myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

यह तो आप सभी जानते हैं कि रोजाना व्यायाम करने से आपके शरीर को बहुत अधिक फायदे पहुँचते हैं। शारीरिक रूप से चुस्त रहना सिर्फ वजन को सही बनाए रखने के लिए ही नहीं बल्कि अन्य कई समस्याओं से बचने के लिए भी फायदेमंद है।

दौड़ना ख़ास तौर से आपकी सेहत के लिए अच्छा होता है। अगर बाहर दौड़ना आपके लिए संभव न हो, तो आप घर या जिम में ट्रेडमिल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको ट्रेडमिल पर दौड़ने के फायदे और नुकसान के बारें में बता रहे हैं। 

(और पढ़ें - फिटनेस)

तो आइये आपको बताते हैं ट्रेडमिल पर दौड़ने के लाभ और इससे क्या नुकसान हो सकते हैं।

  1. ट्रेडमिल पर दौड़ने के फायदे - Treadmill par daudne ke fayde
  2. ट्रेडमिल पर दौड़ने के नुकसान - Treadmill par daudne ke nuksan

ट्रेडमिल पर दौड़ने से हड्डियों को मजबूत करता है - Treadmill par daudne se haddiyo ko majboot karta hai

रोजाना ट्रेडमिल पर दौड़ने से आपकी हड्डियां मजबूत होती हैं। बोन डेंसिटी (bone density) का मतलब होता है, हड्डियों में खनिज की मात्रा जो मजबूती और स्थिरता को दर्शाती है। जितना आप ट्रेडमिल पर दौड़ेंगे उतना ही आपकी हड्डियों में खनिज की मात्रा बढ़ेगी। इस तरह आपकी हड्डियां और अधिक मजबूत होंगी। हड्डियों में अधिक घनत्व होने से बीमारियों का इलाज हो सकता है, जैसे ऑस्टियोपोरोसिस। यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें आपकी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और आपके जोड़ों में दर्द होने लगता है। रनिंग एक्सरसाइज हड्डियों को मजबूत बनाती है। 

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के उपाय)

ट्रेडमिल पर दौड़ने से जोड़ों का लचीलापन सुधरता है - Treadmill par daudne se jodo ka lacheelapan sudharta hai

शारीरिक रूप से गतिशील रहने और शरीर को सीधा खड़ा रखने में मदद करने के लिए जोड़ों में लचीलापन जरूरी होता है, खासकर बुढ़ापे में। जोड़ों के लचीलापन बढ़ने से हड्डियों की बिमारियों का सामना करने में मदद मिलती है, जैसे अर्थराइटिसरोज़ाना ट्रेडमिल पर दौड़ने से हड्डियों के लचीलेपन को कम करने वाली समस्याएं होने का खतरा कम होता है

(और पढ़ें - दौड़ने और जॉगिंग करने के लाभ)

ट्रेडमिल पर दौड़ने से मांसपेशियां बढती है - Treadmill par daudne se manspeshiya badhti hai

आप सोचते होंगे कि दौड़ना केवल कार्डियो और स्टैमिना बढ़ाने के लिए ही जरूरी है, लेकिन ऐसा नहीं है, क्योंकि ट्रेडमिल मशीन और भी कई फायदे देती है। ट्रेडमिल पर दौड़ने से आपकी मांसपेशियों का इस्तेमाल होता जिससे वह मांसपेशियां बढ़ती हैं। जितना आप ट्रेडमिल पर दौड़ेंगे उतना आपके पैरों की मांसपेशियां बढ़ेंगी और मजबूत भी होंगी। आप अपनी कोर स्ट्रेंथ को भी बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

(और पढ़ें - वेट ट्रेनिंग क्या है)

ट्रेडमिल पर दौड़ने से वजन कम होता है - Treadmill par daudne se vajan kam hota hai

ट्रेडमिल पर दौड़ने का एक और फायदा ये भी है कि इससे आपका वजन तेजी से कम होता है। ट्रेडमिल पर दौड़ने से आसानी से 100 कैलोरी कम हो जाती है। इस तरह अगर आप एक घंटे में 6 मील की दूरी को पूरा करते हैं तो यह कैलोरी को कम करने के लिए काफी है। इसके अलावा अगर आप तेज गति से ट्रेडमिल पर दौड़ते हैं तो आप और अधिक कैलोरी बर्न कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - वजन घटाने के तरीके)

ट्रेडमिल पर दौड़ने से हृदय स्वस्थ होता है - Treadmill par daudne se hriday swasth hota hai

रोजाना ट्रेडमिल पर दौड़ने का एक और सबसे बेहतरीन फायदा यह भी है कि इससे आपका हृदय स्वस्थ रहता है, और शरीर में रक्त परिसंचरण सुधरता है। परिसंचरण अधिक होने का मतलब है कि आपकी मांसपेशियों को और ज्यादा ऑक्सीजन मिलेगा। स्वस्थ हृदय होने से आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहेगा जो कि स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। ट्रेडमिल पर दौड़ने से खराब कोलेस्ट्रॉल कम होता है और अच्छा कोलेस्ट्रोल बढ़ता है।

(और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

 

ट्रेडमिल पर दौड़ने से मानसिक स्वास्थ्य बढ़ता है - Treadmill par daudne se mansik swasthy badhta hai

ट्रेडमिल पर दौड़ने से आपका मस्तिष्क बेहतर तरीके से कार्य करता है, स्वस्थ रहता है और मूड को भी हमेशा अच्छा रखता है। ट्रेडमिल पर दौड़ने से एंडोर्फिन (endorphins) की मात्रा बढ़ती है। एंडोर्फिन आपके मस्तिष्क में एक प्राकृतिक केमिकल है जो आपके मूड को अच्छा रखता है। इस तरह ट्रेडमिल पर दौड़ने से आपकी डिप्रेशन और चिंता की समस्या दूर होती है।

(और पढ़ें - सुबह दौड़ने से पहले क्या खा सकते हैं)

ट्रेडमिल पर दौड़ने से मांसपेशियां टोन होती हैं - Treadmill par daudne se manspeshiya tone hoti hain

ट्रेडमिल पर दौड़ने से आपके पैरों की मांसपेशियां, कूल्हों व जांघों की मांसपेशियां मजबूत और टोन होती हैं। अगर आप ट्रेडमिल पर हल्का वेट उठाकर दौड़ते हैं तो आपके हाथों की मांसपेशियां भी समान समय पर टोन होंगी।

(और पढ़ें - दौड़ना कैसे शुरू करें)

ट्रेडमिल पर दौड़ने से स्टैमिना और मजबूती बढ़ती है - Treadmill par daudne se stamina aur majbooti badhti hai

पूरे दिन में आधे घंटे एक्सरसाइज करने से आपका कार्डियो स्टैमिना और मांसपेशियों में मजबूती बढ़ती है। इस तरह आप अन्य गतिविधियों को भी अच्छे से कर पाते हैं।

(और पढ़ें - स्टेमिना कैसे बढ़ाएं

ट्रेडमिल पर दौड़ने के लिए जो लोग नए हैं, उन्हें थकान से बचने के लिए 8 किलोमीटर प्रति घंटे से कम गति से दौड़ना चाहिए। कम या अधिक तेज गति वाला ट्रेडमिल वर्कआउट आपको हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज (high-intensity exercise - तेज गति से करने वाले व्यायाम) में क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - जिम जाने की सही उम्र)

ट्रेडमिल पर दौड़ने के नुकसान इस प्रकार है -

  1.  ट्रेडमिल में दौड़ने वाली सतह मुलायम होने के बावजूद भी इससे आपके कूल्हों, घुटनों और टखनों के जोड़ों पर दबाव पड़ सकता है।
  2. ट्रेडमिल पर दौड़ने से उसपर से अचानक गिरने का भी डर होता है और इसकी वजह से आपके पैर, कंधों, साथ ही मुँह को भी बेहद चोट लग सकती है।
  3. ट्रेडमिल में सिर्फ कुछ ही एक्सरसाइज आप कर सकते हैं जैसे चलना या दौड़ना - पूरी तरह से रहने के लिए आपको अन्य एक्सरसाइज भी करनी चाहिए।
  4. अगर आप घर में ट्रेडमिल मशीन रखना चाहते हैं तो ये आपको बेहद महंगी पड़ सकती है।
  5. ट्रेडमिल में अगर कोई भी खराबी आती है तो उसे ठीक कराने के लिए किसी जानकार व्यक्ति की जरूरत होती है और ऐसे में काफी खर्चा भी आता है।
  6. ट्रेडमिल की सतह की जांच करना और उसे बदलना भी मुश्किल होता है।
  7. अगर आपको ट्रेडमिल घर पर रखना है तो यह काफी अधिक जगह घेरता है।

(और पढ़ें - सिक्स पैक बनाने के तरीके)

और पढ़ें ...