आनंद बालासन आसान योगासन है. इसे हैप्पी बेबी पोज भी कहा जाता है, क्योंकि इसे करते समय शरीर की मुद्रा हंसते हुए शिशु की होती है. इस आसन के नियमित अभ्यास से हैमस्ट्रिंग, जांघ व कमर में खिंचाव उत्पन्न होता है. इससे शरीर के इन अंगों को मजबूती मिलती है. साथ ही यह पीठ को आराम देता है. यह कूल्हों, कंधों व छाती को भी स्ट्रेच करता है.

आज हम इस लेख में हम आनंद बालासन को करने के तरीके व फायदे के बारे में विस्तार से बताएंगे -

(और पढ़ें - बितिलासन करने के फायदे)

  1. आनंद बालासन के फायदे
  2. आनंद बालासन को करने का तरीका
  3. सारांश
आनंद बालासन करने का तरीका व फायदे के डॉक्टर

हैप्पी बेबी पोज इनर थाइज, हैमस्ट्रिंग और कमर को स्ट्रेच करता है. साथ ही यह कूल्हों और पीठ को फ्री फील कराता है. इससे शरीर के इन हिस्सों में लचीलापन और गतिशीलता बढ़ती है. हैप्पी बेबी पोज के ऐसे ही फायदों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है -

कूल्हों के लिए फायदेमंद

इस आसन को करने से कूल्हों की मांसपेशियों में खिंचाव आता है. इसके परिणामस्वरूप कूल्हों का आकार बेहतर होता है और उनमें लचीलापन भी आता है.

(और पढ़ें - कर्नापीड़ासन करने के फायदे)

पीठ दर्द में फायदेमंद

इस योगासन को करने से पीठ में होने वाला दर्द कुछ कम हो सकता है. यह पीठ के निचले हिस्से व रीढ़ की हड्डी को मजबूत करता है.

(और पढ़ें - विपरीत करनी करने के फायदे)

रीढ़ की हड्डी में सुधार

इस योगासन को नियमित रूप से करने से रीढ़ की हड्डी का आकार बेहतर हो सकता है, जिससे शरीर के पोश्चर में सुधार होता है. यह योगासन रीढ़ की हड्डी को स्ट्रेच भी करता है.

(और पढ़ें - सुखासन करने के फायदे)

तनाव से राहत

अगर आप इस योगासन को रोज करते हैं, तो इससे मन शांत होता है. मन के शांत होने से चिंता व तनाव जैसी समस्याओं से राहत मिल सकती है.

(और पढ़ें - शीर्षासन करने के फायदे)

थकान में कमी

इस आसन को करने से शरीर में रक्त का प्रवार बेहतर तरीके से होता है, जिससे शारीरिक थकान कुछ हद तक कम हो सकती है.

(और पढ़ें - पवनमुक्तासन करने के फायदे)

हृदय के लिए लाभकारी

कुछ शोधों में ऐसा माना गया है कि इस योगासन की मदद से हृदय गति को सामान्य किया जा सकता है.

(और पढ़ें - वीरासन करने के फायदे)

इस योगासन के नाम से ही समझ आ जाता है कि इसे करते समय शरीर की मुद्रा एक खुश शिशु की तरह होती है. इसे करने की प्रक्रिया के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है -

  • सबसे पहले समतल व साफ जगह पर योग मैट बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं.
  • अब घुटनों को मोड़ते हुए छाती के पास लाएं और दोनों टांगों को ऊपर की तरह करें यानी तलवे आसमान की तरफ होंगे.
  • ध्यान रहे कि कूल्हे जमीन से सटे रहेंगे.
  • इसके बाद दोनों पैरों के अंगूठे को अंदर या बाहर की ओर से पकड़ें. फिर घुटनों को अलग फैलाते हुए बगल की ओर ले जाएं.
  • अब कुछ देर इसी अवस्था में रहें और सामान्य गति से सांस लेते रहें.

(और पढ़ें - मार्जरी आसन करने के फायदे)

हैप्पी बेबी पोज आसान योगासन है. इस योग को करने से शरीर की कई समस्याएं दूर होती हैं. इससे जांघ, कूल्हों व कमर में होने वाली परेशानी कम हो सकती है. साथ ही शरीर की अन्य समस्याएं भी दूर हो सकती हैं. अगर आप पहले से किसी परेशानी से जूझ रहे हैं, तो एक्सपर्ट की सलाह पर ही यह आसन करें. साथ ही शुरुआत में प्रशिक्षित योग ट्रेनर की देखरेख में ही इसे करें.

(और पढ़ें - शवासन करने के फायदे)

शहर के योग ट्रेनर खोजें

  1. पूर्वी सिक्किम के योग ट्रेनर
Dr. Smriti Sharma

Dr. Smriti Sharma

योग
2 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ