सोरायसिस त्वचा से जुड़ी समस्या होती है. इसमें त्वचा पर खुजली होने लगती है. साथ ही त्वचा का रंग फीका होने लगता है और त्वचा पर धब्बे भी पड़ने लगते हैं. ये धब्बे सफेद या ग्रे रंगे के हो सकते हैं. सोरायसिस होने पर त्वचा की खूबसूरती काफी हद तक खराब होने लगती है. ऐसे में सोरायसिस के इलाज में टॉपिकल क्रीम और जेल मददगार हो सकते हैं. ये क्रीम या जेल स्किन सेल्स का अधिक उत्पादन करते हैं. साथ ही त्वचा की डेड स्किन को निकालने में मदद करते हैं, लेकिन ये क्रीम और जेल सभी सोरायसिस रोगियों के लिए लाभकारी साबित नहीं हो पाते हैं. ऐसे में कोलेजन का उपयोग करने की सलाह दी जाती है.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि किस प्रकार कोलेजन की मदद से सोरायसिस का इलाज किया जाता है -

(और पढ़ें - सोरायसिस के घरेलू उपाय)

  1. कोलेजन क्या है?
  2. सोरायसिस के उपचार में कोलेजन के फायदे
  3. सोरायसिस में कोलेजन का उपयोग कैसे करें?
  4. सारांश
क्या कोलेजन से सोरायसिस का उपचार संभव है? के डॉक्टर

कोलजन एक प्रोटीन होता है, जिसे त्वचा और शरीर के लिए जरूरी माना जाता है. यह त्वचा, हड्डियों और मसल्स में पाया जाता है. यह शरीर में पाया जाने वाला सबसे अधिक प्रोटीन होता है. मनुष्य शरीर खुद कोलेजन बनाता है. शरीर में कोलेजन कई कार्यों में अहम भूमिका निभाता है. यह स्किन में इलास्टिसिटी बढ़ाता है, त्वचा को हाइड्रेट करता है और झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - सोरायसिस में क्या खाएं)

जैसा कि आप पहले ही जान चुके हैं कि कोलेजन सोरायसिस का उपचार कर सकता है. मार्केट में अनगिनत कोलेजन सप्लीमेंट मौजूद हैं. आप सोरायसिस का इलाज करने के लिए इन्हीं सप्लीमेंट्स को ले सकते हैं. कोलेजन सप्लीमेंट सोरायसिस के लक्षणों को कम कर सकते हैं -

सूजन कम करे

सोरायसिस में त्वचा में सूजन आ सकती है. नेशनल सोरायसिस फाउंडेशन के अनुसार, सोरायसिस से पीड़ित लगभग 30 फीसदी मरीजों को सोरियाटिक गठिया की समस्या हो सकती है. इसमें सोरायसिस रोगियों की त्वचा पर सूजन आ सकती है. ऐसे में कोलेजन त्वचा की सूजन को कम करने में मदद कर सकता है. कोलेजन में अमीनाे एसिड होता है, जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव होता है. इसलिए, यह सूजन को कम कर सकता है. इसके अलावा, कोलेजन त्वचा के घाव को भरने में भी मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - सोरायसिस का आयुर्वेदिक इलाज)

स्किन इलास्टिसिटी में सुधार

सोरायसिस में त्वचा पर धब्बे व गहरा रंग जैसे लक्षण नजर आते हैं. ऐसे में कोलेजन लाभकारी हो सकता है. कोलेजन में अमीनाे एसिड होता है, जो स्किन कि इलास्टिसिटी को बढ़ा सकता है. इससे स्किन हेल्दी बनती है और त्वचा की झुर्रियां व फाइन लाइंस दूर होती हैं. त्वचा का रंग बेहतर होता है और दाग-धब्बों से छुटकारा मिल सकता है. कोलेजन त्वचा को पतला करने में भी मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - त्वचा के लिए कोलेजन पाउडर के फायदे)

आइए, अब जानते हैं कि सोरायसिस होने पर कोलेजन का इस्तेमाल किस प्रकार किया जा सकता है -

  • सोरायसिस की अवस्था में कोलेजन को गोलियों व कैप्सूल आदि के रूप में ले सकते हैं.
  • इसके अलावा, कोलेजन का पाउडर भी मार्केट में उपलब्ध होता है.
  • कोलेजन पाउडर को कॉफीसूप व स्मूदी आदि में मिलाकर लिया जा सकता है.
  • त्वचा पर कोलेजन युक्त क्रीम या जेल आदि भी अप्लाई कर सकते हैं. 

(और पढ़ें - कोलेजन युक्त खाद्य पदार्थ)

त्वचा से जुड़ी समस्याओं के लिए आप प्लांट बेस्ड Sprowt Collagen को यहां से खरीद सकते हैं, जो पूरी तरह से विश्वसनीय प्रोडक्ट है -

सोरायसिस एक त्वचा की स्थिति होती है. इसमें त्वचा पर धब्बे पड़ जाते हैं. ऐसे में कोलेजन को सोरायसिस के इलाज में उपयोगी माना जाता है, लेकिन सिर्फ कोलेजन सोरायसिस का इलाज नहीं कर सकता है. इसलिए, सोरायसिस का इलाज करने के लिए सही और पर्याप्त इलाज करवाना जरूरी होता है. वहीं, कोलेजन लेने से पहले भी डॉक्टर की राय जरूर लें.

(और पढ़ें - क्या कोलेजन सप्लीमेंट्स खाने से झुर्रियां कम हो सकती हैं)

Dr. Merwin Polycarp

Dr. Merwin Polycarp

डर्माटोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ