myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

स्वस्थ जिंदगी के लिए स्वस्थ हड्डियों का होना बहुत जरूरी है। स्वस्थ हड्डियां सही खानपान और नियमित एक्सरसाइज से मिलती हैं। लेकिन मौजूदा जीवनशैली, काम के दबाव की वजह से कम उम्र में ही लोगों की हड्डियां कमजोर होने लगी हैं। हड्डियों को मजबूत बनाना है तो हमें कुछ चीजों से दूर रहना चाहिए। आइए जानते हैं इनके बारे में।

(और पढ़ें - हड्डियों में दर्द का इलाज)

घंटों साइकिल चलाना
साइकिल चलाना अच्छी आदत है। यह बेहतरीन एक्सरसाइज भी है जो कई तरह से स्वास्थ्य के लाभ पहुंचाता है। इससे दिल और लंग्स मजबूत हाते हैं। क्या कभी आपने सोचा है कि घंटों साइकिलिंग का हड्डियों पर क्या असर पड़ता है? यह आपकी हड्डियों को किसी भी तरह से फायदा नहीं पहुंचाता। दरअसल साइकिलिंग, पैदल चलनेजाॅगिंग करने की तरह हड्डियों की डेंसिटी को बढ़ाने में मददगार नहीं है। अगर आप साइकलिस्ट हैं, तो अपनी दिनचर्या से कुछ समय निकालकर टेनिस, डांसिंग, स्विमिंग जैसी एक्टिविटी करनी चाहिए।

घंटों एक ही जगह रहना
आप चाहें वर्किंग हों या नाॅन-वर्किंग। इन दिनों ज्यदातर लोगों की शारीरिक सक्रियता कम हो गई है। हैरानी इस बात की है कि एक ही जगह बैठे-बैठे पूरा दिन गुजर जाता है। आपकी हड्डियों के लिए यह स्थिति सही नहीं है। शरीर को हवा, पानी, धूप सबकी आवश्यकता होती है। कोशिश करें कि 10 से 5 मिनट के गैप में चहलकदमी करें। कुछ समय सूरज की रोशनी के साथ गुजारें। लेकिन बहुत ज्यादा धूप में जाना भी स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। इससे स्किन कैंसर का जोखिम बढ़ सकता है। अगर आप सूरज की रोशनी में जाने से बचते हैं तो ध्यान रखें कि इससे वक्त गुजरने के साथ-साथ आपके शरीर को प्राकृतिक रूप से विटामिन डी बनाने में समस्या हो सकती है।

बहुत ज्यादा नमक खाना
इन दिनों जंक फूड, प्रोसेस्ड फूड लोग खाना खूब पसंद कर रहे हैं। इनमें काफी ज्यादा नमक होता है जो हड्डियों और शरीर के अन्य हिस्सों से कैल्शियम को कम करता है। दरअसल प्रोसेस्ड फूड में  काफी ज्यादा मात्रा में सोडियम होता है, जो कि स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। विशेषज्ञों के अनुसार एक दिन में एक व्यक्ति के लिए 2300 मिलिग्राम सोडियम काफी होता है। यह एक चम्मच के बराबर है। जबकि लोग इससे ज्यादा मात्रा में सोडियम में ले रहे हैं।

बहुत ज्यादा दवाईयां लेना
लंबे समय तक कोई दवा लेना भी हड्डियों के लिए सही नहीं है। दवाओं का हड्डियों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यही नहीं कुछ दवाईयों का सेवन लंबे समय तक करने पर हड्डियां टूट भी सकती हैं। इसलिए आप जो भी दवा लंबे समय से ले रहे हैं, उसके नकारात्मक प्रभाव पर एक बार अपने डाॅक्टर से बात जरूर कर लें। जरूरी हो तो उन दवाईयों के विकल्प के बारे पूछ सकते हैं। वैसे किसी भी तरह की दवा लंबे समय तक लेना स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है।

कैफीन की मात्रा बढ़ाना
हमारे यहां चाय टाइम पास के तौर पर पी जाती है। जब कुछ करने को नहीं है, चाय पीकर समय बिता लिया। जबकि चाय में कुछ मात्रा में कैफीन होता है। अतिरिक्त कैफीन लेना स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। चाय के अलावा काॅफी, सोडा, एनर्जी ड्रिंक्स में भी कैफीन होती है। कैफीन शरीर की कैल्शियम को अवशोषित करने की क्षमता को बाधित करता है। विशेषज्ञों के अनुसार कैफीन सीमित मात्रा में पीएं। संभव हो तो इसे अपनी डाइट से पूरी तरह बाहर निकाल दें। इसी तरह कोल्ड ड्रिंक्स में भी कैफीन और फास्फोरिक एसिड होता है जो हड्डियों को नुकसान पहुंचाने के लिए जिम्मेदार हैं।

ध्यान रखें कि हड्डियों की मजबूती के लिए पर्याप्त मात्रा में आहार और पोषक तत्वों को लेना चाहिए। कैल्शियम, विटामिन डी, एक्सरसाइज, डाइट। आप इन सब चीजों के फायदों को भलीभांति जानते हैं। हड्डियों को मजबूत रखना है तो जीवनशैली से उन चीजों को भी दूर करें जो आपकी हड्डियों के लिए सही नहीं है।

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

और पढ़ें ...