myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अम्बिलिकल हर्निया कुछ लोगों की नाभि में मौजूद एक छोटी गांठ होती है। यह तब विकसित होती है जब आंत और वसा युक्त ऊत्तक पेट की आंतरिक मांसपेशियों की परत में से बाहर फैलने लगते हैं। हालांकि, हर्निया खतरनाक नहीं होता है लेकिन अगर आंत हर्निया के अंदर दब जाती है या आंत तक रक्त का प्रवाह रुक जाता है तो इससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं। अम्बिलिकल हर्निया को केवल सर्जरी द्वारा ही ठीक किया जा सकता है। सर्जरी के लिए आपको छह घंटे तक भूखे रहने को जरूरत होगी। इसमें आपको एनेस्थीसिया (एक दवा जिससे व्यक्ति सर्जरी के दौरान सो जाता है) दिया जाता है। यह सर्जरी दो तरह से की जाती है - ओपन रिपेयर या लेप्रोस्कोपिक अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी। अधिकतर मामलों में सर्जरी के दिन ही व्यक्ति घर जा सकता है। आप या आपका बच्चा एक से दो हफ्ते में काम पर या स्कूल लौट सकते हैं।

  1. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन क्या होता है? - Umbilical Hernia Surgery kya hai?
  2. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन क्यों किया जाता है? - Umbilical Hernia Surgery kab ki jati hai?
  3. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन होने से पहले की तैयारी - Umbilical Hernia Surgery ki taiyari
  4. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन कैसे किया जाता है? - Umbilical Hernia Surgery kaise hoti hai?
  5. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन के बाद देखभाल - Umbilical Hernia Surgery hone ke baad dekhbhal
  6. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन की जटिलताएं - Umbilical Hernia Surgery me jatiltaye
  7. अम्बिलिकल हर्निया ऑपरेशन के बाद फॉलोअप - Umbilical Hernia Surgery ke baad follow up

अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी (Umbilical hernia surgery) एक प्रक्रिया है जो अम्बिलिकल हर्निया को ठीक करने के लिए की जाती है। अम्बिलिकल हर्निया पेट में एक थैली या उभार होता है। इस प्रकार का उभार तब होता है जब आंतों का कोई हिस्सा पेट के मांसपेशियों के किसी नाज़ुक हिस्से को धकेलता है तब बनता है। यह छोटे बच्चों और वयस्कों में विकसित हो सकता है। बच्चों में अम्बिलिकल हर्निया अक्सर अपने आप ही ठीक हो जाता है, लेकिन वयस्कों को सर्जिकल प्रक्रिया की आवश्यकता होती है। अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी एक सरल और कम जोखिम वाली सर्जरी है। सर्जरी के बाद हर्निया के वापस होने की आशंका नहीं होती है।

दुर्लभ मामलों में, अम्बिलिकल हर्निया से ग्रस्त वयस्कों को गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इन्हें स्ट्रेंग्युलेशन (Strangulation) कहा जाता है। यह तब होता है जब शरीर के कुछ हिस्सों में रक्त का प्रवाह अचानक बंद हो जाता है। इसके लक्षणों में मतली, उल्टी और गंभीर दर्द शामिल हैं। अम्बिलिकल हर्निया के आसपास के भाग में नील पड़ सकता है, जैसे आपको नील पड़ने पर होता है।

अम्बिलिकल हर्निया को हमेशा सर्जरी की आवश्यकता नहीं होती है। अम्बीलिकल हर्निया सर्जरी की आवश्यकता तब होती है जब हर्निया :

  1. दर्द का कारण बनता है
  2. आधे इंच से बड़ा होता है
  3. विरूपण का कारण बनता है

शिशुओं में अम्बिलिकल हर्निया काफी सामान्य हैं। गर्भावस्था के समय गर्भ में गर्भनाल एक छिद्र के द्वारा शिशु के पेट की मांसपेशियों से गुजरता है। यह छिद्र आमतौर पर जन्म के तुरंत बाद बंद हो जाता है। अगर यह पूरी तरह से बंद नहीं होता है, तो शिशु के पेट की भित्ति में एक कमजोर जगह विकसित हो सकती है। यह उनके लिए अम्बिलिकल हर्निया का खतरा बढ़ा देता है।

जब अम्बिलिकल हर्निया जन्म के समय विकसित होता है, तो यह नाभि को बाहर कि ओर धकेल सकता है। नवजात शिशुओं में अम्बिलिकल हर्निया हमेशा ही लगभग सर्जरी के बिना ठीक हो जाता है। हालांकि, आपका चिकित्सक आपको सर्जरी की सलाह दे सकता है यदि :

  1. हर्निया 3 या 4 साल की उम्र तक ठीक न हुआ हो 
  2. हर्निया के कारण दर्द हो रहा है या रक्त प्रवाह अवरोधित हो रहा है 

वयस्कों में अम्बिलिकल हर्निया के कारण निम्न हो सकते हैं :

  1. पेट में द्रव
  2. पिछली पेट सर्जरी के कारण
  3. क्रोनिक पेरीटोनियल डायलिसिस (chronic peritoneal dialysis)

ये उन वयस्कों में सबसे आम है, जिनका वजन अधिक होता है और जो महिलाएं हाल ही में गर्भवती थीं। जो महिलाएं कई गर्भ धारण कर चुकी हैं, उन्हें इसका जोखिम और अधिक होता है।

वयस्कों में अम्बिलिकल हर्निया की अपने आप ठीक हो जाने की सम्भावना कम ही होती है। आमतौर पर हर्निया समय के साथ बड़े हो जाते हैं और अक्सर इन्हें सर्जरी की आवश्यकता होती है।

यदि आप किसी भी तरह की कोई दवा ले रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं या फिर अगर आपको एलर्जी या अत्यधिक ब्लीडिंग से जुड़ी कोई समस्या है तो इसके बारे में भी डॉक्टर को बताएं।
सर्जरी से कुछ दिन पहले डॉक्टर आपको कुछ दवाएं लेने से मना कर सकते हैं, जैसे नॉन स्टेरोडिअल एंटी इनफ्लेमेटरी ड्रग्स (आइबूप्रोफेन), रक्त को पतला करने वाली दवाएं (वार्फरिन, रिवारोक्सबन, एपिक्साबन, डबिगाट्रन और इडोक्साबन) और कुछ विटामिन व सप्लीमेंट।

आपको ब्लड टेस्ट और यूरिन टेस्ट करवाने के लिए कहा जा सकता है। साथ ही डॉक्टर आपसे एक्स रे, एमआरआई, अल्ट्रासाउंड या सीटी स्कैन करवाने के लिए भी कह सकते हैं।

सर्जरी के दिन आपको सर्जरी से पहले लगभग छह घंटे तक भूखा रहना पड़ सकता है। आप सर्जरी से पहले सामान्य दवाएं पानी की थोड़ी सी मात्रा से ले सकते हैं। सर्जरी के बाद घर वापस आने के लिए अपने किसी रिश्तेदार या मित्र को साथ लेकर जाएं।

जैसे ही आप अस्पताल आएंगे आपको अस्पताल के कपड़े पहना दिए जाएंगे। आपकी बांह में या फिर कोहनी के ऊपर की नस में एक कैथिटर लगाया जाएगा, ताकि आपको द्रव व दवाएं दी जा सकें। सर्जरी से पहले आपको एनेस्थीसिया दिया जाएगा, जिससे आप सर्जरी के दौरान सो जाएंगे और आपको दर्द नहीं होगा। यदि आपको हृदय, फेफड़े या किडनी के रोग हैं या फिर आप किसी दवा के प्रति एलर्जिक हैं या फिर शराब पीते हैं, धूम्रपान करते हैं तो फिर एनेस्थिसिया के कारण समस्याएं हो सकती हैं।

ऐसे लोग जिन्हें एनेस्थीसिया नहीं दिया जा सकता है और जिनका हर्निया छोटा होता है, उन्हें लोकल एनेस्थिसिया दिया जाता है, जिसमें केवल वही भाग सुन्न होता है, जिसका इलाज किया जाना है।

एनेस्थिसिया देने के बाद सर्जरी को दो तरह से किया जा सकता है - ओपन हर्निया रिपेयर सर्जरी या फिर लेप्रोस्कोपिक हर्निया रिपेयर सर्जरी।

ओपन हर्निया रिपेयर सर्जरी - इस प्रक्रिया में निम्न होते हैं -

  • सर्जन आपकी नाभि पर एक चीरा लगाएंगे
  • इसके बाद हर्निया की पहचानकर उसे आगे की तरफ लाएंगे और आंत को पेट में पुश करेंगे
  • हर्निया की ओपनिंग को टांकों से सिल दिया जाएगा 
  • यदि किसी व्यस्क को अम्बिलिकल हर्निया है तो ऐसे में डॉक्टर पेट में धागों से बना एक मैश पेट में रख देंगे

लेप्रोस्कोपिक हर्निया रिपेयर सर्जरी - यह प्रक्रिया निम्न तरह से होती है -

  • सर्जन आपके पेट पर छोटे चीरे लगाएंगे 
  • इसके बाद चीरों के अंदर लेप्रोस्कोप को डाला जाएगा। लेप्रोस्कोप एक छोटा टेलिस्कोप की तरह दिखने वाला उपकरण है, जिसमें एक वीडियो कैमरा लगा होता है, जिसकी मदद से सर्जन आंतरिक अंगों को टेलीविज़न स्क्रीन पर देख पाते हैं
  • सर्जन पेट की आंतरिक परत को काटकर कमजोर भाग को खोलेंगे
  • इसके बाद डॉक्टर हर्निया की थैली को देखेंगे, जिसमें आंत जमी होगी और इसे वापस पेट में डाल देंगे। जरूरत पड़ने पर पेट की दीवार को ढकने के लिए धागों के मैश को पेट में रखा जा सकता है 
  •  सर्जरी के बाद छोटे कट को टांकों व टेप से सिल दिया जाएगा

लेप्रोस्कोपिक प्रकिया के ओपन प्रक्रिया की तुलना में कुछ फायदे हैं जो कि इस प्रकार से हैं -

  • इसमें छोटे चीरे लगाए जाते हैं
  • इसमें सर्जरी के बाद दर्द कम होता है
  • इससे ठीक होने में अधिक समय नहीं लगता है

सर्जरी के बाद डॉक्टर आपकी नब्ज, रक्तचाप और सांस की जांच करेंगे। आपको तब तक रिकवरी रूम में रहने को कहा जाएगा, जब तक आपके शरीर से एनेस्थीसिया का प्रभाव कम नहीं हो जाता।

अधिकतर मामलों में व्यक्ति को सर्जरी के दिन ही डिस्चार्ज कर दिया जाता है। हालांकि, बड़े हर्निया की सर्जरी में मरीज को कुछ दिनों तक अस्पताल में रहना पड़ सकता है।

प्रक्रिया के बाद आपको एक रिकवरी रूम में ले जाया जाएगा। अस्पताल स्टाफ आपकी शारीरिक स्थिति की निगरानी करेंगे, जिसमें आपके श्वास, हृदय दर और रक्तचाप परिक्षण शामिल होंगे। ज्यादातर अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी आउट पेशेंट (outpatient; आप सर्जरी के दिन घर जाने में सक्षम होंगे) के आधार पर की जाती हैं।

आपका डॉक्टर आपको दर्द के लिए दवाइयां और आपके टांकों को सूखा रखने के लिए निर्देश देगा। वे आपकी चिकित्सा का आकलन करने के लिए कुछ हफ्तों के भीतर ही फॉलो-आप अपॉइंटमेंट का समय निर्धारित करेंगे। भविष्य में अम्बिलिकल हर्निया के पुनः होने की आशंका हो सकती है, परन्तु यह काफी दुर्लभ है।

अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद आपको निम्न बातों का ध्यान रखना होगा -

  • सर्जन के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार पट्टी करें
  • जब तक कि टांकें खुल न जाएं बाथटब में न नहाएं
  • यदि आपको कब्ज हो जाती है तो आपको मल त्यागते समय घाव पर बाहरी दबाव महसूस होने के कारण दर्द हो सकता है। इसलिए कोशिश करें कि आपको कब्ज ना हो और अधिक से अधिक द्रव व पानी पिएं
  • पर्याप्त मात्रा में फल और सब्जियां खाएं। साथ ही फाइबर युक्त आहार खाएं 
  • ढीले वस्त्र पहनें
  • सर्जरी के एक से दो हफ्ते बाद आप हल्का-फुल्का व्यायाम करना शुरू कर सकते हैं
  • चलना और अन्य व्यायाम से घाव को ठीक होने में मदद मिलेगी
  • सर्जरी के चार से छह हफ्ते बाद तक किसी भी भारी व्यायाम को न करें। भारी सामन न उठाएं
  • यदि आपके बच्चे की यह सर्जरी हुई है तो कोशिश करें कि वह कम से कम एक हफ्ते तक स्कूल न जाए और उसे ठीक होने का समय दें
  • आपके बच्चे को स्कूल जाने के दो हफ्ते बाद तक किसी भी तरह के स्पोर्ट्स में भाग नहीं लेना है
  • जिन वयस्कों की सर्जरी हुई है वे एक से दो हफ्ते बाद ऑफिस जा सकते हैं , जो व्यक्ति लेबर का काम करते हैं उन्हें ठीक होने के लिए अधिक समय की छुट्टी लेनी होगी

डॉक्टर के पास कब जाएं

यदि आपको या आपके बच्चे को निम्न में से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं -

  • तेज बुखार  (99oF से अधिक)
  • कंपकंपी
  • ब्लीडिंग
  • सर्जरी के स्थान पर लालिमा
  • दर्द जो दवाओं के बावजूद भी ठीक न हो
  • पेट में दर्द
  • लगातार उल्टीदस्त
  • पेशाब करने में तकलीफ
  • सर्जरी के स्थान से स्त्राव आना या बदबू आना
  • तीन दिन तक मल न त्यागना

अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी के जोखिम कम हैं। हालांकि, यदि आपको कोई अन्य गंभीर समस्या है, तो जटिलताएं हो सकती हैं। अगर आप बीमारी के कारण किसी जोखिम को लेकर चिंतित हैं तो अपने चिकिसक से सलाह करें।

अन्य दुर्लभ जोखिम निम्न हो सकते हैं -

  1. एनेस्थिसिया के प्रति एलर्जिक प्रतिक्रिया
  2. खून के थक्के
  3. संक्रमण
  4. छोटी आंत में क्षति

हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने से पहले डॉक्टर आपको भविष्य में होने वाली अपॉइंटमेंट के बारे में बता देंगे।

और पढ़ें ...

References

  1. Carlo WA, Ambalavanan N. The umbilicus. In: Kliegman RM, Stanton BF, St. Geme JF, Schor NF, eds. Nelson Textbook of Pediatrics. 20th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2016:chap 105.
  2. Blair LJ, Kercher KW. Umbilical hernia repair. In: Rosen MJ, ed. Atlas of Abdominal Wall Reconstruction. 2nd ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2017:chap 20.
  3. Townsend CM Jr, Beauchamp RD, Evers BM, Mattox KL, eds. Sabiston Textbook of Surgery. 20th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2017:chap 14, 44.
  4. American College of Surgeons [Internet]. Illinois. US; https://www.facs.org/~/media/files/education/patient%20ed/adultumbilical.ashx
  5. National Health Service [internet]. UK; Umbilical hernia repair
  6. Johns Hopkins Medicine [Internet]. The Johns Hopkins University, The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System; Umbilical Hernia
  7. MedlinePlus Medical Encyclopedia [Internet]. US National Library of Medicine. Bethesda. Maryland. USA; Umbilical hernia repair - series—Indications
  8. Coste AH, Jaafar S, Parmely JD. Umbilical Hernia. [Updated 2019 Nov 24]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan
  9. National Cancer Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; NCI Dictionary of Cancer Terms
  10. Cohen NH. Perioperative management. In: Miller RD, ed. Miller's Anesthesia. 8th ed. Philadelphia, PA: Elsevier Saunders; 2015:chap 3.
  11. Australian Society of Anaesthetists [Internet]. Sydney. Australia; Possible complications
  12. UC San Diego Health [Internet]. University of California San Diego. California. US; Hernia Repair Surgery
  13. Health direct [internet]: Department of Health: Australian government; Paraumbilical and umbilical hernia repair
ऐप पर पढ़ें