मधुमक्खी का काटना एक आम समस्या है। ज्यादातर मामलों में मधुमक्खी का डंक अत्यधिक दर्द नहीं देता है और इसका इलाज घरेलू उपायों से भी किया जा सकता है। मधुमक्खी काटने के बाद एक कांटेदार डंक छोड़ जाती है। इस डंक को जल्द से जल्द हटाना बेहद आवश्यक होता है क्योंकि ज्यादातर मधुमक्खी डंक के साथ एक सूक्ष्म विषाक्त थैली भी छोड़ जाती हैं, यह थैली हमारे शरीर में जहर फैलाती रहती है। इसलिए जितना जल्दी हो सके मधुमक्खी के डंक को हटा देना चाहिए, इससे विषाक्त पदार्थ शरीर में और नहीं फैलते।

डंक को निकालने के लिए प्रभावित त्वचा को बटर नाइफ या किसी सख्त कार्ड (जैसे एटीएम कार्ड) के साथ धीरे-धीरे खरोंचें, यह डंक निकालने का सबसे अच्छा तरीका है। इसके अलावा मधुमक्खी के काटने पर होने वाली जलन, सूजन और इन्फेक्शन को खत्म करने के कई घरेलू उपचार हैं। आप इन सभी उपायों की मदद से घर पर ही मधुमक्खी के काटने का इलाज कर सकते हैं।

  1. शहद से करें मधुमक्खी के काटने का घरेलू इलाज - Honey se kare madhumakhi ke katne ka ilaj
  2. मधुमक्खी के काटने का घरेलू उपाय है बेकिंग सोड़ा - Baking Soda hai madhumakhi ke katne ka gharelu upay
  3. मधुमक्खी के काटने का रामबाण इलाज है सेब का सिरका - Madhumakhi ke katne ka ramban ilaj hai Apple Cider Vinegar
  4. मधुमक्खी के काटने से आराम पहुंचाता है टूथपेस्ट - Madhumakhi ke katne se aaram pahuchata hai Toothpaste
  5. एलोवेरा जैल है मधुमक्खी के काटने का देसी इलाज - Madhumakhi ke katne ka desi ilaaj hai Aloe Vera Gel
  6. मधुमक्खी के काटने से छुटकारा पाने का उपाय है लैवेंडर तेल - Madhumakhi ke katne se chuthkara pane ka upay hai Lavneder Oil
  7. मधुमक्खी के काटने का घरेलू नुस्खा है टी ट्री ऑयल - Madhumakhi ke katne ka gharelu nuskha hai Tea Tree Oil
  8. ठंडी सिकाई है मधुमक्खी के काटने का देसी उपाय - Cold Compress se milti hai madhumakhi ke katne mein rahat

मधुमक्खी के काटने पर होने वाले दर्द को शहद से बहुत ही कम समय में ठीक किया जा सकता है। ऐसा करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स फॉलो करने पड़ेंगे:

आवश्यक सामग्री 

  • 1 चम्मच शहद 
  • 1 छोटा कपड़ा

इस्तेमाल का तरीका 

  • 1 चम्मच शहद लें और उसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं
  • अब इसके ऊपर कोई साफ छोटा कपड़ा बांध लें
  • शहद को अपना असर दिखाने के लिए 1 घंटे तक ऐसे ही लगा रहने दें
  • जब आप कपड़ा हटाएंगें तो महसूस करेंगे की दर्द और जलन खत्म हो चुकी है

कैसे काम करता है

शहद में ऐसे कई आयुर्वेदिक गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को मुलायम बना देते हैं और उस पर होने वाले किसी प्रकर के घाव, दर्द, सूजन और जलन को कम कर देते हैं।

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को डंक निकालने के तुरंत बाद अपनाने की सलाह दी जाती है।

बेकिंग सोडा कई घरेलू उपचारों में इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि मधुमक्खी के काटने पर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इस घरेलू उपाय को निम्न विधियों से किया जा सकता है।

आवश्यक सामग्री 

  • 1 चम्मच बेकिंग सोड़ा
  • 1 चम्मच पानी 
  • 1 पट्टी या छोटा कपड़ा

इस्तेमाल का तरीका

  • 4 चम्मच बेकिंग सोडा को ½ कप पानी में अच्छे से घोल लें
  • तैयार हुए मिश्रण को अपनी प्रभावित त्वचा पर लगाएं
  • इस के बाद उसके ऊपर पट्टी बांध लें आप चाहें तो पट्टी की जगह किसी साफ कपड़े का भी उपयोग कर सकते हैं
  • अब 15 मिनट तक इसे बांध कर रखें
  • पट्टी खोल कर देख लें की सूजन या दर्द खत्म हुआ है या नहीं
  • अगर अभी भी आपको दर्द महसूस हो रहा हो तो इस विधि को तब तक दोहराएं जब तक दर्द पूरी तरह से खत्म ना हो जाए।

कैसे काम करता है

बेकिंग सोडा में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो पानी के साथ मिलकर मधुमक्खी के विषाक्त प्रभाव को बेअसर करने में मदद करते हैं।

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को भी मधुमक्खी के काटने के तुरंत बाद इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। इस प्रक्रिया को दिन में कई बार इस्तेमाल किया जा सकता है।

सेब का सिरका लगभग सभी प्रकार के दर्द को कम करने में मदद करता है। मधुमक्खी के काटने पर भी सेब के सिरके का घरेलू उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इस उपाय को करना भी बेहद आसान है - 

आवश्यक सामग्री

  • 4 चम्मच सेब का सिरका
  • थोड़ी सी रूई या 1 छोटा कपड़ा

इस्तेमाल का तरीका

  • थोड़ी सी रूई लें और उसे सेब के सिरके से भिगों लें
  • अब रूई को अपने प्रभावित हिस्से पर हल्के दबाव के साथ लगाए जब तक दर्द चला न जाए
  • आप चाहें तो रूई की जगह किसी पट्टी या छोटे कपड़े का भी इस्तेमाल कर सकते हैं
  • इसके अलावा सेब के सिरके को सीधे अपनी प्रभावित त्वचा पर लगाकर किसी पट्टी से बांध कर 15 मिनट के लिए छोड़ दें और दर्द का एहसास खत्म होने पर पट्टी को खोल लें। 

कैसे काम करता है

सेब के सिरके में मौजूद एसिड मधुमक्खी के जहर को बेअसर कर देते हैं, जिससे दर्द व सूजन ठीक हो जाती है।

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को 2 दिन तक इस्तेमाल करें जब तक सूजन और दर्द पूरी तरह से गायब न हो जाए।

अभी तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि टूथपेस्ट कैसे दर्द को कम करने में मदद करता है।लेकिन कई मामलों में देखा गया है कि यह मधुमक्खी के काटने पर होने वाले दर्द को जल्द ही खत्म कर देता है। इसे इस्तेमाल करने की विधि आसान ही है:

आवश्यक सामग्री

  • ¼  चम्मच टूथपेस्ट

इस्तेमाल का तरीका

  • अपनी उंगली पर थोड़ा टूथपेस्ट निकालें
  • अब इसे अपनी उंगली की मदद से प्रभावित त्वचा पर लगाएं
  • इसे 5 से 10 मिनट के लिए छोड़ दें
  • जरूरत पड़ने पर इस प्रक्रिया को फिर से दोहराएं

कैसे काम करता है

टूथपेस्ट पर किए गए कुछ अध्ययनों की माने तो इसमें क्षार (एल्कलाइन) के गुण होते हैं, जो मधुमक्खी के काटने से फैलने वाले विषाक्त पदार्थों के असर को कम कर देते हैं।

कब इस्तेमाल करें

टूथपेस्ट को मधुमक्खी के काटने के तुरंत बाद लगाने की सलाह दी जाती है। इसे आप तब तक लगाएं जब तक दर्द पूरी तरह से खत्म ना हो जाए।

एलोवेरा में एक गाढ़ा व चिपचिपा जैल मौजूद होता है, यह जैल हमारी त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करता है और उसे नमी प्रदान करता है। यह एक ऐसी प्राकृतिक औषधि है जो त्वचा की लगभग सभी समस्याओं को ठीक करने में मदद करती है। इसे इस्तेमाल करने के लिए आपको नीचे दी गई विधि को फॉलो करना होगा: 

आवश्यक सामग्री

  • एक चम्मच या उससे भी कम एलोवेरा
  • 1 खाली कटोरी या अन्य कोई छोटा बर्तन

इस्तेमाल का तरीका

  • एलोवेरा की टहनी से जैल निकाल लें
  • जैल को एक कटोरी या बर्तन में डाल कर कुछ देर के लिए फ्रिज में रख दें
  • एलोवेरा जैल के ठंडे होने पर उसे फ्रिज से बाहर निकाल लें
  • अब जैल को अपनी उंगली की मदद से उस हिस्से पर लगाएं जहां मधुमक्खी ने डंक मारा हो
  • इसे 10 मिनट तक लगा रहने दें
  • जरूरत पड़ने पर और जैल लगा सकते हैं
  • आप चाहें तो एलोवेरा जेल मार्किट से खरीद कर भी लगा सकते हैं

कैसे काम करता है

एलोवेरा जैल में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जो एंटी-इंफ्लेमेटरी की तरह काम करते हैं और मधुमक्खी के डंक से हुई सूजन को कम कर देते हैं। इसके अलावा एलोवेरा विषाक्त पदार्थों से होने वाले इंफेक्शन को भी रोकता है।

कब इस्तेमाल करें

जल्दी आराम पाने के लिए इस जैल को मधुमक्खी के डंक को निकालने के बाद तुरंत लगाना चाहिए।

लैवेंडर एक प्रकार की जड़ी बूटी है जिसे कई प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है जैसे छाले, बाल झड़ना, तनाव, डिप्रेशन या किसी प्रकार का दर्द आदि। इसके अलावा इसके तेल को त्वचा से संबंधित जलन और सूजन को ठीक करने के घरेलू उपाय के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • 1 चम्मच लैवेंडर के तेल को कटोरी में डाल लें
  • अब इसमें 1 चम्मच नारियल का तेल या 1 चम्मच ऑलिव ऑयल मिलाएं 
  • रूई या उंगली की मदद से तैयार हुए मिश्रण की कुछ बूंदो को प्रभावित त्वचा पर लगाएं
  • आप चाहें तो इस तेल से प्रभावित हिस्से की हल्के-हल्के मालिश भी कर सकते हैं

कैसे काम करता है

लैवेंडर के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन को खत्म करने में मदद करते हैं। 

कब इस्तेमाल करें

मधुमक्खी के काटने के बाद अगर आपको सूजन दिखाई दे तो इस तेल का इस्तेमाल 2 से 3 दिन करें। लैवेंडर के तेल को प्रभावित हिस्से पर दिन में 4 बार तक लगाएं। 

टी ट्री ऑयल एसेंशियल (जड़ी-बूटी युक्त) तेल है जो त्वचा, बालों और नाखूनों से संबंधित समस्याओं के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। टी ट्री एक ऐसी शक्तिशाली औषधि है जो कीटाणुओं को नष्ट करने के साथ दर्द और जलन को एक ही बार में खत्म कर देती है। यह सस्ता होने के साथ-साथ एक सुरक्षित इलाज भी है। इसके अलावा भी इसके कई इस्तेमाल हैं लेकिन अभी हम आपको इसके मधुमक्खी के काटने पर किए जाने वाले इस्तेमाल करने के बारे में बताएंगे।

आवश्यक सामग्री

1 चम्मच टी ट्री ऑयल

इस्तेमाल का तरीका

इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान है आपको केवल 1 चम्मच टी ट्री ऑयल लेना है और उसे प्रभावित हिस्से पर उंगली की मदद से लगाना है।  इसे 15 मिनट के लिए लगा रहने दें। जरूरत पड़ने पर थोड़ा सा तेल और लगा सकते हैं।

कैसे काम करता है

टी ट्री ऑयल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो जलन, सूजन और लालिमा को शांत करते हैं। 

कब इस्तेमाल करें 

इसे दिन में 4 से 5 बार तक इस्तेमाल करें। इसका उपयोग आपकी त्वचा से जलन कम करने के साथ उसे मुलायम भी बनाएगा जिस कारण आप इस औषधि को जब चाहें तब इस्तेमाल कर सकते हैं। 

मधुमक्खी के काटने पर ठंडे पानी या बर्फ की सिकाई सबसे अधिक कारगर मानी जाती है।  ठंडी सिकाई सूजन और जलन को खत्म कर देती है और दर्द से राहत प्रदान करती है। मधुमक्खी के काटने पर तुरंत उस हिस्से को धो लेना चाहिए ताकि बचा हुआ जहर त्वचा के अंदर ना जा सके और उसके बाद बर्फ या ठंडे पानी से प्रभावित हिस्से की कुछ इस तरह से सिकाई करनी चाहिए: 

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल करने का तरीका

  • बर्फ के टुकड़ों को एक तौलिये में लपेट लें
  • इससे अब प्रभावित त्वचा की सिकाई करें

यदि आपके पास बर्फ नहीं है, तो आप ठंडे पानी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं

  • एक छोटा कपड़े लें और उसे ठंडे पानी से गीला कर लें 
  • इसके बाद प्रभावित हिस्से की इससे 20 मिनट तक सिकाई करें
  • सिकाई पूरी हो जाने पर तौलिए से अपनी त्वचा को सुखा लें

हमेशा ध्यान रखें की बर्फ को त्वचा पर सीधे ना लगाए यह त्वचा की जलन को और भी बढ़ा सकता है

कैसे काम करता है

ठंडी सिकाई करने से रक्त वाहिकाएं जल्दी संकुचित हो जाती हैं, जिससे सूजन को कम करने में मदद मिलती है।

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को हर दो घंटे में दोहराते रहें, जब तक कि सूजन और दर्द पूरी तरह से खत्म न हो जाए।

मधुमक्खी के काटने के घरेलू उपाय से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल एक साल के ऊपर पहले

मेरे भाई को 2 दिन पहले एक मधुमक्खी ने आंख के ऊपर डंक मारा था और अब उसकी आंख के ऊपर वाली जगह पूरी सूज गई है। यह सूजन अभी तक ऐसी ही है और कम नहीं हो रही है। इसे ठीक करने के लिए मुझे कोई उपाय बताएं?

Dr. K. M. Bhatt MBBS, PG Dip , सामान्य चिकित्सा

अगर मधुमक्खी के डंक की वजह से बहुत ज्यादा एलर्जिक रिएक्शन नहीं हो रहा है तो जल्दी आराम पाने के लिए कच्चे आलू और प्याज को मधुमक्खी के डंक से होने वाले दर्द को ठीक करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। दोनों में ही सूजन कम करने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं लेकिन इसका इस्तेमाल करते समय आंखो का ध्यान रखें।

सवाल एक साल के ऊपर पहले

मधुमक्खी ने मेरी बेटी की टांग पर डंक मारा है। मुझे सबसे पहले क्या करना चाहिए, इसके लिए कोई घरेलू तरीका बताएं?

Dr. Anjum Mujawar MBBS , मधुमेह चिकित्सक

लहसुन में पोषक तत्वों से भरपूर है। आप लहसुन को मसल कर इसके रस को मधुमक्खी के डंक वाले प्रभावित हिस्से पर लगा दें और 20 मिनट के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें। यह नुस्खा काफी प्रभावशाली है।

सवाल एक साल के ऊपर पहले

18 घंटे पहले मुझे एक मधुमक्खी ने आंख के ऊपर काटा था और अब यह सूज गया है। इसकी सूजन को कम करने का कोई घरेलू उपाय बताएं?

Dr. Joydeep Sarkar MBBS , सामान्य चिकित्सा

पपीता दर्द से तुरंत आराम दिलाने में मदद करता है। पपैइन के अलावा, पपीते में कई अन्य प्रभावी एंजाइम होते हैं जो सूजन और जलन को ठीक करने में मदद करते हैं। मधुमक्खी के डंक मारने पर आप इसका इस्तेमाल कर सकते है। पपीते को मसल कर प्रभावित हिस्से पर लगाएं या पपीते की एक स्लाइस काटकर उसे कुछ देर के लिए मधुमक्खी की काटी हुई जगह पर रखें।

 

 

सवाल एक साल के ऊपर पहले

आज मैं पार्क गया था, मुझे अभी कुछ देर पहले ही मधुमक्खी ने सिर पर काट लिया है। मुझे क्या करना चाहिए, मुझे इसके लिए कोई इलाज बताएं?

Dr. Faisal Mukhtar MBBS, PG Dip, DNB , ऑपथैल्मोलॉजी

अगर आप बाहर हैं और मधुमक्खी के डंक वाली जगह को ठीक करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं कर सकते हैं तो आप इसके शुरूआती दर्द को कम करने के लिए थोड़ी गीली मिट्टी में पानी मिलाकर पेस्ट बना लें और फिर इसका इस्तेमाल करें। घर पहुंचने पर इसे पानी से धो लें और फिर कच्चे आलू या लहसुन को पीसकर इस पर लगाएं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ