myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हेपेटाइटिस बी सरफेस एंटीजन (एचबीएसएजी) टेस्ट क्या है?

एचबीएसएजी टेस्ट यह बताता है कि व्यक्ति को काफी पहले से या हाल ही में हेपेटाइटिस बी वायरस (एचबीवी) का संक्रमण हुआ है या नहीं। एचबीवी की सतह पर कुछ विशेष एंटीजन (प्रोटीन) होते हैं जो कि हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को एंटीबॉडीज बनाने के लिए उत्तेजित करते हैं। टेस्ट करने पर एचबीवी की उपस्थिति मिलना एचबीवी इन्फेक्शन के सबसे शुरुआती संकेतों में एक है। संक्रमण के कुछ दिन बाद ही व्यक्ति का टेस्ट पॉजिटिव आ जाता है। आमतौर पर शरीर वायरस को छह महीने में अपने अंदर से हटा देता है। हालांकि, अगर कभी-कभी शरीर ऐसा नहीं कर पाता, खासतौर से बच्चों में, तो ये संक्रमण लम्बे समय तक शरीर में रह सकता है जिस स्तिथि में एचबीएसएजी का टेस्ट पॉजिटिव आता है।

अगर इसका इलाज न किया जाए तो एचबीवी संक्रमण गंभीर रूप से लिवर में सूजन और क्षति, सिरोसिस या लिवर कैंसर जैसी स्थितियां पैदा कर सकता है। इस संक्रमण से संपर्क में आने के बाद बीमारी के लक्षण पैदा होने की अवधि 6 से 23 सप्ताह की होती है। यह संक्रमण शारीरिक संबंध बनाने, संक्रमित सुई का प्रयोग करने, शरीर द्वारा निकले किसी भी स्त्राव से फैल सकता है या इनके अलावा माँ द्वारा बच्चे में भी जा सकता है।

यह टेस्ट एक स्क्रीनिंग टेस्ट है जो कि हेपेटाइटिस बी के संक्रमण का पता लगाने या हेपेटाइटिस के इलाज पर नजर रखने के लिए किया जाता है।

  1. एचबीएसएजी टेस्ट क्यों किया जाता है - HBsAg Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. एचबीएसएजी टेस्ट से पहले - HBsAg Test Se Pahle
  3. एचबीएसएजी टेस्ट के दौरान - HBsAg Test Ke Dauran
  4. एचबीएसएजी टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - HBsAg Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

एचबीएसएजी टेस्ट किसलिए किया जाता है?

एचबीएसएजी टेस्ट की सलाह आमतौर पर तब दी जाती है जब डॉक्टर को मरीज के शरीर में हेपेटाइटिस होने का संदेह हो। बहुत से लोगों के शरीर में कोई संक्रमण दिखाई नहीं देते या बहुत ही कम फ्लू जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं। 

आमतौर पर संक्रमण की शुरुआती अवस्था में लक्षण दिखाई नहीं देते। हेपेटाइटिस के लक्षण क्रोनिक डिजीज या गंभीर स्थितियों में दिखाई देते हैं। 

एचबीवी संक्रमण के सामान्य लक्षण निम्न हैं:

एचबीएसएजी टेस्ट की सलाह निम्न में भी दी जा सकती है:

  • यदि आपको या आपके परिवार के किसी करीबी रिश्तेदार को पहले कभी लिवर रोग, सिरोसिस या लिवर कैंसर हुआ है 
  • लिवर के असाधारण रूप से कार्य करने का कारण जानने के लिए 
  • यदि आपके परिवार में किसी को हेपेटाइटिस बी है या आपके किसी ऐसे व्यक्ति के साथ संबंध है जो कि एचबीवी से संक्रमित है 
  • हेल्थ केयर कर्मचारियों जैसे डॉक्टर व नर्स और हेल्थ केयर स्टाफ जो कि रक्त या शरीर के अन्य द्रवों के सम्पर्क में आते हैं। 
  • रक्त आधान (रक्त चढ़ाना) , सर्जरी या ऑर्गन ट्रांसप्लांट से पहले 
  • ड्रग्स की लत वाले लोगों में या जो लोग दूसरों की सिरिंज और सुई का भी प्रयोग करते हैं 
  • जिन बच्चों की माँ एचबीएसएजी पॉजिटिव होती है उनका भी टेस्ट किया जाता है 
  • जिन व्यस्कों को एचबीवी का टीका या वैक्सीन नहीं मिली होती 
  • उन महिलाओं का जो गर्भवती महिलाओं हैं
  • यह टेस्ट उन लोगों का भी किया जाता है जो ऐसे देश या क्षेत्र में पैदा हुए हैं जहां ये वायरस अत्यधिक फैला हुआ है 
  • यदि आप कई लोगों के साथ शारीरिक संबंध बनाते हैं
  • जो लोग ह्यूमन इम्यूनोडेफिशियेंसी वायरस या हेपेटाइटिस सी से संक्रमित होते हैं या जो इन दोनों से संक्रमित होते हैं।

एचबीएसएजी टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

यह एक सामान्य टेस्ट है, जिसका इलाज करवाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

 

एचबीएसएजी टेस्ट कैसे किया जाता है?

यह एक सामान्य टेस्ट है जिसके लिए ब्लड सैंपल लेने की जरुरत होती है। ब्लड सैंपल बांह की नस में सुई लगाकर लिया जाता है। रक्त की 5-10 mL मात्रा पर्याप्त होती है। इस टेस्ट के साथ कुछ जोखिम जुड़े हुए हैं जो हमेशा नहीं होते जैसे सुई लगने से दर्द होना, चक्कर आना, नील पड़ना या इंजेक्शन वाली जगह पर संक्रमण होना।

एचबीएसएजी टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

एचबीएसएजी टेस्ट के परिणाम को अन्य एचबीवी-विशेष एंटीजन या एंटीबॉडीज से जोड़ कर देखा जा सकता है जैसे एंटी-हेपेटाइटिस बी कोर एंटीबॉडी (एचबीसी), इम्युनोग्लोबुलिन एम (आईजीएम) एंटी-एचबीसी, हेपेटाइटिस बी इ एंटीजन (एचबीएइ)। इस टेस्ट के परिणाम क्रोनिक इन्फेक्शन, पिछले संक्रमण के कारण रोग-प्रतिरोधक क्षमता की स्थिति, वैक्सीनेशन या संक्रमण के होने की सम्भावना के बारे में जानकारी देते हैं। 

वायरल लोड या वायरस के बढ़ने (एचबीवी-डीएनए) का पता लगाने के लिए अन्य टेस्ट भी किए जा सकते हैं। 

सामान्य परिणाम: 
एचबी एंटीजन लेवल: <1 सिग्नल प्रति कटऑफ [s/c] का मतलब है कि परिणाम नेगेटिव यानि सामान्य है।

असामान्य परिणाम:
>1 s/c के स्तर को पॉजिटिव या असामान्य माना जाता है।

यदि किसी व्यक्ति को गंभीर (एक्यूट) और क्रोनिक (दीर्घकालिक) संक्रमण है, उसके शरीर में संक्रमण है लेकिन लक्षण मौजूद नहीं है या फिर वह पूरी तरह से संक्रमित है तो ऐसी स्थितियों में एबीएसएजी का रिजल्ट पॉजिटिव आता है।

एचबीएसएजी का पता वायरस के संपर्क में आने के 1-9 सप्ताह में लगाया जा सकता है।

एचबीएसएजी और एचबीवी डीएनए के वायरस का जिस समय में पता चलता है वो अलग हो सकता है। संक्रमण दिखने के सात सप्ताह में टेस्ट करवाने पर आधे से ज्यादा लोगों में एचबीएसएजी और एचबीवी डीएनए के परिणाम नेगेटिव ही आएंगे।

जो लोग बिना इलाज किए खुद ही एचबीवी संक्रमण से स्वस्थ हो जाते हैं, उनमें लक्षण होनें के 15 हफ्तों बाद एचबीएसएजी और एचबीवी डीएनए टेस्ट के परिणाम नेगेटिव आएंगे।

और पढ़ें ...

References

  1. Lab tests online. Hepatitis B Testing. American Association for Clinical Chemistry; Washington, D.C., United States [Internet]
  2. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Interpretation of Hepatitis B Serologic Test Results
  3. Bernard Weber et al. Improved Detection of Hepatitis B Virus Surface Antigen by a New Rapid Automated Assay . J Clin Microbiol. 1999 Aug; 37(8): 2639–2647. PMID: 10405414
  4. Hepatitis B foundation. Understanding Your Hepatitis B Test Results. Doylestown, USA. [internet]
  5. Mel Krajden et al. The laboratory diagnosis of hepatitis B virus . Can J Infect Dis Med Microbiol. 2005 Mar-Apr; 16(2): 65–72. PMID: 18159530