myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पिंपल्स यानी मुँहासे त्वचा की एक सामान्य समस्या हैं। यह समस्या सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करती है। शरीर में हार्मोन वृद्धि के स्तर की वजह से युवा लोग मुँहासों से सबसे अधिक पीड़ित होते हैं।

सोने के अभाव, बहुत अधिक तनाव, अस्वस्थ भोजन की आदत और एक व्यस्त जीवन शैली भी मुँहासे पैदा होने का कारण हो सकती है। मुँहासे चेहरे, छाती पर, पीठ और सिर पर दिखाई दे सकते हैं। यद्यपि इनका कोई निश्चित इलाज नहीं है, किंतु कई सरल घरेलू प्राकृतिक सामग्री हैं, जिनका उपयोग मुँहासे हटाने के लिए किया जा सकता है।

(और पढ़ें - तनाव से बचने के उपाय)

  1. पिम्पल्स हटाने के उपाय में करें ओटमील का उपयोग - Pimple hatane ka tarika hai oatmeal in hindi
  2. पिंपल्स के लिए घरेलू उपाय है मुल्तानी मिट्टी - Pimple hatane ke gharelu nuskhe me kare multani mitti ka upyog in hindi
  3. मुँहासे हटाने का उपाय है बेकिंग सोडा - Pimple se chutkara dilata hai baking soda in hindi
  4. पिंपल्स दूर करने का तरीका है टूथपेस्ट से - Pimples rokne ke upay kare toothpaste se in hindi
  5. पिम्पल्स से छुटकारा पाने का उपाय है टी ट्री आयल - Pimple ko dur karne ka gharelu upay hai tea tree oil in hindi
  6. मुँहासे से छुटकारा दिलाता है संतरे का छिलका - Muhase hatane ka gharelu nuskha hai orange peel in hindi
  7. मुँहासे हटाने का घरेलु उपाय है एलोवेरा जैल - Muhase hatane ka tarika hai aloe vera gel in hindi
  8. पिम्पल हटाने के उपाय करे मेथी से - Muhase rokne ka upay hai fenugreek in hindi
  9. मुहांसे दूर करने का घरेलू नुस्खा है नीम - Muhase dur karne ka gharelu upay hai neem in hindi
  10. पिंपल हटाने का तरीका है नींबू - Muhase se chutkara pane ka gharelu tarika hai lemon in hindi
  11. इन उपाय से रातो रात मुँहासे हो जायेंगे छूमंतर
  12. मुंहासों को एक दिन में गायब करेंगे यह असरदार उपाय

ओटमील मुँहासों को कम करने में लाभदायक है क्योंकि यह आपकी त्वचा के रोम छिद्र शुद्ध करता है और अतिरिक्त तेल को अवशोषित कर लेता है।

एक चम्मच शहद और आधे नींबू के रस में एक कप पके हुए ओटमील को मिलाएं। इस मिश्रण को अपनी त्वचा पर रगड़ें। 30 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें। सप्ताह में एक या दो बार लगाएं। 

(और पढ़ें - शहद खाने के फायदे)

मुल्तानी मिट्टी तैलीय और मुँहासे प्रवण त्वचा के लिए अच्छी है और यह अतिरिक्त तेल को अवशोषित कर, उनको रोम छिद्र से मुक्त करती है। यह आपके रंग में सुधार करने में भी मदद करती है। 

(और पढ़ें - मुल्तानी मिट्टी के फायदे)

मुल्तानी मिट्टी के बराबर, चंदन पाउडर और गुलाब जल के अनुपात को मिक्स करें। आप पेस्ट में एक बेहतर स्थिरता लाने के लिए और गुलाब जल को मिला सकते हैं। अपने चेहरे पर यह गीली मिट्टी पैक लगाएं। सूख जाने के बाद इसको धो लें। सप्ताह में एक बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

(और पढ़ें - गुलाब जल के फायदे)

बेकिंग सोडा या सोडियम बाइकार्बोनेट आपकी त्वचा के लिए एक सौम्य परत के रूप में काम करता है। इस प्रकार, यह रोम छिद्र को निकालता और मृत त्वचा को हटाता है। यह त्वचा के पीएच(pH) संतुलन को विनियमित रखने में मदद करता है और इसमें हल्के सूजन को कम करने और एंटीसेप्टिक गुण भी होते है। इन सभी विशेषताओं के कारण यह मुँहासे समाशोधन के लिए एक उत्कृष्ट उपाय है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के तरीके)

बेकिंग सोडा को एक या दो चम्मच थोड़े से पानी में मिलाकर पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं। इसे कुछ ही मिनटों के बाद धो लें।
आप बेकिंग सोडा के दो बड़े चम्मच, एक चम्मच दालचीनी पाउडर, आधे नींबू का रस और पांच चम्मच शहद को एक साथ मिलाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और पांच मिनट के बाद धो लें। आप अपनी त्वचा पर सप्ताह में एक या दो बार बेकिंग सोडा का प्रयोग करें।

(और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे)

टूथपेस्ट का आप नियमित रूप से उपयोग अपने दांत साफ करने के लिए करते हैं, लेकिन यह आपकी मुँहासो की समस्या को भी ठीक कर सकता है। यह मुँहासों के लिए सबसे आसान घरेलू उपचारों में से एक है। बिस्तर पर जाने से पहले प्रभावित क्षेत्र पर सफेद टूथपेस्ट की एक छोटी सी मात्रा लगाएं। टूथपेस्ट सूजन को कम करता है और मुँहासों को सुखा देता है। एक या दो दिन के भीतर आप महत्वपूर्ण सुधार देख सकते हैं। 

(और पढ़ें – टूथपेस्ट के फायदे)

मुँहासे के लिए एक अन्य लोकप्रिय प्राकृतिक उपचार टी ट्री आयल है। टी ट्री आयल एक एंटीसेप्टिक की तरह कार्य करता है।

इसके अलावा, यह मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है। बस प्रभावित क्षेत्र पर दिन में तीन बार चाय के पेड़ के तेल की एक बूंद लगाएं।

शुद्ध टी ट्री आयल लगाना अगर त्वचा में जलन, लालिमा या ज़्यादा शुष्क त्वचा का कारण बनता है, तो टी ट्री आयल में पानी का उपयोग कर उसको पतला करें या एलोवेरा जैल के साथ यह मिश्रण बनाएं और फिर अपने चहरे पर लगाएं। 

(और पढ़ें – टी ट्री ऑयल के फायदे)

एक संतरे में शामिल अम्लीय (acidic) संपत्ति और उच्च विटामिन सी मुँहासे के लिए एक सही उपाय है। आप संतरे के रस के साथ उसकी छाल का भी उपयोग कर सकते हैं, छिलका और अधिक प्रभावी हो सकता है।

(और पढ़ें - संतरे के रस के फायदे)

धूप में संतरे के छिलके डालकर उनको पूरी तरह से सुखाएँ। सूखे छिलकों को पाउडर के रूप में पीसें और एक पेस्ट बनाने के लिए पानी मिलाएँ। प्रभावित क्षेत्र पर लगाएँ और 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। फिर गर्म पानी से अपना चेहरा धो लें।

(और पढ़े - संतरा खाने के फायदे)

एलोवेरा में सुखदायक और सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं जो कुछ दिनों में मुँहासे का इलाज कर सकते हैं। एलोवेरा जैल मुँहासों के निशानों के उपचार में भी सहायक है।

आप बाजार से एलोवेरा जैल खरीद सकते हैं या एक एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काटें और बीच में से उसको दबाएं, इसके द्वारा आप शुद्ध एलोवेरा जैल प्राप्त कर सकते हैं। दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जैल का उपयोग करें। 

(और पढ़ें – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

मेथी को अपने सूजन को कम करने, एंटीऑक्सिडेंट और एंटीसेप्टिक गुणों के कारण मुँहासे के उपचार में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। पानी के साथ ताजा मेथी के पत्ते मिक्स कर एक चिकना पेस्ट बनाएं। प्रभावित क्षेत्र पर हर्बल पेस्ट को लगाएं और 10 से 15 मिनट के लिए इसे लगाकर छोड़ दें। फिर गर्म पानी से अपना चेहरा धो लें। मुँहासो को ठीक करने के लिए, तीन से चार दिनों के लिए यह प्रक्रिया दोहराएं।

(और पढ़ें - मेथी खाने के फायदे)

वैकल्पिक रूप से, एक चम्मच मेथी के बीज को पीसें और उसका पाउडर बनाएं और एक पेस्ट बनाने के लिए थोड़ा सा गर्म पानी मिलाएं। प्रभावित क्षेत्र पर इस पेस्ट को लगाएं। 20 मिनट या रात भर लगाकर छोड़ दें और फिर धो लें, यह सप्ताह में दो या तीन बार कर सकते हैं।

(और पढ़ें - मेथी के तेल के फायदे)

भारतीय बकाइन को नीम के रूप में भी जाना जाता है, इसे विभिन्न त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटीसेप्टिक और रोगाणुरोधी गुण हैं जो कि मुँहासो को बनाने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं। इसके अलावा, नीम लालिमा और त्वचा की सूजन में आराम देता है।

(और पढ़ें – नीम के फायदे इन हिंदी)

नर्म नीम की पत्तियों का पेस्ट थोड़ा पानी मिलाकर बनाएं। इस पेस्ट में कुछ हल्दी पाउडर मिलाएं और फिर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। 20 मिनट के लिए इसको लगाकर छोड़ दें और फिर इसे धो लें। एक सप्ताह में कम से कम दो बार यह करें। आप दिन में एक या दो बार नीम का तेल भी लगा सकते हैं जब तक आपको सुधार ना दिखे।

(और पढ़ें - नीम के तेल का उपयोग)

नींबू के अम्लीय गुण मुँहासे के उपचार में बहुत उपयोगी हो सकते हैं। नींबू गंदगी को साफ कर बाहर करता है, जो रोम छिद्र में जमा हो जाती है। आप दैनिक रूप से अपनी त्वचा पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन अगर यह त्वचा को अधिक शुष्क कर रहा है तो हर दो या तीन दिन में उपयोग करें।

(और पढ़ें - नींबू के औषधीय गुण)

प्रभावित क्षेत्र पर नींबू का एक टुकड़ा रगड़े और पानी से अपना चेहरा धोने से पहले कुछ घंटों के लिए लगाकर छोड़ दें।
आप बराबर मात्रा में नींबू के रस के साथ गुलाब जल का मिश्रण भी तैयार कर सकते हैं और अच्छी तरह से प्रभावित क्षेत्र को ठीक करने के लिए इस समाधान का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें - नींबू के रस के फायदे)

इन सरल और आसान प्राकृतिक उपचार का उपयोग करने से आप मुँहासो की इस समस्या का कुछ हद तक समाधान कर सकते हैं। सर्वोत्तम परिणाम के लिए, आपको एक स्वस्थ जीवन शैली का पालन करना चाहिए। यदि आप सफलतापूर्वक इन घरेलू उपचारों से अपने मुँहासे का इलाज नहीं कर पा रहे, तो आपको डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए

(और पढ़ें - नींबू पानी पीने के फायदे)


मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...

References

  1. John Kraft and Anatoli Freiman. Management of acne. 2011 Apr 19; 183(7): E430–E435. PMID: 21398228
  2. Hamid Nasri, Mahmoud Bahmani, Najmeh Shahinfard, Atefeh Moradi Nafchi, Shirin Saberianpour and Mahmoud Rafieian Kopaei. Medicinal Plants for the Treatment of Acne Vulgaris: A Review of Recent Evidences. 2015 Nov; 8(11): e25580. PMID: 26862380
  3. Hamid Nasri, Mahmoud Bahmani, Najmeh Shahinfard, Atefeh Moradi Nafchi, Shirin Saberianpour, and Mahmoud Rafieian Kopaei. [link]. 2015 Nov; 8(11): e25580. PMID: 26862380
  4. Aghasi M, Golzarand M, Shab-Bidar S, Aminianfar A, Omidian M, Taheri F. Dairy intake and acne development: A meta-analysis of observational studies.. 2019 Jun;38(3):1067-1075. PMID: 29778512
  5. A.U. Tan, B.J. Schlosser and A.S. Paller. A review of diagnosis and treatment of acne in adult female patients. 2018 Jun; 4(2): 56–71. PMID: 29872679