myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आजकल दुनियाभर में ज्यादातर लोग आँखों की बीमारी और रोशनी से पीड़ित हैं जैसे मायोपिया (पास का न दिखना) और हाइपरोपिया (दूर का न दिखना)। इनकी वजह से आपको लेन्सेस और चश्में लगाने पड़ जाते हैं। रोशनी को ठीक करने के लिए ऐसे कई तरीके हैं जिनका इस्तेमाल आप कर सकते हैं जैसे लेन्सेस पहनना और आई सर्जरी कराना। चश्मे और कॉन्टेक्ट लेन्सेस कमजोर आँखों की रोशनी के लिए एक तरीका है, लेकिन ये तरीका ज्यादा लम्बे तक नहीं चलता। इनसे आपको आगे जाकर काफी परेशानी होने लगती है।

आप चश्मे से छुटकारा कुछ प्राकृतिक घरेलू उपायों से पा सकते हैं, जो बहुत ही आसान और प्रभावी हैं। चश्मा हटाने के तरीके के अलावा अपनी जीवनशैली में बदलाव लेकर आएं और कुछ आँखों से जुड़े व्यायाम भी जरूर करें।

तो आइये आपको बताते हैं चश्मा उतारने के उपाय और तरीके -    

  1. चश्मा छुड़ाने के लिए घरेलू उपाय बादाम और सौफ के बीज है - Chashma chudane ke liye gharelu upay badam aur saunf ke beej hai
  2. चश्मा हटाने के घरेलू नुस्खे मुलेठी पाउडर और शहद है - Chasma hatane ke gharelu nuskhe mulethi powder aur shehad hai
  3. आँखों से चश्मा हटाने के उपाय में त्रिफला पाउडर और घी का इस्तेमाल करें - Ankho se chashma hatane ke upay me triphala powder aur ghee ka istemal kare
  4. चश्मा हटाने का तरीका आंवला और गाय का दूध - Chashma hatane ka tarika awla aur gaay ka doodh
  5. चश्मा हटाने के लिए सौफ और त्रिफला का उपयोग करें - Chashma hatane ke liye saunf aur triphala ka upyog kare
  6. चश्मा उतारने के लिए त्रिफला और काली मिर्च फायदेमंद है - Chasma utarne ke liye triphala aur kali mirch faydemand hai
  7. चश्मा उतारने का घरेलू उपाय है त्रिफला आई वाश - Chashma utarne ka gharelu upay triphala eye wash hai
  8. चश्मा छुड़ाने के उपाय में शहद और अदरक से आई ड्राप बनाएं - Chashma chudane ke upay me shehad aur adrak se eye drop banaye
  9. चश्मा हटाने के तरीके में हरीतकारी को शामिल करें - Chashma hatane ke tarike me haritkari ko shamil kare
  10. आँखों को आयुर्वेद के द्वारा ठीक करने के उपाए - Ankhon ko ayurveda ke dwara theek karne ke upay

सामग्री –

  1. 60 बादाम।
  2. 16 चम्मच सौंफ के बीज। (और पढ़ें - सौंफ के फायदे)
  3. 12 चम्मच मिश्री।

विधि –

  1. सबसे पहले सभी सामग्रियों को मिक्सर में मिक्स कर लें।
  2. फिर पाउडर तैयार होने के बाद इसे एक ग्लास या प्लास्टिक बोतल में बंद करके रख दें।
  3. पाउडर को बोतल में बंद करके रखने के बाद इसे सूरज के सम्पर्क में ना आने दें।

कैसे खाएं –

  1. सबसे पहले दो चम्मच पाउडर को एक ग्लास गाय के दूध में मिलाएं।
  2. अच्छे से चलाने के बाद इसे रात को सोने से पहले पियें।
  3. इस मिश्रण को सिर्फ और सिर्फ गाय के दूध के साथ ही पियें।
  4. इसे पीने के बाद एक से दो घंटे तक कुछ भी न पियें।
  5. इस उपाय को बिना छोड़ें दो से तीन महीने के लिए रोजाना दोहराएं।
  6. आप इस मिश्रण को कमजोरी और अम्नेसिया (भूलने की समस्या) में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बच्चों के लिए खुराक -

  1. एक ग्लास गर्म गाय के दूध में एक चम्मच पाउडर को मिलाएं।
  2. इस उपाय को रात को सोने से पहले बच्चो को पिलायें।
  3. इस मिश्रण को पीने के बाद कोई भी तरल पदार्थ अगले दो घंटे तक उन्हें न दें।
  4. इस उपाय को अगले दो महीने तक बिना छोड़ें रोजाना दोहराएं।

सामग्री –

  1. आधा चम्मच मुलेठी का पाउडर। (और पढ़ें - मुलेठी के फायदे)
  2. एक चम्मच शहद। (और पढ़ें - शहद के फायदे)
  3. आधा चम्मच घी।
  4. दो कप गर्म दूध।

विधि –

  1. मिश्रण को एक ग्लास गाय के दूध में मिला दें।
  2. पूरे मिश्रण को दूह में अच्छे से चला लें।
  3. इस मिश्रण को रात को सोने से पहले पियें।
  4. इस दूध को पीने से बाद अगले दो घंटे तक कुछ ना पियें।
  5. इस उपाय को बिना छोड़ें अगले दो महीने तक रोजाना दोहराएं।

बच्चों के लिए खुराक -

  1. चश्मा हटाने के लिए, दस साल से बढे बच्चों को रोजाना 45 दिनों तक इस खुराक को दें।
  2. दस साल से कम उम्र के बच्चों को आधा ग्लास दूध दें।  

सामग्री –

  1. एक चम्मच शहद।
  2. एक या दो चम्मच घी।
  3. एक चम्मच आंवला पेस्ट या पाउडर। (और पढ़ें - आंवला के फायदे)
  4. एक चम्मच हरड़ या हरीतकी पाउडर।
  5. एक चम्मच बहेरा (Bahera) या बिभीताकी पाउडर (Bibhitaki powder)।

विधि -

  1. सभी सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. मिलाने के बाद इस मिश्रण पूरे दिन में दो बार खाएं (सुबह में - खाली पेट और रात को खाने से पहले)।

सावधानी -

जब घी और शहद की मात्रा लें तो दोनों की मात्रा बराबर न लें, क्योंकि बराबर मात्रा आपके लिए ज़हर हो सकती है। आप एक सामग्री ज्यादा और एक सामग्री कम ले सकते हैं।

जो लोग त्रिफला पानी उसके कड़वे स्वाद की वजह से नहीं पीते वो लोग सुबह खाली पेट एक चम्मच आंवला जैम या पेस्ट खा सकते हैं। इसके अलावा आप रात को सोने से आधा घंटा पहले हरड़ जैम गाय के दूध के साथ ले सकते हैं। लेकिन जिन्हें शुगर की समस्या है वो ये जैम का इस्तेमाल न करें। इस तरह आपको चश्मा हटाने में मदद मिलेगी।

(और पढ़ें - त्रिफला के फायदे)

चश्मा छुड़ाने के लिए सौंफ के बीज बहुत ही बेहतरीन सामग्री है। इससे आपकी पाचन क्रिया भी ठीक रहती है। 100 ग्राम त्रिफला पाउडर और 100 ग्राम मिश्री मिलाकर खाने से आपकी आँखें स्वस्थ और रोशनी को ठीक करती हैं। इस मिश्रण का एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर खाएं। आप इस मिश्रण को एक ग्लास गर्म दूध के साथ भी खा सकते हैं। आप देखेंगे कि आपकी आँखें धीरे-धीरे स्वस्थ होती जा रही हैं। 

सामग्री –

  1. 50 ग्राम त्रिफला।
  2. एक ग्लास पानी।
  3. दो चम्मच घी।
  4. टी से चार काली मिर्च
  5. नमक स्वादानुसार।

विधि –

  1. सबसे पहले त्रिफला को एक ग्लास पानी में रातभर के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  2. फिर सुबह सामग्री को हाथों से कुचल दें और उसका गूदा निकाल लें।
  3. अब गूदे को दो चम्मच गाय के घी और तीन से चार काली मिर्च के साथ फ्राई करें।
  4. फिर स्वादानुसार नमक डालें और सब्जियों की तरह इसे खाएं।

आप इस उपाय को दो तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं –

पहला तरीका -

  1. इसे बनाने के लिए, त्रिफला पाउडर को एक ग्लास पानी में मिलाएं।
  2. फिर ग्लास को रातभर के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  3. सुबह को छननी का इस्तेमाल कर मिश्रण को छान लें।
  4. छानने के बाद इस मिश्रण से अपनी आँखों को धोएं।
  5. इस उपाय को रोजाना एक महीने तक दोहराएं।

दूसरा तरीका -

  1. रोजाना सुबह अपने मुँह को ठंडे पानी से एक मिनट तक भरे रखें।
  2. इस दौरान, अपनी आँखों को त्रिफला पानी से तीन से चार बार धोएं।
  3. एक मिनट के बाद मुँह से ठंडे पानी को निकाल दें।
  4. इस प्रक्रिया फिर से दोहराएं।

सामग्री –

  1. एक चम्मच अदरक का जूस।
  2. एक चम्मच प्याज का जूस।
  3. एक चम्मच नींबू
  4. तीन चम्मच शहद।

विधि –

  1. सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. फिर इस मिश्रण को एक ग्लास बोतल में डालें और बंद करके फ्रिज में रख दें।
  3. अब अपनी दोनों आँखों में इस मिश्रण को एक-एक बूँद पूरे दिन में दो बार डालें।
  4. इस उपाय को दो से तीन महीने तक दोहराएं।

आप हरीतकारी दो तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं -

पहला तरीका -

अगर छोटा हरर या हरीतकारी फल खाया जाता है तो ये कब्ज और रोशनी को बढ़ाने के लिए बेहद लाभदायक है।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा, एक चम्मच हरीतकारी पाउडर को एक ग्लास गाय के दूध के साथ मिलाएं और उसमें एक चम्मच घी भी डाल लें।
  2. फिर इस मिश्रण को पी जाएँ।
  3. इस उपाय को पूरे दिन में दो बार जरूर पियें।

आँखों को आयुर्वेद के द्वारा ठीक करने के उपाए कुछ इस प्रकार हैं -

  • बादाम, सौफ़ और मिश्री को सामान मात्रा में लेकर चूरन बनायें| रात को सोते समय 10 ग्राम की मात्रा को 1 ग्लास दूध के साथ लें जिससे आपकी आखें बहुत तेज हो जायेंगी|
  • त्रिफला के जल से आँख को ढोने से भी आँखें तेज हो जाती हैं| इसके लिए 10 ग्राम त्रिफला चूरन को पानी में रात को डुबो लें| सुबह इस पानी को छान कर अपनी आँखों को धो लें| यह आप दिन में 2-3 दिन तक करें| इससे आपकी आँखें तेज होंगी|
  • कनपट्टी पर गाय के घी से मालिश करें जिससे आपकी आँखों की शक्ति बढ़े|
  • अनुलोम विलोम प्राणायामा करने से भी आँखें सुंदर और बेहतर होती हैं|
  • पैरों के तलवे पर सरसों के तेल से मालिश करने से भी आँखें बेहतर होती हैं|
  • रोज सुबह घास पर नंगे पैर चलने से भी आँखों की शक्ति बढ़ती है|
  • 1 चने के दाने जितनी फिटकरी को सेक कर 100 ग्राम गुलाब जल में मिला लें| 4-5 बूँद हर रात को आँखों में डालें|
  • साथ ही गाजर, केला, नींबू और  गन्ना खाने से भी आपकी आँखों की शक्ति बढ़ती है|

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
1205 भारत
1पुडुचेरी
1मणिपुर
3हिमाचल प्रदेश
1मिजोरम
38पंजाब
3ओडिशा
13लद्दाख
8चंडीगढ़
7उत्तराखंड
9अंडमान निकोबार
7छत्तीसगढ़
5गोवा
198महाराष्ट्र
202केरल
22पश्चिम बंगाल
82उत्तर प्रदेश
71तेलंगाना
67तमिलनाडु
59राजस्थान
47मध्य प्रदेश
83कर्नाटक
87दिल्ली
36हरियाणा
48जम्मू-कश्मीर
69गुजरात
23आंध्र प्रदेश
15बिहार

मैप देखें