myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

पानी साफ करने का मतलब होता है गंदे पानी में मौजूद अशुद्धियों और केमिकल को हटाना, ताकि पानी पीने लायक बन सके। वैसे तो बाजार में पानी को साफ करने की बहुत सारी मशीनें उपलब्ध हैं, जिन्हें आप अपने घर में लगवाकर हमेशा साफ पानी पी सकते हैं, लेकिन आपको कभी इन मशीनों के बिना पानी साफ करने की आवश्यकता भी हो सकती है।

(और पढ़ें - पानी कितना पीना चाहिए)

पानी को साफ करने के बहुत सारे प्राकृतिक या घरेलू उपाय होते हैं, जिनका उपयोग बाहर या घर में आसानी से किया जाता है। इसके अलावा बाजार में ऐसी दवाएं भी मिलती हैं जिन्हें पानी में डालने से पानी साफ हो जाता है। आप चाहें तो अपने घर में या घूमने जाते समय इन दवाओं को अपने साथ रख सकते हैं, ताकि किसी आपातकालीन स्थिति में आप आसानी से गंदा पानी साफ कर सकें।

(और पढ़ें - तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे)

इस लेख में पानी को शुद्ध बनाने या साफ करने के तरीके, उपाय और विधि के बारे में बताया गया है।

  1. पानी को साफ करने के प्राकृतिक तरीके - Pani ko saaf kaise kare
  2. पानी साफ करने की दवा - Pani ko saf karne ke liye dawaye
  3. पानी साफ करने की मशीन - Pani saaf karne wali machine
  4. RO प्यूरीफायर का पानी तो नहीं कर रहा आपको बीमार, जानें इसके नुकसान

गंदे पानी को साफ करने के लिए कई प्राकृतिक उपाय होते हैं और इन सारे तरीकों में से सबसे आम तरीका है पानी को कपडे या छलनी की मदद से छानना। ऐसा करने से पानी में मौजूद वे अशुद्धियां निकल जाएंगी जो आप देख पा रहे हैं। हालांकि, पानी को छानने से उसमें मौजूद कीटाणु और केमिकल जैसी अशुद्धियां नहीं निकल पाती। इन अशुद्धियों को निकलने के लिए नीचे दिए गए तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है - 

  1. फिटकरी से पानी साफ करने की विधि - Fitkari se pani kaise saaf kare
  2. उबालकर करें पानी साफ - Pani ubalkar kare saf
  3. धूप से पानी साफ करने का देशी तरीका - Dhoop se pani saf karne ka upay
  4. गंदे पानी को कोयले से करें साफ - Charcoal se kare pani ko saf
  5. रेत और चारकोल से बनाएं पानी साफ करने का फिलटर - Biofilter kaise banate hai

फिटकरी से पानी साफ करने की विधि - Fitkari se pani kaise saaf kare

पानी को साफ करने के लिए घर में आसानी से पाई जाने वाली फिटकरी का प्रयोग किया जा सकता है। ऐसा माना जाता है कि आमतौर पर पानी में फॉस्फोरस नामक तत्व होता है, जो पानी को अशुद्ध बनाता है। फिटकरी में ऐसे पदार्थ होते हैं, जो फॉस्फेट के कणों को अपने साथ चिपका लेते हैं, जिससे पानी को छानना और उसमें से गंदगी निकालना आसान हो जाता है।

(और पढ़ें - फास्फोरस की कमी के लक्षण)

फिटकरी को अंगेजी में एलम (Alum) या "पोटैशियम एल्युमीनियम सल्फेट" (Potassium aluminum sulfate) भी कहा जाता है।

फिटकरी से पानी को साफ करने के लिए -

  • तीन लीटर गंदे पानी को एक बर्तन में निकाल लें।
  • अब इस पानी में करीब 35 से 40 ग्राम फिटकरी डाल दें।
  • इसके बाद इस पानी को पांच से दस मिनट के लिए अच्छे तरीके से मिलाएं।
  • आप देखेंगे कि कुछ देर बाद बर्तन के नीचे अशुद्धियां इकट्ठी होने लगेंगी।
  • अब किसी अन्य बर्तन के ऊपर छलनी रखें और पानी को छानें। आप चाहें तो छलनी की जगह कपडे का इस्तेमाल भी कर सकते हैं, लेकिन याद रहे कि कपड़ा साफ होना चाहिए।
  • पानी को छानने से उसमें जमा हुईं फॉस्फेट की अशुद्धियां निकल जाएंगी और पानी पीने लायक हो जाएगा।

उबालकर करें पानी साफ - Pani ubalkar kare saf

पानी को साफ और पीने के लिए सुरक्षित बनाने के लिए उसे उबालना अच्छा माना जाता है। हालांकि, उबालने से पानी की सारी अशुद्धियां और कीटाणु नहीं निकलते।

पानी में मौजूद सारे कीटाणु न निकलने पर भी आप पानी को उबालकर पी सकते हैं, क्योंकि ऐसा करने से कीटाणु निष्क्रिय हो जाते हैं और आपको नुकसान नहीं पहुंचाते। पानी को एक या दो मिनट अच्छी तरह से उबालने के बाद उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने के बाद आप पानी को पी सकते हैं। याद रहे कि पानी को ठंडा करने के लिए किसी तरीके का उपयोग न करें, इसे अपने आप ठंडा होने दें।

(और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)

ठंड के मौसम में या ऊंचाई पर रहने वाले लोगों को पानी के कीटाणु मारने के लिए करीब 4 से 5 मिनट तक उबालने की सलाह दी जाती है, ताकि उसमें मौजूद नुकसानदायक कीटाणु मर जाएं और पानी पीने लायक हो सके।

धूप से पानी साफ करने का देशी तरीका - Dhoop se pani saf karne ka upay

पानी को साफ करने का एक बहुत ही आसान और प्राकृतिक तरीका है पानी को धूप में रखना। धूप की गर्मी और सूरज की किरणों में मौजूद पराबैंगनी किरणों (यूवी रेज) से पानी के कीटाणु मर जाते हैं और पानी पीने लायक हो जाता है।

  • इसके लिए पानी को एक प्लास्टिक की बोतल में भर लें और उसका ढक्कन कसकर बंद कर दें।
  • अब इस बोतल को ऐसी जगह पर रख दें जहां सीधी धूप आ रही हो, हो सके तो बोतल को लिटाकर रखें।
  • इस बोतल को धूप में कम से कम 6 घंटे और ज्यादा से ज्यादा 24 घंटों के लिए छोड़ दें। इसके बाद आप बोतल का पानी पी सकते हैं।

(और पढ़ें - सूरज की रौशनी के फायदे)

याद रहे कि इस तरीके के लिए केवल प्लास्टिक की बोतल ही प्रयोग करें क्योंकि प्लास्टिक की बोतल में सूरज की किरणें चली जाती हैं और जल्दी बाहर नहीं आती। इसके कारण किरणों में मौजूद यूवी रेज पानी में मौजूद कीटाणुओं को खत्म कर देती हैं।

गंदे पानी को कोयले से करें साफ - Charcoal se kare pani ko saf

पानी को साफ करने के लिए कोयले (चारकोल) का प्रयोग भी किया जा सकता है। इसके लिए आपको कोयले, रेत और एक बोतल की आवश्यकता होती है।

  • सबसे पहले एक बोतल को चाकू की मदद से नीचे से काट लें ताकि बोतल नीचे से भी खुल जाए।
  • इसके बाद बोतल के ढक्कन को हटाकर उसकी जगह एक साफ कपडा बांध दें।
  • अब बोतल को उल्टी करके किसी बर्तन में थोड़ी ऊंचाई पर रख दें ताकि उसमें से पानी बर्तन में निकल सके।
  • इसके बाद उल्टी बोतल में उसकी कटे हुए भाग से कोयला डालें। आपको बोतल के ढक्कन वाली जगह के ऊपर कोयले की एक परत बनानी है। याद रहे कि कोयला ज्यादा मोटा न हो, बोतल में डालने से पहले इसे थोड़ा तोड़ या मसल लें।
  • अब कोयले की इस परत के ऊपर एक परत रेत की डालें।
  • इसके बाद बोतल की ऊपरी तरफ से उसमें पानी डालने शुरू करें। आप देखेंगे कि पानी छानकर नीचे वाले बर्तन में इकठ्ठा होने लगेगा।
  • याद रहे कि ये पानी फिल्टर तो हो जाता है, लेकिन पीने से पहले इसे उबालने की आवश्यकता होती है।

(और पढ़ें - उबली हुई सब्जियां खाने के फायदे)

रेत और चारकोल से बनाएं पानी साफ करने का फिलटर - Biofilter kaise banate hai

बायो फिल्टर बनाने के लिए आपको कोयले, पत्थर, रेत और एक बोतल की आवश्यकता होती है। ये भी वैसे ही बनाया जाता है, जैसे हमने आपको ऊपर वाले भाग में बोतल और चारकोल से फिल्टर बनाना सिखाया था।

  • सबसे पहले एक बोतल को नीचे से चाकू की मदद से काट लें ताकि उसका नीचे वाला भाग भी खुल जाए। बोतल काटने के लिए चाकू का प्रयोग सावधानी से करें। (और पढ़ें - कटने पर क्या करें)
  • अब बोतल का ढक्कन निकालकर उसकी जगह एक साफ कपडा बांध दें।
  • इसके बाद बोतल को उल्टा करके किसी बर्तन में थोड़ी ऊंचाई पर रखें, ताकि बोतल से निकलने वाला पानी उस बर्तन में इकट्ठा हो सके।
  • अब बोतल में कोयला तोड़कर डालें और उसकी एक परत बिछा दें।
  • इसके बाद कोयले की परत के ऊपर मिट्टी की एक परत डालें। (और पढ़ें - मिट्टी खाने के नुकसान)
  • मिट्टी के ऊपर पत्थरों की एक परत बनाएं, ताकि पानी में मौजूद बड़ी अशुद्धियां वहीं रुक जाएं।
  • अब उल्टी की गई बोतल के ऊपर से पानी डालना शुरू करें। आप देखेंगे कि नीचे रखे गए बर्तन में साफ पानी जमा होने लगेगा।

पानी साफ करने का उपाय है क्लोरीन - Chlorine se pani saf karne ka tarika

पानी को साफ करने के लिए क्लोरीन का इस्तेमाल बहुत अधिक किया जाता है। इससे केवल नहाने का पानी ही साफ नहीं होता बल्कि पानी पीने लायक भी बनाया जा सकता है। क्लोरीन का इस्तेमाल घर में लगाए जाने वाले फिल्टर और आर.ओ. में भी किया जाता है। बाजार में क्लोरीन की गोलियां उपलब्ध होती हैं, जिनकी मदद से आसानी से पानी को साफ किया जा सकता है।

  • इसके लिए बाजार से क्लोरीन की गोलियां खरीद लें। याद रहे कि ये गोलियां लेने से पहले उनकी एक्सपायरी डेट जरूर देख लें।
  • अब गोलियों के पैकेट पर दिए गए निर्देशों के आधार पर पानी में क्लोरीन की गोलियां डालें।
  • इसके बाद गोलियों को पानी में अच्छी तरह से मिला लें।
  • अब इस पानी को करीब 30 से 40 मिनट के लिए छोड़ दें। अगर आपको पानी दूधिया रंग का लग रहा है, तो इस्तेमाल करने से पहले इसे कुछ देर और रखा रहने दें।
  • इसके बाद ये पानी पीने लायक हो जाएगा। हालांकि, क्लोरीन के कारण पानी में हल्की महक और स्वाद आने लगता है।

(और पढ़ें - नहाने का सही तरीका)

आयोडीन से पानी साफ करने का तरीका - Ganda pani saf kare iodine se

पानी को साफ करने के लिए आयोडीन का उपयोग करना बहुत आसान होता है। हालांकि, कई लोगों को इसका स्वाद पसंद नहीं आता। बाजार में पानी साफ करने के लिए आयोडीन की गोलियां भी मिलती हैं, जिनका प्रयोग बहुत आसानी से किया जा सकता है। आप चाहें तो घर में मौजूद तरल आयोडीन का उपयोग भी कर सकते हैं। आयोडीन से पानी से सारे कीटाणु तो नहीं मरते, लेकिन इससे पानी पीने लायक तो हो ही जाता है।

  • इसके लिए पानी को पहले गर्म कर लें। (और पढ़ें - गुनगुना पानी पीने के फायदे)
  • अब इस पानी में तरल आयोडीन डालें। याद रहे आपको 750 मिलीलीटर पानी में आयोडीन की पांच से छः बूंदें डालनी हैं।
  • अगर पानी ज्यादा गंदा है, तो आप इसमें 8 से 10 बूंदें भी डाल सकते हैं।
  • ये करने के बाद पानी को लगभग आधे घंटे तक छोड़ दें।
  • इसके बाद ये पानी आपके पीने लायक हो जाएगा।
  • अगर आप बाजार में मिलने वाली आयोडीन की गोलियों का उपयोग कर रहे हैं, तो उसके पैकेट पर दिए गए निर्देशों के अनुसार उसका प्रयोग करें।

(और पढ़ें - आयोडीन की कमी के लक्षण)

ब्लीच से पानी कैसे साफ करें - Pani ko saf kare bleach se

पानी को साफ करने के लिए घर में उपलब्ध ब्लीच का उपयोग भी किया जा सकता है। हालांकि, इसके लिए ब्लीच में सोडियम ह्यपोक्लोराइड (Sodium hypochlorite) भी होना चाहिए। इसे इस्तेमाल करने का तरीका निम्नलिखित है -

  • सबसे पहले तो इस बात का ध्यान रखें जो ब्लीच आप इस्तेमाल करें उसमें अलग से खुशबू, रंग या ऐसी ही कोई अन्य चीज न मिलाई गई हो।
  • इसके बाद पानी को गर्म कर लें। (और पढ़ें - नमक के पानी के फायदे)
  • अगर आपको पानी में अशुद्धियां दिख रही हैं, तो ब्लीच डालने से पहले पानी को छान लें।
  • अब पानी में ब्लीच डालें।
  • एक लीटर पानी में आपको 2 से 3 बूंदें ब्लीच डालनी होती हैं। अगर आप एक लीटर से ज्यादा या कम पानी का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो ब्लीच भी उसी हिसाब से डालें।
  • इसके बाद पानी को ढककर लगभग आधे घंटे तक छोड़ दें।
  • आपको पानी में से क्लोरीन की महक आनी चाहिए। अगर पानी में से क्लोरीन की महक नहीं आ रही है, तो उसमें पहले जितनी ब्लीच और डालकर छोड़ दें।
  • पानी जितनी ज्यादा देर रखा रहेगा, उतना ही बेहतर तरीके से साफ हो पाएगा।
  • इस पानी को पीने से पहले कुछ देर खुला रखा रहने दें।
  • अब ये पानी आपके पीने लायक हो जाएगा।
  • अगर आपको पानी में क्लोरीन का स्वाद बहुत ज्यादा आ रहा है, तो आप पानी को एक बर्तन से दूसरे बर्तन में बार-बार डाल सकते हैं, ताकि उसकी महक चली जाए।

(और पढ़ें - ब्लीच करने का तरीका)

पानी को साफ करने के कई प्राकृतिक और आसान तरीके उपलब्ध हैं, जिनके बारे में हमने आपको ऊपर वाले भागों में बताया है। हालांकि, आजकल बाजार में पानी साफ करने की ऐसी मशीनें उपलब्ध हैं, जो न केवल पानी की अशुद्धियों को निकालती हैं, बल्कि पानी में आवश्यक खनिज पदार्थ भी डालती हैं। ये खनिज पदार्थ हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

बाजार में पानी साफ करने की दो तरह की मशीनें उपलब्ध हैं, फिलटर और आर.ओ.।

फिलटर और आर.ओ. में सबसे मुख्य अंतर ये है कि फिलटर पानी में दिखने वाली अशुद्धियों और पानी के खराब स्वाद व रंग को ठीक करता है, जबकि आर.ओ. इन अशुद्धियों को तो हटाता ही है, साथ ही पानी में मौजूद कीटाणुओं को भी खत्म करता है।

आप अपनी जरूरत के अनुसार फिलटर या आर.ओ. ले सकते हैं। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि ये पानी साफ करने के लिए मशीन लगवाना प्राकृतिक तरीकों से महंगा होता है, लेकिन इससे आपका समय भी बचता है और आसानी भी होती है।

बाजार में बहुत से फिलटर और आर.ओ. उपलब्ध हैं, जैसे -

  • केंट वाटर प्यूरीफायर।
  • प्योरिट वाटर फिलटर।
  • लिवप्योर वाटर प्यूरीफायर।
  • ए.ओ. स्मिथ वाटर प्यूरीफायर।
  • प्योरिट आर.ओ.।
  • एक्वागार्ड वाटर प्यूरीफायर।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें