संक्षेप में सुनें

गले का कैंसर क्या है?

गले का कैंसर, कैंसर का एक समूह है जिससे टॉन्सिल (Tonsil) से लैरिंक्स (Layrnx; वॉयस बॉक्स) तक कहीं भी ट्यूमर हो सकता है। यह आमतौर पर उन कोशिकाओं में शुरू होता है जो आपके गले में होती हैं। जो लोग धूम्रपान करते हैं और शराब पीते हैं उनमें यह सबसे आम है।

आपका गला एक नली होती है जो आपकी नाक के पीछे से शुरू होती है और आपकी गर्दन में समाप्त होती है। आपकी कंठनली आपके गले के ठीक नीचे होती है और यह भी गले के कैंसर के लिए अतिसंवेदनशील होती है। कंठनली नरम हड्डी की बानी होती है और इसमें वोकल स्वर तंत्रियों (Vocal chords) होती हैं, जो आवाज़ उत्पन्न करने के लिए हिलती हैं। गले का कैंसर उस नरम हड्डी (Epiglottis) के किसी टुकड़े को भी प्रभावित कर सकता है जो वायुनली के लिए एक ढक्कन का कार्य करती है।

गले के कैंसर का इलाज कई तरह से किया जा सकता है, जैसे - ट्यूमर को हटाने वाली सर्जरी या उन्हें नष्ट करने वाली दवाएं। जितनी जल्दी इसका निदान होगा, उतनी ही आपकी बेहतर होने की संभावना ज़्यादा होगी।

  1. गले के कैंसर के प्रकार - Types of Throat Cancer in Hindi
  2. गले के कैंसर के चरण - Stages of Throat Cancer in Hindi
  3. गले का कैंसर के लक्षण - Throat Cancer Symptoms in Hindi
  4. गले का कैंसर के कारण - Throat Cancer Causes & Risk Factors in Hindi
  5. गले के कैंसर से बचाव - Prevention of Throat Cancer in Hindi
  6. गले का कैंसर का परीक्षण - Diagnosis of Throat Cancer in Hindi
  7. गले के कैंसर का इलाज - Throat Cancer Treatment in Hindi
  8. गले का कैंसर की जटिलताएं - Throat Cancer Complications in Hindi
  9. गले का कैंसर की दवा - Medicines for Throat Cancer in Hindi
  10. गले का कैंसर के डॉक्टर

गले के कैंसर के प्रकार 

गले का कैंसर गले में या कंठनली में होने वाले किसी भी कैंसर को कहा जाता है। गले और कंठनली निकट ही होते हैं, कंठनली गले के नीचे स्थित होती है।

हालांकि, गले के कैंसर के ज़्यादातर प्रकारों में एक ही प्रकार की कोशिकाएं होती हैं लेकिन गले के हिस्सों के आधार पर कैंसर को अलग-अलग प्रकारों में बांटा गया है। यह प्रकार निम्नलिखित हैं -

  1. नैसोफरीन्जियल कैंसर (Nasopharyngeal cancer) - यह कैंसर आपकी नासाग्रसनी (गले की नली का ऊपरी भाग) में शुरू होता है जो कि आपकी नाक के पीछे आपके गले का एक हिस्सा होता है।
     
  2. ऑरोफरीन्जियल कैंसर (Oropharyngeal cancer) - यह कैंसर मुंह के पिछले हिस्से में शुरू होता है जो की आपके गले का वह हिस्सा है जिसमें टॉन्सिल होते हैं।
     
  3. हायपोफरीन्जियल कैंसर (Hypopharyngeal cancer) - यह कैंसर गले के निचले हिस्से में शुरू होता है जो आपकी खाने की नली और श्व्सननली के ठीक ऊपर होता है।
     
  4. ग्लॉटलिक कैंसर (Glottic cancer) - यह कैंसर मौखिक रस्सियां (Vocal chords) में शुरू होता है।
     
  5. सुपराग्लोटिक कैंसर (Supraglottic cancer) - यह कैंसर गले के ऊपरी भाग में शुरू होता है और इसमें वह कैंसर भी शामिल होता है जो एपिग्लॉटिस को प्रभावित करता है, जो नरम हड्डी का एक टुकड़ा होता है जो आपकी श्व्सननली में जाने से भोजन को रोकता है।
     
  6. सबग्लॉटिक कैंसर (Subglottic cancer) - यह कैंसर आपकी मौखिक रस्सिओं के नीचे, आपकी कंठनली के निचले हिस्से में शुरू होता है।

गले के कैंसर के चरण क्या होते हैं?

यदि आपके डॉक्टर को आपके गले में कैंसर की कोशिकाओं मिलती हैं, तो वे आपके कैंसर के स्तर या उसके चरण को पहचानने के लिए एक अतिरिक्त परीक्षण करेंगे। यह चरण निम्नलिखित हैं -

  1. चरण 0 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर आपके गले के अलावा किसी ऊतक में नहीं फैला है।
  2. चरण 1 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर 7 सेंटीमीटर से कम है और आपके गले तक ही सीमित है।
  3. चरण 2 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर 7 सेंटीमीटर से थोड़ा बड़ा है लेकिन अभी भी आपके गले तक ही सीमित है।
  4. चरण 3 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर बड़ा हो गया है और पास के ऊतकों और अंगों में फैल गया है।
  5. चरण 4 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर आपके लसीका नोड्स या दूर के अंगों में फैल गया है।

गले के कैंसर के क्या संकेत और लक्षण होते हैं?

यदि आपको गले का कैंसर है तो आपको निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं -

  1. आवाज़ में परिवर्तन होना (स्पष्ट रूप से बोलने में दिक्कत और कठोर आवाज़)
  2. खांसी में खून आना।
  3. निगलने में कठिनाई, ऐसा लगना कि गले में कुछ अटका है।
  4. गले में गांठ या छाला होना और उसका ठीक न होना।
  5. कान या गर्दन में दर्द होना।
  6. सांस लेने में समस्याएं होना।
  7. गले में खराश होना।
  8. बिना किसी कारण वज़न कम होना।

अगर आपको ये लक्षण होते हैं और ठीक नहीं होते हैं, तो अपने चिकित्सक से बात करें लेकिन ध्यान रखें, कई और स्थितियां भी कैंसर जैसे लक्षण पैदा कर सकती हैं।

जब गले की कुछ कोशिकाओं की जीन में बदलाव होता है तो गले का कैंसर होता है। अभी तक डॉक्टर यह पता नहीं लगा पाएं हैं कि यह बदलाव किस कारण होता है।

गले के कैंसर के जोखिम कारक -

  1. कई सालों से बहुत अधिक शराब पीने की आदत।
  2. गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स रोग (एक पुरानी समस्य जिसमें पेट का एसिड खाने की नली में चला जाता है)।
  3. लिंग (पुरुषों को गले का कैंसर होने की अधिक संभावना होती है)।
  4. ह्यूमन पैपिलोमावायरस (एक प्रकार का वायरस जो मौखिक सेक्स के माध्यम से फैलता है)। (और पढ़ें - sex kaise kare)
  5. पर्याप्त फल और सब्ज़ियां न खाना।
  6. धूम्रपान करना या तंबाकू चबाना।

गले का कैंसर होने से कैसे रोका जा सकता है?

गले के कैंसर को रोकने का कोई निश्चित तरीका नहीं है लेकिन आप निम्नलिखित तरीकों से अपना जोखिम कम कर सकते हैं -

  1. धूम्रपान न करें
    निकोटीन जैसे धूम्रपान छोड़ने में मदद करने वाले उत्पादों का उपयोग करें या अपने डॉक्टर से धूम्रपान छोड़ने में मदद करने वाली दवाओं के बारे में बात करें, ताकि आपको धूम्रपान छोड़ने में सहायता मिल सके।
     
  2. शराब का सेवन कम करें
    हालांकि शराब पीना सेहत के लिए बहुत बुरा है लेकिन फिर भी अगर आप इसका सेवन करते हैं तो इसे एक सीमित मात्रा में ही पिएँ।
     
  3. एक स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखें
    भरपूर फल, सब्ज़ियां व कम फैट वाले मांस खाएं और सोडियम का सेवन कम करें। अपना अतिरिक्त वज़न कम करें। एक सप्ताह में कम से कम 150 मिनट शारीरिक गतिविधि करें।
     
  4. एचपीवी (HPV) का जोखिम कम करें
    एचपीवी को गले के कैंसर का कारण माना जाता है। इससे अपने आप को बचाने के लिए, अपने यौन सहयोगियों की संख्या सीमित करें और सुरक्षित यौन संबंध बनाएं।

गले के कैंसर का निदान कैसे होता है?

गले के कैंसर के निदान के लिए आपके चिकित्सक पहले आपके लक्षणों के बारे में पूछेंगे और शारीरिक परीक्षा लेंगे। वह आपके गले में गांठ भी महसूस करेंगे।
आपको इन परीक्षणों में से कोई भी करवाना पड़ सकते हैं -

  1. एंडोस्कोपी (Endoscopy)
    एंडोस्कोपी में डॉक्टर आपके गले में एक पतली लचीली ट्यूब जिसके आगे कैमरा होता है (एंडोस्कोप), आपके गले में डाल के परीक्षण करते हैं।
     
  2. बायोप्सी (Biopsy)
    बायोप्सी में आपके डॉक्टर सर्जरी, एन्डोस्कोप या सुई का उपयोग कर के आपके गले में से एक टिश्यू निकालेंगे और कैंसर का परीक्षण करेंगे।
     
  3. इमेजिंग टेस्ट (Imaging test)
    एक्स-रे, सीटी स्कैन, एमआरआई (MRI) और पीईटी (PTI) स्कैन यह दिखा सकते हैं कि कैंसर आपके गले से बाहर आपके शरीर के दूसरे हिस्सों तक पहुँच गया है या नहीं।

गले के कैंसर का इलाज क्या है?

कैंसर का उपचार उसके चरण और आपके स्वस्थ पर निर्भर करता है। कुछ मामलों में आपको एक से अधिक उपचार की आवश्यकता हो सकती है। गले के कैंसर के उपचार निम्नलिखित हैं -

  1. विकिरण उपचार (Radiation therapy)
    कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए विकिरण, एक्स-रे या अन्य स्रोतों की उच्च ऊर्जा वाली एक किरण का उपयोग करते हैं। जो ट्यूमर छोटा है और जिसका निदान जल्दी हो गया है, उसके लिए आपको सिर्फ विकिरण उपचार की ज़रूरत हो सकती है। बाद के चरणों के लिए, आपको विकिरण उपचार के साथ एक अन्य उपचार की आवश्यकता भी हो सकती है।
     
  2. सर्जरी
    गले के ट्यूमर को हटाने के लिए सर्जरी के कई प्रकारों का उपयोग किया जाता है। आपके गले या मौखिक रस्सियों की सतह पर शुरूआती अवस्था के ट्यूमर के लिए, आपके डॉक्टर एंडोस्कोप का उपयोग कर सकते हैं।
    बड़े ट्यूमर के लिए, आपके चिकित्सक को आपके गले के हिस्से को निकालना पड़ सकता है और फिर इसे ठीक करना पड़ सकता है ताकि आप सामान्य रूप से निगल सकें। कंठनली पर ट्यूमर की वजह से आपको कंठनली का कोई हिस्सा या पूरी कंठनली निकलवानी पड़ सकती है।
    यदि कैंसर आपकी गर्दन में फैलता है, तो आपको लिम्फ नोड्स भी निकलवाने पड़ सकते हैं।
     
  3. कीमोथेरेपी (Chemotherapy)
    कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए आपके डॉक्टर ड्रग्स का उपयोग करते हैं। कभी-कभी सर्जरी होने से पहले ट्यूमर को सिकोड़ने या सर्जरी के बाद आखिरी कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। यह विकिरण को अधिक प्रभावी बनाने में भी मदद कर सकता है।
     
  4. लक्षित औषधि चिकित्सा
    कुछ गले के कैंसर के लिए, डॉक्टर नई दवाओं का उपयोग कर सकते हैं जो ट्यूमर को बढ़ने के लिए आवश्यक तत्वों की उपलब्धि खत्म करते हैं।

गले के कैंसर की कुछ सामान्य जटिलताएं निम्नलिखित हैं -

  1. श्वसननली में अवरोध।
  2. आवाज़ की हानि और बोलने की क्षमता में कमी।
  3. गर्दन या चेहरे की विरूपता।
  4. गर्दन की त्वचा की कठोरता।
  5. निगलने में कठिनाई।
  6. अन्य शरीर के क्षेत्रों में कैंसर का फैलना।
Dr. Ashutosh Gawande

Dr. Ashutosh Gawande

ऑन्कोलॉजी

Dr. C. Arun Hensley

Dr. C. Arun Hensley

ऑन्कोलॉजी

Dr. Sanket Shah

Dr. Sanket Shah

ऑन्कोलॉजी

गले का कैंसर के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
FolitraxFolitrax 10 Mg Tablet158.0
ImutrexImutrex 10 Mg Tablet64.0
MeditrexMeditrex 10 Mg Tablet161.0
MerexMerex 1000 Mg Injection750.0
MethocelMethocel 1000 Mg Injection904.0
Mexate TabletMexate 10 Mg Tablet64.0
Mext TabletMext 10 Mg Tablet161.0
NeotrexateNeotrexate 2.5 Mg Tablet51.0
OncotrexOncotrex 10 Mg Tablet157.0
RemtrexRemtrex 15 Mg Injection65.0
HitrexHitrex 15 Mg Injection51.0
MethMeth 2.5 Mg Tablet50.0
MethocipMethocip 50 Mg Injection48.0
MethofastMethofast 15 Mg Injection52.0
Mexate Combipack 25 Mg InjectionMexate Combipack 25 Mg Injection55.0
RhutraxRhutrax 15 Mg Tablet249.0
RhutrexRhutrex 10 Mg Tablet156.0
TrexTrex 2.5 Mg Tablet36.0
TrexoparTrexopar 15 Mg Injection55.0
UnitrexateUnitrexate 15 Mg Injection48.0
VibziVibzi 5 Mg Tablet67.0
Mext FMext F 7.5 Mg/1 Mg Tablet45.35
TruxofolTruxofol 7.5 Mg/1 Mg Tablet50.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...