गले का कैंसर - Throat Cancer in Hindi

by Editorial Team


Posted on October 11, 2017 कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!


गले का कैंसर

गले का कैंसर क्या है?

गले का कैंसर, कैंसर का एक समूह है जिससे टॉन्सिल (Tonsil) से लैरिंक्स (Layrnx; वॉयस बॉक्स) तक कहीं भी ट्यूमर हो सकता है। यह आमतौर पर उन कोशिकाओं में शुरू होता है जो आपके गले में होती हैं। जो लोग धूम्रपान करते हैं और शराब पीते हैं उनमें यह सबसे आम है।

आपका गला एक नली होती है जो आपकी नाक के पीछे से शुरू होती है और आपकी गर्दन में समाप्त होती है। आपकी कंठनली आपके गले के ठीक नीचे होती है और यह भी गले के कैंसर के लिए अतिसंवेदनशील होती है। कंठनली नरम हड्डी की बानी होती है और इसमें वोकल स्वर तंत्रियों (Vocal chords) होती हैं, जो आवाज़ उत्पन्न करने के लिए हिलती हैं। गले का कैंसर उस नरम हड्डी (Epiglottis) के किसी टुकड़े को भी प्रभावित कर सकता है जो वायुनली के लिए एक ढक्कन का कार्य करती है।

गले के कैंसर का इलाज कई तरह से किया जा सकता है, जैसे - ट्यूमर को हटाने वाली सर्जरी या उन्हें नष्ट करने वाली दवाएं। जितनी जल्दी इसका निदान होगा, उतनी ही आपकी बेहतर होने की संभावना ज़्यादा होगी।

  1. गले के कैंसर के प्रकार - Types of Throat Cancer in Hindi
  2. गले के कैंसर के चरण - Stages of Throat Cancer in Hindi
  3. गले का कैंसर के लक्षण - Throat Cancer Symptoms in Hindi
  4. गले का कैंसर के कारण - Throat Cancer Causes & Risk Factors in Hindi
  5. गले के कैंसर से बचाव के उपाय - Prevention of Throat Cancer in Hindi
  6. गले का कैंसर का निदान - Diagnosis of Throat Cancer in Hindi
  7. गले के कैंसर का इलाज - Throat Cancer Treatment in Hindi
  8. गले का कैंसर की जटिलताएं - Throat Cancer Complications in Hindi

गले के कैंसर के प्रकार - Types of Throat Cancer in Hindi

गले के कैंसर के प्रकार - Types of Throat Cancer in Hindi

गले के कैंसर के प्रकार 

गले का कैंसर गले में या कंठनली में होने वाले किसी भी कैंसर को कहा जाता है। गले और कंठनली निकट ही होते हैं, कंठनली गले के नीचे स्थित होती है।

हालांकि, गले के कैंसर के ज़्यादातर प्रकारों में एक ही प्रकार की कोशिकाएं होती हैं लेकिन गले के हिस्सों के आधार पर कैंसर को अलग-अलग प्रकारों में बांटा गया है। यह प्रकार निम्नलिखित हैं -

  1. नैसोफरीन्जियल कैंसर (Nasopharyngeal cancer) - यह कैंसर आपकी नासाग्रसनी (गले की नली का ऊपरी भाग) में शुरू होता है जो कि आपकी नाक के पीछे आपके गले का एक हिस्सा होता है।
     
  2. ऑरोफरीन्जियल कैंसर (Oropharyngeal cancer) - यह कैंसर मुंह के पिछले हिस्से में शुरू होता है जो की आपके गले का वह हिस्सा है जिसमें टॉन्सिल होते हैं।
     
  3. हायपोफरीन्जियल कैंसर (Hypopharyngeal cancer) - यह कैंसर गले के निचले हिस्से में शुरू होता है जो आपकी खाने की नली और श्व्सननली के ठीक ऊपर होता है।
     
  4. ग्लॉटलिक कैंसर (Glottic cancer) - यह कैंसर मौखिक रस्सियां (Vocal chords) में शुरू होता है।
     
  5. सुपराग्लोटिक कैंसर (Supraglottic cancer) - यह कैंसर गले के ऊपरी भाग में शुरू होता है और इसमें वह कैंसर भी शामिल होता है जो एपिग्लॉटिस को प्रभावित करता है, जो नरम हड्डी का एक टुकड़ा होता है जो आपकी श्व्सननली में जाने से भोजन को रोकता है।
     
  6. सबग्लॉटिक कैंसर (Subglottic cancer) - यह कैंसर आपकी मौखिक रस्सिओं के नीचे, आपकी कंठनली के निचले हिस्से में शुरू होता है।

गले के कैंसर के चरण - Stages of Throat Cancer in Hindi

गले के कैंसर के चरण क्या होते हैं?

यदि आपके डॉक्टर को आपके गले में कैंसर की कोशिकाओं मिलती हैं, तो वे आपके कैंसर के स्तर या उसके चरण को पहचानने के लिए एक अतिरिक्त परीक्षण करेंगे। यह चरण निम्नलिखित हैं -

  1. चरण 0 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर आपके गले के अलावा किसी ऊतक में नहीं फैला है।
  2. चरण 1 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर 7 सेंटीमीटर से कम है और आपके गले तक ही सीमित है।
  3. चरण 2 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर 7 सेंटीमीटर से थोड़ा बड़ा है लेकिन अभी भी आपके गले तक ही सीमित है।
  4. चरण 3 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर बड़ा हो गया है और पास के ऊतकों और अंगों में फैल गया है।
  5. चरण 4 - इस चरण का मतलब है कि ट्यूमर आपके लसीका नोड्स या दूर के अंगों में फैल गया है।

गले का कैंसर के लक्षण - Throat Cancer Symptoms in Hindi

गले का कैंसर के लक्षण - Throat Cancer Symptoms in Hindi

गले के कैंसर के क्या संकेत और लक्षण होते हैं?

यदि आपको गले का कैंसर है तो आपको निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं -

  1. आवाज़ में परिवर्तन होना (स्पष्ट रूप से बोलने में दिक्कत और कठोर आवाज़)
  2. खांसी में खून आना।
  3. निगलने में कठिनाई, ऐसा लगना कि गले में कुछ अटका है।
  4. गले में गांठ या छाला होना और उसका ठीक न होना।
  5. कान या गर्दन में दर्द होना।
  6. सांस लेने में समस्याएं होना।
  7. गले में खराश होना।
  8. बिना किसी कारण वज़न कम होना।

अगर आपको ये लक्षण होते हैं और ठीक नहीं होते हैं, तो अपने चिकित्सक से बात करें लेकिन ध्यान रखें, कई और स्थितियां भी कैंसर जैसे लक्षण पैदा कर सकती हैं।

गले का कैंसर के कारण - Throat Cancer Causes & Risk Factors in Hindi

गले का कैंसर के कारण - Throat Cancer Causes & Risk Factors in Hindi

जब गले की कुछ कोशिकाओं की जीन में बदलाव होता है तो गले का कैंसर होता है। अभी तक डॉक्टर यह पता नहीं लगा पाएं हैं कि यह बदलाव किस कारण होता है।

गले के कैंसर के जोखिम कारक -

  1. कई सालों से बहुत अधिक शराब पीने की आदत।
  2. गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स रोग (एक पुरानी समस्य जिसमें पेट का एसिड खाने की नली में चला जाता है)।
  3. लिंग (पुरुषों को गले का कैंसर होने की अधिक संभावना होती है)।
  4. ह्यूमन पैपिलोमावायरस (एक प्रकार का वायरस जो मौखिक सेक्स के माध्यम से फैलता है)।
  5. पर्याप्त फल और सब्ज़ियां न खाना।
  6. धूम्रपान करना या तंबाकू चबाना।

गले के कैंसर से बचाव के उपाय - Prevention of Throat Cancer in Hindi

गले के कैंसर से बचाव के उपाय - Prevention of Throat Cancer in Hindi

गले का कैंसर होने से कैसे रोका जा सकता है?

गले के कैंसर को रोकने का कोई निश्चित तरीका नहीं है लेकिन आप निम्नलिखित तरीकों से अपना जोखिम कम कर सकते हैं -

  1. धूम्रपान न करें
    निकोटीन जैसे धूम्रपान छोड़ने में मदद करने वाले उत्पादों का उपयोग करें या अपने डॉक्टर से धूम्रपान छोड़ने में मदद करने वाली दवाओं के बारे में बात करें, ताकि आपको धूम्रपान छोड़ने में सहायता मिल सके।
     
  2. शराब का सेवन कम करें
    हालांकि शराब पीना सेहत के लिए बहुत बुरा है लेकिन फिर भी अगर आप इसका सेवन करते हैं तो इसे एक सीमित मात्रा में ही पिएँ।
     
  3. एक स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखें
    भरपूर फल, सब्ज़ियां व कम फैट वाले मांस खाएं और सोडियम का सेवन कम करें। अपना अतिरिक्त वज़न कम करें। एक सप्ताह में कम से कम 150 मिनट शारीरिक गतिविधि करें।
     
  4. एचपीवी (HPV) का जोखिम कम करें
    एचपीवी को गले के कैंसर का कारण माना जाता है। इससे अपने आप को बचाने के लिए, अपने यौन सहयोगियों की संख्या सीमित करें और सुरक्षित यौन संबंध बनाएं।

गले का कैंसर का निदान - Diagnosis of Throat Cancer in Hindi

गले का कैंसर का निदान - Diagnosis of Throat Cancer in Hindi

गले के कैंसर का निदान कैसे होता है?

गले के कैंसर के निदान के लिए आपके चिकित्सक पहले आपके लक्षणों के बारे में पूछेंगे और शारीरिक परीक्षा लेंगे। वह आपके गले में गांठ भी महसूस करेंगे।
आपको इन परीक्षणों में से कोई भी करवाना पड़ सकते हैं -

  1. एंडोस्कोपी (Endoscopy)
    एंडोस्कोपी में डॉक्टर आपके गले में एक पतली लचीली ट्यूब जिसके आगे कैमरा होता है (एंडोस्कोप), आपके गले में डाल के परीक्षण करते हैं।
     
  2. बायोप्सी (Biopsy)
    बायोप्सी में आपके डॉक्टर सर्जरी, एन्डोस्कोप या सुई का उपयोग कर के आपके गले में से एक टिश्यू निकालेंगे और कैंसर का परीक्षण करेंगे।
     
  3. इमेजिंग टेस्ट (Imaging test)
    एक्स-रे, सीटी स्कैन, एमआरआई (MRI) और पीईटी (PTI) स्कैन यह दिखा सकते हैं कि कैंसर आपके गले से बाहर आपके शरीर के दूसरे हिस्सों तक पहुँच गया है या नहीं।

गले के कैंसर का इलाज - Throat Cancer Treatment in Hindi

गले के कैंसर का इलाज - Throat Cancer Treatment in Hindi

गले के कैंसर का इलाज क्या है?

कैंसर का उपचार उसके चरण और आपके स्वस्थ पर निर्भर करता है। कुछ मामलों में आपको एक से अधिक उपचार की आवश्यकता हो सकती है। गले के कैंसर के उपचार निम्नलिखित हैं -

  1. विकिरण उपचार (Radiation therapy)
    कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए विकिरण, एक्स-रे या अन्य स्रोतों की उच्च ऊर्जा वाली एक किरण का उपयोग करते हैं। जो ट्यूमर छोटा है और जिसका निदान जल्दी हो गया है, उसके लिए आपको सिर्फ विकिरण उपचार की ज़रूरत हो सकती है। बाद के चरणों के लिए, आपको विकिरण उपचार के साथ एक अन्य उपचार की आवश्यकता भी हो सकती है।
     
  2. सर्जरी
    गले के ट्यूमर को हटाने के लिए सर्जरी के कई प्रकारों का उपयोग किया जाता है। आपके गले या मौखिक रस्सियों की सतह पर शुरूआती अवस्था के ट्यूमर के लिए, आपके डॉक्टर एंडोस्कोप का उपयोग कर सकते हैं।
    बड़े ट्यूमर के लिए, आपके चिकित्सक को आपके गले के हिस्से को निकालना पड़ सकता है और फिर इसे ठीक करना पड़ सकता है ताकि आप सामान्य रूप से निगल सकें। कंठनली पर ट्यूमर की वजह से आपको कंठनली का कोई हिस्सा या पूरी कंठनली निकलवानी पड़ सकती है।
    यदि कैंसर आपकी गर्दन में फैलता है, तो आपको लिम्फ नोड्स भी निकलवाने पड़ सकते हैं।
     
  3. कीमोथेरेपी (Chemotherapy)
    कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए आपके डॉक्टर ड्रग्स का उपयोग करते हैं। कभी-कभी सर्जरी होने से पहले ट्यूमर को सिकोड़ने या सर्जरी के बाद आखिरी कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। यह विकिरण को अधिक प्रभावी बनाने में भी मदद कर सकता है।
     
  4. लक्षित औषधि चिकित्सा
    कुछ गले के कैंसर के लिए, डॉक्टर नई दवाओं का उपयोग कर सकते हैं जो ट्यूमर को बढ़ने के लिए आवश्यक तत्वों की उपलब्धि खत्म करते हैं।

गले का कैंसर की जटिलताएं - Throat Cancer Complications in Hindi

गले का कैंसर की जटिलताएं - Throat Cancer Complications in Hindi

गले के कैंसर की कुछ सामान्य जटिलताएं निम्नलिखित हैं -

  1. श्वसननली में अवरोध।
  2. आवाज़ की हानि और बोलने की क्षमता में कमी।
  3. गर्दन या चेहरे की विरूपता।
  4. गर्दन की त्वचा की कठोरता।
  5. निगलने में कठिनाई।
  6. अन्य शरीर के क्षेत्रों में कैंसर का फैलना।

अगर आप या आपके परिवार का कोई सदस्य इस समस्या से पीड़ित है, तो इन आसान से सवालों का जवाब देकर आप अन्य सदस्यों की मदद कर सकते हैं|

लिंग
आदमी 23 औरत 6
क्या आपने अपनी समस्या के इलाज के लिए डॉक्टर को दिखाया है?
  • डॉक्टर से पूछ कर 17
  • डॉक्टर से बिना पूछे 12
आप इसका इलाज करने के लिए क्या तरीका अपना रहे हैं?

अलोपैथी

आयुर्वेद

होमोपैथिक

घरेलू नुस्खे

और पढ़ें ...

लक्षणों से करें बीमारी की पहचान

symptom checker in hindi

हमारे यूट्यूब चैनेल से जुड़ें

Subscribe to Youtube Channel
डॉक्टर, हमसे जुड़ें मुफ्त में अपना प्रश्न पूछें