myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

गर्मियों में या वर्कआउट करते समय पसीना आना काफी सामान्य है। वास्तव में यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है क्योंकि यह शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है और हमारा शरीर विषाक्त पदार्थों से मुक्त हो जाता है। लेकिन कुछ लोगों को अत्यधिक पसीने आता है जो हार्मोनल असंतुलन और अन्य कई कारणों से हो सकता है।

(और बढ़ें - पसीने और शरीर की बदबू के कारण और दूर करने के घरेलू उपाय)

इसलिए इस समस्या से निपटने के लिए कुछ घरेलू उपायों पर नजर डालें -

  1. ज्यादा पसीना रोकने के उपाय - Remedies for hyperhidrosis in hindi
  2. चेहरे पर पसीना रोकने के उपाय - Face sweating rokne ke upay
  3. हाथों में ज्यादा पसीना रोकने के उपाय - Palms me zyada pasina rokne ke upay
  4. पैर और तलवे में ज्यादा पसीना रोकने के उपाय - Feet aur sole me sweating rokne ke upay
  5. एक्सरसाइज में ज्यादा पसीना आना मतलब ज्यादा फैट लॉस? दूर करें गलतफहमी

पसीना हमारे रोजाना के जीवन का एक अहम हिस्सा है और नैचरल प्रोसेस भी है। शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने का यह शरीर का अपना तरीका है। जब शरीर गर्म होता है तो हमें ज्यादा पसीना आता है। जब यह पसीना रूपी नमी सूख जाती है तो हमारा शरीर ठंडा हो जाता है। बावजूद इसके कुछ लोगों को दूसरों की तुलना में ज्यादा पसीना आता है जिस कारण कई बार उन्हें दूसरों के सामने शर्मिंदगी का भी सामना करना पड़ता है। ऐसी परिस्थिति में आप कुछ बेहद आसान उपायों को अपनाकर ज्यादा पसीना आने की समस्या को रोक सकते हैं:

सोने से पहले एंटीपर्सपिरेंट यूज करें
एंटीपर्सपिरेंट, पसीने की नलिका को ब्लॉक करने का काम करता है जिस कारण पसीना हमारी स्किन की सतह तक नहीं पहुंच पाता। पसीने की ग्रंथि द्वारा पसीने का निर्माण तो होता है लेकिन वह स्किन की सतह तक नहीं पहुंच पाता। डियोड्रेंट, पसीने निकलने से नहीं रोकता बल्कि पसीना निकलने पर जो बैक्टीरिया पैदा होते उससे आने वाली दुर्गंध को दूर करता है। लिहाजा ऐल्युमिनियम क्लोराइड युक्त एंटीपर्सपिरेंट का इस्तेमाल करें। अपने अंडरआर्म्स को साफ और सूखा रखें और रात में सोने से पहले एंटीपर्सपिरेंट का इस्तेमाल करें। 

(और पढ़ें : रात में ज्यादा पसीना आने की ये हो सकती है वजह)

सही फैब्रिक का चुनाव करें
ज्यादा पसीना आने की समस्या रोकने का एक और बेहद आसान तरीका है कि आप ऐसे कपड़े पहनें जिसका फैब्रिक बेहद हल्का होने के साथ ही ऐसा हो जिससे आपकी स्किन को सांस लेने में दिक्कत महसूस न हो। इसके अलावा हल्के रंग के कपड़े पहनें क्योंकि इस तरह के रंग सूरज की रोशनी को सोखने की बजाए उसे प्रतिबिंबित कर देते हैं। लिहाजा सफेद या हल्के रंग के कपड़े आपको अंदर से ठंडा रखते हैं और पसीना कम आता है।      

मसालेदार खाना और कैफीन से दूर रहें
अगर आप दोस्तों के साथ या बिजनेस लंच के लिए कहीं बाहर जा रहे हैं और आप नहीं चाहते कि आपके ज्यादा पसीने की समस्या की वजह से आपको शर्मिंदगी उठानी पड़े तो बहुत ज्यादा तीखा और मसालेदार खाना खाने से बचें। जैसे ही हम कोई तीखी-मसालेदार चीज खाते हैं तो हमारा शरीर इस गर्मी को दूर कर शरीर को ठंडा करने के लिए पसीना निकलने लगता है। लिहाजा बहुत ज्यादा तीखी और मसालेदार चीजें और साथ में कैफीन का भी सेवन न करें। इससे हमारे हाथ, पैर और अंडरआर्म्स से ज्यादा पसीना आने लगता है।

  1. पसीने का इलाज है वीटग्रास - Wheatgrass For Excessive Sweating in Hindi
  2. पसीने से बचने के उपाय करें ग्रीन टी से - Green Tea For Excessive Sweating in Hindi
  3. अधिक पसीना कम करने का उपाय है टमाटर - Tomato Juice Good For Excessive Sweating in Hindi
  4. अधिक पसीने आने से छुटकारे के लिए खाएं अंगूर - Grapes for Sweating in Hindi
  5. ज्यादा पसीना आना रोकने के उपाय करें नींबू पानी से - Lime Juice to Stops Sweating in Hindi

पसीने का इलाज है वीटग्रास - Wheatgrass For Excessive Sweating in Hindi

वीटग्रास एक औषधीय पौधा है जिसे हिंदी में गेहूं का जवारा कहा जाता है जिससे मानव शरीर को कई फायदे होते हैं। इस पौधे का रस विटामिन और खनिजों से भरपूर है जो आपके शरीर को शांत करने में मदद करता है। अधिक पसीने से राहत के लिए हर रोज एक गिलास वीटग्रास रस पिएं। आप आसानी से अपने बगीचे में इस पौधे को उगा सकते हैं।

पसीने से बचने के उपाय करें ग्रीन टी से - Green Tea For Excessive Sweating in Hindi

ग्रीन टी शरीर के तापमान को बनाए रखने के लिए फायदेमंद होती है। यह पसीने की ग्रंथियों पर रोक लगाकर रखती है। कुछ मिनट के लिए पानी में चाय के पत्तों को उबालकर हरी चाय बनाएं और पी लें। आप इसे ठंडा करके अंडरआर्म्स, घुटनों के पीछे और अन्य क्षेत्र, जहाँ आपको अधिक पसीना आता है, वहाँ लगा सकते हैं।

अधिक पसीना कम करने का उपाय है टमाटर - Tomato Juice Good For Excessive Sweating in Hindi

टमाटर एंटीऑक्सिडेंट्स से समृद्ध होते हैं। टमाटर त्वचा के रोम छिद्रों को कम करने में मदद करते हैं जिससे अत्यधिक पसीना ना आए। हर दिन 2 गिलास टमाटर का रस पिएं।

अधिक पसीने आने से छुटकारे के लिए खाएं अंगूर - Grapes for Sweating in Hindi

अंगूर भी एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होते हैं जो शरीर के तापमान को कम रखने में मदद करते हैं। हर रोज थोड़े से अंगूरो का सेवन करें।

ज्यादा पसीना आना रोकने के उपाय करें नींबू पानी से - Lime Juice to Stops Sweating in Hindi

नींबू और नमक का मिश्रण इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस को बनाए रखने  में मदद करता है क्योंकि पसीने की वजह से हमारे शरीर में नमक की कमी हो जाती है। नींबू और नमक को ठंडे पानी में मिलाकर हर रोज 2-3 गिलास पिएं। 

(और पढ़े - नींबू के छिलकों को रखिए संभाल, इनके फायदे हैं बड़े ही बेमिसाल)

इसलिएअपने शरीर के तापमान को ठंडा रखने के लिए दिन भर पानी, फलों के रस जैसे तरल पदार्थों का सेवन करें। गर्म और मसालेदार भोजन को खाने से बचें। सूती कपड़े पहनें और अत्यधिक धूप में बाहर जाने पर टोपी या स्कार्फ के साथ अपने सिर और चेहरे को कवर करें।

ज्यादा पसीना आने की समस्या को हाइपरहाइड्रोसिस कहते हैं और अगर आपके चेहरे और सिर से ज्यादा पसीना आता हो तो इसे मेडिकल टर्म में क्रैनियोफेशियल हाइपरहाइड्रोसिस कहते हैं। अगर आप बहुत ज्यादा गर्म वातावरण में न हो, स्ट्रेस न ले रहे हों, एक्सरसाइज न कर रहे हों और ज्यादा तीखा खाना भी न खाते हों, फिर भी अगर आपके चेहरे और सिर से नियमित रूप से ज्यादा पसीना आता हो तो यह क्रैनियोफेशियल हाइपरहाइड्रोसिस की समस्या के कारण हो सकता है। ऐसे में इलाज और दवाइयों के अलावा कुछ सामान्य चीजें हैं जिनकी मदद से आप चेहरे पर ज्यादा पसीना आने की समस्या से बच सकते हैं।

  • नियमित रूप से नहाएं ताकि स्किन पर बैक्टीरिया और नमी को कम से कम किया जा सके। साथ ही साथ रात में सोने से पहले और सुबह उठने के बाद एंटीपर्सपिरेंट का इस्तेमाल करें। कई बार एंटीपर्सपिरेंट चेहरे की नाजुक और संवेदनशील त्वचा के लिए इरिटेटिंग हो सकता है। लिहाजा डॉक्टर से पूछकर ही एंटीपर्सपिरेंट का इस्तेमाल करें।
  • अपने बैग, डेस्क, कार या पॉकेट में हमेशा एक साफ और सोखने वाला रूमाल या छोटा तौलिया साथ में रखें ताकि आप चेहरे पर आने वाले अतिरिक्त पसीने को पोंछ सकें। इसके अलावा प्लेन बिना सेंट वाले फेस पाउडर का इस्तेमाल करें जो चेहरे पर मौजूद पसीने और नमी को सोख पाए।
  • बहुत ज्यादा गर्म वातावरण में जाने या बहुत ज्यादा टाइट या गर्म फैब्रिक के कपड़े पहनने से बचें। जहां तक संभव हो ऐसे फैब्रिक से बने कपड़े पहनें जिससे आपकी स्किन अच्छे से सांस ले पाए।
  • शरीर को हाइड्रेटेड रखना भी जरूरी है। दिनभर में खूब सारा पानी पिएं और जहां तक संभव हो कैफीन और तली-भुनी, मसालेदार तीखी खाने-पीने की चीजों से दूर ही रहें। कई बार एक बार में बहुत ज्यादा खाना खा लेने से भी पसीना आने लगता है। लिहाजा छोटे-छोटे मील्स का सेवन करें। (और पढ़ें : खाली पेट पानी पीने के 9 बड़े फायदे)
  • आप चाहें तो हाथ में एक छोटा सा क्लिप-ऑन पंखा साथ में रख सकते हैं ताकि आप अपने चेहरे को सूखा हुआ और ठंडा बनाए रखें।

अगर किसी व्यक्ति को हाइपरहाइड्रोसिस की समस्या हो तो उनके ओवरऐक्टिव पसीने की ग्रंथि की वजह से उस व्यक्ति को बहुत ज्यादा पसीना आने लगता है। इस समस्या का घर के अंदर या बाहर के तापमान या व्यक्ति की शारीरिक गतिविधियों से कोई लेना देना नहीं है। हाइपरहाइड्रोसिस होने पर हाथों से ज्यादा पसीना आता ही है। इसके लिए आप डॉक्टर को दिखाने और दवा लेने के साथ-साथ कुछ घरेलू नुस्खों को भी अपना सकते हैं:

बेकिंग सोडा
हाथों में पसीने की समस्या को रोकने का असरदार और कम खर्च वाला तरीका है बेकिंग सोडा। चूंकि बेकिंग सोडा ऐल्कलाइन होता है इसलिए यह पसीने को कम करने और तुरंत हटाने में भी मदद करता है। इसके लिए 2-3 चम्मच बेकिंग सोडा को पानी में मिलाएं और पेस्ट जैसा बना लें। इस पेस्ट को हथेलियों पर लगाएं और 5 मिनट तक लगा रहने दें, फिर हाथों को अच्छे से वॉश कर लें। आप देखेंगे कि हथेलियों से पसीना आने की समस्या कम हो जाएगी।

(और पढ़ें : बेकिंग सोडा कर सकता है मुंहासों का इलाज)

सेब का सिरका (ऐपल साइडर विनिगर)
अगर आपको हाइपरहाइड्रोसिस की समस्या हो तो ऑर्गैनिक ऐपल साइडर विनिगर आपके पसीने से भरी हथेलियों की समस्या को दूर करने में मदद कर सकता है। यह विनिगर शरीर के पीएच लेवल को संतुलित करने में मदद करता है। हथेली पर सेब का सिरका लगाएं और रात भर लगा रहने दें। आप चाहें तो रोजाना 2 चम्मच सेब के सिरके को डेली डाइट में शामिल करें। आप इसे शहद, पानी या फ्रूट जूस के साथ मिलाकर पी सकते हैं। 

तेजपत्ता
तेजपत्ता को अपने खाने में शामिल करें या फिर तेजपत्ता की चाय पिएं। इससे भी हाथ और हथेलियों से पसीना आने की समस्या दूर करने में मदद मिल सकती है। तेजपत्ता में ऐस्ट्रिन्जेंट प्रॉपर्टी होती है जो त्वचा के अतिरिक्त तेल को सोखकर ज्यादा पसीना आने की समस्या को दूर करता है। साथ ही इससे पसीने से आने वाली बदबू दूर करने में भी मदद मिलती है। आप चाहें तो मुट्ठी भर तेजपत्ते को पानी में डालें और फिर अपनी हथेलियों को इस पानी में करीब 20 मिनट तक भिगोकर रखें।

पैर और तलवे से थोड़ा बहुत पसीना आना सामान्य सी बात है लेकिन अगर बहुत ज्यादा पसीना आता हो तो यह हाइपरहाइड्रोसिस का एक कारण हो सकता है। कई बार पैरों में बहुत ज्यादा पसीना आने की वजह से सेहत से जुड़ी कई और समस्याएं भी होने लगती हैं, जैसे- पैरों से बदबू आना, एथलीट फुट या पैर के नाखून में फंगस लगना आदि। सही जूते और मोजे का चुनाव करना, ज्यादा तीखी या मसालेदार चीजें न खाना, पानी पीते रहना- ये सभी तरीके ज्यादा पसीना आने से रोकने के उपाय हैं। लेकिन इसके अलावा आप कुछ घरेलू तरीकों को भी अपना सकते हैं ताकि आपके पैर पसीना मुक्त रह पाएं।

(और पढ़ें - पैरों की बदबू को ऐसे करें दूर)

पैरों को अच्छी तरह से धोएं
दिनभर में कम से कम 2 बार अपने पैरों को अच्छे से धोएं। इससे न सिर्फ पसीना और बैक्टीरिया की समस्या दूर होती है बल्कि स्किन ठंडी हो जाती है जिससे पसीना कम निकलता है। आप चाहें तो पैर धोने वाले पानी में टी ट्री ऑयल या यूकेलिप्टल ऑयल की कुछ बूदें डाल सकते हैं। पैरों को धोने के बाद अच्छे से सुखा लें खासकर उंगलियों के बीच ताकि बैक्टीरिया को पनपने का मौका न मिले। इसके बाद पैरों में एंटीफंगल पाउडर या थोड़ा सा कॉर्नस्टार्च डाल लें उसके बाद कॉटन मोजे पहनें।

पैरों को ब्लैक टी में डुबोकर रखें
पसीना रोकने में ब्लैक टी भी असरदार साबित हो सकती है। गर्म पानी में ब्लैक टी के 2 टीबैग डालें और उसमें पैरों को डालकर रखें। चाय में मौजूद टैनिन स्किन के रोमछिद्र (पोर्स) को बंद कर देता है जिससे पसीना आने की समस्या कम हो जाती है। ब्लैक टी वाले इस पानी में करीब 20 मिनट तक पैरों को डुबोकर रखें।

रबिंग अल्कोहल लगाएं
पसीने से तुरंत आराम चाहिए तो थोड़ा सा रबिंग अल्कोहल को पैरों में जहां से पसीना ज्यादा आता हो उन हिस्सों पर या उंगलियों के बीच में लगाएं। इससे पैर तुरंत सूख जाएंगे और बदबू की समस्या भी दूर हो जाएगी। हालांकि इस नुस्खे को नियमित रूप से इस्तेमाल न करें क्योंकि रबिंग अल्कोहल की वजह से स्किन बहुत ज्यादा ड्राई हो सकती है जिससे स्किन में खुजली और जलन की समस्या हो सकती है।


अगर ज़्यादा पसीना आने से हैं परेशान, तो अपनाइए ये घरेलू उपाय आसान सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें