myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

केले का मिल्क शेक लगभग हर कोई पसंद करता है, चाहे आप किसी भी उम्र के हों, आपको इसका स्वाद बहुत भाता है। हालांकि कुछ लोग सोचते हैं कि यह मीठा है इसलिए यह अस्वस्थ आहार है। इसलिए इसका उपयोग करने वालों की संख्या अपेक्षाकृत कम है।

केला मिल्क शेक मूल रूप से दूध में केले का मिश्रण होता है - दो साधारण तत्व जिनमें से कोई भी अपने आप में अस्वस्थ नहीं है। केले में ना के बराबर वसा होता है। दूसरी और दूध एक डेयरी उत्पाद है जिसके सेवन से पेट के फैट के भंडारण को कम करने में मदद मिलती है. दोनों ही रक्त प्रवाह में अनावश्यक चीनी नहीं छोड़ते हैं।

वास्तव में केले का मिल्क शेक व्हे प्रोटीन के साथ मिलाकर कसरत के बाद लिया जाता है क्योंकि यह संतुलित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन प्रदान करता है जो मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इन लाभों के अलावा केले और दूध का मिश्रण प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, विटामिन और खनिज प्रदान करता है जो निश्चित रूप से वसा नहीं बनाते हैं। प्रोटीन मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करता है, विटामिन और खनिज मेटाबोलिक दर में वृद्धि और शरीर को अधिक कुशलतापूर्वक कार्य करने में मदद करते हैं और फाइबर आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगने देता है और धमनी से पट्टिका (plaque) को साफ करने में मदद करता है। दूध से वसा पोषक तत्व अवशोषण में सुधार करता है।

  1. केला और दूध में कैलोरी की मात्रा
  2. केले के स्वास्थ्य लाभ
  3. दूध के स्वास्थ्य लाभ
  4. रेसिपी

यदि आप केला और दूध के कैलोरी के बारे में चिंतित हैं तो हम आपको बता दें कि एक केले में लगभग 100 कैलोरी है और 1 गिलास कम वसा वाले दूध में 60-80 कैलोरी होती है। इसलिए एक सादा केला मिल्क शेक में लगभग 160-180 कैलोरी होगा। यह कैलोरी एक पैकेट चिप्स (लगभग 600 कैलोरी) के मुकाबले तो कुछ भी नहीं हैं।

यदि आप चीनी, आइसक्रीम, अस्वस्थ मिठाई सिरप और एक्स्ट्रा फ्लेवर वाले मसाले (जिनमें बहुत कैलोरीज होती हैं) डाल कर केला मिल्क शेक बनाते हैं तो यह आपके लिए अस्वस्थ होता है और आपके मोटा का कारण बन सकता है। साधारण केला मिल्क शेक आपके लिए बहुत लाभदायक होता है और आपके शरीर में किसी भी अनावश्यक वसा को नहीं जोड़ता है।

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए कितना पानी पीना चाहिए)

केला कार्बोहाइड्रेट का एक स्वस्थ स्रोत है और हमारे शरीर को ऊर्जा उत्पन्न करने में मदद करता है।

केला पोटेशियम और मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है और सर्वोत्तम इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस के साथ हड्डी को स्वस्थ बनाता है साथ-साथ रक्तचाप को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है।

केला घुलनशील फाइबर और लस (pectin) से समृद्ध है जो स्वस्थ पाचन में मदद करता है और कब्ज जैसी समस्या से छुटकारा दिलाता है। 

(और पढ़ें - कब्ज के लक्षण)

दूध में बहुत अधिक कैल्शियम की मात्रा होती है जो हड्डियों के घनत्व को बनाए रखने में मदद करता है।

दूध में पाया जाने वाला फास्फोरस शरीर की कोशिकाओं में ऊर्जा उत्पन्न करता है और हड्डियों को मजबूत बनाता है।

दूध में पोटेशियम है जो मांसपेशियों की गतिविधि और संकुचन (contractions) के लिए आवश्यक है।

(और पढ़ें –थकान दूर करने और ताकत के लिए क्या खाएं)

दूध में विटामिन ए पाया जाता है जो सेल की वृद्धि को नियंत्रित करता है, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है और दृष्टि को सामान्य और त्वचा को स्वस्थ बनाए रखता है।

1 रेसिपी
सामग्री:

  • एक केला
  • एक कप बिना मलाई वाला दूध या एक कप सादा दही
  • तीन बर्फ के टुकड़े
  • एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर या हरी इलायची पाउडर

तरीका:

  • एक ब्लेंडर या मिक्सर में केला, दूध या दही, बर्फ और दालचीनी डाल कर शेक बना लें।
  • अब इस शेक को किसी साफ गिलास में निकाल कर पिएं।
  • पोषण मूल्य (1 गिलास - 250 मिलीलीटर) में 170 कैलोरी, 33 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 9 ग्राम प्रोटीन, 0.7 ग्राम फैट, 170 मिलीग्राम फास्फोरस और 200 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।

2 रेसिपी
सामग्री:

  • एक केला
  • एक कप बिना मलाई वाला दूध
  • 8-10 भिगोए हुए बादाम
  • तीन बर्फ के टुकड़े
  • एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर या हरी इलायची पाउडर

तरीका:

  • एक ब्लेंडर या मिक्सर में केला, दूध, बादाम, बर्फ और दालचीनी डाल कर स्मूदी बना लें।
  • अब इस स्मूदी को किसी साफ गिलास में निकाल कर पिएं।
  • पोषण मूल्य (1 गिलास - 250 मिलीलीटर) में 230 कैलोरी, 35 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 12 ग्राम प्रोटीन, 6.7 ग्राम फैट, 220 मिलीग्राम फास्फोरस और 220 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें