myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

सिरदर्द या माइग्रेन दर्द से अधिक तनावपूर्ण कुछ भी नहीं है। यह सोचने, काम करने, ध्यान केंद्रित करने और आराम करने में कठिनाई पैदा कर सकता है।

सिरदर्द या माइग्रेन के अटैक होने पर ज्यादातर लोग दर्द से छुटकारा पाने के लिए ओवर-द-काउंटर गोलियों का सहारा लेते हैं जिनके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं। जब भी आप तेज सिरदर्द या दर्दनाक माइग्रेन से पीड़ित हैं, तो आप एक्यूप्रेशर पर भरोसा कर सकते हैं। एक्यूप्रेशर हजारों साल से उपयोग की जा रही एक प्राचीन चिकित्सा पद्धति है जिसका इस्तेमाल सिरदर्द, माइग्रेन और कई अन्य बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है। (और पढ़ें - जानिए कैसे करता है एक्युप्रेशर कई बीमारियों का निवारण)

सबसे महत्वपूर्ण बात, आप अपने घर पर एक्यूप्रेशर की कोशिश कर सकते हैं या आप किसी विशेषज्ञ से सहायता प्राप्त कर सकते हैं। तो आईए जानते हैं इन एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के उपयोग के बारे में -

  1. अंगूठे और इंडेक्स फिंगर के बीच दबाएं माइग्रेन के इलाज के लिए - Press Between Thumb and Index Finger for Migraine in Hindi
  2. सिरदर्द से राहत के लिए दबाएं अपनी आइब्रो के बीच - Press Between your Eyebrows for Headache in Hindi
  3. माइग्रेन से छुटकारा पाए आँखों और नाक के बीच में दबाकर - Drilling Bamboo Pressure Point for Migraine in Hindi
  4. माइग्रेन के लिए प्रेस करें फुट प्रेसर पॉइंट्स - Foot Pressure Points for Migraine in Hindi
  5. सिरदर्द से छुटकारे के लिए पैर की चौथी और पांचवी अंगुली के बीच करें प्रेस - Press Between Fourth and Fifth Toes for Headache in Hindi
  6. रीढ़ की हड्डी और सिर के बीच प्रेस करें माइग्रेन से बचाव के लिए - Press Between the Top of Spine and the Skull for Migraine in Hindi
  7. माइग्रेन के लिए दबाएं फेशियल प्रेशर पॉइंट्स - Facial Pressure Points for Migraine in Hindi
  8. कंधे के एक्यूप्रेशर पॉइंट के लाभ करें माइग्रेन दर्द में मदद - Pressure Between Neck and Shoulder Point for Migraine in Hindi
  9. गर्दन और रीढ़ की हड्डी के बीच दबाकर पाए माइग्रेन से राहत - Heavenly Pillar Acupressure Point for Migraine in Hindi
  10. सिर के दर्द के लिए दबाएँ सिर और रीढ़ की हड्डी के पॉइंट - Pressure at Base of Skull and Spine Point for Headache in Hindi

यह एक्यूप्रेशर प्वाइंट सिरदर्द से छुटकारा पाने और दांत दर्द, गर्दन के दर्द, कंधे की पीड़ा, गठियाकब्ज और हैंगओवर से राहत प्रदान करने में मदद कर सकता है।

यह बिंदु वेब (मांसल क्षेत्र) में अंगूठे और तर्जनी (इंडेक्स फिंगर) के बीच स्थित है।

आपको अपने दाहिने हाथ के अंगूठे और तर्जनी का उपयोग करना। 5 से 10 सेकंड के लिए अपने बाएं हाथ के अंगूठे और तर्जनी (इंडेक्स फिंगर) के बीच बिंदु पर दबाव दें। दूसरे हाथ से दोहराएं। जब तक दर्द दूर न हो जाए तब तक करें। एक्यूप्रेशर का उपयोग करते समय, आराम करने और सांस लेने की कोशिश करें।

नोट: गर्भावस्था के दौरान इस एक्यूप्रेशर बिंदु को मत दबाएं, क्योंकि इसकी उत्तेजना गर्भाशय में समयपूर्व संकुचन का कारण हो सकती है।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में पेट दर्द और पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करें)

सिरदर्द से राहत पाने के लिए, यह एक्यूप्रेशर बिंदु भी प्रभावी है। यह पिट्यूटरी (कफ़ोत्‍पादक) ग्रंथि को संतुलित करता है और यहां तक कि अपच, अल्सर दर्द, अनिद्रा, थकान और तनाव का इलाज करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह पॉइंट आध्यात्मिक और भावनात्मक असंतुलन में सुधार के लिए भी फायदेमंद है। यह बिंदु आइब्रो के बीच स्थित है

अपनी आँखें बंद करें और बिंदु खोजें। इस बिंदु पर अपने अंगूठे के साथ 1 मिनट के लिए दबाव दें और फिर रिलीज करें। आवश्यकतानुसार दोहराएं।

यदि आप तनाव या आम सर्दी के कारण सिरदर्द से पीड़ित है तो तत्काल राहत के लिए ड्रिलिंग बम्बू बिंदु का उपयोग करें। यह बिंदु भी चक्कर, पुअर नाईट विज़न, लेज़ी आईज और हेय फीवर से राहत देता है।

इस बिंदु की उत्तेजना उन लोगों के लिए बेहद फायदेमंद है जो लोग साइनस परेशानी से पीड़ित हैं और जिनकी आँखों में परेशानी है। ड्रिलिंग बम्बू प्वाइंट आपकी आँखों और नाक के बीच में स्थित है और ठीक आपकी आइब्रो के नीचे।

अपनी दोनों इंडेक्स फिंगर की नोक का प्रयोग करते हुए, गहरी साँस लेने के दौरान कम से कम एक मिनट के लिए एक ही समय में दोनों बिंदुओं पर दबाव डालें। यदि आप चाहें, तो आप प्रत्येक बिंदु को अलग-अलग उत्तेजित भी कर सकते हैं, लेकिन प्रत्येक साइड 1 मिनट के लिए ऐसा करना सुनिश्चित करें।

यह एक्यूप्रेशर पॉइंट भी प्रभावी है। सिरदर्द और माइग्रेन दर्द के अलावा, इस बिंदु की उत्तेजना पैर की ऐंठन, आंखों की थकान, हैंगओवर, एलर्जी और गठिया दर्द से राहत प्रदान कर सकती है। यह लोगों के लिए भी अच्छा है, जिनकी कम एकाग्रता और थकान है।

यह पॉइंट पैर के ऊपर स्थित होता है। पैर के अंगूठे और पहली उंगली के बीच के हिस्से पर प्रेशर प्वाइंट होता है। यह पॉइंट पैर की उंगलियों से लगभग 1 या 1.5 इंच पीछे होता है।

आराम से बैठें और अपने बाएं जांघ पर अपना दाहिना पैर रखो। अपने अंगूठे का इस्तेमाल करते हुए, कुछ मिनटों के लिए इस पॉइंट पर दबाव डालो। दूसरे पैर से दोहराएं। 2 या 3 बार से अधिक बार रिपीट करें।

माइग्रेन दर्द से तुरन्त राहत पाने के लिए यह पॉइंट भी उपयोगी है। यह कूल्हे के दर्द, कंधे के तनाव, गठिया दर्द, वाटर रिटेंशन और साइटिका संबंधी समस्याओं से राहत भी प्रदान कर सकता है। यह सिर को साफ करता है और आंखों को भी लाभ देता है। (और पढ़ें - साइटिका के दर्द से निजात पाने के लिए करें ये एक्सरसाइज)

यह एक्यूप्रेशर बिंदु पैर के ऊपर स्थित है। यह पैर की चौथी और पांचवी फिंगर के बीच लगभग एक इंच पीछे स्थित होता है।

इस बिंदु का पता लगाएँ। और प्रत्येक पैर पर एक मिनट के लिए अपने अंगूठे के साथ दबाव दें। इन बिंदुओं को उत्तेजित करते हुए, गहराई से साँस लेना महत्वपूर्ण है।

यह एक्यूप्रेशर प्वाइंट माइग्रेन के साथ साथ गर्दन की जकड़न और मानसिक तनाव में मदद करता है। यह चक्कर आना, गले में सूजन, कान में दर्द, आंखों में दर्द और नोज ब्लीडिंग से निपटने में मदद करता है। (और पढ़ें - कान में दर्द के घरेलू उपाय)

यह बिंदु आपके सिर के पीछे के केंद्र में होता है। यह पॉइंट कानों के बीच के मध्य और आपकी रीढ़ की हड्डी के ऊपर स्थित है।

अपने सिर को थोड़ा पीछे झुकाएं और इस बिंदु का पता लगाएं। अपने अंगूठे का उपयोग करते हुए, धीरे-धीरे बिंदु पर दबाएं और कुछ मिनटों के लिए थोड़ी ऊपर की तरफ खींचें। इसके अलावा, होलो के किनारों के आसपास दबाव डालें।

यह एक्यूप्रेशर प्वाइंट का उपयोग माइग्रेन के साथ-साथ हेड कंजेस्टिव, बर्निंग आईज, आंखों की थकान और साइनस और नाक बंद को ठीक करने के लिए किया जाता है।

जैसा कि नाम से पता चलता है, यह मुँहासे, त्वचा की बीमारियों, चेहरे की सूजन और खराब रंग में सुधार कर सकता है। यह चेहरे की मांसपेशियों को टोन करने में भी मदद करता है और परिसंचरण में सुधार करता है।

यह बिंदु गाल की हड्डी के नीचे स्थित होता है, प्रत्येक आँख के नीचे बीच में लगभग 2 से 3 उंगली की चौड़ाई में होता है। इन बिंदुओं पर अपनी इंडेक्स फिंगर के साथ दोनों साइड  लगभग एक मिनट के लिए दबाएँ। इन बिंदुओं को उत्तेजित करते हुए गहरी साँस लें।

यह एक और दबाव बिंदु है जो सिरदर्द के साथ-साथ माइग्रेन दर्द के इलाज में मदद करता है। इस बिंदु को उत्तेजित करने से गर्दन की जकड़न, गर्दन का दर्द और कंधे का दर्द भी कम हो जाएगा और घबराहट, चिड़चिड़ापन, मांसपेशियों में ऐंठन और अस्थमा के इलाज में मदद मिलेगी।

यह एक्यूप्रेशर पॉइंट आपके कंधे पर स्थित है। यह ठीक आपकी गर्दन के आधार (base) और आपके कंधे के बाहरी बिंदु के बीच स्थित है।

इन बिंदुओं को अपने कंधों के दोनों ओर ढूँढें और पॉइंट को उत्तेजित करने के लिए नीचे की ओर दबाव बनाने के लिए अपने अंगूठे या फिंगर्स का उपयोग करें। इसे 4 या 5 सेकंड तक करें, कुछ सेकंड के लिए रिलीज करें और दोबारा दोहराएं।

नोट: गर्भवती महिलाओं को इस बिंदु पर हल्के से प्रेस करना चाहिए क्योंकि यह लेबर दर्द को प्रेरित कर सकता है।

यह एक्यूप्रेशर पॉइंट का एक पेअर (जोड़ा) है जो सिरदर्द और माइग्रेन दर्द को कम करने के लिए उत्कृष्ट हैं। इन बिंदुओं को उत्तेजित करके आप तनाव, चिंता, थकावट, सिर में भारीपन, गर्दन में दर्द और कठोरता, अनिद्रा और आंखों के तनाव को भी कम कर सकते हैं। थायराइड असंतुलन के उपचार में भी यह प्रभावी है। (और पढ़ें - नींद के लिए घरेलू उपाय)

यह बिंदु सिर के आधा इंच नीचे उन मांसपेशियों पर है जो रीढ़ की हड्डी से आधा इंच ऊपर की ओर स्थित है। इन बिंदुओं पर कुछ मिनटों तक अपने अंगूठे या इंडेक्स फिंगर्स के साथ दृढ़तापूर्वक दबाव डालें। (और पढ़ें - योग देता है गर्दन के दर्द, सरवाइकल और स्पॉन्डिलाइटिस से निजात)

यह पॉइंट दो एक्यूप्रेशर बिंदुओं का संयोजन हैं जिसके हमें कई गहन स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं।

ये पॉइंट सिर दर्द, तनाव, साइनस के समस्या, गर्दन के दर्द, चिड़चिड़ापन और अवसाद से राहत प्रदान कर सकते हैं। इन बिंदुओं की उत्तेजना भी मस्तिष्क के संचलन को नियंत्रित करती है और यह समग्र प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए अच्छी होती है। (और पढ़ें - सिर दर्द के घरेलु उपाय)

ये बिंदु सिर के नीचे रीढ़ की हड्डी के दोनों साइड स्थित होते हैं। ये पॉइंट एक दूसरे से लगभग 4 उंगली की चौड़ाई पर स्थित है। इन अंगों को अपने अंगूठे के साथ खोजें। अपने सिर को धीरे-धीरे झुकाएं। धीरे-धीरे इन बिंदुओं को दबाते हुए लंबी, गहरी साँस लें। इन बिंदुओं को लगभग 1 मिनट के लिए दिन में कुछ बार दबाएं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें