गला खराब होना आम बात है, यह स्थिति किसी भी व्यक्ति को कभी भी हो सकती है। हालंकि गले संबंधी समस्या होना आमतौर पर किसी मामूली बीमारी का ही संकेत होता है और यह बिना किसी इलाज के अपने आप ही ठीक हो जाता है। गले को खराब करने वाली कुछ गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं, जिनमें मुख्य रूप से गले में सूजन, लालिमा, इन्फेक्शन, छाले, गले में मांस बढ़ना और गले का कैंसर आदि शामिल है।

अगर गले की समस्या अधिक गंभीर नहीं है, तो इसे घरेलू उपायों द्वारा ठीक किया जा सकता है। ये उपाय बेहद सुरक्षित और कारगर होते हैं। इनसे 3 दिन में ही गले की समस्याओं का इलाज किया जा सकता है।

  1. लहसुन है खराब गले का देसी नुस्खा - Lehsun hai kharab gale ka desi nuskha
  2. अदरक है गला खराब होने का रामबाण इलाज - Adarak hai gala kharab hone ka rambaan ilaj
  3. गला खराब होने का घरेलू उपाय है शहद - Common throat problems ka gharelu upay hai shahad
  4. गला खराब होने की देसी दवा है अजवाइन - Gala kharab hone ki desi dawa hai ajwain
  5. गला खराब होने का देसी उपाय है नमक के गरारे - Gala kharab hone ka desi upay hai namak ke garare

लहसुन में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो बैक्टीरियल इन्फेक्शन को नष्ट कर के गले को आराम पहुंचाते हैं। लहसुन में एलिसिन नाम का यौगिक मौजूद होता है, जिसमें एंटीबैक्टीरियल (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाले), एंटीफंगल (फंगस को नष्ट करने वाले) और एंटीवायरल (वायरल को खत्म करने वाले) गुण होते हैं।

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • खराब गले के लिए लहसुन का सबसे बेहतरीन उपयोग है, उसे सीधा अपने मुंह में रख कर चबाना या चूसना। इस प्रक्रिया को कम से कम 15 मिनट के लिए करें। 
  • यह हो सकता है की कुछ लोगों के लिए थोड़ा मुश्किल हो, तो इसे आसान बनाने के लिए लहसुन को पीस कर उसमें एक चम्मच शहद या एक चम्मच ऑलिव ऑयल मिला लें। 

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में 2 बार आजमाएं, जब तक आपके गले से जुड़ी समस्या पूरी तरह से ठीक न हो जाएं।

अदरक में कई गुण पाए जाते हैं जैसे कि एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल। इसकी मदद से बैक्टीरिया या वायरस के कारण हो रही गले संबंधी समस्याओं को ठीक किया जाता है। इसके अलावा एक अध्ययन में पाया गया कि अदरक का रस बैक्टीरिया के कारण हुऐ संक्रमण को कम करने में मदद करता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 छोटा टुकड़ा अदरक
  • 1 गिलास पानी 
  • 1 चम्मच शहद
  • 1 चम्मच नींबू का रस 

इस्तेमाल का तरीका

  • अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें 
  • 2 से 3 मिनट के लिए इसे पानी के साथ एक सॉसपैन पर गर्म होने दें 
  • स्वाद के लिए इसमें नींबू का रस और शहद मिला लें

कब इस्तेमाल करें

अदरक के इस मिश्रण का दिन में 3 बार सेवन किया जा सकता है।

गला खराब होने के कारण गले में दर्द, जलन व सूजन और सूखापन महसूस हो सकता है। शहद इन सभी समस्याओं को खत्म करके गले में चिकनाई और आराम प्रदान करता है। शहद में एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल गुण होते हैं, जो बैक्टीरिया या वायरस के कारण होने वाली गले की खराश, सूजन, दर्द और खांसी से लड़ने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री 

  • 2 चम्मच शहद

इस्तेमाल का तरीका 

वैसे तो गला खराब होने पर शहद का सीधा सेवन सबसे कारगर माना जाता है, लेकिन चाहें तो इसे चाय, सूप या गर्म पानी में भी मिलाकर पी सकते हैं।

कब इस्तेमाल करें 

शहद को आप दिन में कभी भी खा सकते हैं, दिन में 2 चम्मच शहद खाने की सलाह दी जाती है।

खाना बनाने के साथ-साथ अजवाइन का इस्तेमाल कई घरेलू उपचारों के लिए भी किया जाता है, यह खांसी, गले की खराश, सूजन और कोल्ड जैसी समस्याओं के इलाज का एक बेहतरीन उपाय है। अजवाइन में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो खराब गले संबंधी लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच सूखी अजवाइन
  • 1 कप गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • अजवाइन को गर्म पानी में उबाल लें
  • इसे छान कर दिन में दो बार इसका सेवन करें

कब इस्तेमाल करें

अजवाइन के इस नुस्खे को गले की समस्याओं के लिए बेहद कारगर माना जाता है, इसके 3 दिन के सेवन से ही गला खराब होने के लक्षण खत्म हो जाएंगे। इसको दिन में एक से अधिक बार नहीं लेना चाहिए।

नमक के पानी से गरारे करने पर गले की सभी प्रकार की समस्याएं दूर हो जाती हैं। नमक गले में मौजूद कीटाणुओं को नष्ट करके ऊतकों से पानी निकालता है जिससे गले में खराश, सूजन और दर्द जैसी समस्याएं ठीक होने लगती हैं।

आवश्यक सामग्री 

  • 1 चम्मच नमक
  • 1 कप गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • गर्म पानी में एक चम्मच नमक को मिला लें
  • अब इससे 30 सेकेंड तक अच्छे से गरारे करें
  • चाहें तो पानी को आप निगल भी सकते हैं

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को हर 1 घंटे में एक बार करने की सलाह दी जाती है।

यदि आपका गला खराब हो गया है या इससे संबंधित किसी प्रकार के लक्षण महसूस हो रहे हैं, तो इस दौरान दूध का सेवन न करें। दूध बलगम को बढ़ाता है, जिससे गला खराब होने की संभावना और बढ़ जाती है। 1 हफ्ते से अधिक कोई भी समस्या किसी बड़े रोग का संकेत हो सकता है। अगर आपके गले में गांठ या दर्द है, जो किसी भी उपाय से ठीक नहीं हो पा रही है और जिसके कारण निगलने में कठिनाई या घरघराहट जैसी समस्या हो रही है, तो यह स्थिति गले के कैंसर के संकेत दे सकती है। ऐसे में डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ