महिलाओं की वजाइना से व्हाइट डिस्चार्ज आना एक आम बात है. यह स्राव गाढ़ा, चिपचिपा और कभी-कभी दुर्गंध वाला होता है. आमतौर पर जो महिलाएं रिप्रोडक्टिव एज यानी जिन महिलाओं की उम्र 12 से 51 के बीच होती है वह योनि से सफेद स्राव का सामना करती हैं. इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, जैसे गर्भावस्था, तनाव, चिंता, हार्मोन का असंतुलन, डायबिटीज, सर्विक्स इंफेक्शन आदि.

यदि व्हाइट डिस्चार्ज अधिक मात्रा में हो तो इससे शरीर में ज्यादा कमजोरी और जल्दी संक्रमण की आशंका रहती है. इसलिए यह जानना बेहद जरूरी है कि सफेद डिस्चार्ज को कैसे नियंत्रित किया जाए. महिलाएं अपनी डाइट में कुछ चीजों को जोड़कर व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या को रोक सकती हैं.  इस लेख में हम जानेंगे सफेद स्राव को रोकने वाली डाइट के बारे में.

(और पढ़ें - सफेद पानी के घरेलू उपाय)

  1. लिकोरिया में क्या खाना चाहिए - What to eat in white discharge in Hindi
  2. सफेद पानी में क्या न खाएं - What not to eat in leucorrhea in Hindi
लिकोरिया में क्या खाएं, क्या नहीं और डाइट के डॉक्टर

प्रोबायोटिक्स

प्रोबायोटिक्स महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या को रोकने में मददगार है. दही के अंदर प्रोबायोटिक्स मौजूद होता है जो न केवल संक्रामक बैक्टीरिया से लड़ने में मददगार है बल्कि व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या से महिलाओं को राहत भी दिलाता है.

चावल का पानी

व्हाइट डिस्चार्ज से परेशान महिलाएं अपनी डाइट में चावल के पानी को शामिल कर सकती हैं. चावल का पानी घर पर आसानी से बनाया जा सकता है. इसे बनाने के लिए आप चावल को पानी में उबालें और चावल के उबलने के बाद पानी को छानें. अब इस पानी का सेवन नियमित रूप से करें. ऐसा करने से व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या दूर हो सकती है.

(और पढ़ें - योनि स्राव के प्रकार)

धनिए के बीज

व्हाइट डिस्चार्ज को रोकने में धनिए के बीज बेहद उपयोगी हैं. आप रात को धनिए के बीज को एक गिलास पानी में भिगोएं और सुबह उठकर उस पानी को छानकर खाली पेट पानी का सेवन करें. ऐसा करने से 10 दिनों के अंदर व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या दूर हो सकती है.

(और पढ़ें - ल्यूकोरिया का होम्योपैथिक इलाज)

एलोवेरा

महिलाएं अगर व्हाइट डिस्चार्ज से ज्यादा परेशान हैं तो वे एलोवेरा की मदद से इस समस्या को रोकने की कोशिश कर सकती हैं. एलोवेरा के अंदर एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं जो योनि में यीस्ट इन्फेक्शन की समस्या को दूर कर सकते हैं. वहीं एलोवेरा के सेवन से शरीर में सफेद रक्त कोशिकाएं बढ़ती हैं जो न केवल इम्यूनिटी को बढ़ाती हैं बल्कि यह संक्रमण को भी फैलने से रोकते हैं.

सेब का सिरका

सेब के सिरके के अंदर एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं जो योनि के पीएच संतुलन को बनाए रखते हैं. सेब के सिरके से शरीर में स्वस्थ बैक्टीरिया का ना केवल विकास होता है बल्कि व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या से राहत मिलती है.

मेथी के बीज

मेथी के दाने व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या को दूर करने में महिलाओं के काम आ सकते हैं. ऐसे में एक टेबलस्पून मेथी दाने एक लीटर पानी में उबालें और तब तक उबालते रहें जब तक पानी आधा रह ना जाए. अब पानी को छाने और इसका सेवन रोज खाली पेट सेवन करें. ऐसा करने से व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या दूर हो सकती है.

(और पढ़ें - सफेद पानी का आयुर्वेदिक इलाज)

अधिक मात्रा में सफेद स्राव होने पर निम्न चीजों का सेवन करने से बचें -

  • पेस्ट्री
  • मिठाई
  • कस्टर्ड
  • आइसक्रीम
  • पुडिंग
  • शर्करा वाले खाद्य पदार्थ
  • अन्य प्रोसेस्ड और पैकेज्ड फूड

अगर डाइट में बदलाव करने के बाद भी व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या कम नहीं होती तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
8 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Avtar Singh Kochar

Dr. Avtar Singh Kochar

पोषणविद्‍
20 वर्षों का अनुभव

Dr. priyamwada

Dr. priyamwada

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ