myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्या आपने कभी यह सोचा है कि संगीत सुनना हमारे शरीर के लिए कितना अच्छा होता है। संगीत आपके किसी भी कारण हो रहे तनाव को दूर करके आपकी मदद कर सकता है। इसके अलावा जब सही प्रकार का म्यूजिक सुना जाता है तो यह आत्मा और शरीर के लिए एक दवा के रूप में काम करता है। कुछ रोगों में जहां दवाइयां काम नहीं करती वहां पर संगीत अपना आश्चर्यजनक प्रभाव दिखाता है।

यह स्पष्ट है कि संगीत हजारों सालों से हमारे जीवन का हिस्सा रहा है और यह पृथ्वी पर लगभग हर संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। तो आइए जानते हैं संगीत के कुछ स्वास्थ्य लाभों के बारे में -

  1. संगीत सुनने के फायदे करें तनाव और चिंता को कम - Music to Reduces Stress and Anxiety in Hindi
  2. संगीत के फायदे हैं दर्द को कम करने के लिए - Music Decreases Pain in Hindi
  3. पुराना संगीत सुनकर बढ़ाएँ प्रतिरक्षा क्षमता - Music Improve Your Immune System in Hindi
  4. संगीत सुनना करे एक्सरसाइज में सहायता - Music Motivates for Exercise in Hindi
  5. संगीत सुने मेमोरी बढ़ाने के लिए - Music Boosts Memory in Hindi
  6. शास्त्रीय संगीत है नींद के लिए अच्छा - Music Good for Sleeping in Hindi
  7. म्यूजिक करे कम खाने में मदद - Music Helps You Eat Less in Hindi
  8. रक्त वाहिका के कार्यों के लिए सुने संगीत - Music Enhances Blood Vessel Function in Hindi
  9. संगीत के लाभ करें उच्च रक्तचाप में सुधार - Music for Reducing Blood Pressure in Hindi
  10. स्ट्रोक के मरीजों के लिए संगीत सुनना है लाभकारी - Music Good for Stroke Patients in Hindi

कई लोगों को दैनिक रूप से तनाव और चिंता का सामना करना पड़ता है। इन समस्याओं से निपटने के लिए, सबसे आसान विकल्पों में से एक धीमी गति वाला संगीत सुनना। इस तरह का संगीत बहुत तनावपूर्ण समय के दौरान भी लोगों को शांत कर सकता है।

संगीत कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। यह तनावग्रस्त मांसपेशियों के आराम को भी बढ़ावा देता है और आपको अधिक आशावादी और सकारात्मक महसूस कराने में मदद कर सकता है।

एप्लाइड साइकोफिज़ियोलॉजी और बायफ़ीडबैक नोट्स में प्रकाशित एक 2007 का अध्ययन है कि हेवी संगीत सुनना या अकेले बैठने की तुलना में शास्त्रीय और खुद के द्वारा चुने गये संगीत को सुनना तनाव, क्रोध को कम करने में सहायक होता है।

संगीत के माध्यम से तनाव को राहत के लिए अपनी मनपसंद का संगीत सुनना आपके मूड को फिट करने में मदद करेगा।

दर्द की समस्या से निपटने के लिए संगीत में अनूठी क्षमता होती है। इससे दर्द को कम करने में मदद मिलती है, लेकिन जिस तंत्र के माध्यम से ऐसा होता है वह अभी क्लियर नहीं है।

हालांकि, विशेषज्ञों का मानना है कि संगीत का प्रभाव डोपैमिन (एक न्यूरोट्रांसमीटर) को रिलीज़ करने में एक भूमिका निभा सकता है जो खुशी और विश्राम के लिए महत्वपूर्ण है।

2011 के जर्नल ऑफ़ पेन में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि संगीत सुनना दर्द को प्रतिक्रिया कम कर सकता है। चिंतित लोग आसानी से संगीत में अवशोषित हो जाते हैं वे दर्द से तुरंत राहत महसूस कर सकते हैं।

दर्द प्रबंधन नर्सिंग में 2013 के एक अध्ययन ने पाया कि फ़िब्रोम्यल्गिया (fibromyalgia) से पीड़ित लोगों में दर्द और अवसाद को कम करने में संगीत का सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। फ़िब्रोम्यल्गिया एक बीमारी है जो गंभीर मस्तिष्ककोशिका के दर्द से होती है, जो आम तौर पर असहनीय होती है। 

(और पढ़ें - योग को अपनाएं, जोड़ों में दर्द से राहत पायें)

संगीत सुनने का एक बड़ा लाभ यह है कि यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्यों को बढ़ावा दे सकता है।

जब आप संगीत सुनते हैं, आपके शरीर में इम्मुनोग्लोबुलिन ए में वृद्धि होती है। यह एंटीबॉडी श्लेष्म प्रणाली में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और कोशिकाओं को स्वस्थ रखती है।

यह तनाव-संबंधी हार्मोन कोर्टिसोल को भी कम करता है, जिससे प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया कम हो सकती है।

जर्नल ऑफ बिहेवियरल मेडिसिन में प्रकाशित एक 2004 के अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला कि पुराना संगीत सुनने की वजह से कोर्टिसोल का स्तर कम हो जाता है और यह भी पता चलता है कि गायक-मंडली को भावनात्मक और प्रतिरक्षा क्षमता दोनों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।

संक्रामक फेफड़ों से पीड़ित रोगियों के फिजियोथेरेपी उपचार के दौरान भावनाओं, प्रतिरक्षा प्रणाली पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अपने प्रतिरक्षा को मजबूत रखने और अक्सर बीमार होने से रोकने के लिए अपने पसंदीदा संगीत को सुनना प्रारंभ करें। 

(और पढ़ें – प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ)

संगीत आपके एथलेटिक प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। यह थकान को कम करने, साइकोलॉजिकल उत्तेजना के स्तर में वृद्धि के माध्यम से एक्सरसाइज में सहायता करता है। 

(और पढ़ें – थकान दूर करने के घरेलू उपाय)

ब्रूनल विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक 2008 के एक अध्ययन के अनुसार संगीत और हृदय एक्सरसाइज परफॉर्मेंस के बीच एक मजबूत संबंध है।

अच्छा संगीत सुनने से लगभग 15 प्रतिशत तक किसी व्यक्ति के शारीरिक धीरज में वृद्धि हो सकती है और कार्डियोवास्कुलर परफॉर्मेंस का अनुभव कहीं अधिक सकारात्मक बन सकता है। इसलिए अगली बार जब आप व्यायाम करें तो रॉक एंड रोल या अन्य उत्साहित संगीत सुनना मत भूलें। 

(और पढ़ें - एक्सरसाइज के समय संगीत सुनना है लाभकारी)

संगीत भी संज्ञानात्मक स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। जब आप अध्ययन करते समय संगीत सुनते हैं, तो इससे आपको बेहतर याद रखने में मदद मिलती है। संगीत डोपामाइन रिहाई को बढ़ावा देने में मदद करता है जिससे सीखने में मदद मिलती है।

2006 के प्रकाशित एक अध्ययन में संगीत सुनने और मस्तिष्क के विकास के बीच एक मजबूत संबंध पाया गया। यह पाया गया कि जो बच्चे संगीत प्रशिक्षण प्राप्त नहीं करते हैं उनकी तुलना में जो संगीत प्रशिक्षण लेते हैं उनके मस्तिष्क के विकास और मेमोरी बेहतर थी।

संगीत भी मेमोरी से संबंधित समस्याओं से पीड़ित लोगों की मदद करता है। एक अध्ययन में पाया गया कि रोज़ाना स्व-चयनित संगीत सुनने वाले स्ट्रोक रोगियों की मौखिक (Verbal) मेमोरी और ध्यान केंद्रित करने में महत्वपूर्ण सुधार देखा गया। 

(और पढ़ें - शंखपुष्पी के लाभ बचाएँ मेमोरी लॉस से)

अगर आपको नींद आने में मुश्किल होती है तो सोते समय पहले कुछ सुखदायक संगीत सुनें। हालांकि रॉक या रेट्रो संगीत सुनने से बचें, इसके विपरीत प्रभाव हो सकते हैं।

सुखदायक शास्त्रीय संगीत सहानुभूति तंत्रिका तंत्र की गतिविधि कम कर देता है, चिंता कम करता है, मांसपेशियों को आराम देता है और उन विचारों से व्याकुलता प्रदान करता है जो आपको सोने की अनुमति नहीं देते हैं।

जर्नल ऑफ एडवांस्ड नर्सिंग में प्रकाशित एक 2008 के अध्ययन में कहा गया है कि मसल रिलैक्सेशन और विचारों से व्याकुलता के द्वारा सोने की समस्याओं को कम करने में सुखदायक शास्त्रीय संगीत एक प्रभावी हस्तक्षेप है।

रात्रि के दौरान आराम से सोने का आनंद लेने के लिए सोने से पहले 30 से 45 मिनट आरामदायक संगीत सुनने की आदत डालें। 

(और पढ़ें - एक गहरी नींद के लिए सोने से पहले अपनी बॉडी को इस तरह करें स्ट्रेच)

भोजन के दौरान सॉफ्ट म्यूजिक बजना लोगों की कम खाने में मदद कर सकता है। म्यूजिक उन्हें पूर्ण रूप से जागरूक बनाता है कि उनका पेट भर चुका है।

मनोवैज्ञानिक रिपोर्ट में प्रकाशित एक 2012 के अध्ययन ने इस तथ्य पर प्रकाश डाला कि रेस्टोरेंट लाइटिंग और संगीत कैलोरी के सेवन को कम करने और संतोष बढ़ाने में सहायता कर सकता है।

इसके अलावा, संगीत चिंता को कम करने में मदद करता है। चिंता में आपको कार्बोहाइड्रेट और वसा से युक्त अधिक खाद्य पदार्थों की इच्छा होती है। इसलिए, संगीत से आपको चिंता कम करके आपको स्वस्थ खाने में मदद मिल सकती है।

जब आप घर पर खाना खाते हैं कमरे में रोशनी को कम रखें और कम कैलोरी का उपभोग करने और अपने भोजन का अधिक आनंद लेने के लिए कुछ सुखदायक संगीत सुनें। कम कैलोरी वाला भोजन आपके वजन को प्रबंधित करने मदद करेगा। 

(और पढ़ें - वजन घटाने के लिए क्या खाएं और वेट कम करने के लिए डाइट)

जब आप आनंदपूर्ण संगीत सुनते हैं तो आप अच्छा और खुश महसूस करते हैं। संगीत सुनने के दौरान आपके दिल और रक्त वाहिका के कार्यों पर एक स्वस्थ प्रभाव पड़ता है।

संगीत शरीर के एंडोथेलियम फंक्शन को प्रभावित करता है, जो रक्त कोशिकाओं की परत बनाता है। बेहतर एंडोथेलियम फंक्शनलिटी (Endothelium Functionality) एक स्वस्थ संवहनी प्रणाली के पीछे का रहस्य है।

मैरीलैंड मेडिकल सेंटर यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए 2008 के एक शोध में कहा गया है कि खुशहाल संगीत से उत्पन्न होने वाली भावनाओं का रक्त वाहिका कार्यों (blood vessel function) पर स्वस्थ प्रभाव पड़ता है।

संगीत नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन भी बढ़ाता है जो रक्त वाहिकाओं को फैलाने में मदद करता है, उन्हें स्वस्थ और लचीला रखने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

हर सुबह और शाम 30 मिनट के लिए कुछ आरामदायक संगीत को सुनकर उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोग अपने रक्तचाप के स्तर में बहुत सुधार देख सकते हैं।

एक 2007 के अध्ययन में चिकित्सा और जीवविज्ञान सोसायटी में आईईईई (IEEE) इंजीनियरिंग के 29 वें वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन की कार्यवाही में प्रकाशित अध्ययन ने हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त 63 से 93 साल की उम्र के मरीजों पर संगीत का असर विश्लेषण किया। और अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला कि चार हफ्तों के लिए प्रत्येक दिन 25 मिनट के लिए एक निश्चित प्रकार के संगीत को सुनने से उच्च सिस्टल रक्तचाप (एसबीपी) कम हो जाता है।

हृदयरोगों से पीड़ित रोगियों को हृदय को मजबूत बनाने और रिकवरी के समय में सुधार करने में संगीत भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

म्यूजिक भी स्ट्रोक के मरीजों की मदद कर सकता है। स्ट्रोक के बाद बिस्तर में आराम करते हुए संगीत सुनना मरीजों को आराम करने और तनाव के स्तर को कम करने में मदद करता है।

जर्नल में प्रकाशित एक 2008 का अध्ययन ब्रेन रिपोर्ट है कि स्ट्रोक के बाद शुरुआती चरणों में संगीत सुनने से रोगियों की रिकवरी में सुधार हो सकता है। अध्ययन बताता है कि संगीत में तीन तंत्रिका तंत्र होते हैं जिनसे मदद मिलती है।

  • संगीत खुशी, इनाम, उत्तेजना और प्रेरणा की भावना देता है।
  • यह सीधे मस्तिष्क के क्षतिग्रस्त क्षेत्रों की रिकवरी को उत्तेजित करता है।
  • यह क्षति के बाद तंत्रिका नेटवर्क को सुधारने के लिए मस्तिष्क की क्षमता को भी उत्तेजित करता है। (और पढ़ें - किडनी बीन्स बेनिफिट्स करें हृदय की रक्षा)
और पढ़ें ...