परजीवी संक्रमण - Parasitic Infections in Hindi

Dr. Ajay Mohan (AIIMS)MBBS

July 11, 2017

February 19, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
परजीवी संक्रमण
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

परजीवी वो जीव होते हैं जो कि जीवित रहने के लिए अन्य जीवों पर निर्भर रहते हैं। कुछ परजीवी प्रभावित नहीं करते हैं, इसलिए उन्हें नोटिस नहीं किया जा सकता है। वहीं, कई तेजी से बढ़ते हैं, पनपते हैं और अंग प्रणाली को नुकसान पहुंचाकर लोगों को बीमार बना देते हैं।

परजीवी संक्रमण दुनिया के उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय हिस्सों में एक बड़ी समस्या है। यदि सबसे घातक परजीवी रोगों की बात करें तो मलेरिया इनमें से एक है। भारत में पाए जाने वाले सामान्य परजीवी संक्रमण में शामिल हैं : एकानोकोकोसिस / हाइडैटिडोसिस (echinococcosis/hydatidosis), न्यूरोसिस्टीकरकोसिस (neurocysticercosis), क्रिप्टोस्पोरिडिओसिस (cryptosporidiosis), टोक्सोप्लाज्मोसिस (toxoplasmosis)

(और पढ़ें - मलेरिया होने पर क्या करें)

परजीवी संक्रमण के लक्षण क्या हैं? - Parasites infection symptoms in Hindi

परजीवी शरीर के लगभग किसी भी हिस्से में संक्रमण पैदा कर सकते हैं। जीव और संक्रमण के स्थान के अनुसार परजीवी संक्रमण के संकेत और लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं, जिसमें निम्नलिखित शामिल हैं :

(और पढ़ें - दस्त रोकने के घरेलू उपाय)

परजीवी संक्रमण का कारण क्या है? - Parasites infection causes in Hindi

परजीवी संक्रमण के कारणों में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं :

  • कुछ परजीवी जो संक्रमण का कारण बनते हैं उनमें प्रोटोजोआ (एकल-कोशिका वाले जीव) और हेलमन्थ्स (कीड़े) शामिल हैं।
  • परजीवी विभिन्न रास्तों के जरिये शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। यह ज्यादातर दूषित भोजन या पानी का सेवन करने से व्यक्ति को बीमार और संक्रमित करते हैं।
  • संक्रमित व्यक्ति के साथ यौन संपर्क बनाने से भी यह परजीवी शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। (और पढ़ें - यौन संचारित रोग का इलाज)
  • संक्रमित खून और दूषित कपड़ों या संक्रमित घरेलू चीजों को साझा करने से भी यह संक्रमण हो सकता है।
  • गंदगी, भीड़भाड़ वाले स्थानों और ग्रामीण इलाकों में यह संक्रमण अधिक आम हैं। (और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण के लक्षण)
  • अविकसित देशों के प्रवासियों और लगातार यात्रा करने वालों को इस संक्रमण का जोखिम रहता है।
  • मच्छर और अन्य कीड़े भी मनुष्यों में इन रोगों को प्रसारित कर सकते हैं, जैसा कि मलेरिया में होता है।
  • कुछ अन्य स्थितियों के कारण कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों में संक्रमण विकसित होने का अधिक खतरा होता है। इन स्थितियों में शामिल हैं कैंसर, एचआईवी और मधुमेह

(और पढ़ें - डायबिटीज में परहेज)

परजीवी संक्रमण का इलाज और निदान - Parasites infection diagnosis and treatment in Hindi

परजीवी संक्रमण का निदान निम्न तरीकों से किया जा सकता है -

  • जब आपके शरीर में संक्रमण होता है, तो ऐसे में ब्लड टेस्ट के जरिये रक्त कोशिकाओं की संख्या में बदलाव या अन्य किसी संक्रमण का पता लगाया जा सकता है।
  • पेशाब और मल का नमूना लेकर उसे माइक्रोस्कोप में जांचा जाता है, ताकि परजीवी का पता चल सके।
  • आंतरिक अंगों या ऊतकों को यदि नुकसान हुआ है तो ऐसे में इमेजिंग टेस्ट किए जाते हैं, जिसमें एक्स-रे, सीटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड और एमआरआई शामिल हैं।
  • जठरांत्र संबंधी मार्ग के स्वास्थ्य की जांच करने के लिए एंडोस्कोपी या कोलोनोस्कोपी किया जा सकता है। एंडोस्कोपी का मतलब एक लंबे, पतले ट्यूब से है, जिसे शरीर में अंदर डालकर आंतरिक अंगों या ऊतकों का निरीक्षण किया जाता है।

परजीवी संक्रमण के इलाज के लिए प्राथमिक रूप से यह दवाइयां दी जाती हैं :

  • परजीवी को खत्म करने के लिए विशिष्ट एंटीमाइक्रोबायल्स निर्धारित हैं। इस दवा का प्रकार उस जीव पर निर्भर करता है जो संक्रमण का कारण बनता है।
  • यदि शरीर में पानी की कमी के साथ गंभीर रूप से कमजोरी है, तो ​फ्लूइड रिप्लेसमेंट की जरूरत होती है।
  • इसके अलावा संक्रमण वाले लोगों को अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने और स्वच्छ वातावरण में तैयार किए गए भोजन का सेवन करने की सलाह दी जाती है। (और पढ़ें - कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय)


संदर्भ

  1. Norman FF et al. Parasitic infections in travelers and immigrants: part I protozoa. Future Microbiol. 2015;10(1):69-86. PMID: 25598338
  2. Cambridge University Press [Internet]; United Kingdom. Parasitic infections in relation to practices and knowledge in a rural village in Northern Thailand with emphasis on fish-borne trematode infection.
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Parasitic Diseases.
  4. Varki A et al. Parasitic Infections. Essentials of Glycobiology. 2nd edition. Cold Spring Harbor (NY): Cold Spring Harbor Laboratory Press; 2009. Chapter 40.
  5. National Institutes of Health; [Internet]. U.S. National Library of Medicine. Parasitic Infections of the Gastrointestinal Tract.

परजीवी संक्रमण के डॉक्टर

Dr. Arun R Dr. Arun R संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव
Dr. Neha Gupta Dr. Neha Gupta संक्रामक रोग
16 वर्षों का अनुभव
Dr. Lalit Shishara Dr. Lalit Shishara संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव
Dr. Alok Mishra Dr. Alok Mishra संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

परजीवी संक्रमण की दवा - Medicines for Parasitic Infections in Hindi

परजीवी संक्रमण के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹147.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹14.64

20% छूट + 5% कैशबैक


₹65.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹90.3

20% छूट + 5% कैशबैक


₹9.2

20% छूट + 5% कैशबैक


₹18.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹17.75

20% छूट + 5% कैशबैक


₹41.3

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 629 entries

परजीवी संक्रमण की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Parasitic Infections in Hindi

परजीवी संक्रमण के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹999.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹88.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹101.65

20% छूट + 5% कैशबैक


₹76.0

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 0 of 4 entries