बढ़ती उम्र के साथ बालों का सफेद होना आम बात है लेकिन कम उम्र में गलत खानपान और लाइफस्टाइल की वजह से बाल सफेद होने की समस्या बहुत आम हो गई है. आमतौर पर देखा गया है कि कम उम्र में अगर काले घने बालों के बीच एक सफेद बाल दिख जाता है, तो लोग उसे तोड़ने लगते हैं, लेकिन क्या ऐसा करना सही है? आज इस लेख में हम जानेंगे कि सफेद बालों को उखाड़ने से क्या होता है.

समय से पहले क्यों होते हैं सफेद बाल? 

सफेद बालों को उखाड़ने से प्रभावों को जानने से पहले ये जानना जरूरी है कि समय से पहले क्यों होते हैं सफेद बाल. दरअसल, पिगमेंट सेल कम होने से बालों की जड़ों में कम मेलेनिन जाने लगता है और बाल सफेद या ग्रे होने लगते हैं. इसके अलावा प्रदूषण, केमिकल्स का उपयोग, तनाव, ऑटो-इम्यून बीमारी, स्मोकिंग, विटामिन बी 12 की कमी, पोषक तत्वों की कमी, थायराइड या एलोपेसिया एरेटा, हार्मोनल असंतुलन सहित आनुवांशिक कारणों और कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के कारण समय से पहले बाल सफेद हो जाते हैं.

(और पढ़ें - जाने क्यों होते हैं उम्र से पहले बाल सफेद)

आइये अब जानते हैं कि समय से पहले सफेद हुए बाल निकालने से क्या हो सकता है -

  1. सफेद बालों से नहीं मिलता छुटकारा - Can't get rid of white hair
  2. बालों को पतला होना - Hair thins
  3. बालों की बनावट खराब होती है - Hair texture deteriorates
  4. स्कैल्प को नुकसान पहुंचता है - Can damage the scalp
  5. सारांश - Takeaway
सफेद बाल उखाड़ने से क्या होता है के डॉक्टर

काले बालों के बीच एक भी बाल सफेद दिखाई देता है, तो उसे उखाडने की भूल कभी ना करें. वह आपके बालों के लिए बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक हो सकता है. 'अमेरिकी हेयर रेस्टोरेशन सजर्न रॉबर्ट डोरिन' के अनुसार, सफेद बालों को उखाड़ने से बालों की बढ़ने की गति कम हो जाती है और नए बालों का आना कठिन हो जाता है. साथ ही नए बाल या तो रूखे होंगे या सफ़ेद बालों को तोड़ने से आपको केवल एक नया सफ़ेद बाल मिलेगा क्योंकि केवल एक बाल एक ही फालिकल (follicle) में बढ़ने में सक्षम है. प्लकिंग बालों के रोम को आघात पहुंचा सकता है और किसी भी फालिकल को बार-बार आघात लगने से इंफेक्शन हो सकता है.

(और पढ़ें - सफेद बालों को काला करने के लिए तेल)

सफेद बालों को उखाड़ने से आपके बालों की जड़ों पर बुरा प्रभाव पड़ता है और उखाड़े गए सफेद बालों के स्थान पर नए बालों को उगना स्थाई रूप से कम या बंद हो सकता है. इससे आपकी हेयर डेंसिटी कम हो जाती है और आपके बाल पतले हो जाते हैं. प्लकिंग करना कोई सही उपाय नहीं है, इसकी वजह से बालों में जगह-जगह पर गंजापन या पैचेस हो सकते हैं.

(और पढ़ें - सफेद बालों के लिए आयुर्वेदिक सुझाव)

सफेद बालों को उखाड़ते समय हमेशा ही हेयर स्ट्रैंड की प्राकृतिक बनावट के डैमेज होने का खतरा बना रहता है जिसके कारण उखाड़े गए बाल के स्थान पर आने वाले नए बाल कड़े हो जाते हैं और इनकी बनावट खराब हो जाती है.

(और पढ़ें - दाढ़ी मूंछ के बाल काले करने का उपाय)

यदि आप बार-बार अपने सफेद बालों को उखाड़ते रहते हैं, इस दौरान हेयर फॉलिकल में पिगमेंटेड कोशिकाएं स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो सकते हैं. और आपकी स्काल्प की स्किन को नुकसान पहुंच सकता है, यह डैमेज हो सकती है.

(और पढ़ें - बालों की देखभाल के टिप्स)

सफेद बालों को तोड़ने को लेकर कई मिथ हैं. लेकिन ग्रे हेयर्स की प्लकिंग करके आप अपने बालों और स्काल्प को नुकसान पहुंचा रहे हैं. हफ़िंगटन पोस्ट के मुताबिक, ग्रे या सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए उन्हें उखाड़ने के बजाय स्ट्रैंड को काटना बेहतर है. 

Dr. Rohan Das

Dr. Rohan Das

ट्राइकोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Nadim

Dr. Nadim

ट्राइकोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Sanjeev Yadav

Dr. Sanjeev Yadav

ट्राइकोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Swadesh Soni

Dr. Swadesh Soni

ट्राइकोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ