myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट क्या है?

बार्बीचुरेट्स सीडेटिव दवाओं के समूह का एक का एक प्रकार है, जिनका प्रयोग मस्तिष्क संबंधी विकार जैसे चिंता, दौरे और अनिद्रा के इलाज के लिए किया जाता है। बार्बीचुरेट्स का उपयोग सबसे अधिक 1960 और 1970 के बीच किया गया था।

हालांकि, इसके विपरीत प्रभावों और इसकी आदत पड़ जाने की प्रकृति के कारण बार्बीचुरेट्स के प्रयोग को धीरे-धीरे कम किया जा रहा है। इसीलिए इन दवाओं को अब सुरक्षित दवाओं से बदल दिया गया है जिसे बेंजोडाइजेपाइन कहा जाता है। इसके अलावा कुछ बार्बीचुरेट्स मिर्गी को नियंत्रित करने के लिए और एनेस्थीसिया के रूप में भी प्रयोग किए जाते हैं।

जिस पर इस दवा के दुरुपयोग या इसकी विषाक्तता होने का संदेह होता है, बीएआर यूरिन टेस्ट उस व्यक्ति के यूरिन सैंपल में बार्बीचुरेट्स की उपस्थिति की जांच करता है।

  1. बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट क्यों किया जाता है - Barbiturates (BAR) Test urine Kyu Kiya Jata Hai
  2. बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट से पहले - Barbiturates (BAR) Test urine Se Pahle
  3. बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट के दौरान - Barbiturates (BAR) Test urine Ke Dauran
  4. बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Barbiturates (BAR) Test urine Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट क्यों किया जाता है?

बार्बीचुरेट्स यूरिन टेस्ट की सलाह निम्न के लिए दी जा सकती है:

  • कर्मचारियों का सामान्य टेस्ट 
  • एक्सीडेंट के बाद टेस्ट 
  • रिटर्न ड्यूटी टेस्टिंग (किसी नशे की लत से ठीक होने के बाद कंपनी में जाने से पहले एक बार फिर टेस्ट करना)
  • चल रहे इलाज में टेस्ट के लिए 
  • नौकरी से पहले टेस्ट 

यदि व्यक्ति में ड्रग एब्यूस के निम्न लक्षण दिखाई देते हैं तो भी डॉक्टर यह टेस्ट करने के लिए कह सकते हैं:

  • पैरानोया (तर्कहीन संदेह या शंका होना)
  • जी मिचलाना 
  • पैनिक विकार 
  • आंख की पुतली छोटी हो जाना फैल जाना
  • चिंता 
  • सांस लेने में तकलीफ 
  • डेलीरियम (प्रलाप)
  • स्पष्ट रूप से बोल ना पाना
  • हृदय की गति और ब्लड प्रेशर घटना-बढ़ना 

हालांकि बार्बीचुरेट्स यूरिन और ब्लड दोनों में देखा जा सकता है, लेकिन यूरिन टेस्ट में शरीर में कोई चीरा नहीं लगाया जाता और इसकी प्रक्रिया भी बहुत सामान्य होती है। इसके अलावा बार्बीचुरेट्स की पहचान यूरिन में दो से चार घंटो तक या प्रयोग के तीन हफ्ते तक भी की जा सकती है। वहीं रक्त में ये केवल 52 घंटे तक ही देखा जा सकता है।

बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

इस टेस्ट के लिए किसी विशेष तैयारी की जरूरत नहीं होती। यदि आप डॉक्टर की सलाह पर या बिना डॉक्टर की सलाह किसी भी तरह की दवा, हर्ब्स या सप्लीमेंट ले रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं क्योंकि ये टेस्ट की प्रक्रिया और टेस्ट के परिणामों को प्रभावित कर सकते हैं।

बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट कैसे किया जाता है?

डॉक्टर पहले आपको टेस्ट की प्रक्रिया और उद्देश्य के बारे में समझा देंगे। टेस्ट को समान लिंग के व्यक्ति से करवाया जा सकता है ताकि आप सैंपल के साथ हस्तक्षेप या गड़बड़ी न करें। निम्न चरणों का पालन कर के ब्लड सैंपल लिया जाता है:

  • इस बात का विशेष ध्यान रहे कि आपके हाथ धुले हुए हों और साफ हों 
  • इसके बाद एक कीटाणुरहित सैंपल लेने के लिए अपने जननांग को ठीक से साफ करें। इसी कारण से पहले यूरिन टॉयलेट बाउल में करना शुरू करें और इसके बाद बाकि का यूरिन दिए गए कंटेनर में इकट्ठा करें। 
  • कंटेनर को जल्द से जल्द टेस्ट के लिए लैब में लौटाएं।

बार्बीचुरेट्स (बीएआर) यूरिन टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सामान्य परिणाम:
बीएआर टेस्ट के सामान्य परिणाम को नेगेटिव रिजल्ट के रूप में प्रदर्शित किया जाता है। इसका मतलब है कि दिए गए सैंपल में या तो बार्बीचुरेट्स की मात्रा बिलकुल भी नहीं थी या जो मात्रा पाई गई वो कट ऑफ वैल्यू से कम है। कट ऑफ वैल्यू किसी भी व्यक्ति के शरीर में ड्रग को सहने की पूर्व निर्धारित वैल्यू होती है। यूरिन में बार्बीचुरेट्स के सभी प्रकारों की कट ऑफ वैल्यू 100 ng/ml है इस स्तर से कम वैल्यू को सामान्य माना जाता है।

असामान्य परिणाम:
बीएआर टेस्ट के असामान्य परिणाम को पॉजिटिव रिजल्ट के रूप में प्रदर्शित किया जाता है। इसका मतलब है कि दिए गए सैंपल में बार्बीचुरेट्स के स्तर सामान्य से अधिक हैं। परिणामों में सामने आई वैल्यू के अनुसार आपके डॉक्टर इस बात की पुष्टि करेंगे कि ये वैल्यू किसी दवा के कारण आई हैं या ये वैल्यू दवा की विषाक्तता के कारण हैं।

असामान्य रिजल्ट हमेशा दवा के प्रयोग के कारण नहीं आते। सर्दी और जुकाम की दवाओं, एंटीबायोटिक थेरेपी और इबूप्रोफेन लेने के कारण भी परिणाम गलत तरह से पॉजिटिव आ सकते हैं। परिणामों की सही जानकारी लेने के लिए डॉक्टर को रिपोर्ट्स दिखाएं।

और पढ़ें ...

References

  1. European Monitoring Centre for Drugs and Drug Addiction [Internet]. European Union. Lisbon. Portugal. Europe. Barbiturates drug profile
  2. National Institute of Drug Abuse. National Institute of Health [internet]. U.K. Drug Testing
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Drug Testing
  4. Michigan Medicine: University of Michigan [internet]; Toxicology Tests
  5. Wilson D, Manual of Laboratory and Diagnostic Tests, 2008. The Mc Graw Hills companies Inc., Pp:560.
  6. Disposition of Toxic Drugs and Chemicals in Man. 10th edition. Edited by RC Baselt. Foster City, CA: Biomedical Publications, 2014.
  7. Langman LJ et al: Clinical Toxicology. In: Tietz Textbook of Clinical Chemistry and Molecular Diagnostics. Edited by N Rifai, AR Horvath, CT Wittwer. Sixth edition. St. Louis, MO. Elsevier, 2018, pp 832-887.
ऐप पर पढ़ें