रक्त में मौजूद प्लेटलेट्स हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. अगर यह शरीर में सुनिश्चित मात्रा में रहे, तो शरीर स्वस्थ रह सकता है. वहीं, अगर इसकी संख्या में उतार-चढ़ाव आए, तो शरीर कई तरह की बीमारियों की चपेट में आ सकता है. खासतौर पर इन दिनों लोगों के शरीर में प्लेटलेट्स काउंट में कमी आ रही है.

प्लेटलेट्स काउंट को बढ़ाने के लिए आप कई तरह के उपचारों का सहारा ले सकते हैं. आयुर्वेद में भी प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने के लिए कई तरह की दवाइयां मौजूद हैं. इसके जरिए आप ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ा सकते हैं. साथ ही यह आयुर्वेदिक दवा कई तरह की समस्याओं को दूर करने में भी असरदार होती हैं.

आज हम इस लेख में प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवा के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए क्या खाएं)

  1. प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवा
  2. सारांश
प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार व दवा के डॉक्टर

ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने के लिए आप आयुर्वेदिक दवाओं का सहारा ले सकते हैं. प्राकृतिक तरीकों से निर्मित इन आयुर्वेदिक दवाओं से शरीर को नुकसान होने का खतरा कम होता है. आइए, विस्तार से जानते हैं इन आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में -

प्लेटवेल कैप्सूल

यह 100 फीसदी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से तैयार दवाई है. यह शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या को सुरक्षित तरीके से बढ़ाने में असरदार हो सकती है. इतना ही नहीं, यह इम्यूनिटी पावर को बूस्ट करने में भी मददगार है. इसके अलावा, प्लेटवेल कैप्सूल पाचन तंत्र को मजबूत बनाए रखता है. इस कैप्सूल में कैरिका पपाया होता है, जो बोन मैरो को उत्तेजित करके प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने में मदद करता है.

प्लेटवेल स्वाभाविक रूप से प्लेटलेट्स के स्तर में सुधार करता है. साथ ही यह ब्लड में प्लेटलेट को नष्ट होने से रोकता है और परिसंचरण में प्लेटलेट की लाइफ को बढ़ाता है.

(और पढ़ें - प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए योग)

ग्रीन गोल्ड कार्कती कैप्सूल

आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से निर्मित यह दवा स्वास्थ्य के लिए प्रभावी ढंग से कार्य करती है. साथ ही यह प्लेटलेट्स की संख्या में सुधार करती है. 100% प्राकृतिक अवयवों से तैयार ग्रीन गोल्ड कार्कती कैप्सूल प्लेटलेट बूस्ट करके प्लेटलेट की संख्या को उत्तेजित करता है. इसके अलावा, यह कैप्सूल शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है, जिससे मरीज की रिकवरी जल्दी होती है.

ऐड-प्लेटलेट्स - ऐड वेदा

इस कैप्सूल का सेवन करने से शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाया जा सकता है. इस कैप्सूल के इस्तेमाल से वायरल फीवर, पुरानी बीमारियों, कीमोथेरेपी, डेंगू बुखारआईटीपी यानी इडियोपैथिक थ्रॉम्बोसाइटोपेनिक पुरपुरा स्थितियों में प्लेटलेट्स की संख्या में सुधार करने के लिए किया जाता है. यह दर्द से राहत दिलाने में असरदार दवा है, जो मरीजों में अच्छी नींद को बढ़ावा देती है.

एक्सपर्ट की सलाह के अनुसार, इस कैप्सूल का सेवन करने से प्लेटलेट काउंट में सुधार होने के साथ-साथ प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ावा मिलता है. साथ ही यह रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को उत्तेजित करता है. इतना ही नहीं, शरीर में यूरिन की मात्रा को बढ़ाकर शरीर से अतिरिक्त विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मददगार हो सकती है.

(और पढ़ें - प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवा)

पपाया लीफ एक्सट्रैक्ट 500 एमजी कैप्सूल

पपाया लीफ एक्सट्रैक्ट 500 एमजी कैप्सूल का सेवन करने से विभिन्न समस्याओं को दूर किया जा सकता है. इस दवा में उच्च मात्रा में एंजाइम पपैन और काइमोपैपेन होता है, जो पाचन तंत्र के रोगों को दूर करने में लाभकारी है. इससे शरीर में प्लेटलेट काउंट में सुधार किया जा सकता है.

कपिवा पपाया + एंटी-ऑक्सीडेंट कैप्सूल 60's

ये कैप्सूल एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और खनिजों से भरपूर होता है, जो कई परेशानियों को दूर करने में लाभकारी है. शुद्ध पपीते के अर्क से तैयार यह कैप्सूल प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने में मददगार हो सकता है. यह लिवर के लिए सफाई एजेंट के रूप में कार्य कर सकता है. साथ ही स्वास्थ्य से जुड़ी कई परेशानियों को दूर करने में लाभकारी है.

साथ ही इसमें क्रैनबेरी हो, जो एक सुपरफूड है, जो फाइबर और विटामिन-सी से भरपूर होता है. यह पाचन को बढ़ावा देने और नियमित मल त्याग को बनाए रखने में मददगार हो सकता है. इन दोनों जड़ी-बूटियों के इस्तेमाल से शरीर को कई बेहतर लाभ प्राप्त होते हैं.

इस दवा के सेवन से शरीर मौसमी बीमारियों से लड़ने के लिए तैयार होता है. साथ ही इसमें विटामिन-ई समृद्ध रूप से मौजूद होता है, जो प्रतिरक्षा स्तर को बढ़ावा दे सकता है.

(और पढ़ें - प्लेटलेट्स बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा)

प्लेटलेट्स संख्या को बढ़ाने के लिए आप इन आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं. बस ध्यान रखें कि किसी भी आयुर्वेदिक औषधि का इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर या आयुर्वेद एक्सपर्ट से परामर्श जरूर लें, ताकि किसी भी गंभीर परिस्थिति से बचा जा सके.

(और पढ़ें - प्लेटलेट्स गिनती)

Dr. pawan kumar

Dr. pawan kumar

आयुर्वेद
17 वर्षों का अनुभव

Dr. Shubhi Goel

Dr. Shubhi Goel

आयुर्वेद
6 वर्षों का अनुभव

Dr. S S Choudhary

Dr. S S Choudhary

आयुर्वेद
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Jyoti Kumari

Dr. Jyoti Kumari

आयुर्वेद
1 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें