myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

एब्सोल्यूट बेसोफिल काउंट (एबीसी) टेस्ट क्या है?

एब्सोल्यूट बेसोफिल काउंट आपके रक्त में बेसोफिल की जांच करने के लिए किया जाता है। बेसोफिल सफ़ेद रक्त कोशिका का एक प्रकार है जो कि हड्डियों में मौजूद नरम ऊतक (बोन मेरो) में बनता है। ये शरीर को कुछ एलर्जिक विकारों और परजीवी संक्रमणों से बचाने का काम करता है।

जब भी आपको चोट लगती है या कोई भी संक्रमण होता है तो इससे बेसोफिल सक्रिय हो जाते हैं, जिससे हिस्टामिन जैसे केमिकल स्त्रावित होने लगते हैं। हिस्टामिन एलर्जी, संक्रमण, सूजन व लालिमा के लक्षणों को विकसित करने का काम करता है।

इसके अलावा, बेसोफिल रक्त के थक्के जमने से भी रोकता है क्योंकि इसमें हेपरिन नामक एंटीकोआग्युलेंट होता है। इसीलिए बेसोफिल काउंट को लंबे समय से हुई सूजन व लालिमा के शोध के समय प्रयोग किया जा सकता है, क्योंकि सूजन की प्रतिक्रिया में बेसोफिल की संख्या सबसे अधिक होती है।

  1. एबीसी टेस्ट क्यों किया जाता है - ABC Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. एबीसी टेस्ट से पहले - ABC Test Se Pahle
  3. एबीसी टेस्ट के दौरान - ABC Test Ke Dauran
  4. एबीसी टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - ABC Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

एबीसी टेस्ट क्यों किया जाता है?

आमतौर पर बेसोफिल काउंट डब्ल्यूबीसी काउंट के एक भाग के रूप में किया जाता है। एब्सोल्यूट बेसोफिल काउंट की सलाह डॉक्टर निम्न स्थितियों में दे सकते हैं:

  • एलर्जी के प्रति प्रतिक्रिया 
  • बोन मेरो कैंसर 
  • मायलोप्रोलाइफरेटिव डिसॉर्डर
  • चेचक 
  • कोलेजन वैस्कुलर डिजीज

यह टेस्ट करवाने की सलाह हाइपोथायरायडिज्म या हाइपरथायरायडिज्म के लक्षण दिखाई देने पर भी दी जा सकती है जैसे -

एबीसी टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

जब तक डॉक्टर की सलाह न हो तब तक इस टेस्ट के लिए किसी भी तैयारी की जरूरत नहीं होती।

 

एबीसी टेस्ट कैसे किया जाता है?

इस टेस्ट के लिए डॉक्टर आपकी बांह की नस में सुई लगाकर ब्लड सैंपल ले लेंगे। 

इस टेस्ट के बाद आपको सुई लगी जगह पर थोड़े समय के लिए नील पड़ सकता है या अन्य तकलीफ हो सकती है।

इस टेस्ट से जुड़े कुछ जोखिम निम्न हैं:

एबीसी टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सामान्य परिणाम -

एब्सोल्यूट बेसोफिल काउंट के लिए सामान्य रेंज 15-100 सेल/क्यूबिक मिलीलीटर है।

असामान्य परिणाम:
बेसोफिल की सामान्य से अधिक वैल्यू निम्न की ओर संकेत कर सकती हैं:

  • संक्रमण जैसे चेचक
  • मायलोप्रोलाइफरेटिव विकार (कई समस्याओं का एक समूह जिसमें बोन मेरो में अत्यधिक मात्रा में सफ़ेद रक्त कोशिकाएं, लाल रक्त कोशिकाएं और प्लेटलेट बनने लगते हैं। 
  • एलर्जी की प्रतिक्रिया
  • सप्लीन हटाने की सर्जरी
  • क्रोनिक मायलोजीनस ल्यूकेमिया (रक्त कैंसर का एक प्रकार)
  • हाइपोथायरायडिज्म
  • एंटी-थायराइड दवाएं या एस्ट्रोजन लेना

सामान्य से कम वैल्यू निम्न के कारण हो सकती है:

  • गंभीर चोट
  • तीव्र संक्रमण
  • हाइपरथायरायडिज्म
  • रेडिएशन का ट्रीटमेंट
  • तीव्र एलर्जिक प्रतिक्रिया
  • कॉर्टिकोस्टेरॉयड जैसी दवाएं लेना या कीमोथेरेपी

इस टेस्ट की संदर्भ वैल्यू हर लैब में अलग-अलग आ सकती है। इसीलिए परिणामों की सटीक जानकारी के लिए अपनी रिपोर्ट्स डॉक्टर को दिखाएं।

और पढ़ें ...

References

  1. Borzova E, Dahinden CA. The absolute basophil count. Methods Mol Biol. 2014;1192:87-100. doi: 10.1007/978-1-4939-1173-8_7. PMID: 25149486.
  2. Siracusa MC1, Kim BS, Spergel JM, Artis D. Basophils and allergic inflammation. J Allergy Clin Immunol. 2013 Oct;132(4):789-801; quiz 788. doi: 10.1016/j.jaci.2013.07.046.
  3. Fischbach FT. Manual of Laboratory and Diagnostic Tests. 7th ed. 2003. Lippincott Williams & Wilkins Publishers. Pp 42-44.
  4. Wilson D, Manual of Laboratory & Diagnostic Tests, 2008. The Mc Graw Hills companies Inc., Pp 628.
  5. Stone KD, Prussin C, Metcalfe DD. IgE, mast cells, basophils, and eosinophils. J Allergy Clin Immunol. 2010 Feb;125(2 Suppl 2):S73-80. doi: 10.1016/j.jaci.2009.11.017.
  6. K Mukai, SJ Galli. Basophils. © 2013 John Wiley & Sons. Published online: 13 June 2013. Doi: 10.1002/9780470015902.a0001120.pub3
  7. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Blood differential test
  8. Cleveland Clinic. [Internet]. Cleveland. Ohio. Thyroid Disease
  9. National Heart, Lung, and Blood Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Blood Tests
  10. The Ohio State University: Center for Clinical and Translational Science [Internet]. Procedures/Risks: blood draws, IV lines, vitals_template
  11. Wilson DD. Manual of Laboratory and Diagnostic Tests. McGraw-Hill. 2008. Pp 629.
  12. Chernecky CC, Berger BJ (2013). Laboratory Tests and Diagnostic Procedures, 6th ed. St. Louis: Saunders.
  13. UFHealth [internet]: University of Florida; CBC blood test
ऐप पर पढ़ें