आंखों में खुजली - Itchy Eyes in Hindi

Dr. Ajay Mohan (AIIMS)MBBS

June 27, 2018

February 08, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
आंखों में खुजली
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

आंखों में खुजली क्या होती है?

आंखों में या उसके आसपास खुजली होना बहुत आम समस्या है जो परेशान कर देती है। ज़्यादातर लोग आंखों के डॉक्टर के पास इसी समस्या के कारण जाते हैं। आंखों में खुजली कई कारणों से हो सकती है, जैसे एलर्जी या इन्फेक्शन। कारण के आधार पर, ऑंखें मलने या रगड़ने से आपकी समस्या बढ़ सकती है, कीटाणु फ़ैल सकते हैं और आपकी आंखों की पुतली को गंभीर नुक्सान भी हो सकता है।

(और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण के लक्षण)

आंखों में खुजली उन लोगों को बार-बार हो सकती है जो अपनी ऑंखें अधिक छूते या मलते हैं। आँखों में खुजली की समस्या ज़्यादा प्रदूषण वाले क्षेत्रों और एलर्जी वाले मौसम में अधिक प्रभावित करती है। अपनी आंखों को मलने की इच्छा को नज़रअंदाज़ करें और आराम के लिए ठन्डे सेक का उपयोग करें। अगर आपको अभी भी परेशानी हो रही है, तो आप अपने डॉक्टर से आंखों में डालने वाली दवाएं भी ले सकते हैं।

आंखों में खुजली की समस्या को जल्द ठीक करना ज़रूरी होता है, नहीं तो समस्या बढ़ सकती है और आपकी आंख को नुक्सान हो सकता है।

आंखों में खुजली के लक्षण - Itchy Eyes Symptoms in Hindi

आंखों में खुजली के लक्षण क्या होते हैं?

आंखों में खुजली होने के साथ निम्नलिखित लक्षण भी हो सकते हैं -

डॉक्टर को कब दिखाएं?

आंखों की समस्याओं के लिए कभी-कभी आपातकालीन स्थिति में डॉक्टर के पास जाना पड़ता है। अगर आपको निम्नलिखित लक्षण अनुभव होते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएं -

  • आँखों में गंभीर दर्द होना (और पढ़ें - आंखों में दर्द का इलाज)
  • अचानक से दिखाई देना बंद हो जाना (और पढ़ें - अंधापन का इलाज)
  • नज़र की समस्याएं होना, जैसे प्रकाश के आसपास चक्र दिखाई देना
  • आंख सूजना
  • संक्रमण के लक्षण होना, जैसे रिसाव होना
  • सोने के बाद उठने पर पलकों का आपस में चिपकना

(और पढ़ें - सूखी आंखों का घरेलू उपाय)

आंखों में खुजली के कारण और जोखिम कारक - Itchy Eyes Causes & Risk Factors in Hindi

आंखों में खुजली क्यों होती है?

कुछ समस्याओं के कारण आंखों में खुजली और उसके साथ अन्य लक्षण हो सकते हैं। यह समस्याएं निम्नलिखित हैं -

  • एटोपिक केराटोकंजंक्टिवाइटिस​ (Atopic keratoconjunctivitis)
    यह कॉर्निया (Cornea) और कंजाक्तिवा (Conjunctiva: आँख के सामने के हिस्से में मौजूद एक झिल्ली) की सूजन की समस्या होती है। यह तब होता है जब एक व्यक्ति अनुवांशिक कारणों की वजह से कुछ एलर्जी करने वाले पदार्थों के प्रति संवेदनशील होते हैं। यह पूरे साल में कभी भी आपको प्रभावित कर सकता है। (और पढ़ें - कंजंक्टिवाइटिस क्या है)
     
  • एलर्जिक कंजंक्टिवाइटिस (Allergic conjunctivitis)
    यह तब होता है जब आंख के अंदर के हिस्से में मौजूद झिल्ली में एलर्जी की प्रतिक्रिया होती है। यह प्रतिक्रिया कई पदार्थों के कारण हो सकती है, जैसे पॉलेन (Pollen: पौधों में मौजूद एक एलर्जी करने वाला पदार्थ), घास, धूल, मेकअप, लोशन या लेंस का पानी आदि। (और पढ़ें - मेकअप के नुकसान)
     
  • एटॉपिक डर्मेटाइटिस (Atopic dermatitis)
    एटॉपिक डर्मेटाइटिस एक प्रकार का एक्ज़िमा होता है जिससे त्वचा सूख और फट जाती है। यह आंख के आसपास और शरीर के अन्य हिस्सों को प्रभावित कर सकता है। (और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए घरेलू उपाय)
     
  • ड्राई आई सिंड्रोम (Dry eye syndrome)
    आंख में पानी कम होने से उसमें सूखापन आ जाता है। आंखें धूल और अन्य हवा में मौजूद पदार्थों के प्रति अधिक संवेदनशील होती हैं। ड्राई आई सिंड्रोम से आँखों में सूजन होती है और कॉर्निया पर दाग पड़ जाते हैं। (और पढ़ें - धूल से एलर्जी)
     
  • ऑइल ग्लैंड डिस्फंक्शन (Oil gland dysfunction)
    आँखों की ऊपरी और निचली पलकों में तेल वाली ग्रंथियां होती हैं, जो तेल बनाती हैं। अगर इन ग्रंथियों में रुकावट आ जाती है या अगर ये पूरी तरह विकसित नहीं होती हैं, तो आंखों में बनने वाले आंसुओं में पर्याप्त तेल नहीं रहता, जिससे आंखें सूखने लगती हैं।
     
  • ब्लेफेराइटिस (Blepharitis)
    ब्लेफेराइटिस में एक प्रकार के एंटीजन (Antigen: एक तरह का विषाक्त पदार्थ) से प्रतिक्रिया के कारण आंखों में सूजन व लालिमा हो जाती है। यह एंटीजन "स्टैफिलोकोकल बैक्टीरिया" (Staphylococcal bacteria) या आंख के अन्य सूक्ष्म जीव (जैसे आइलिड माइट्स) द्वारा निर्मित किया जाता है।
     
  • लेंस से होने वाला कंजंक्टिवाइटिस
    लेंस का उपयोग करने वाले लोगों को लेंस से इन्फेक्शन हो जाता है, जिससे कॉर्निया को नुक्सान होता है और उसमें धब्बे पड़ जाते हैं।
     
  • इन्फेक्शन
    आंखों में बैक्टीरिया और वायरस के कारण संक्रमण हो सकता है। (और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन क्या है

 

आँखों में खुजली होने के जोखिम कारक क्या होते हैं?

कभी-कभी कुछ दवाओं और किसी अन्य कारक की वजह से आंख में खुजली की समस्या हो सकती है। यह कारक निम्नलिखित हैं -

आंखों में खुजली से बचाव - Prevention of Itchy Eyes in Hindi

आंखों में खुजली होने से कैसे बचा जा सकता है?

कुछ उपायों से आंखों को स्वस्थ रखा जा सकता है। यह उपाय निम्नलिखित हैं -

  • एलर्जी के कारण होने वाली आंखों की खुजली से बचने के लिए एलर्जी करने वाले पदार्थों के संपर्क में आने से बचें। इसके लिए अपने डॉक्टर से बात करें।
  • तापमान बनाए रखने वाले उपकरणों (जैसे ऐ.सी. और हीटर) के फ़िल्टर कंपनी द्वारा बताए तरीके और समय के अनुसार बदलें।
  • आँखों को रगड़ें नहीं। अगर आंख में दर्द है, तो उसकी ठंडी सिकाई करें।
  • सिगरेट के धुंए और खुशबू वाली मोमबत्तियों से बचें। धूम्रपान न करें।
  • आंखों के पास एलर्जी करने वाले पदार्थों का उपयोग न करें।
  • विटामिन ए और ओमेगा 3 फैटी एसिड युक्त आहार लें।
  • पॉलेन (Pollen: पौधों में मौजूद एक एलर्जी करने वाला पदार्थ) से दूर रहें।
  • मिट्टी या धूल में और केमिकल्स के आसपास काम करते समय अपनी आँखों को बचाएं।
  • तेज़ खुशबू से भी आँखों में खुजली हो सकती है, इसीलिए अधिक खुशबू वाले पदार्थों से बचें।
  • ज़्यादा देर लगातार काम करते समय बीच-बीच में आँखों को आराम दें।

आंखों में खुजली का परीक्षण - Diagnosis of Itchy Eyes in Hindi

आंखों में खुजली की जांच कैसे की जाती है?

आँखों में खुजली के कारण का पता लगाने के लिए आपके डॉक्टर आपकी आंख का परीक्षण कर सकते हैं। आपके डॉक्टर आपसे लक्षणों के बारे में, पहले हुई समस्याओं के बारे में, आहार के बारे में और जीवनशैली के बारे में पूछेंगे।

  • अगर आपको पहले से ही एलर्जी है, तो हो सकता है आपको एलर्जी के कारण ही आंखों में खुजली हो रही हो। एलर्जी उम्र बढ़ने के कारण भी हो सकती है।
  • अगर आपको पहले कभी एलर्जी नहीं हुई है, लेकिन आपको किसी गंध या खाने के पदार्थ के आसपास होने से एलर्जी के लक्षण होते हैं, तो डॉक्टर के पास जाएं।
  • एलर्जी का पता लगाने के लिए निम्नलिखित में से एक या एक से अधिक परीक्षण किए जा सकते हैं -
  1. एलर्जी के लिए त्वचा का परीक्षण (और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट कैसे होता है)
  2. एलर्जी के लिए ब्लड टेस्ट
  3. खाद्य पदार्थों से एलर्जी का पता लगाने के लिए परीक्षण
  4. शारीरिक परीक्षण

(और पढ़ें - पौष्टिक आहार)

आंखों में खुजली का इलाज - Itchy Eyes Treatment in Hindi

आंखों में खुजली का उपचार कैसे होता है?

आँखों में खुजली के लिए निम्नलिखित उपचार किए जा सकते हैं -

  • मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली दवाओं से कुछ समय के लिए एलर्जी के लक्षणों से आराम मिल सकता है और डॉक्टर द्वारा लिखी गई दवाओं से लम्बे समय तक के लिए भी आराम मिल सकता है।
  • पानी से आंख धोने और आंखों को नमी देने वाली आई ड्रॉप्स से खुजली में आराम मिल सकता है।  साथ ही यह एलर्जी करने वाले पदार्थ को आंख से निकालने में मदद करते हैं।
  • डीकन्जेस्टन्ट ऑय ड्राप (Decongestant eyedrops:आँखों में जमाव को कम करने वाली दवाऐं) से आँखों की लाली कम हो सकती है। यह दवाएं आंख में डालने पर चुभती हैं और आंखों में मौजूद सारे लक्षणों को भी ठीक नहीं करती।
  • आंख में डालने वाली दवाओं को फ्रिज में रखने से और भी आराम मिल सकता है।
  • अगर आप आंखों में खुजली और लाली के अलावा बंद नाक और नाक बहना जैसे लक्षण अनुभव कर रहे हैं, तो आप नाक में स्प्रे करने वाली स्टेरॉयड दवाओं की मदद ले सकते हैं। लेकिन इससे पहले अपने डॉक्टर से अवश्य सलाह लें।
  • घरेलू उपाय
  1. ठण्‍डा सेक - आंखों में खुजली होने पर सबसे पहले आंखों पर ठन्डे पानी के छीटें मारें। फिर बर्फ को किसी साफ़ कपडे या तौलिये में लपेटकर आंखों पर रखें। इससे आपको जलन से राहत मिलेगी।
  2. टी बैग - चाय पत्ती में ऐसे पदार्थ होते हैं जो बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन को ठीक करते हैं। दिन में 5 से 6 बार कुछ मिनट के लिए आँखों पर टी बैग रखें। अगर आपकी आंखों में सूजन है, तो टी बैग को ठन्डे पानी से गीला कर लें। पानी में थोड़ी सी चाय पत्ती मिलाकर आँखों को धोया भी जा सकता है।
  3. पानी - अगर आप पर्याप्त मात्रा में पानी पीते हैं, तो आपकी आंखों में पानी की कमी नहीं होगी और आपको आँखों में जलन भी नहीं होगी। (और पढ़ें - शरीर में पानी की कमी को दूर करने के उपाय)
  4. गुलाब जल - गुलाब जल आंखों में खुजली का सबसे अच्छा घरेलू उपाय है। इससे आँखों की लाली और खुजली कम होती है।

आंखों में खुजली की जटिलताएं - Itchy Eyes Risks & Complications in Hindi

आंखों में खुजली की जटिलताएं क्या होती हैं?

  • आंखों में तनाव और खुजली होने पर आंखों को मलने से लम्बे समय के लिए समस्याएं हो सकती हैं।
  • आंखों को मलने से बैक्टीरिया और वायरस फ़ैल सकते हैं, जिससे इन्फेक्शन हो सकता है और आपके कॉर्निया में बदलाव भी हो सकते हैं।

(और पढ़ें - आँख में फुंसी का इलाज)



संदर्भ

  1. Healthdirect Australia. Itchy eyes. Australian government: Department of Health
  2. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Eye burning - itching and discharge.
  3. National Eye Institute. Facts About Dry Eye. U.S. National Institutes of Health [Internet].
  4. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Pink Eye: Usually Mild and Easy to Treat.
  5. National Institute of Aging. [Internet]. U.S. Department of Health and Human Services. Aging and Your Eyes.

आंखों में खुजली के डॉक्टर

Dr. Meenakshi Pande Dr. Meenakshi Pande ऑपथैल्मोलॉजी
22 वर्षों का अनुभव
Dr. Upasna Dr. Upasna ऑपथैल्मोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव
Dr. Akshay Bhatiwal Dr. Akshay Bhatiwal ऑपथैल्मोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव
Dr. Surbhi Thakare Dr. Surbhi Thakare ऑपथैल्मोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

आंखों में खुजली की दवा - Medicines for Itchy Eyes in Hindi

आंखों में खुजली के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

आंखों में खुजली की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Itchy Eyes in Hindi

आंखों में खुजली के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹38.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹75.05

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 0 of 2 entries