myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आँखों के नीचे पड़ने वाले नीले काले धब्बों को डार्क सर्कल कहते हैं। इनसे आप बूढ़े, थके हुए, तनाव ग्रस्त, बीमार और उदास से लगने लगते हैं। एक आम मिथक यह भी है कि एक निश्चित आयु के बाद आँखों के नीचे काले घेरे पड़ते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि यदि आप किसी भी वजह से रात भर जागते हैं, तो अगली सुबह आप की आंखों के नीचे काले घेरे आ जायेंगे।

आजकल कई लोग इस समस्या से परेशान हैं जिसका कारण थकावट, कंप्यूटर पर लंबे समय तक काम करना, नींद की कमी आदि हैं। इनका इलाज इनके कारणों पर निर्भर करता है। तो आइये जानते हैं कि आँखों के नीचे काले घेरे आखिर होते क्यों हैं और उनसे छुटकारा कैसे पाया जा सकता है।

  1. आंखों के नीचे काले घेरे क्यों होते हैं - Causes of dark circles under eyes in Hindi
  2. डार्क सर्कल का इलाज - Treatment of dark circles in Hindi

आंखों के नीचे काले घेरे क्यों होते हैं - Causes of dark circles under eyes in Hindi

डार्क सर्कल के कई कारण हो सकते हैं, जैसे:

  1. आनुवंशिकी
    डार्क सर्कल वंशानुगत भी होते हैं अर्थात ये आपको आपके बुजुर्गों, माता पिता से मिलते हैं और शोध से पता चलता है कि आने वाली पीढ़ियों में ये समस्या उत्पन्न होने में आनुवंशिकता अहम भूमिका निभाएगी।
  2. उम्र बढ़ना
    आपकी आंखों के चारों ओर की त्वचा नाजुक और पतली होती है और जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है, त्वचा पतली हो जाती है। पतली त्वचा में रक्त वाहिकाएं अधिक बारीकी से दिखाई देती हैं।
  3. खराब आदतें
    अत्यधिक धूम्रपान और शराब पीने के कारण भी आंखों के नीचे काले घेरे हो सकते हैं। अत्यधिक धूम्रपान करने की वजह से आपकी रक्त वाहिकाएं अधिक दिखाई देती हैं, जिससे डार्क सर्किल हो जाते हैं। वैसे भी धूम्रपान और शराब पीने से आपके स्वास्थ्य को कोई लाभ नहीं होता है। इसके अलावा, कैफीन युक्त पेय पदार्थों का भी सेवन न करें।
  4. पोषण की कमी
    खराब पोषण और आहार से भी काले घेरे होते हैं। अगर आपके दैनिक आहार में आवश्यक विटामिन और पोषक तत्वों की कमी है, तो आपकी आंखों के आसपास काले घेरे होने की संभावना है।
  5. थकान और नींद की कमी
    अपर्याप्त नींद अक्सर आँखों के नीचे काले घेरों को अंजाम देती है। ऐसा कहा जाता है कि नींद की कमी से आपकी त्वचा में पीलापन आ जाता है जिसके कारण डार्क सर्कल अधिक स्पष्ट रूप से दिखाई देते हैं। इसलिए कम से कम 8 घंटे की निर्बाध नींद ज़रूर लें।
  6. सोने से पहले आँखों का मेकअप हटाना
    यदि आपको आंखों का मेकअप करना पसंद है, तो सोने से पहले मेकअप रिमूवर से अच्छी तरह से अपनी आंखों को साफ करें। अतिरिक्त तेल और गंदगी से छुटकारा पाने के लिए अपना चेहरा धोएं और मॉइस्चराइज़र लगाएं। सोने से पहले, अच्छी गुणवत्ता वाले आंखों के जेल का उपयोग करें जो आपकी आँखों की थकान दूर करके अच्छी नींद लाने में आपकी मदद करेगा।
  7. हार्मोनल परिवर्तन
    गर्भावस्था, गर्भावस्था के बाद और माहवारी के समय महिलाओं के शरीर के अंदर बहुत सारे हार्मोनल परिवर्तन होते हैं। जीवनशैली में परिवर्तन, तनाव पैदा कर सकता है जिससे डार्क सर्कल भी उत्पन्न हो जाते हैं।
  8. डिहाइड्रेशन
    यदि आप हर दिन अपने शरीर को नम रखने के लिए 8 गिलास पानी नहीं पीती हैं, तो भी आंखों के नीचे काले घेरे होने की संभावना बढ़ जाती है।
  9. अन्य कारक
    एलर्जी भी डार्क सर्कल का प्रमुख कारण है। ऐसे मामलों में, त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श लें। मल्टी विटामिन लेने से इनसे छुटकारा पाया जा सकता है। बंद नाक भी यह समस्या उत्पन्न कर सकती है क्योंकि साइनस के चारों ओर की नसें गहरे रंग की हो जाती हैं। मानसिक तनाव के फलस्वरूप भी डार्क सर्कल पड़ जाते हैं। इसलिए तनाव कम लें और आराम करें। आराम करने से आपकी त्वचा स्वस्थ और जवान बनती है। आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया में भी आँखों के नीचे का रंग गहरा नीला हो जाता है। इन सबके अलावा आँखों को रगड़ें न, क्योंकि इससे एलर्जी हो सकती है।

(और पढ़ें - डार्क सर्कल्स हटाने के लिए आहार)

डार्क सर्कल का इलाज - Treatment of dark circles in Hindi

हालांकि डार्क सर्कल से निजात पाने के कुछ विकल्प भी मौजूद हैं जिनसे आपको काफी मदद मिल सकती है:

  1. कैमिकल पीलिंग (Chemical Peeling)
    इस पद्धति का उपयोग त्वचा के निशान, पिग्मेंटेशन और आंखों के नीचे की झुर्रियों का इलाज करने के लिए किया जाता है। यह एक कॉस्मेटिक प्रक्रिया है जिसमें रासायनिक एजेंटों का उपयोग किया जाता है। यह आम तौर पर त्वचा विशेषज्ञ और एनेस्थेटिस्ट (Anesthetist- किसी भी ट्रीटमेंट से पहले मरीज को बेहोशी का इंजेक्शन देने वाला विशेषज्ञ) द्वारा किया जाता है। कैमिकल पीलिंग त्वचा की ऊपरी परत को हटाकर आंखों के चारों ओर की त्वचा जो क्षतिग्रस्त और सुस्त हो चुकी है, में नयी जान लाती है। एक बार जब यह परत हटा दी जाती है, तो एक नई और स्वस्थ परत दिखाई देने लगती है।
  2. इंटेंस पल्स लाइट ट्रीटमेंट (Intense Pulsed Light Treatment)
    इंटेंस पल्स लाइट (आईपीएल) के उपचार से आँखों के नीचे पड़े काले घेरों को कम किया जा सकता है क्योंकि यह प्रकाश उन कोशिकाओं को नष्ट कर देता है जो वहां की त्वचा का रंग बदल रही होती हैं। यह आंखों के नीचे की त्वचा को भी कोमल कर देता है। आईपीएल पिगमेंटेशन को हल्का करने के लिए उच्च ऊर्जा की प्रकाश तरंगों को उत्पन्न करता है। ये हल्की तरंगें रक्त वाहिकाओं को कसती हैं, जिसके परिणामस्वरूप वहां की त्वचा का रंग अधिक गहरा नहीं लगता।
  3. लेजर उपचार
    लेजर उपचार आंखों के नीचे पड़े काले घेरों से छुटकारा पाने का एक और कारगर तरीका है। इसमें आँखों के नीचे जमी हुयी वसा का उपचार किया जाता है। उपचार के बाद, आंखों के नीचे की त्वचा चिकनी और हल्के रंग की हो जाती है। इस उपचार में पराबैंगनी या इन्फ़रा रेड अदृश्य प्रकाश (Infrared invisible light) का उपयोग करके इतनी तरंग दैर्ध्य (Wavelength) तैयार की जाती है जो त्वचा के आर पार जाने लायक ऊर्जा उत्पन्न कर सके। यह ऊर्जा त्वचा की परतों के द्वारा अवशोषित कर ली जाती है और गहरी और अनियमित त्वचा को ठीक करते हुए एक सुखद प्रभाव देती है जो काले घेरों का कारण होती है।
  4. सर्जरी
    डार्क सर्कल के लिए आंखों की होने वाली सर्जरी को ब्लेफरोप्लास्टी (Blepharoplasty) कहा जाता है, और यह एक प्लास्टिक सर्जन द्वारा किया जाता है। इस सर्जरी द्वारा आंखों के नीचे जमी वसा को हटा दिया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप आंखों के नीचे की सूजन, गहरा रंग कम हो जाता है और आंखों में नयी जान आ जाती है। (और पढ़ें - आंखों की सूजन के घरेलू उपाय)
  5. नींद
    जब हम सोते हैं तो शरीर में कोशिकाओं का पुनर्जन्म (Regeneration), रिपेयर और नवीकरण होता है। नींद पूरी होने पर आप आराम का अनुभव करते हैं, तनाव मुक्त महसूस करते हैं साथ ही आपकी त्वचा में चमक भी आती है। आप रोज़ाना 6-8 घंटे की नींद पूरी करके डार्क सर्कल से अपना बचाव कर सकते हैं।
  6. योग
    तनाव और नींद की कमी, काले घेरों का प्रमुख कारण होती है। मन और शरीर को आराम देने के लिए योग एक शानदार तरीका है। यह आपके चेहरे और त्वचा पर तुरंत असर करता है। कुछ योग आसन जो चेहरे पर होने वाले रक्त प्रवाह में सुधार करते हैं और तनाव को कम करने में भी सहायता करते हैं, इस प्रकार हैं:
  7. विटामिन
    इन विटामिन के लिए बाजार में विभिन्न सप्प्लिमेंट्स उपलब्ध हैं। अपने आहार में इन्हें शामिल करें।
    • विटामिन के, स्वस्थ तरीके से रक्त परिसंचरण और थक्के बनने के लिए आवश्यक है। जब पर्याप्त रक्त (पोषक तत्वों के साथ) आंखों के नीचे के क्षेत्र में प्रवाहित होता है, तो काले घेरे नहीं होते हैं।
    • विटामिन सी, आपकी त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाये रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और कोलेजन (प्रोटीन) बढ़ाने वाले गुण होते हैं।
    • विटामिन ई, आपकी त्वचा को मजबूत, लचीला और हाइड्रेटेड रखता है।
  8. खान पान
    आप जो भी खाते पीते हैं वो कितना पौष्टिक और स्वस्थ है इसका प्रत्यक्ष प्रतिबिंब आपकी त्वचा है। त्वचा में पर्याप्त मात्रा में पोषण, विटामिन और खनिज पहुंचाने के लिए अपने आहार में निम्न प्रकार चीज़ों को शामिल करें:

(और पढ़ें - आँखों के काले घेरे हटाने के घरेलू उपाय)


और पढ़ें ...