गर्भावस्था या प्रसव के दौरान किसी प्रकार की जटिलता होने पर डॉक्टर सिजेरियन डिलीवरी का निर्णय ले सकते हैं. इसे सी-सेक्शन के रूप में भी जाना जाता है. सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला को कई तरह की मानसिक और शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. इतना ही नहीं सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को रोजमर्रा के कामों में भी कई परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं.

ऐसे में जल्दी रिकवर होने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल व डाइट पर ध्यान देना जरूरी है. साथ ही पर्याप्त मात्रा में पानी भी पीते रहना चाहिए. ऐसे में सी-सेक्शन के बाद महिलाओं के मन में अक्सर सवाल उठता है कि उन्हें एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए?

आज इस लेख में हम यही जानने का प्रयास करेंगे कि सी-सेक्शन के बाद पानी पीना चाहिए या नहीं और अगर पीना चाहिए तो कितना -

(और पढ़ें - सिजेरियन डिलीवरी के बाद देखभाल)

  1. क्या सी-सेक्शन के बाद पानी पी सकते हैं?
  2. डिलीवरी के बाद कितना पानी पीना चाहिए?
  3. सी-सेक्शन के बाद रखें इन बातों का ध्यान
  4. सारांश
सी-सेक्शन के बाद कितना पानी पीना चाहिए? के डॉक्टर

जी हां पी सकते हैं और इसकी पुष्टि कुछ मेडिकल रिसर्च से भी होती है. तुर्की के अलान्या रिसर्च एंड मेडिकल सेंटर में 2005 व 2006 के दौरान सी-सेक्शन के जरिए शिशु को जन्म देने वाली महिलाओं पर रिसर्च किया गया. इसके तहत 100 महिलाओं के एक समूह को सर्जरी के 2 घंटे बाद तरल पदार्थ दिया गया था. वहीं, 100 महिलाओं के दूसरे समूह को सर्जरी के 8 घंटे बाद तरल पदार्थ दिया गया. जिन महिलाओं ने लिक्विड ड्रिंक को आसानी से पचा लिया, उन्हें पानी के बाद ठोस पदार्थ खाने को दिए गए. इस परीक्षण में यह नतीजा निकला कि सिजेरियन डिलीवरी के 2 घंटे बाद लिक्विड या पानी देना सुरक्षित है. महिलाएं पानी को बिना किसी परेशानी के पचा लेती हैं.

एनसीबीआई की साइट पर उपलब्ध एक अन्य रिसर्च में भी माना गया है कि सी-सेक्शन के बाद पीने के लिए पानी देने से नकारात्मक प्रभाव कम ही देखने को मिलते हैं. सी-सेक्शन डिलीवरी अस्पताल में होती है और  डिलीवरी के बाद कुछ दिन अस्पताल में ही रहना पड़ता है. ऐसे में डॉक्टर महिलाओं को सिजेरियन डिलीवरी के बाद पानी पीने की सलाह दे सकते हैं. महिलाएं सी-सेक्शन के 8 घंटे बाद हल्का आहार लेना भी शुरू कर सकती हैं.

(और पढ़ें - सिजेरियन डिलीवरी के बाद मासिक धर्म)

नॉर्मल डिलीवरी हो या फिर सिजेरियन, दोनों की अवस्थाओं में पानी पीना जरूरी होता है, क्योंकि मां के दूध में 90 प्रतिशत पानी होता है. हाइड्रेशन के स्तर को बनाए रखने के लिए अधिक लिक्विड लेने की सलाह दी जाती है. हेल्थ एक्सपर्ट्स डिलीवरी के बाद यानी स्तनपान कराने वाली महिलाओं को रोज लगभग 3-4 लीटर पानी पीने की सलाह देते हैं.

अगर किसी महिला के स्तनों में पर्याप्त दूध का उत्पादन नहीं हो रहा हो, तो ऐसे में डॉक्टर अधिक पानी और लिक्विड लेने की सलाह दे सकते हैं. इससे मां के दूध के उत्पादन को बढ़ावा मिलता है. अगर पर्याप्त पानी या तरल पदार्थ नहीं लिया जाता है, तो इससे कई समस्याएं हो सकती हैं. इससे महिला को कब्जचक्कर आनामुंह में सूखापन, फटे होंठ, थकान, ऊर्जा की कमी, सिरदर्दमतली व मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है. जरूरी नहीं कि तरल पदार्थ सिर्फ पानी ही हो, इसमें जूस, नारियल पानीदूध व दही आदि को भी शामिल किया जा सकता है.

(और पढ़ें - सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए)

बेशक, सी-सेक्शन के बाद महिला को रिकवर होने में समय लगता है, लेकिन इस दौरान कुछ बातों को जरूर ध्यान में रखना चाहिए -

  • सिजेरियन डिलीवरी के बाद ज्यादातर महिलाएं 2 से 3 दिन तक अस्पताल में रहती हैं. इस दौरान बच्चे के साथ आराम करें. बच्चे को स्तनपान कराएं और उसकी पूरी देखभाल करें.
  • सर्जरी के बाद ब्लड प्रेशर व हार्ट रेट पर ध्यान दें. साथ ही इस दौरान योनि से रक्तस्त्राव भी हो सकता है.
  • चक्कर या कमजोरी महसूस होने पर डॉक्टर को बुलाएं. दर्द की कोई भी दवा लेने के बाद टहलने की आदत बनाएं.
  • सर्जरी के बाद कट के आसपास का एरिया सुन्न हो सकता है. इसमें दर्द महसूस हो सकता है. ऐसे में डॉक्टर के द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें.

(और पढ़ें - सिजेरियन के बाद पेट कम करने के उपाय)

डिलीवरी चाहे सिजेरियन हो या नॉर्मल, इसके बाद कम से कम 3 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए. महिला पर्याप्त पानी पी रही है या नहीं इसका पता लगाने के लिए पेशाब के रंग की जांच की जा सकती है. अगर पेशाब का रंग हल्का पीला है, तो इसका मतलब है महिला हाइड्रेट है और सही मात्रा में पानी पी रही है. इसके अलावा, अगर पेशाब का रंग गहरा पीला है, तो इसका मतलब है महिला डिहाइड्रेट है और उसे अधिक पानी पीने की जरूरत है. साथ ही महिला डॉक्टर की सलाह पर भी पानी की मात्रा तय कर सकती है.

(और पढ़ें - डिलीवरी के बाद मां की देखभाल)

Dr. Hrishikesh D Pai

Dr. Hrishikesh D Pai

प्रसूति एवं स्त्री रोग
39 वर्षों का अनुभव

Dr. Archana Sinha

Dr. Archana Sinha

प्रसूति एवं स्त्री रोग
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Rooma Sinha

Dr. Rooma Sinha

प्रसूति एवं स्त्री रोग
25 वर्षों का अनुभव

Dr. Vinutha Arunachalam

Dr. Vinutha Arunachalam

प्रसूति एवं स्त्री रोग
29 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ