myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आलू का वैज्ञानिक नाम सोलनम ट्यूबरोसम (Solanum Tuberosum) है। यह सबसे आम और महत्वपूर्ण भोजन स्रोतों में से एक है और अपने स्वास्थ्य लाभ के कारण यह पूरे विश्व में एक प्रमुख आहार के रूप उपयोग किया जाता है। आलू सबसे ज्यादा एंडिस, पेरू और बोलिविया में पाएं जाते हैं। आलू पहली बार 7,000 वर्ष पहले मध्य अमरीकी और दक्षिण अमरीकी क्षेत्र में उगाए गये थे। 

आलू बहुत से पौष्टिक तत्वों से भरपूर है। आलू में सबसे अधिक मात्रा में स्टॉर्च पाया जाता है। इसमें पोटेशियम, विटामिन ए और विटामिन सी भी पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसके अलावा आलू में मैग्नीशियम, फास्फोरस, आयरन और ज़िंक भी होते हैं। आलू के कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन, ग्लूकोज और एमिनो एसिड में बदल कर शरीर को तुरंत शक्ति देते हैं। आलू खाने में तो स्वादिष्ट होते ही हैं, लेकिन इनमें कई औषधीय गुण भी होते हैं।यह पाचन में सुधार, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम, हृदय स्वास्थ्य, कैंसर और मधुमेह को रोकने में मदद करते हैं। आलू प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत, उम्र बढ़ने के संकेत, त्वचा की रक्षा, रक्तचाप, अनिद्रा को कम करते हैं और आंखों के स्वास्थ्य को भी बनाय रखते हैं। इसके अलावा आलू में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट भी पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल से होने वाले नुकसान से शरीर की रक्षा करते हैं।

(और पढ़ें- आलू के फायदे स्किन के लिए)

  1. आलू के नुकसान - Aalu ke Nuksan in Hindi
  2. आलू के फायदे - Aalu ke Fayde in Hindi
  3. आलू खाने का सही तरीका - Aloo khane ka sahi tarika in Hindi
  4. आलू खाने का सही समय - Aloo khane ka sahi samay in Hindi
  5. आलू के अन्य फायदे - Other benefits of Potatoes in Hindi
  • खराब या सड़े हुए आलू ना खाएं क्‍योंकि ये शरीर में जहरीला प्रभाव डाल सकते हैं।
  • आलू के पत्ते और ग्रीन आलू अक्सर जहरीले होते हैं, क्योंकि उनमें सोलनिन, चैकोनिन और आर्सेनिक जैसे अल्कलॉइड होते हैं। इन रसायनों की अधिक मात्रा घातक साबित हो सकती है।
  • इसके अलावा आलू का ग्लाइसेमिक इंडेक्स (80 से ऊपर) बहुत अधिक है, इसलिए जो लोग मोटापे से ग्रस्त हैं, और वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं या मधुमेह से पीड़ित हैं, उन लोगों को आलू के सेवन से बचना चाहिए। आलू को बड़ी मात्रा में खाने से रक्त शर्करा का असंतुलन, भूख कम लगना, टाइप 2 मधुमेह जैसी जटिलताएं बढ़ जाती हैं। (और पढ़ें- बच्चों में भूक न लगने के कारण)
  • तले हुए आलू में सोलानीन की मात्रा कम होती है और इसलिए गर्भवती महिलाएं इसे खा सकती हैं। लेकिन कच्चे आलू के सेवन से बचें। (और पढ़ें- गर्भावस्था में क्या खाना चाहिए)
  • यदि आलू आपके रक्त शर्करा के स्तर को ऑफसेट करते हैं, तो आपको भोजन के बीच में भूख बढ़ने का अनुभव हो सकता है, जिससे आपका वजन भी बढ़ सकता है। मक्खन, पनीर, बेकन और क्रीम जैसे लोकप्रिय अधिक फैट वाले टॉपिंग के साथ आलू को बनाना आपके आहार में वसा और कैलोरी की वृद्धि करेगा जो वजन बढ़ाने में भी योगदान दे सकता है। फ्राइड आलू और आलू के चिप्स वसा और कैलोरी में समृद्ध हैं।
  • पाचन के दौरान चावल के अलावा सभी स्टार्च में समृद्ध आहार गैस को प्रोत्साहित करते हैं। वैसे खाद्य पदार्थ लोगों के गैस के लक्षणों को अलग अलग तरह से प्रभावित करते हैं। लेकिन आलू गैस और ब्लोटिंग को खत्म कर सकता है। अधिक आलू के व्यंजन खाने  गैस की समस्या हो सकती है। (और पढ़ें – पेट गैस का घरेलू इलाज)
  • हालांकि यह अभी तक साबित नहीं हुआ है लेकिन कुछ लोग मानते हैं कि नैटशाइड सब्जियां जिनमें टमाटर, मिर्च और सफेद आलू आदि सूजन और जोड़ों के दर्द को ट्रिगर कर सकती है।
  1. आलू के फायदे वजन बढ़ाने के लिए - Potato Helps to Gain Weight in Hindi
  2. आलू का फायदा बालों के लिए - Aloo ke fayde for Hair in Hindi
  3. उबले आलू के फायदे हैं पाचन में सहायक - Potato Good for Digestion in Hindi
  4. त्वचा पर है आलू लगाने के फायदे - Aloo ke Fayde for Skin in Hindi
  5. आलू के गुण बचाएँ स्कर्वी से - Potatoes Prevent Scurvy in Hindi
  6. आलू के रस के फायदे दिलाएँ गठिया से राहत - Potato Water for Arthritis in Hindi
  7. आलू के लाभ हैं सूजन में प्रभावी - Potato for Inflammation in Hindi
  8. आलू के औषधीय गुण बचाएँ कैंसर से - Potato Cures Cancer in Hindi
  9. आलू खाने के फायदे करें उच्च रक्तचाप को कम - Potato Reduces Blood Pressure in Hindi
  10. आलू का सेवन है मस्तिष्क के लिए अच्छा - Potato Good for Brain in Hindi
  11. आलू है हृदय के लिए लाभकारी - Aalu ke Fayde for Healthy Heart in Hindi
  12. आलू का उपाय करे किडनी स्टोन के लिए - Potato for Kidney Stones in Hindi
  13. पोटैटो के फायदे हैं दस्त रोकने में उपयोगी - Potato ke Fayde for Diarrhea in Hindi

आलू के फायदे वजन बढ़ाने के लिए - Potato Helps to Gain Weight in Hindi

एक अध्ययन के अनुसार, यह पाया गया है कि आलू वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है। यह वजन बढ़ाने का एक स्वस्थ विकल्प है। आलू मुख्य रूप से कार्बोहाइड्रेट से बने होते हैं और इसमें बहुत कम मात्रा में प्रोटीन होता है। यह उन दुबले या पतले लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण भोजन है, जो वजन बढ़ाना चाहते हैं। आलू में विटामिन सी और विटामिन बी मौजूद होते हैं, जो कार्बोहाइड्रेट के समुचित अवशोषण में भी मदद करते हैं। यह एक कारण है कि आलू पहलवानों के भोजन का एक बड़ा हिस्सा हैं।

(और पढ़े - वजन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए और मोटा होने के लिए डाइट चार्ट)

आलू का फायदा बालों के लिए - Aloo ke fayde for Hair in Hindi

आलू का सेवन आपके बालों को समय से पहले सफेद होने से रोक सकता है। एक पैन में आलू के छिलकों को उबाल लें। छिलकों को अच्छे से डुबाने के लिए पानी का स्तर पर्याप्त होना चाहिए। अच्छे से उबालने के बाद, पानी को किसी दूसरे बर्तन में छान लें। शैम्पू करने के बाद इस पानी से अपने बालों को धोएं। यह आपके बालों के प्राकृतिक रंग को बनाय रखेगा। अच्छे परिणाम पाने के लिए इस प्रक्रिया को दो दिन में एक बार करें।

(और पढ़ें- सफ़ेद बालो को काला करने के लिए तेल)

 

उबले आलू के फायदे हैं पाचन में सहायक - Potato Good for Digestion in Hindi

क्यूंकि आलू में मुख्य रूप से कार्बोहाइड्रेट होता है, इसलिए ये पाचन को आसान बनाते हैं। इसका यह गुण उन बच्चों के लिए या उन लोगों के लिए अच्छा माना जाता है जो कठोर भोजन (heavy food) को पचा नहीं पाते हैं लेकिन उन्हें ऊर्जा की आवश्यकता होती है। हालांकि, याद रखें कि अधिक आलू खाने से एसिडिटी हो सकती है। कच्चे और ठंडे आलू में उबले हुए या अधिक गर्म आलू की तुलना में फाइबर की अधिक मात्रा होती है। इससे पेस्टलेटिक गति और गैस्ट्रिक रस का स्राव बढ़ता है, जो पाचन को आसान बनाता है और कब्ज जैसी स्थितियों को रोकता है, जो शरीर को कोलोरेक्टल कैंसर जैसी गंभीर स्थिति से बचाता है। 

(और पढ़े - पाचन शक्ति कैसे सुधारे​)

त्वचा पर है आलू लगाने के फायदे - Aloo ke Fayde for Skin in Hindi

विटामिन सी और विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के साथ-साथ पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और ज़िंक जैसे खनिज त्वचा के लिए अच्छे हैं। इसके अलावा कच्चे आलू का गुदा, शहद के साथ मिक्स करके त्वचा और चेहरे को अच्छा बनाने के लिए काम कर सकता है। यह त्वचा पर मुहंसों और निशानों का इलाज करने में भी मदद करता है। यदि इसके गूदे को त्वचा के जले हुए हिस्से पर लगाया जाए तो यह बेहतर रूप से इलाज करता है। आलू के टुकड़े त्वचा को साफ और कोमल रखने के लिए खासकर कोहनी के आसपास और हाथों के पीछे के लिए बहुत फायदेमंद हैं। 

(और पढ़े - त्वचा की देखभाल के लिए घरेलू उपाय)

आलू के गुण बचाएँ स्कर्वी से - Potatoes Prevent Scurvy in Hindi

आलू में मौजूद विटामिन सी स्कर्वी रोग को रोकने में मदद कर सकता है, जो विटामिन-सी या एस्कॉर्बिक एसिड (ascorbic acid) की कमी के कारण होता है। इसकी वजह से आपको कमजोरी, एनीमिया, मसूड़ों का रोग और त्वचा की समस्याएं हो सकती हैं। विटामिन सी की कमी प्रतिरक्षा प्रणाली, कोलेस्ट्रॉल के चयापचय और अन्य कार्यों को भी प्रभावित करती है। आलू में मौजूद विटामिन सी फटे हुए होंठ, रक्तस्राव और वायरल संक्रमण के लिए भी उपयोगी है। आलू, में पर्याप्त मात्रा में मौजूद विटामिन सी स्कर्वी रोग का प्राकृतिक उपचार है। वैज्ञानिकों का मानना है की आलू इस समस्या को विकसित होने से रोक सकता है।

(और पढ़ें- फटे होंठ के घरेलू उपाय)

 

आलू के रस के फायदे दिलाएँ गठिया से राहत - Potato Water for Arthritis in Hindi

मैरीलैंड मेडिकल सेंटर विश्वविद्यालय (University of Maryland Medical Center) के अनुसार, आलू में मैग्नीशियम और पोटेशियम मौजूद होते हैं जो हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाय रखने में मदद करते हैं। ये खनिज, पुरुषों और महिलाओं दोनों में ही हड्डियों के नुकसान को रोकने में मदद कर सकते हैं। आलू में मौजूद कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे विटामिन्स गठिया से राहत प्रदान करने में सहायता करते हैं। इसके अलावा उबलते आलू से प्राप्त पानी गठिया के दर्द और सूजन से राहत देता है। हालांकि अधिक स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट होने के कारण यह शरीर के वजन को बढ़ाता है जिससे संधिशोथ के लोगों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए इसका सेवन किए बिना भी यह एक सहायक के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

(और पढ़ें - गठिया रोग के घरेलू उपचार)

आलू के लाभ हैं सूजन में प्रभावी - Potato for Inflammation in Hindi

आलू आंतरिक और बाहरी दोनों सूजन को कम करने में बहुत प्रभावी हैं। क्योंकि यह नरम होते हैं तो इन्हें पचाना भी आसान होता है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन सी, पोटेशियम और विटामिन बी 6 आंतों और पाचन तंत्र की किसी भी सूजन से राहत देते हैं। यह मुंह के अल्सर के लिए बहुत अच्छा आहार है। जो लोग गठिया और गाउट से पीड़ित हैं, वो सूजन को कम करने के लिए आलू का उपयोग कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, आलू में मौजूद ग्लाइकोकालोइड (सब्जी में कड़वा यौगिक) और आलू के छीलके में सूजन कम करने वाले गुण होते हैं। आलू में एंथोकाइनिन नामक यौगिक भी होते हैं जो सूजन को कम करने में लाभदायक होते हैं।

(और पढ़ें- आँखों में सूजन के घरेलू उपाय)

आलू के औषधीय गुण बचाएँ कैंसर से - Potato Cures Cancer in Hindi

कुछ प्रकार के आलू, विशेष रूप से लाल और भूरे रंग वाले, फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सिडेंट्स और विटामिन ए होते हैं जो कई प्रकार के कैंसर के खिलाफ आपकी रक्षा कर सकते हैं। इसके अलावा, कृषि अनुसंधान सेवा में किए गए शोध से पता चला है कि आलू में एक क्वैक्सेटीन नामक यौगिक होता है, जिसमे एंटी-कैंसर और एंटी-ट्यूमर गुण होते हैं। अंत में, विटामिन ए और विटामिन सी के उच्च स्तर में एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं जो कैंसर के विनाशकारी प्रभाव से आपके शरीर को सुरक्षित कर सकते हैं।

(और पढ़े – कैंसर से लड़ने वाले आहार​)

आलू खाने के फायदे करें उच्च रक्तचाप को कम - Potato Reduces Blood Pressure in Hindi

हाई बीपी- पोषक तत्व की असंतुलन, मधुमेह, तनाव, अपच और कई अन्य कारणों से हो सकता है। सौभाग्य से आलू इसके कई संभावित कारणों को कम कर सकता है। आलू का उपयोग तनाव के कारण हुए अधिक रक्तचाप से राहत दे सकता है। इसमें मौजूद विटामिन सी और फाइबर की प्रचुरता के कारण यह अपच का इलाज भी कर सकता है, लेकिन डायबिटीज के कारण आपको हाई बीपी की समस्या हो रही है तो आलू का सेवन न करें। आलू में मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होता है जिससे शरीर में इंसुलिन के कार्य में सुधार आता है, जो की रक्तचाप को कम करने में सहायक होता है। क्योंकि पोटेशियम एक वैदोडिलेटर (vasodilator) के रूप में कार्य करता है इसलिए आलू में मौजूद पोटेशियम रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - बदहजमी के घरेलू उपाय)

आलू का सेवन है मस्तिष्क के लिए अच्छा - Potato Good for Brain in Hindi

मस्तिष्क का काम ग्लूकोज के उचित स्तर, ऑक्सीजन की आपूर्ति, विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स के विभिन्न घटक, एमिनो एसिड और ओमेगा 3 जैसी फैटी एसिड पर निर्भर करता है। आलू ने ऊपर बताई गई सभी जरूरतों को पूरा किया। आलू में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में होते हैं और रक्त में ग्लूकोज के अच्छे स्तर को बनाए रखते हैं। यह मस्तिष्क की थकावट को रोकता है और आपकी संज्ञानात्मक गतिविधि और प्रदर्शन को अधिक रखता है। मस्तिष्क को ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है, जो रक्त में हीमोग्लोबिन द्वारा मस्तिष्क में भेजी जाती है। आलू में मौजूद विटामिन और खनिज, जैसे- फास्फोरस, जस्ता और विटामिन बी मस्तिष्क के कार्य को सकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं।

(और पढ़े - ब्रेन कैंसर के लक्षण​)

आलू है हृदय के लिए लाभकारी - Aalu ke Fayde for Healthy Heart in Hindi

विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स, विटामिन सी और खनिज के अलावा, आलू में कैरोटीनोइड्स (ल्यूटिन, ज़ेक्सैथिन) नामक कुछ पदार्थ भी होते हैं। कैरोटीनोइड हृदय स्वास्थ्य और अन्य आंतरिक अंगों के कार्य के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन आलू खून में ग्लूकोज के स्तर को बढ़ाता है पर इसका अधिक सेवन मोटापे का कारण बन सकता है जिससे आपके दिल पर दबाव पड़ता है। इसलिए आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि आप स्वास्थ्य लाभ के लिए कितनी बार आलू का उपयोग कर रहें हैं।

(और पढ़े – दिल की बीमारी के लक्षण​)

आलू का उपाय करे किडनी स्टोन के लिए - Potato for Kidney Stones in Hindi

किडनी स्टोन मुख्य रूप से रक्त में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने की वजह से होता है। ऐसे मामलों में, उन आहार से बचना चाहिए जिनमें प्रोटीन की अधिक मात्रा होती है, विशेष रूप से मांस, टर्की, चिंराट, मछलीअंडे और दूध साथ ही साथ पालक, कच्चे केले, काले चने और कुछ बीन्स यूरिक एसिड के स्तर को काफी बढ़ा देते हैं। आलू आयरन और कैल्शियम दोनों में ही समृद्ध होते हैं जो कि गुर्दे की पथरी के लिए एक अच्छे उपाय के रूप में नहीं माने जाते हैं, लेकिन इनमें मैग्नीशियम भी होता है जो गुर्दे और अन्य ऊतकों में कैल्शियम के जमाव को रोकता है, जिससे साबित होता है कि यह गुर्दे की पथरी के उपचार के लिए फायदेमंद है।

(और पढ़े - पथरी में क्या खाना चाहिए)

पोटैटो के फायदे हैं दस्त रोकने में उपयोगी - Potato ke Fayde for Diarrhea in Hindi

आलू दस्त से पीड़ित लोगों के लिए एक ऊर्जा-युक्त आहार है, क्योंकि यह पचाने में आसान होते हैं। हालांकि कई बार अधिक आलू खाना दस्त का कारण भी बन सकता है। 

(और पढ़ें – दस्त का घरेलू उपचार)

  • आलू का सबसे अधिक उपयोग सब्जी बनाने में किया जाता है। किसी भी सब्जी के साथ आलू को मिलाकर खाएं। आलू को हर घर में खाया जाता है और सब लोग इसे खुश होकर कहते हैं। 
  • आलू का हलवा बनाकर भी खाया जा सकता है। 
  • आलू के परांठे हर घर में बनाय जाते हैं और बहुत स्वादिष्ट भी होते हैं। 

सुबह के समय एक स्वस्थ नाश्ता खाने से शरीर में कैलोरी का स्तर कम बना रहता है। आलू को नाश्ते के रूप में खाना सबसे अच्छा माना जाता है। पर इन्हें हर दिन नहीं खाना चाहिए। एक हफ्ते में लगभग तीन बार नाश्ते के रूप में आलू का सेवन आपको स्वास्थय लाभ प्रदान कर सकता है।

(और पढ़ें - कैलोरी चार्ट)

  • एक शोध से पता चला है कि आलू आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। अध्ययनों के अनुसार, आलू शरीर में ल्यूकोसाइट की मात्रा को कम करता है, जो सूजन या किसी अन्य बिमारी की वजह से मानव शरीर में उत्पन्न होते हैं।
  • आलू में फाइबर होने की वजह से यह कोलेस्ट्रॉल को कम रखने में मदद कर सकता है। आलू घुलनशील और अघुलनशील फाइबर दोनों का ही एक अच्छा स्रोत हैंं, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाय रखते हैं। (और पढ़ें- हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण)
  • एक अध्ययन के अनुसार, आलू का जूस पीने से पीएमएस के लक्षणों में राहत मिल सकती है। आलू के रस में मौजूद कार्बोहाइड्रेट ट्रीप्टोफन (tryptophan) के स्तर को बढ़ा सकता है। ट्रीप्टोफन एक एमिनो एसिड होता है जो शरीर में सेरोटोनिन का उत्पादन बढ़ा देता है। सेरोटोनिन मूड में सुधार और चिंता को कम करने के लिए जाना जाता है।
  • आलू में ट्रिपोफान प्राकृतिक रूप से पाया जाता है जो अच्छी नींद लाने में मदद करता है। इसके अलावा, आलू में मौजूद पोटेशियम मांसपेशियों को आराम पहुंचता है जो आरामदायक नींद लाने में मदद करता है। (और पढ़ें- अच्छी नींद लाने के घरेलू उपाय)
  • आलू में विटामिन सी होता है, जो शुष्क त्वचा के इलाज में मदद कर सकता है। कसा हुआ आलू और दही के आधे चम्मच का पेस्ट बनाएं। इसे अपने चेहरे पर 20-25 मिनट तक लगा कर रखें और फिर पानी से मुंह को धो लें। बेहतर परिणाम पाने के लिए नियमित रूप से इसका उपयोग करें। (और पढ़ें- रूखी त्वचा के घरेलू उपाय)
और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Basic Report: 11352, Potatoes, flesh and skin, raw. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  2. Dobrowolski P et al. Potato fiber protects the small intestinal wall against the toxic influence of acrylamide. Nutrition. 2012 Apr;28(4):428-35. PMID: 22414587
  3. Visvanathan R et al. Health-beneficial properties of potato and compounds of interest. J Sci Food Agric. 2016 Dec;96(15):4850-4860. PMID: 27301296
  4. Gui Hua Xu et al. Anti-inflammatory effects of potato extract on a rat model of cigarette smoke–induced chronic obstructive pulmonary disease . Food Nutr Res. 2015; 59: 10.3402/fnr.v59.28879. PMID: 26498426
  5. Kenny OM et al. Anti-inflammatory properties of potato glycoalkaloids in stimulated Jurkat and Raw 264.7 mouse macrophages. Life Sci. 2013 Apr 19;92(13):775-82. PMID: 23454444
  6. Janet C. King, Joanne L. Slavin. White Potatoes, Human Health, and Dietary Guidance . Advances in Nutrition, Volume 4, Issue 3, May 2013, Pages 393S–401S,
  7. Morita T et al. Cholesterol-lowering effects of soybean, potato and rice proteins depend on their low methionine contents in rats fed a cholesterol-free purified diet. J Nutr. 1997 Mar;127(3):470-7. PMID: 9082032
  8. De Lorenzo et al. In vitro activity of a Solanum tuberosum extract against mammary carcinoma cells. Planta Med. 2001 Mar;67(2):164-6. PMID: 11301867
  9. Guihua Xu et al. Potato freeze-thaw solution enhances immune function and antitumor activity in vivo . Oncol Lett. 2017 Nov; 14(5): 6129–6134. PMID: 29113257
  10. Zuber T et al. Optimization of in vitro inhibition of HT-29 colon cancer cell cultures by Solanum tuberosum L. extracts. Food Funct. 2015 Jan;6(1):72-83. PMID: 25338312
  11. Hazal Akyol et al. Phenolic Compounds in the Potato and Its Byproducts: An Overview . Int J Mol Sci. 2016 Jun; 17(6): 835. PMID: 27240356
  12. Zaheer K, Akhtar MH. Potato Production, Usage, and Nutrition--A Review. Crit Rev Food Sci Nutr. 2016;56(5):711-21. PMID: 24925679
  13. SAE KWANG KU et al. Anti-obesity and anti-diabetic effects of a standardized potato extract in ob/ob mice . Exp Ther Med. 2016 Jul; 12(1): 354–364. PMID: 27347062
  14. Geber J, Murphy E. Scurvy in the Great Irish Famine: evidence of vitamin C deficiency from a mid-19th century skeletal population. Am J Phys Anthropol. 2012 Aug;148(4):512-24. PMID: 22460661
  15. Boyle JT. Gastroesophageal reflux in the pediatric patient. Gastroenterol Clin North Am. 1989 Jun;18(2):315-37. PMID: 2668172