के खतरे को बढ़ा सकता है. 

(और पढ़ें - हृदय रोग में क्या खाना चाहिए)

जिनसेंग टी

जिनसेंग टी के सेवन से हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा मिल सकता है. कुछ अध्ययनों में देखा गया है कि जिनसेंग के सेवन से ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा मिलता है. यह हृदय संबंधी परेशानियों को कम कर सकता है. इसके अलावा, यह संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है. नियमित रूप से जिनसेंग टी के सेवन से इम्यून पावर को भी बूस्ट कर सकते हैं, जो संक्रमण और बैक्टीरियल समस्याओं से सुरक्षित रखने में असरदार है. हालांकि, अगर आप ब्लड को पतला करने वाली दवाएं ले रहे हैं, तो एक्सपर्ट से सलाह लेकर ही जिनसेंग टी पिएं. 

(और पढ़ें - हृदय रोग के लिए प्राणायाम)

Myupchar Ayurveda Hridyas बेहतरीन आयुर्वेदिक प्रोडक्ट है, जिसे विभिन्न प्रकार की जड़ी-बूटियों से बनाय गया है, जो हृदय के लिए हर लिहाज से फायदेमंद है -

रेड टी

हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए रेड टी का भी सेवन किया जा सकता है. इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड्स नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए हेल्दी है. जर्नल ऑफ एथनोफार्माकोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, लगातार 6 सप्ताह तक रेड टी का सेवन करने से एलडीएल यानी खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया जा सकता है. साथ ही एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बढ़ावा मिलता है. हालांकि, रिसर्च के दौरान स्वस्थ लोगों में इस तरह के बदलाव नहीं देखे गए थे.

(और पढ़ें - हृदय रोगियों के लिए ठंड के मौसम में सावधानियां)

दिल को स्वस्थ रखने के लिए ब्लैक टी, ग्रीन टी व रेड टी आदि का सेवन किया जा सकता है. बस ध्यान रखें कि अगर किसी व्यक्ति को हार्ट संबंधी परेशानी है, तो एक्सपर्ट की सलाह पर ही उन्हें अपने आहार और लाइफस्टाइल में बदलाव करना चाहिए, ताकि शरीर में होने वाली किसी भी तरह की गंभीरता को कम किया जा सके.

(और पढ़ें - हृदय रोग के लिए योगासन)

Dr. Amit Singh

Dr. Amit Singh

कार्डियोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Shekar M G

Dr. Shekar M G

कार्डियोलॉजी
18 वर्षों का अनुभव

Dr. Janardhana Reddy D

Dr. Janardhana Reddy D

कार्डियोलॉजी
20 वर्षों का अनुभव

Dr. Abhishek Sharma

Dr. Abhishek Sharma

कार्डियोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ