myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

पिप्पली या छोटी पीपल या लोंग पेपर अनेक औषधीय गुणों से संपन्न होने के कारण आयुर्वेद की एक प्रमुख दवा है। बहुत से लोग इसे मसाले की सामग्री के रूप में जानते हैं किंतु इसके गुणों के बारे में नहीं जानते हैं।

पिप्पली की कोमल तनों वाली लताऐं 1-2 मीटर तक जमीन पर फैली होती है। इसके गहरे रंग के चिकने पत्ते 2-3 इंच लंबे और 1-3 इंच चौड़े, हृदय के आकार के होते हैं। इसके पुष्पदंड 1-3 इंच और फल 1 इंच से थोड़े से कम या अधिक लंबे शहतूत के आकार के होते हैं। कच्चे फलों का रंग हल्का पीलापन लिए और पकने पर गहरा हरा रंग और उसके बाद काला हो जाता है। इसके फलों को ही छोटी पिप्पली या लोंग पेपर कहा जाता है।

भारत के गर्म क्षेत्रों, केंद्रीय हिमालय से असम, पश्चिम बंगाल की पहाड़ियों, पश्चिमी घाट के सदाहरित जंगलों तक पायी जाती है। पिप्पली की नार्थ-ईस्ट और दक्षिण भारत में खेती भी की जाती है। आयुर्वेद में पिप्पली के कच्चे फलों को औषधीय रूप में प्रयोग करते हैं। यह सूर्य / चंदवा की किरणों के नीचे सूखाकर उपयोग किया जाता है। इसकी रूट सबसे अधिक उपयोग की जाती है।

  1. पिप्पली के फायदे - Pippali ke Fayde in Hindi
  2. पिप्पली के नुकसान - Pippali ke Nuksan in Hindi

पीपली के फायदे मोटापा कम करने के लिए - Pippali for Weight Loss in Hindi

पीपली बेनिफिट्स की बात करें तो यह मोटापा कम करने में सहायक है। पीपली का चूर्ण लगभग आधा ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम शहद के साथ प्रतिदिन 1 महीने तक सेवन करने से मोटापा समाप्त हो जाता है। पीपली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबाल लें और दूध से इसको निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पी लें। इससे आपका मोटापा कम होता है।

(और पढ़ें – अस्थमा से निजात पाने की रेसिपी)

छोटी पीपल के फायदे करें अस्थमा को कम - Pippali for Asthma in Hindi

2 ग्राम पिप्पली या छोटी पीपल को कूटकर 4 कप पानी में उबाले और दो कप रह जाने पर उतार कर छान लें। इस पानी को 2-3 घंटे के अंतर पर थोड़ा-थोड़ा दिन भर पीने से कुछ ही दिनों में सांस फूलने की समस्या कम हो जाएगी।

(और पढ़ें – वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं)

पिप्पली चूर्ण दिलाएँ सिर दर्द में राहत - Pippali for Headache in Hindi

लोंग पेपर या पिप्पली को पानी में पीसकर माथे पर लेप करने से सिर दर्द ठीक होता है। पिप्पली और वच चूर्ण को बराबर मात्रा में लेकर 3 ग्राम की मात्रा में नियमित रूप से दो बार दूध या गर्म पानी के साथ सेवन करने से सिर का दर्द ठीक हो जाता है।

(और पढ़ें – सिर दर्द के घरेलु उपाय)

पिप्पली के गुण दिलाएँ जुखाम से छुटकारा - Long Pepper Fruit for Cold in Hindi

पिप्पली, पीपल मूल, काली मिर्च और सौंठ के समभाग चूर्ण को 2 ग्राम की मात्रा में लेकर शहद के साथ चाटने से जुखाम में लाभ होता है। आधा चम्मच पिप्पली चूर्ण में बराबर मात्रा में भुना हुआ जीरा और थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर छाछ के साथ प्रातः खाली पेट सेवन करने से बवासीर में लाभ होता है।

(और पढ़ें – सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

पिप्पली के फायदे हृदय रोगों में - Pipli Herb Benefits for Heart in Hindi

पिप्पली चूर्ण में शहद मिलाकर प्रातः सेवन करने से, कोलेस्ट्रोल की मात्रा नियमित होती है और हृदय रोगों में लाभ होता है। पिप्पली और छोटी हरड़ को बराबर मिलाकर,पीसकर एक चम्मच की मात्रा में सुबह- शाम गुनगुने पानी से सेवन करने पर पेट दर्द, मरोड़ और दुर्गन्धयुक्त अतिसार ठीक हो जाता है।

(और पढ़ें – कलौंजी का उपयोग बचाए हृदय रोगों से)

तपेदिक से बचाव में पिपली के लाभ - Pippali for Tuberculosis in Hindi

पिप्पली मे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के गुण होते हैं जिनके कारण टी.बी. (तपेदिक) और अन्य संक्रामक रोगों की चिकित्सा में इसका उपयोग लाभदायक होता है। पिप्पली फेफड़ों की शक्ति में सुधार करने के लिए बहुत उपयोगी है, क्योंकि यह भूख को बेहतर बनाती है, यह तपेदिक और उसके उपचार के दौरान वजन कम होने के नुकसान से बचने के लिए मदद करती है। यह तपेदिक उपचार में इस्तेमाल दवाओं के असर से होने वाली जिगर की क्षति से भी बचाती है। पिप्पली अनेक आयुर्वेदिक और आधुनिक दवाओं की कार्यक्षमता को बढ़ा देती है।

पीपला मूल है संधिशोथ गठिया में लाभदायक - Long Pepper for Rheumatoid Arthritis in Hindi

इस जड़ी बूटी की रूट के काढ़े (Moola Kashaya) को पतला गरुदी (Cocculus hirsutus) कहा जाता है। अमवता - रयूमेटायड अर्थराइटिस के उपचार में पिप्पली का उपयोग किया जाता है।

(और पढ़ें – गठिया रोग का इलाज हैं यह 10 जड़ीबूटियां)

यौन शक्ति के लिए है पीपली के फायदे - Long Pepper for Sexual Strength in Hindi

इसे बनाने और इस्तेमाल करने का तरीका - 

  • 30 पिप्पली फल लें और उनका एक बारीक पेस्ट बना लें और 48ml तेल या घी के साथ तल लें।
  • और इसमें चीनी या शहद और गाय के कच्चे दूध को मिलाएँ।
  • खुराक : 3 - 5 ग्राम, दिन में एक या दो बार भोजन से 10 मिनट पहले।
  • यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन और शीघ्रपतन में उपयोगी होती है।

(और पढ़ें – यौनशक्ति कम होने के कारण)

छोटी पीपल के फायदे हैं यकृत प्लीहा के लिए - Pippali ke Fayde for Liver and Spleen in Hindi

यह यकृत और प्लीहा विकारों में पिप्पली रसायन उपचार के साथ प्रयोग की जाती है। यह एक विशेष उपचार प्रक्रिया है, जिसमें पिप्पली पाउडर को धीरे धीरे बढ़ाया दिया जाता है और ग्यारह या इक्कीस दिन तक पुनः दूध के साथ इसकी खुराक को घटाया जाता है। लीवर बढ़ा हुआ हो या लिवर में सूजन हों तो 5 ग्राम पिपली के साथ एक ग्राम पीपलामूल मिलाकर खाएं।

(और पढ़ें – लिवर को साफ और स्वस्थ रखने के लिए 10 सर्वोत्तम आहार)

पिप्पली के अन्य फायदे - Other Benefits of Pippali in Hindi

पिप्पली के अन्य फायदे इस प्रकार हैं - 

  • 5-6 पुरानी पिप्पली के पौधे की जड़ सुखाकर कुटकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण की 1-3 ग्राम की मात्रा को गर्म पानी या गर्म दूध के साथ पिला देने से शरीर के किसी भी भाग का दर्द 1-2 घंटे में दूर हो जाता है। वृद्धा अवस्था में शरीर के दर्द में यह अधिक लाभदायक होता है।
  • तीन पिप्पली पीसकर शहद में मिलाकर चाटने से श्वास, खांसी के साथ ज्वर, मलेरिया ठीक होता है। (और पढ़ें - खांसी के लक्षण)
  • फ्लू में दो पिप्पली या एक चौथाई चम्मच सौंठ दूध में उबाल कर पिलाएं। (और पढ़ें - इन्फ्लूएंजा या फ्लू के लक्षण)
  • पिप्पली वृक्ष के पत्ते दस्त को बन्द करते हैं।इसके पत्ते चबाएं या पानी में उबालकर इसका उबला हुआ पानी पीयें।
  • बच्चों का दांत निकलते समय पिपली घिसकर शहद के साथ चाटने से दांत आराम से निकल आते हैं।
  • स्त्रियों को यदि मासिक धर्म कम होते है तो पिपली और पिप्पली की जड़ डेढ़- डेढ़ ग्राम मिलाकर उसका काढ़ा बनाकर पीने से दर्द भी कम होता है और माहवारी भी नियमित हो जाती है।

ऊपर आपने जानें पिप्पली के बेनिफिट्स, जिसकी मदद से आप बेहतर स्वास्थ्य पा सकते हैं और अपने आप को तंदुरस्त बना सकते हैं। तो आज से ही आयुर्वेदिक दवा का नियमित रूप से सेवन करे है।

पिप्पली के नुकसान इस प्रकार है - 

  • पंचकर्म और रसायन प्रक्रिया के बिना, पिप्पली को अधिक मात्रा या लंबे समय के लिए इस्तेमाल नहीं करना जाना चाहिए। बिना एहतियात के अधिक रूप में इस्तेमाल करना कफ की वृद्धि का कारण बनता है। इसकी गरमी के कारण, इससे पित्त दोष बढ़ जाता है और इसकी कम चिकनाई (Alpasneha) और गरमी के कारण, यह वात संतुलन के लिए जिम्मेदार मानी जाती है। इसलिए कुल मिलाकर, यह त्रिदोष की वृद्धि में योगदान देती है। इसलिए, पंचकर्म प्रक्रिया के बिना लंबी अवधि या अधिक सेवन के लिए उपयोगी नहीं है।
  • शिशुओं को इसके सेवन से बचाना चाहिए।
  • दूध और घी के साथ, यह प्रति दिन 250 मिलीग्राम की एक छोटी खुराक में बच्चों को दिया जा सकता है।
  • स्तनपान कराने वाली माताओं को भी यह कम मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए।
  • गर्भावस्था में इसके उपयोग के लिए, अपने चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें।

(और पढ़ें - प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करें और लड़का पैदा करने के उपाय)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Paurush Jeevan CapsulesPaurush Jiwan Capsule33.25
Baidyanath Saptavinshati GugguluBaidyanath Saptavinshati Guggulu193.5
Divya Mahayograj GuggulDivya Mahayograj Guggul88.0
Divya Gokshuradi GuggulDivya Gokshuradi Guggul70.0
Divya AshwagandharishtaDivya Ashwagandharishta92.0
Baidyanath Avipattikar ChurnaBaidyanath Avipattikar Churna191.0
Herbal Hills Lavan Bhaskar ChurnaHerbal Hills Lavan Bhaskar Churna 1kg1560.0
Divya SaraswatarishtaDivya Sarswatarishta101.0
Divya VidangasavaDivya Vidangasava48.0
Divya Prasarini TailaDivya Prasarini Taila146.0
Baidyanath Chitrakadi BatiBaidyanath Chitrakadi Bati61.75
Baidyanath Jatiphaladi Bati (Stambhak)Baidyanath Jatifaladi Bati (Stambhak)418.0
Baidyanath Kankayan Bati ArshBaidyanath Kankayan Bati (Arsh)71.78
Baidyanath Lashunadi BatiBaidyanath Lashunadi Bati104.0
Baidyanath Lavangadi BatiBaidyanath Lavangadi Bati58.0
Baidyanath Makardhwaja Bati (Kesar Yukta) Baidyanath Makardhwaja Gutika ( Swarna Kesar Yukta)351.0
Baidyanath Marichyadi BatiBaidyanath Marichyadi Bati58.0
Baidyanath Sanjivani BatiBaidyanath Sanjivani Bati89.0
Baidyanath Shankha BatiBaidyanath Shankha Bati64.6
Himalaya AbanaABANA TABLET 50S110.0
Baidyanath Dhatupaushtik ChurnaBaidyanath Dhatupaushtik Churna196.42
Divya Liv D 38 SyrupDivya Liv D 38 Syrup60.0
Himalaya Bonnisan LiquidBONNISAN LIQUID 120ML0.0
Himalaya Bonnisan DropsHimalaya Bonnisan49.5
Baidyanath Gokshuradi GugguluBaidyanath Gokshuradi Guggulu160.0
Zandu Khadiradi GutikaZandu Khadiradi Gutika Tablet67.5
Baidyanath Mahayograj GugguluBaidyanath Mahayograj Guggulu194.75
Zandu Sudarshan GhanvatiZandu Sudarshan Ghan Vati80.0
Zandu Sudarshan TabletZandu Sudarshan Tablet86.0
Zandu Sitopaladi ChurnaZandu Sitopaladi Churna235.0
Zandu Hingwashtak ChurnaZandu Hingwashtak Churna73.0
Zandu Maha Sudarshan Churna Zandu Maha Sudarshan Churna168.0
Zandu Drakshasava Special Zandu Drakshasava Special210.0
Baidyanath Chopchinyadi ChurnaBaidyanath Chopchinyadi Churna99.0
Baidyanath Hingwashtak ChurnaBaidyanath Hingwashtak Churna101.0
Baidyanath Lavan BhaskarBaidyanath Lavan Bhaskar Churna40.5
Zandu Kishore Guggul GutiZandu Kishore Guggul Guti36.0
Zandu ChyavanprashadZANDU CHYAVANPRASHAD SUGAR FREE PASTE 900GM297.0
Zandu Sona Chandi Chyavanprash PlusZANDU SONA CHANDI CHYAVANPRASH 450GM152.0
Zandu Kesari JivanZandu Kesari Jivan Chyawanprash 900GM690.0
Baidyanath BhringrajasavaBaidyanath Bhringrajasava139.5
Baidyanath DraksharishtaBaidyanath Draksharishta144.0
Baidyanath KumariasavaBaidyanath Kumariasava73.0
Zandu Snez-CureZandu Snez-Cure 3000.0
Baidyanath Agastya Haritaki Combo Pack of 3 By BaidyanathAgastya Haritaki Combo Pack of 3 By Baidyanath117.0
Baidyanath Badam PakBaidyanath Badam Pak131.0
Baidyanath Erand PakBaidyanath Erand Pak124.0
Baidyanath Supari PakBaidyanath Supari Pak Brihat.173.0
Baidyanath VasavalehaBaidyanath Vasavaleha74.0
Patanjali Dant KantiPatanjali Dant Kanti Advanced88.0
Baidyanath Medohar vidangadi LohaBaidyanath Medohar Vidangadi Lauh76.5
Baidyanath Punarnavadi MandurBaidyanath Punarnawadi Mandur Tablet95.0
Baidyanath Kashisadi TelBaidyanath Kasisadi Taila132.0
Baidyanath Haridra Khand (Br)Baidyanath Haridrakhand Vrihat 140.4
Dabur Supari PakDABUR SUPARI PAK (LAGHU) PASTE 125GM108.0
Baidyanath Gaisantak BatiBaidyanath Gaisantak Bati Tablet88.0
Baidyanath Kasamrit HerbalBaidyanath Kasamrit Herbal Syrup72.0
Baidyanath Chandrakala RasBaidyanath Chandrakala Ras Tablet112.0
Baidyanath Chousath Prahari PipalBaidyanath Chousathprahari Pipal68.0
Baidyanath Dantobhedgadantak RasBaidyanath Dantodbhedgadantak Ras56.0
Baidyanath Garbhpal RasBaidyanath Garbhpal Ras Tablet87.0
Baidyanath Mrityunjaya RasBaidyanath Mrityunjaya Ras41.0
Baidyanath Nripatiballabh RasBaidyanath Nripatiballabh Ras Tablet93.0
Baidyanath Shringarabhra RasBaidyanath Shringarabhra Ras 83.0
Baidyanath Tribhuvan Kirti RasBaidyanath Tribhuvankirti Ras Tablet80.0
Baidyanath Vatgajankush RasBaidyanath Vat Gajankush Ras Tablet83.0
Dabur Khadiradi GutikaDabur Khadiradi Gutika 131.0
Dabur Sitopaladi ChurnaDABUR SITOPALADI CHURNA 100GM144.0
Dabur Talisadi ChurnaDabur Talisadi Churna 100.0
Dabur VasavalehaDabur Vasavaleha153.0
Dabur ShwaasamritDabur Shwaasamrit305.0
Dabur ChyawanprakashDABUR CHYAWANPRAKASH SF 500GM162.0
Dabur ChyawanprashDABUR CHYAWANPRASH 500GM + 75GM EXTRA PASTE162.0
Himalaya Geriforte TabletHimalaya Geriforte Tablet112.5
Himalaya GeriforteHimalaya Geriforte Syrup99.0
Dabur Active AntacidDabur Active Antacid106.2
Dabur Chitrak HaritakiDABUR CHITRAK HARITAKI PASTE 100GM120.0
Dabur Lavan BhaskarDABUR LAVANBHASKAR CHURNA 500GM211.5
Dabur Active AntacidDabur Active Antacid Syrup106.2
Dabur Honitus Cough SyrupDABUR HONITUS SYRUP130.0
Dabur Camne Vid TabletsDabur Camne Vid387.0
Dabur Gastrina TabletsDABUR GASTRINA TABLET 60S PACK OF 2100.0
Dabur Lal Dant ManjanDABUR LAL DANT MANJAN POWDER 300GM PACK OF 242.0
Dabur LouhasavaDABUR LAUHASAVA SYRUP 450ML113.0
Nirogam Pippali PowderNirogam Organic Pippali 100 Gms Powder Acts As Antipyretic And Immuno Stimulant0.0
Dabur Sanjivani Vati Dabur Sanjivani Vati47.0
Dabur Mahashankh VatiDabur Mahashankh Vati54.0
Dabur Hingwashtak ChurnaDabur Hingwashtak Churna98.0
Dabur Lasunadi VatiDabur Lasunadi Vati63.0
Dabur Avipattikar ChurnaDABUR AVIPATTIKAR CHURNA 60GM86.0
Dabur Triphala GugguluDabur Triphala Guggulu47.0
Dabur Yograj GugguluDABUR YOGRAJ GUGGULU TABLET 120S83.0
Dabur Maha Yograj Guggulu Dabur Maha Yograj Guggulu172.0
Dabur Musli Pak LaghuDABUR MUSLI PAK (LAGHU) GRANULES 125GM147.0
Dabur Kanchnar GugguluDabur Kanchnar Guggulu52.0
Dabur Punarnava Mandoor Dabur Punarnava Mandoor98.0
Dabur Vat Gajankush Ras Dabur Vat Gajankush Ras47.0
Dabur Amar Sundari GutikaDabur Amarsundari Gutika41.0
Dabur Brahmi VatiDabur Brahmi Vati104.0
Dabur Chandraprabha VatiDabur Chandraprabha Vati52.2
Dabur Chitrakadi GutikaDabur Chitrakadi Gutika65.0
Dabur Vridhivadhika VatiDabur Vridhi Vadhika Vati90.0
Dabur Kankayan GutikaDABUR KANKAYAN GUTIKA (GULM) 25.0
Dabur Mehamudgar VatiDabur Mehamudgar Vati63.0
Dabur Sarpagandhaghan Vati Dabur Sarpagandhaghan Vati73.0
Dabur Vyoshadi VatiDabur Vyoshadi Vati58.0
Dabur Chopchinyadi ChurnaDabur Chopchinyadi Churna94.0
Baidyanath Haritaki Khand Baidyanath Haritaki Khand82.0
Baidyanath Nag BhasmaBaidyanath Nag Bhasma153.0
Baidyanath Godanti MishranBaidyanath Godanti Mishran63.0
Baidyanath Pipalyasava Baidyanath Pipalyasava171.0
Baidyanath SarivadyarishtaBaidyanath Sarivadyarishta133.0
Baidyanath Janm GhuntiBaidyanath Janm Ghunti143.0
Patanjali Pachak Hing GoliPatanjali Pachak Hing Goli50.0
Zandu Zanduzyme TabletZanduzyme Forte Tablet112.5
Baidyanath Chyawan Vit SugarfreeBaidyanath Chyawan Vit (Sf)198.0
Baidyanath Amar Sundari VatiBaidyanath Amar Sundari Bati58.5
Patanjali Divya Dant ManjanPatanjali Divya Dant Manjan65.0
Patanjali Divya Punarnavadi MandoorPatanjali Divya Punarnavadi Mandoor90.0
Baidyanath Ekang Veer RasBaidyanath Ekangveer Ras88.0
Baidyanath Kafketu RasBaidyanath Kafketu Ras70.0
Patanjali Divya Swasari Pravahi Patanjali Divya Swasari Pravahi50.0
Baidyanath Mahalaxmi Vilas Ras ShiroBaidyanath Mahalaxmivilas Ras(Shiro)70.0
और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Classification for Kingdom Plantae Down to Species Piper longum L.. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  2. Kumar S, Kamboj J, Suman, Sharma S. Overview for various aspects of the health benefits of Piper longum linn. fruit. J Acupunct Meridian Stud. 2011 Jun;4(2):134-40. PMID: 21704957
  3. Mamta Kumari et al. Anti-inflammatory activity of two varieties of Pippali (Piper longum Linn.) Ayu. 2012 Apr-Jun; 33(2): 307–310. PMID: 23559810
  4. Bajad S, Bedi KL, Singla AK, Johri RK. Antidiarrhoeal activity of piperine in mice. Planta Med. 2001 Apr;67(3):284-7. PMID: 11345706
  5. Hu D et al. The protective effect of piperine on dextran sulfate sodium induced inflammatory bowel disease and its relation with pregnane X receptor activation. J Ethnopharmacol. 2015 Jul 1;169:109-23. PMID: 25907981
  6. Shreya S. Shah et al. Effect of piperine in the regulation of obesity-induced dyslipidemia in high-fat diet rats .Indian J Pharmacol. 2011 May-Jun; 43(3): 296–299. PMID: 21713094
  7. Shaik Abdul Nabi et al. Antidiabetic and antihyperlipidemic activity of Piper longum root aqueous extract in STZ induced diabetic rats . BMC Complement Altern Med. 2013; 13: 37. PMID: 23414307
  8. Umar S et al. Piperine ameliorates oxidative stress, inflammation and histological outcome in collagen induced arthritis. Cell Immunol. 2013 Jul-Aug;284(1-2):51-9. PMID: 23921080
  9. Soni A, Patel K, Gupta SN. Clinical evaluation of Vardhamana Pippali Rasayana in the management of Amavata (Rheumatoid Arthritis). Ayu. 2011 Apr;32(2):177-80. PMID: 22408298
  10. Fei Xiong, Yong-Song Guan. Cautiously using natural medicine to treat liver problems . World J Gastroenterol. 2017 May 21; 23(19): 3388–3395. PMID: 28596675
  11. Sunila ES, Kuttan G. Immunomodulatory and antitumor activity of Piper longum Linn. and piperine. J Ethnopharmacol. 2004 Feb;90(2-3):339-46. PMID: 15013199
  12. Vaishali Yadav et al. Preventive potentials of piperlongumine and a Piper longum extract against stress responses and pain J Tradit Complement Med. 2016 Oct; 6(4): 413–423. PMID: 27774429
  13. Syal Kumar, Gustav J. Dobos, Thomas Rampp. The Significance of Ayurvedic Medicinal Plants. J Evid Based Complementary Altern Med. 2017 Jul; 22(3): 494–501. PMID: 27707902
ऐप पर पढ़ें