myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ब्लैकहैड्स छोटे छोटे कील होते हैं, जिसे अंग्रेजी में बॅम्प (Bumps) कहते हैं, जो आपकी त्वचा पर बालों के रोम के न बढ़ने के कारण हो जाते हैं। इन बॅम्प को ब्लैकहैड्स कहा जाता है क्योंकि इनकी सतह काली दिखाई देती है। ब्लैकहैड्स हल्के प्रकार के मुँहासे होते हैं जो आम तौर पर चेहरे पर होते हैं, लेकिन वे शरीर के निम्न भागों पर भी दिखाई दे सकते हैं:

  1. पीठ
  2. छाती
  3. गर्दन
  4. हाथों
  5. कंधों

(और पढ़ें - ब्लैक हेड्स हटाने के घरेलू उपाय)

ब्लैकहैड्स के कारण जानकर उनका इलाज किया जा सकता है जो इस प्रकार हैं -

  1. ब्लैक हेड्स के कारण - Blackheads causes in Hindi
  2. ब्लैक हेड्स को हटाने के लिए ट्रीटमेंट - Treatment to remove blackheads in Hindi
  3. ब्लैक हेड्स होने से कैसे रोकें - Blackheads prevention in Hindi

ब्लैक हेड्स के कारण - Blackheads causes in Hindi

ब्लैकहेड्स कुछ लोगों में अधिक और कुछ में बहुत कम होते हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं।

आयु और हार्मोनल परिवर्तन महत्वपूर्ण कारक हैं। मुँहासे के अन्य लक्षणों की तरह, यौवनारम्भ या जब हार्मोन के स्तर में परिवर्तन होने के कारण सीबम (Sebum - वसा) उत्पादन बढ़ जाता है, तब ब्लैकहेड्स की समस्या होना आम है। हालांकि, ये किसी भी उम्र में हो सकते हैं।

एण्ड्रोजन, जो पुरुष सेक्स हार्मोन होता है, सीबम का अधिक स्रावण करता है। किशोरावस्था के दौरान लड़कों और लड़कियों दोनों को एण्ड्रोजन के उच्च स्तर का अनुभव होता है।

(और पढ़ें - sex karne ka tarika)

यौवनारम्भ के बाद, मासिक धर्म, गर्भावस्था और गर्भनिरोधक गोलियों के उपयोग के दौरान होने वाले हार्मोनल परिवर्तनों के कारण भी महिलाओं में ब्लैकहेड्स होते हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में पेट दर्द और पुत्र प्राप्ति के उपाय से जुड़े मिथक)

शरीर द्वारा त्वचा कोशिकाओं का अत्यधिक उत्पादन भी ब्लैकहेड्स का कारण हो सकता है। इसके अन्य कारक इस प्रकार हैं:

  1. सौंदर्य उत्पादों के अधिक प्रयोग से त्वचा के रोमछिद्र बंद हो जाना।
  2. अधिक पसीना।
  3. शेविंग या अन्य गतिविधियां जो बालों के रोमों को खोलती हैं।
  4. वातावरण में अधिक नमी और ग्रीस होना।
  5. कुछ स्वास्थ्य स्थितियां, जैसे तनाव, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) और प्रीमेंसट्रूअल सिंड्रोम (पीएमएस)
  6. कुछ दवाएं जो त्वचा की कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाती हैं।
  7. कुछ स्टेरॉयड आधारित दवाओं का उपयोग जैसे कॉर्टिकोस्टेरॉइड आदि।

आपको सुनकर शायद आश्चर्य हो लेकिन स्वच्छता की कमी से ब्लैकहेड्स नहीं होते हैं। अत्यधिक स्क्रबिंग से उन्हें हटाने की कोशिश करने से वे और खराब हो सकते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे और नाक के ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स दूर करने का तरीका)

ब्लैक हेड्स को हटाने के लिए ट्रीटमेंट - Treatment to remove blackheads in Hindi

ज्यादातर लोग डॉक्टर के पास जाने के बजाय घर पर ही ब्लैकहाइड का इलाज करते हैं, लेकिन कुछ गतिविधियां उन्हें और अधिक खराब कर सकती हैं या अधिक गंभीर प्रकार के मुँहासे को उत्पन्न कर सकती हैं। इनके इलाज के बारे में कई मिथक और विरोधाभास हैं, इसलिए यह जानना बहुत ज़रूरी है की आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

ब्लैकहेड्स होने पर क्या करना चाहिए।

  1. क्लींजिंग: चेहरे की सफाई के लिए एक्सफोलिएटिंग स्क्रब का उपयोग करें। उन उत्पादों का चयन करें जो सुगंध मुक्त हों और त्वचा को रूखा न बनाएं।
  2. मेकअप और सौंदर्य सामग्री: मुहासों से रोकथाम करने वाले उत्पादों का उपयोग करें जो रोमछिद्रों को बंद करने के बजाय उन्हें खोलने और मृत त्वचा को हटाने में मदद करें।
  3. मेडिकल उपचार: डॉक्टर द्वारा भी इनका इलाज कराया जा सकता है। हालांकि, जब तक लोगों की ये समस्या गंभीर नहीं हो जाती या मुहासों में तब्दील नहीं हो जाती तब तक वे इसका मेडिकल उपचार नहीं करते हैं।
  4. बीमारियां: एक्जिमा जैसी अन्य त्वचा की समस्याएं, ब्लैकहेड्स के इलाज को थोड़ा कठिन बना देती हैं। इस स्थिति का मुँहासे से पहले इलाज किया जाना चाहिए, क्योंकि उसके सही उपचार से ब्लैकहेड्स में सुधार हो सकता है।
  5. आराम: पर्याप्त आराम और तनाव से दूर रह कर भी आप इनसे बच सकते हैं क्योंकि तनाव सीबम उत्पादन को बढ़ाता है। व्यायाम करने से तनाव को कम किया जा सकता है।
  6. खान पान: रिसर्चों से यह पुष्टि नहीं हो पायी है कि फ्राइज़ या चॉकलेट न खाने से मुँहासे और ब्लैकहेड्स कम होते हैं या नहीं, लेकिन ताज़े फलों के जूस और सब्जियों के साथ स्वस्थ और संतुलित आहार स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। इससे त्वचा सम्बन्धी समस्याएं कम होती हैं।

(और पढ़ें - हटाने हैं ब्लैकहेड्स और वाइट हेड्स? बनाये यह दो स्क्रब)

ब्लैकहेड्स होने पर क्या नहीं करना चाहिए।

हार्मोनल परिवर्तन तो ब्लैकहेड्स का कारण होते ही हैं, लेकिन कुछ कारक इनको और बढ़ा सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  1. दबा कर निकालने का प्रयास करें: ब्लैकहेड्स को दबाएं नहीं, यहां तक कि पार्लर में उपयोग किये जाने वाले ब्लैकहैड रिमूवर से भी नहीं क्योंकि यह त्वचा में दिक्कत कर सकता है जिससे समस्या और भी बदतर हो सकती है।
  2. स्टीम बाथ लें: हालांकि कहा जाता है कि लंबे समय तक स्टीम बाथ लेना ब्लैकहेड्स का एक उपचार है, क्योंकि यह "रोमछिद्र खोलता है।" लेकिन, अनुसंधान द्वारा इसकी पुष्टि नहीं की गई है। कुछ लोगों का अनुभव भी है कि ऐसा करना समस्या को और बदतर बना देता है।
  3. स्क्रबिंग करें: यह भी इस समस्या को और गंभीर कर सकता है। स्क्रब करने से त्वचा का सीबम निकल जाता है जिस वजह से वसामय ग्रंथियां (Sebaceous glands) और सीबम उत्पादित करती हैं, जिससे अधिक ब्लैकहेड्स और मुँहासे बढ़ जाते हैं।
  4. रिमूवर का उपयोग ठीक से करें: रिमूवल स्ट्रिप्स, मास्क और वैक्यूम का सावधानी उपयोग करें, क्योंकि ये त्वचा में परेशानी उत्पन्न कर सकते हैं और नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  5. मेकअप और सौंदर्य प्रसाधन का सही चयन करें: आयल बेस्ड मेकअप और त्वचा देखभाल उत्पादों का उपयोग न करें।

अन्य पर्यावरणीय कारक जिनसे बचना चाहिए:

  1. नम वातावरण
  2. टाइट कपड़े
  3. अल्कोहल युक्त त्वचा उत्पाद, क्योंकि ये त्वचा को कस देते हैं और रूखापन लाते हैं।

(और पढ़ें - हमेशा के लिए ब्लैकहेड्स को करें अलविदा)

ब्लैक हेड्स होने से कैसे रोकें - Blackheads prevention in Hindi

आप निम्न तरीकों में से कोई भी अपनाकर बिना अधिक पैसे खर्च किए ब्लैकहेड्स को रोक सकते हैं:

  1. नियमित रूप से अपना चेहरा धोएं -
    सुबह जागने पर और रात को सोने से पहले चेहरे का सारा तेल साफ़ करें अर्थात अच्छी तरह से चेहरे की सफाई करें। दिन में दो बार से ज्यादा, अच्छी तरह से धुलाई न करें क्योंकि इससे आपकी त्वचा में रूखापन भी आ सकता है। चेहरे की सफाई के लिए कोमल क्लीनजर का प्रयोग करें जो आपकी त्वचा को लाल या रूखा नहीं बनाता है।

    अपने बालों को एक एक दिन के अंतराल पर धोने की कोशिश करें। क्योंकि बालों का तेल त्वचा के छिद्रों को बंद कर देता है।
     
  2. आयल फ्री उत्पादों का उपयोग करें -
    कोई भी उत्पाद जिसमें आयल होता है वो नए ब्लैकहेड्स का कारण बन सकता है। अपनी समस्या को और भी बदतर बनाने से बचने के लिए ऑयल-फ्री या मुहासों से बचाव करने वाले मेकअप, लोशन, और सनस्क्रीन का उपयोग करें।
     
  3. एक्सफोलिएटिंग उत्पादों का प्रयोग करें -
    एक्सफोलिएटिंग स्क्रब और मास्क आपके चेहरे से मृत त्वचा कोशिकाओं को दूर करते हैं और ब्लैक हेड्स को कम करने में आपकी सहायता करते है, इसलिए इनका उपयोग करना बेहतर विकल्प है।

(और पढ़ें - मुँहासे हटाने के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...