myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हाइपोवोलेमिया क्या है?

हाइपोवोलेमिया एक ऐसी बीमारी है, जिसमें आपके शरीर में रक्त का स्तर कम हो जाता है और यह रक्त बहने या शरीर में तरल पदार्थ की कमी से भी होता है। रक्त की कमी बाहरी चोट या अंदरूनी चोट के कारण हो सकती है। शरीर में तरल पदार्थ की कमी के आम कारण दस्त और उल्टी भी हो सकते हैं। अपर्याप्त तरल पदार्थ लेने से भी हाइपोवोलेमिया हो सकता है। 

(और पढ़ें - एनीमिया के घरेलू उपाय)

हाइपोवोलेमिया के लक्षण क्या है?

हाइपोवोलेमिया के शुरूआती लक्षण जैसे सूखी श्लेष्मा झिल्ली, त्वचा का लचीलापन कम हो जाना और पेशाब कम आना। जितना हाइपोवोलेमिया की समस्या बढ़ेगी, उतने ही इसके लक्षण गंभीर होते चले जाएंगे। हाइपोवोलेमिया धीरे-धीरे बढ़ता हैं या एकदम से अचानक दिखने लगता हैं। हाइपोवोलेमिया के आम लक्षण जैसे -  पेशाब कम आना, श्लेष्मा झिल्ली सूख जाना जैसे मुंह और नाक की, त्वचा का लचीलापन कम हो जाना, प्यास लगना आदि। गंभीर लक्षण, जिससे आपकी मृत्यु हो सकती है - गर्भावस्था में रक्त बहना, होंठ या उंगलियों के नाखून नीले पड़ जाना, किसी भी चीज में ध्यान न लग पाना आदि।   

(और पढ़ें - शरीर में पानी की कमी के कारण

हाइपोवोलेमिया क्यों होता है?

शरीर में खून की कमी या तरल पदार्थ की कमी के कारण हाइपोवोलेमिया होता है या फिर अपर्याप्त तरल पदार्थ से भी हाइपोवोलेमिया होता है। डायरिया और उल्टी के कारण भी शरीर में तरल पदार्थ की कमी हो सकती है। शरीर से तरल पदार्थ अधिक गर्मी या ज्यादा पसीने के कारण भी कम हो सकता है। शरीर में खून की कमी अंदरूनी या बाहरी चोट के कारण भी हो सकती है। किसी-किसी गर्भावस्था में भी जटिलताओं के कारण भी शरीर में रक्त स्तर कम हो सकता है।   

(और पढ़ें - ज्यादा पसीना आना रोकने के घरेलू उपाय)

हाइपोवोलेमिया का इलाज कैसे होता है?

हाइपोवोलेमिया के इलाज का अहम लक्ष्य होता है शरीर में तरल पदार्थ या खून की कमी को नियंत्रित करना, शरीर में तरल पदार्थ और खून की कमी को पूरा करना और रक्त प्रवाह बढ़ाना। अगर आपको चोट के कारण हाइपोवोलेमिया होता है, तो आपके डॉक्टर चोट को ठीक करेंगे, जिससे शरीर में रक्त की कमी न हो। चोट के कारण हाइपोवोलेमिया को ठीक करने के लिए कुछ गंभीर मामलों में सर्जरी की आवश्यकता पड़ती है। 

(और पढ़ें - गुम चोट के लक्षण)

  1. हाइपोवोलेमिया की दवा - Medicines for Hypovolemia in Hindi

हाइपोवोलेमिया की दवा - Medicines for Hypovolemia in Hindi

हाइपोवोलेमिया के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Hestar 200Hestar 200 3% Infusion232

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. MedlinePlus Medical: US National Library of Medicine; Hypovolemic shock
  2. Mohanchandra Mandal. Ideal resuscitation fluid in hypovolemia: The quest is on and miles to go!. Int J Crit Illn Inj Sci. 2016 Apr-Jun; 6(2): 54–55. PMID: 27308250
  3. Agency of Clinical innovation. Management of Hypovolaemic Shock in the Trauma Patient. Government of New South Wales. [internet].
  4. Clinical Trials. Hypertonic Saline With Dextran for Treating Hypovolemic Shock and Severe Brain Injury. U.S. National Library of Medicine. [internet].
  5. Clinical Trials. Autonomic Challenges From Mild Hypovolemia and Mechanical Ventilation. U.S. National Library of Medicine. [internet].
और पढ़ें ...