टेस्टोस्टेरोन मेल सेक्स हार्मोन है, जिसका निर्माण पुरुषों के अंडकोष में होता है. पुरुषों के लिए टेस्टोस्टेरोन का काफी महत्व है. इस हार्मोन की मदद से ही पुरुषों की मांसपेशियों और हड्डियों मजबूत होती हैं. किशोरावस्था में दाढ़ी-मूछों का आना, आवाज भारी होना जैसे लक्षण इसी हार्मोन की वजह से दिखते हैं. इतना ही नहीं, टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की वजह से ही पुरुषों में शुक्राणु का उत्पादन होता है. ऐसे में यह हार्मोन पुरुषों की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए बहुत ही जरूरी माना जाता है.

अगर पुरुषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन की कमी हो जाए, तो उन्हें कई तरह की परेशानी जैसे- स्ट्रेस, पतली आवाज, शरीर का विकास न होना, लो स्पर्म काउंट जैसी समस्याएं हो सकती हैं. इस तरह की परेशानी से बचने के लिए पुरुषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन होना बहुत ही जरूरी है. अगर आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन की कमी है, तो इसे बढ़ाने के लिए आप कई तरह के इलाज का सहारा ले सकते हैं. आयुर्वेद में भी टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए कई तरह की दवाएं इस्तेमाल की जाती हैं.

आज हम इस लेख में टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा के बारे में जानेंगे -

आयुर्वेदिक सेक्स पावर कैप्सूल फॉर मेन को उचित दाम पर ऑनलाइन खरीदने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करें.

  1. टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा
  2. टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए अन्य आयुर्वेदिक उपचार
  3. सारांश
टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने का आयुर्वेदिक इलाज व दवा के डॉक्टर

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए आप शालीज, अश्वगंधा, अदरक जैसी आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन कर सकते हैं. आइए, आयुर्वेद की इन दवाओं के बारे में विस्तार से जानते हैं-

अश्वगंधा

आयुर्वेद चिकित्सा में अश्वगंधा का इस्तेमाल कई तरह की परेशानियों को दूर करने के लिए किया जाता है. खासतौर पर यौन रोग और इनफर्टिलिटी की समस्याओं को कम करने के लिए आयुर्वेद में अश्वगंधा की जड़ों का इस्तेमाल होता है. इसके अलावा, इसके कैप्सूल और अर्क भी इस्तेमाल किए जाते हैं.

रिसर्च के मुताबिक, इनफर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे पुरुषों को अश्वगंधा की खुराक देने पर काफी सकारात्मक रिजल्ट देखे गए हैं. अश्वगंधा के सेवन से टेस्टोस्टेरोन का स्तर, स्पर्म काउंट, शुक्राणु (स्पर्म) गतिशीलता को बढ़ाया जा सकता है. एक अन्य अध्ययन के मुताबिक, अश्वगंधा के सेवन से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाया जा सकता है. ऐसे में अगर आप टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवा की तलाश कर रहे हैं, तो अश्वगंधा आपके लिए बेस्ट साबित हो सकता है. एक्सपर्ट की सलाह पर आप टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए आप नियमित रूप से अश्वगंधा का सेवन करें. इससे आपको काफी लाभ होगा.

(और पढ़ें - टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Urjas T-Boost Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को शुक्राणु की कमी, मांसपेशियों की कमजोरी व टेस्टोस्टेरोन की कमी जैसी समस्या के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Testosterone Booster
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

शिलाजीत

आयुर्वेद में पुरुषों की परेशानियों को दूर करने के लिए शिलाजीत लेने की सलाह दी जाती है. यह टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में प्रभावी हो सकता है. रिसर्च के मुताबिक, पुरुषों को 90 दिन तक दिन में दो बार 250 मिलीग्राम शिलाजीत दिया गया है. इसके बाद टेस्टोस्टेरोन के स्तर में काफी सुधार देखा गया है. इसके अलावा, शिलाजीत पुरुषों की शारीरिक ताकत को बढ़ाने में असरदार होती है. साथ ही यह स्पर्म काउंट को भी बढ़ाती है.

स्तंभन दोष का इलाज विस्तार से जानने के लिए कृपया यहां दिए लिंक पर क्लिक करें.

Urjas शिलाजीत कैप्सूल, जिसे myUpchar Ayurveda ने तैयार किया है, न केवल आपकी ऊर्जा को बढ़ाता है, बल्कि यह शीघ्रपतन और कामेच्छा में सुधार करने में भी मदद करता है। इसका नियमित सेवन करे एक स्वस्थ और संतुलित जीवन की दिशा में कदम बढ़ाये।

ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस

ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, जिसका इस्तेमाल सदियों से पारंपरिक चिकित्सा में किया जाता रहा है. कुछ वैज्ञानिक का मानना है कि टेस्टोस्टेरोन के स्तर और यौन स्वास्थ्य को सुधारने में यह दवा काफी प्रभावी हो सकती है. रिसर्च में देखा गया है कि यह टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में असरदार है, लेकिन अभी इस पर पूर्ण रूप से अध्ययन बाकी है. इसके अलावा, कुछ अन्य रिसर्च में देखा गया है कि ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस के इस्तेमाल से पुरुषों और महिलाओं की यौन क्रिया और कामेच्छा को बढ़ाया जा सकता है.

शीघ्रपतन का इलाज जानने के लिए कृपया यहां दिए लिंक पर क्लिक करें.

Shilajit Resin
₹845  ₹1299  34% छूट
खरीदें

टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बेहतर करने के लिए इन आयुर्वेदिक उपचार का भी सहारा लिया जा सकता है-

लहसुन

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए अगर आप आयुर्वेदिक इलाज अपनाना चाहते हैं, तो लहसुन भी आपके लिए बेस्ट साबित हो सकता है. एक ओर जहां लहसुन का इस्तेमाल कई तरह की डिशेज को तैयार करने के लिए किया जाता है. वहीं, आयुर्वेद में कई तरह की दवाओं को तैयार करने के लिए लहसुन का इस्तेमाल होता है. लहसुन प्राकृतिक रूप से टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने में आपकी मदद कर सकता है.

रिसर्च के मुताबिक, लहसुन पाउडर के सेवन से वृषण में टेस्टोस्टेरोन के स्तर में वृद्धि देखी गई. कुछ अन्य अध्ययनों के अनुसार, नियमित रूप से लहसुन की कलियों का सेवन करने से ब्लड में टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाया जा सकता है. आयुर्वेद में लहसुन का इस्तेमाल तेल और अर्क के रूप में भी किया जाता है. अगर आप अपने  टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाना चाहते हैं, तो एक्सपर्ट की सलाह पर इसका सेवन करना शुरू करें. इससे आपको लाभ हो सकता है.

कामेच्छा में कमी का इलाज जानने के लिए कृपया यहां दिए लिंक पर क्लिक करें.

मेथी

मेथी लोकप्रिय आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है. आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल कई तरह की दवाइयों को तैयार करने के लिए किया जाता है. रिसर्च के मुताबिक, मेथी के सेवन से यौन क्रिया और जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाया जा सकता है. रिसर्च के अनुसार, नियमित रूप से अगर पुरुष मेथी का सेवन करते हैं, तो इससे उनकी शारीरिक क्षमता बढ़ती है. मेथी का अर्क टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ा सकता है.

शुक्राणु की कमी का इलाज जानने के लिए कृपया यहां दिए लिंक पर क्लिक करें.

अदरक

अदरक का इस्तेमाल कई लोग एक आम घरेलू मसाले के रूप में करते हैं, लेकिन आपको बता दें कि आयुर्वेद में अदरक का इस्तेमाल सदियों से दवा के रूप में किया जाता है. रिसर्च में देखा गया है कि अदरक के सेवन से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाया जा सकता है. कुछ अन्य अध्ययनों के अनुसार, अदरक टेस्टोस्टेरोन के स्तर और यौन क्रिया को बढ़ाने में प्रभावी है.

वहीं, डायबिटीज की वजह से टेस्टोस्टेरोन और ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन में कमी होने पर आप अदरक का सेवन कर सकते हैं. यह डायबिटीज रोगियों में टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने में फायदेमंद हो सकता है. इतना ही नहीं, पुरुषों में इनफर्टिलिटी की परेशानी को दूर करने के लिए आप अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं.

(और पढ़ें - बांझपन का आयुर्वेदिक इलाज)

आयुर्वेद में मौजूद दवाओं की मदद से आप टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ा सकते हैं. बस ध्यान रखें कि टेस्टोस्टेरोन की कमी होने पर एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर लें, ताकि टेस्टोस्टेरोन की कमी के कारणों का पता चल सके और आप इसका उचित इलाज करवा सकें. वहीं, किसी भी आयुर्वेदिक दवा या जड़ी-बूटी का सेवन करने से पहले आयुर्वेदाचार्य से सलाह जरूर लें.

(और पढ़ें - बांझपन से छुटकारा पाने के लिए योग)

Dr Prashant Kumar

Dr Prashant Kumar

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr Rudra Gosai

Dr Rudra Gosai

आयुर्वेद
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Hemant Sharma

Dr. Hemant Sharma

आयुर्वेद
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Padam Dixit

Dr. Padam Dixit

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें