myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आंख लाल होना या आंखों में लाली के लक्षण आमतौर पर आंखों में दर्द, आंखों में खुजली, रिसाव, आंखों की सूजन और धुंधला दिखना जैसी समस्याओं में देखे जाते हैं। आंखे लाल होने की स्थिति में या तो आंखों का पूरा सफेद हिस्सा लाल हो जाता है या फिर आंखो में मौजूद कुछ रक्तवाहिकाओं में लालिमा आ जाती है। नीचे कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में बताया गया है, जिनकी मदद से आंखों में लाली होने से संबंधित समस्याओं को ठीक या काफी हद तक कम किया जा सकता  है।

  1. आंख लाल होने का घरेलू उपाय है खीरा - Aankh lal hone ka gharelu upay hai kheera
  2. आंख लाल होने का इलाज है नारियल तेल - Aankh lal hone ka ilaj hai nariyal tel
  3. आंखों की लाली दूर करने का उपाय है टी-बैग - Aankhon ki lali dur karne ka upay hai tea bag
  4. आंख लाल होने का रामबाण इलाज है एलोवेरा - Aankh lal hone ka rambaan ilaj hai aloevera
  5. आंखों की लाली दूर करने का घरेलू उपचार है गर्म दूध और शहद - Aankhon ki lali dur karne ka gharelu upchar hai garam dudh aur shahad
  6. आलू है आंख लाल होने के देसी दवा - Aloo hai aankh lal hone ki desi dawa
  7. गुलाब जल से करें आंखों की लाली का इलाज - Gulab jal se karein ankhon ki lali ka ilaj
  8. ठंडी सिकाई से दूर होती है आंखों की लालिमा - Thandi sikai se dur hoti hai aankhon ki lalima
  9. आंखों की लालिमा दूर करने का घरेलू उपाय है गर्म सिकाई - Aankhon ki lalima dur karne ka gharelu upay hai garm sikai

खीरा आंखों से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं को ठीक करता है। खीरे में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो सूजन को कम करके लालिमा से छुटकारा दिलाते हैं। इसके अलावा खीरा आंखों में होनी वाली बीमारियों जैसे, कंजक्टिवाइटिस, लालिमा, काले धब्बे, मोतियाबिंद और ग्लूकोमा (काला मोतियाबिंद) आदि के लक्षणों को कम करने में मदद भी करता है। 

आवश्यक सामग्री

  • 1 खीरा

इस्तेमाल का तरीका 

  • चाकू की मदद से खीरे के दो स्लाइस काट लें
  • काटी हुई स्लाइस को अपनी दोनों आंखों के ऊपर रखें और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रकिया को एक दिन में 2 से 3 बार एक हफ्ते तक इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

नारियल तेल हमारी आंखों को नमी पहुंचाता है। कई मामलों में आंख लाल होने के कारण आंखों में सूजन, जलन, खुजली या सूखापन हो सकता है। नारियल तेल आंखों के सूखेपन (ड्राईनेस) को कम करने में मदद करता है, जो कि आंख लाल होने का सामान्य लक्षण है।

आवश्यक सामग्री

  • कुछ बूंद नारियल तेल

इस्तेमाल का तरीका

  • अपनी आंखों में कुछ बूंद नारियल तेल डालें
  • अब कुछ बार अपनी पलकें झपकाएं

क्योंकि हमारी आंखें एक संवेदनशील अंग है, इसलिए केवल प्राकृतिक नारियल तेल का ही इस्तेमाल करें

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को रोजाना रात के समय अपनाएं जब तक आंखों की लालिमा पूरी तरह से चली न जाए।

टी-बैग को एक ठंडी सिकाई के रूप में भी आंखों की लालिमा से आराम पाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। टी-बैग में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लामेटरी गुण होते हैं, जो आंखों की लालिमा को दूर करने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री 

  • 2  टी-बैग

इस्तेमाल का तरीका 

  • 2 टी-बैग को 3 से 5 मिनट के लिए पानी में भिगोएं
  • अब दोनों टी-बैग को फ्रिज के अंदर 10 मिनट के लिए ठंडा होने दें
  • टी-बैग में मौजूद अतिरिक्त रस को निकाल दें और अपनी आंखों के ऊपर रख लें
  • टी-बैग को 15 से 30 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें
  • इसके बाद गुनगुने पानी से आंखों को धो लें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को 15 से 30 मिनट तक 3 दिन के लिए करें।

एलोवेरा में आंखों की सूजन दूर करने के साथ-साथ उसकी लालिमा को ठीक करने के गुण भी होते हैं। एलोवेरा के एंटी इंफ्लामेटरी और एंटीबैक्टीरियल प्रभाव आंखों में मौजूद संक्रमण को नष्ट करते हैं और खुजली के कारण होने वाली आंखों की लालिमा में भी आराम पहुंचाते हैं। 

आवश्यक सामग्री

  • 1 गिलास एलोवेरा जूस
  • 1 छोटा टुकड़ा एलोवेरा

इस्तेमाल का तरीका

  • एलोवेरा जूस से अपनी आंखें धोएं (पर ध्यान रहे जूस में कुछ और मिक्स नहीं होना चाहिए)
  • इसके अलावा आप चाहें तो एलोवेरा पौधे की एक टहनी को दो हिस्सों में काट सकते हैं 
  • उसमें से जैल को स्लाइस की तरह निकालें और थोड़ी देर के लिए फ्रिज में रख दें
  • अब इसे अपनी आंखों पर लगाएं और कुछ देर के लिए छोड़ दें

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को दिन में सुबह और शाम सिर्फ दो बार ही इस्तेमाल करें और तब तक इस्तेमाल करें जब तक आपकी आंखों की लालिमा ठीक ना हो जाए।

शहद एक बेहतरीन घरेलू उपचार है, जिसका उपयोग त्वचा संबंधी कई संबंधी समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शहद में दर्द निवारक प्रभाव के साथ एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं। शहद को गुनगुने दूध के साथ मिलाने पर यह उपाय और भी प्रभावशाली हो जाता है।

आवश्यक सामग्री

  • 3-4 चम्मच शहद
  • 3-4 चम्मच गुनगुना दूध
  • 2 रूई के टुकड़े

इस्तेमाल का तरीका

  • शहद और गर्म दूध (हल्का गर्म न कि ज्यादा गर्म) को बराबर मात्रा में मिलाएं
  • अब इस मिश्रण को रूई की मदद से अपनी बंद पलकों पर लगाएं
  • 10 से 15 मिनट के लिए इस मिश्रण को ऐसे ही लगा रहने दें और अपनी आंखें न खोलें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में 2 से 3 बार इस्तेमाल करें।

आलू आंखों के नीचे की सूजन और डार्क सर्कल्स को हटाने का लोकप्रिय घरेलू उपचार है। इसके अलावा इसे आंखों में जलन, खुजली और लाल होने पर भी इस्तेमाल किया जाता है। आलू एक एस्ट्रिजेंट प्रभाव पैदा करता है, जिसकी वजह से आंखों की जलन और लालिमा कम होने लगती है।

आवश्यक सामग्री 

  • आलू 

इस्तेमाल का तरीका 

  • आलू की दो स्लाइस काट लें
  • काटी हुई स्लाइस को अपनी दोनों आंखों के ऊपर रखें और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें
  • अब गुनगुने पानी से आंखें धो लें

कब इस्तेमाल करें

आंखों की सूजन और लालिमा से छुटकारा पाने के लिए इस उपाय को दिन में 2 बार इस्तेमाल करें।

गुलाब जल को कई वर्षों से आंखों के रोगों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल में लिया जाता रहा है। गुलाब जल आंख के दर्द से आराम पहुंचाने में मदद करता है। इससे आंखों में हो रही जलन कुछ ही देर में गायब हो जाती है और साथ ही लालिमा से भी छुटकारा मिलता है।

आवशयक सामग्री

  • 2 चम्मच गुलाब जल
  • थोड़ी सी रूई

इस्तेमाल का तरीका

  • थोड़ी से रूई लें और उसे गुलाब जल में भिगो लें
  • अब रूई की मदद से गुलाब जल को अपनी आंखों के ऊपर लगाएं
  • गुलाब जल को 15 मिनट के लिए ऐसे ही लगा रहने दें 
  • इसके साथ गुलाब जल की कुछ बूंदे सीधे आंखों में डालें

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को दिन में 3 से 4 बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

ठंडी सिकाई नसों को सुन्न कर के दर्द से थोड़े समय के लिए आराम दिलाती है। ठंडी सिकाई से रक्त वाहिकाएं संकुचित हो जाती हैं, जिसके कारण आंखों में सूजन के लक्षण कम होने लगते हैं। अगर आपकी भी आंखों के लाल होने का कारण आंखों में सूजन है तो इसके इलाज के लिए ठंडी सिकाई एक अच्छा विकल्प है। 

आवश्यक सामग्री

  • कुछ बूंद ठंडा पानी
  • थोड़ी सी रूई

इस्तेमाल का तरीका

  • रूई को ठंडे पानी में अच्छे से भिगो लें
  • अब इसे हल्के दबाव के साथ अपनी आंखों के नीचे लगाएं
  • थोड़ी देर तक इस प्रक्रिया को दोहराते रहें 

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को 10 से 15 मिनट के लिए दिन में 3 से 4 बार दोहराएं।

गर्म सिकाई आंख के आसपास की मांसपेशियों को मुलायम बनाती है और आंख में होने वाली जलन और सूजन को ठीक करती है। गर्म तापमान आंखों के आसपास के हिस्सों में खून के प्रभाव को बढ़ाता है जिससे पलकों में मीबम (तेल) बनता है और आंखें फिर से स्वस्थ रूप से काम करने लगती हैं। 

आवश्यक सामग्री

  • कुछ बूंद गर्म पानी (हल्का गर्म)
  • थोड़ी सी रूई

इस्तेमाल का तरीका

  • रूई को गर्म पानी में अच्छे से भिगो लें
  • अब इसे हल्के दबाव के साथ अपनी आंखों के नीचे लगाएं
  • थोड़ी देर तक इस प्रक्रिया को दोहराते रहें 
  • अब रूई को कुछ समय के लिए अपनी पलकों पर लगा रहने दें

उसके बाद सूखी रुई का टुकड़ा लेकर आंखों का गीलापन सोख लें।

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

इन सभी उपायों के साथ इन खास बातों का भी ध्यान रखें - 

  • धूम्रपान का सेवन न करें, धूल, मिट्टी और अन्य आंख को तकलीफ पहुंचाने वाली चीजों से दूर रहें।
  • जब तक आंखों की लाली न जाए तब तक कांटेक्ट लेंस न पहनें
  • हमेशा अपने हाथ धोएं और आंखों को छूने से परहेज करें क्योंकि इससे आंखों में इन्फेक्शन फैल सकता है
  • बाहर से आने के बाद, सोने से पहले और उठने के बाद साफ पानी से मुंह जरूर धोएं
  • इस स्थिति के ठीक होने तक आंखों को इन्फेक्शन से बचाने के लिए उन पर चश्मा लगा कर रखें
और पढ़ें ...