सभी को मेहंदी की खूशबू और रंग अच्छा लगता है, खासकर कि लड़कियों को। जब भी मेहँदी की बात आती है तो हम सभी को इसकी भीनी-भीनी खुश्बू और गहरा लाल रंग याद आता है। लड़कियों को त्योहारों और शादी के मौसम में सुंदर मेहंदी डिजाइन दिखाने का मौका मिलता है। हालाँकि अधिकतर मेहँदी का उपयोग हाथों को सजाने के लिए किया जाता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं जिस प्रकार मेहंदी का इस्तेमाल आपके लिए लाभकारी होता है उसी प्रकार मेहंदी का तेल भी आपके लिए काफी फायदेमंद है? मेहंदी का तेल भी कई मामलों में उपयोगी माना जाता है।

मेहंदी को हिना के नाम से भी जाना जाता है, यह मेहंदी के पत्तों से तैयार की जाती है। यह एशिया के अलावा आस्ट्रेलिया और अफ्रीका में भी उगाई जाती है। इसका छोटे पत्तों के साथ एक कांटेदार वृक्ष होता है और यह उपोष्णकटिबंधीय (subtropical) इलाकों में उगता है।

जब इसके सूखे पत्तों को तेल या पानी के साथ मिक्स किया जाता है, तो एक गहरे लाल रंग (जिसे बरगंडी कहते हैं) का पेस्ट तैयार होता है। सूखे पत्तों और तेल से बने पेस्ट को दुल्हन को सजाने के लिए उपयोग किया जाता है। कुछ संस्कृतियों में, दूल्हे के हाथ में भी मेहंदी लगाई जाती है, क्योंकि इसे शुभ माना जाता है।

(और पढ़ें - मेहंदी के औषधीय गुण)

आगे पढ़िए मेहँदी के तेल के लाभ और नुकसान -

  1. मेहंदी के तेल के फायदे - Mehndi oil benefits in hindi
  2. मेहंदी के तेल के नुकसान - Mehndi oil side effects in hindi
  3. मेहंदी का तेल बनाने का तरीका - Mehandi oil banane ka tarika
  4. मेहंदी तेल उपयोग करने का तरीका - Mehndi oil kaise istemal kare

मेहंदी के पत्ते में "हेनोटनेटिक एसिड" (hennotannic acid) नामक एक प्राकृतिक एसिड होता है। यह एसिड ही है जो मेहंदी को उसका रंग देता है। यह एसिड पानी में नहीं घुलता है और इसलिए जब मेहंदी के पत्तों को हिना के पानी के साथ मिलाने पर गहरा रंग प्राप्त नहीं होता है। लेकिन ये गहरा रंग मेहंदी के तेल से मिल सकता है।

(और पढ़ें - टी ट्री ऑयल के फायदे)

मेहंदी के तेल में "टरपीन" (terpene: पौधों में पाया जाने वाला एक यौगिक जो पौधे से बने तेल को रंग और खुशबू देता है) की काफी मात्रा होती है, जो पौधों द्वारा स्वाभाविक रूप से मौजूद होता है। मेहंदी को उसका गहरा रंग इस टरपीन से ही मिलता है।

(और पढ़ें - कपूर के फायदे)

तो आइये जानें मेहँदी आयल के लाभ -

मेहंदी तेल के लाभ रखे मूड को अच्छा - Mehndi ka tel rakhe mood ko accha in Hindi

मेहंदी के तेल का इस्तेमाल व्यापक रूप से अरोमाथेरेपी के लिए किया जाता है। यदि आप तनाव या उदास महसूस कर रहे हैं, तो आप मेहंदी का तेल उपयोग कर सकते हैं। यह आपके मूड को अच्छा करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - तनाव से बचने के उपाय)

मेहंदी का तेल त्वचा के लिए है लाभकारी - Mehndi oil ke labh skin ki samasya me in Hindi

आप मेहंदी का तेल अपने नहाने के पानी में मिला सकते हैं, इससे आपकी त्वचा मुलायम बनेगी और साथी ही आपका मन भी शांत होगा। मेहंदी का तेल खुजली और ड्राई स्किन का इलाज करने के लिए जाना जाता है, इसलिए सर्दियों में लोशन या मॉइस्चराइजर के अलावा आप इसे भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - खुजली के घरेलू उपाय)

मेहंदी तेल का उपयोग करे रूम फ्रेशनर की तरह - Mehndi tel ke fayde room freshener ki tarah

आप मेहंदी तेल को कमरे में सुगंध फैलाने के लिए (रूम फ्रेशनर के रूप में) इस्तेमाल कर सकते हैं। यह कमरे की गंध को दूर करने में मदद कर सकता है और आपके कमरे को एक मीठी खुशबू दे सकता है।

(और पढ़ें - लैवेंडर के तेल के फायदे)

मेहंदी तेल के फायदे करे बालों की समस्या को दूर - Mehndi ke tel ke gun dur kare balon ki samasya in Hindi

मेहंदी का तेल त्वचा रोग के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। आमतौर पर सर्दियों के महीनों में लोग रूखी त्वचा और उसमें खुजली से परेशान रहते हैं। थोड़ा सा मेहंदी का तेल लगाने से त्वचा या खोपड़ी से रूखेपन और खुजली को कम किया जा सकता है।

खुजली और रूखी त्वचा से राहत पाने के लिए आप थोड़ा सा मेहंदी का तेल लें और प्रभावित जगह पर लगाएं। इसके बाद आप तरोताजा और अच्छा महसूस करेंगे।

(और पढ़ें - सिर में खुजली के लिए घरेलू उपाय)

  1. कुछ लोगों को इसके प्रयोग से एलर्जी हो सकती है। इसलिए एलर्जी से बचने के लिए, इसके इस्तेमाल से दूर रहें। 
  2. इसे सीमित मात्रा में ही प्रयोग करें।

(और पढ़ें - एलर्जी का उपाय)

  1. मेहंदी का तेल बनाने के लिए, सबसे पहले हिना की पत्तियों को पीसकर पेस्ट तैयार करें।
  2. पत्तियों को पीसते समय अधिक मात्रा में पानी का उपयोग न करें। आसानी से पेस्ट तैयार करने के लिए केवल कुछ बूंद पानी ही इस्तेमाल करें। 
  3. इसके बाद, इस मिश्रण से आंवला के आकार के गोले बनायें। 
  4. अब एक पैन में 500 मिलीलीटर नारियल का तेल गर्म करें।
  5. फिर हिना के पेस्ट से तैयार गोलों को नारियल के तेल में डाल दें।
  6. तेल को अच्छे से उबालें।
  7. जब तेल का रंग बदल जाए तो पैन को आंच से हटा दें।  
  8. इसे ठंडा होने दें और तेल को छान लें। मेहँदी का तेल तैयार है।
  9. इसे एक एयर-टाइट बोतल में रखें।

मेहंदी तेल का उपयोग कैसे करें?

  1. 10 ग्राम मेहंदी पाउडर में 1 से 3 मिलीलीटर मेहंदी का तेल मिलाएं। इस मात्रा से अधिक तेल का इस्तेमाल न करें। 
  2. यदि आप गर्भवती हैं, तो मेहंदी तेल का उपयोग करने से बचें। क्योंकि यह तेल आपके बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता है। तेल का उपयोग करने से पहले, अपने डॉक्टर से सलाह लें।
  3. तेल का उपयोग करने से पहले "पैच टेस्ट" करना सबसे अच्छा होता है (पैच टेस्ट यानी एक बहुत ही छोटे से हिस्से पर लगा कर देखना कि कोई प्रतिक्रिया तो नहीं होती)। इससे आपको ये पता चलेगा कि आपको एलर्जी है या नहीं।
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ