myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

पुरुष हो या महिला सभी अपनी त्वचा निखरी और मुलायम देखना चाहते हैं और त्वचा को निखारने के लिए सबसे अच्छा तरीका है ब्लीच। ये त्वचा पर काले बालों के लिए फायदेमंद होती है। लेकिन त्वचा को गोरा करने के विकल्प आजकल बहुत ही जटिल होते जा रहे हैं। और ग्राहकों को दुविधा में डालने के लिए मार्किट में भी त्वचा को गोरा करने के ढेरों उत्पाद देखने को मिलते हैं।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल के तरीके)

हालांकि काले धब्बों या त्वचा की बिगड़ती रंगत को सुधारने के लिए ब्लीच एक बेहतरीन विकल्प है और आप इसका इस्तेमाल अपनी त्वचा के प्रकार के अनुसार हर 15 दिन बाद कर सकते हैं।

(और पढ़ें -  काले दाग हटाने के घरेलू उपाय )

तो आइये आपको बताते हैं त्वचा पर ब्लीच करने के तरीके, फायदे और नुकसान -

  1. ब्लीच करने से पहले व बाद क्या करें और सावधानियां - What to do before and after bleach and precautions in Hindi
  2. ब्लीच करने का तरीका और विधि - How to bleach your skin in Hindi
  3. ब्लीच करने के फायदे - Benefits of bleach for skin in Hindi
  4. ब्लीच करने के नुकसान - Side effects of bleach on skin in Hindi
  5. चेहरे के अनचाहे बालों को इन 5 घरेलू तरीकों से करें ब्लीच

ब्लीच करने से पहले व बाद में क्या करें और साथ ही किन-किन सावधानियों को ध्यान में रखें, ये सब ज़रूरी बाते निम्नलिखित हैं -

  1. दूकान से सही ब्लीच करने के लिए सही उत्पाद खरीदें -
    जब ब्लीचिंग क्रीम खरीदें तो ये सुनिश्चित कर लें कि ब्लीच ख़ासतौर पर त्वचा के लिए ही हो। ब्लीच खरीदते समय इन बातों का भी ध्यान रखें कि ब्लीच आपकी त्वचा के प्रकार के अनुसार हो जैसे तैलीय, रूखी और कॉम्बिनेशन. साथ ही ब्लीचे में कोई ऐसा केमिकल न हो जो आपकी त्वचा को नुकसान पहुचाये। (और पढ़ें - सर्दियों में रूखी त्वचा का इलाज)
     
  2. ब्लीच लगाने से पहले त्वचा पर एक बार पैच टेस्ट ज़रूर करें - 
    उत्पाद का इस्तेमाल करने से पहले, अपनी कोहनी पर ब्लीच की थोड़ी सी मात्रा लेकर लगा लें। फिर कुछ घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें। अगर आपकी त्वचा पर उत्पाद लगाने के बाद किसी भी तरह खुजली या रैशेस होते हैं तो उसे चेहरे पर बिल्कुल भी न लगाएं। इसका मतलब ये है कि आपकी त्वचा केमिकल के सम्पर्क में आने के लिए बहुत संवेदनशील है। (और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए तेल)
     
  3. ब्लीच के डिब्बे पर लिखे निर्देशों का पालन करें - 
    ब्लीच के डिब्बे पर लिखे निर्देशों का पालन करें। कभी भी अधिक ब्लीच न मिलाएं या त्वचा पर उसे ज़्यादा गोरा करने के चक्कर में लम्बे समय तक न छोड़ें। क्योंकि अधिक ब्लीच के प्रभाव से आपकी त्वचा पर एलर्जी हो सकती है। तो डब्बे पर दिए निर्देशों का हमेशा पालन करें। (और पढ़ें - त्वचा पर चकत्तों के घरेलू उपाय)
     
  4. ब्लीच सही ढंगसे लगाएं - 
    जब आप ब्लीच लगाएं तो सूरज के सामने न जाएँ। क्योंकि सूरज की किरणें ब्लीच के काम करने में मिलकर आपकी त्वचा को लाल कर सकती हैं। साथ ही ऐसे आपको रैशेस भी हो सकते हैं. इसके अलावा ये भी सुनिश्चित करें कि ब्लीच आपकी आँखों, नाक और कान में ना जाए। अगर आपको मुहांसों की समस्या है तो ब्लीच न करें। इससे आपके मुहांसे और बढ़ सकते हैं या कोई एलर्जी हो सकती है।

    अगर आप त्वचा को पहली बार ब्लीच कर रहे हैं तो पहले ब्यूटिशियन से बात करें। उनसे पूछें कि आपकी त्वचा के प्रकार के अनुसार ब्लीच का कौनसा ब्रांड सही रहेगी, कौनसी ब्लीच सभी त्वचा के लिए सही होती है आदि। अगर आप पहली बार ब्लीच लगा रहे हैं तो उनसे आप ब्लीच को लगाने का तरीका भी पूछ सकते हैं। (और पढ़ें - खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)
     
  5. त्वचा पर अधिक ब्लीच न लगाएं -
    त्वचा को ब्लीच करना बहुत अच्छा तरीका है क्योंकि ये त्वचा के अत्यधिक बालों को छुपा देती है। लेकिन इसका इस्तेमाल किफायती तौर पर करेंगे तो ये आप ही के लिए बेहतर होगा। महीने में एक बार से ज़्यादा ब्लीच न लगाएं। क्योंकि आपकी त्वचा के बालों को फिर से पहले की तरह होने में समय लगता है। ब्लीच के दौरान अगर आपको कभी भी लगता है कि त्वचा पर जलन या खुजली (हल्की सी त्वचा का खींचना आम है) हो रही है तो जल्द ही त्वचा को पानी से धो लें। (और पढ़ें - व्हाइट हेड्स को दूर करने के फेस पैक)
     
  6. इस्तेमाल करने के बाद सावधानियां -
    आमतौर पर ये कहा जाता है कि त्वचा को ब्लीच करने के बाद कुछ न लगाएं। तो इसलिए बेहतर होगा अगर आप ब्लीच को रात में लगाएं, जिससे किसी और उत्पाद को इस्तेमाल करने की ज़रूरत न पड़े। साथ ही ब्लीच करने के बाद 6 से 8 तक त्वचा को गर्म पानी से न धोएं और सीधा सूरज के सामने 12 से 15 घंटे के बाद ही निकले। (और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्लीन्ज़र)
  7. ब्लीच करने के बाद भी त्वचा का ध्यान रखें - 
    ब्लीच में मौजूद केमिकल आपकी त्वचा के छिद्रों और रंगत को साफ़ करने में मदद करते हैं। लेकिन कभी-कभी ब्लीच से आपकी त्वचा के बाल बढ़ सकते हैं। तो ब्लीच को थोड़ा सा लगाने के बाद उस पर ज़रूर ध्यान दें कि कही कोई ऐसी समस्या तो नहीं हो रही। अगर आपको बाल बढ़ते हुए दिखते हैं तो इस उत्पाद का इस्तेमाल फिर न करें।
     
  8. जहां ब्लीच की ज़रूरत है वहां उसका इस्तेमाल ज़्यादा करें - 
    होठों के आसपास के बाल आपके चेहरे से ज़्यादा घने होते हैं. तो ब्लीच को पहले होठों के आसपास से लगाना शुरू करें। होठों के आसपास अच्छे से लगाने के बाद फिर पूरे चेहरे पर ब्लीच को लगाएं। ये भी ध्यान रखें कि माथे के बाल भी ब्लीच में अच्छे से ढक जाएँ, वरना छूट जाने से पूरे चेहरे पर इस जगह के काले बाल अलग से दिखाई देंगे। इसके अलावा आइब्रो और आँखों से बचाकर ब्लीच लगाएं। (और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्रीम)
     
  9. त्वचा से ब्लीच को अच्छे से साफ़ करें -
    निर्देशों के अनुसार ब्लीच लगाकर रखने का समय जब ख़त्म हो जाए (आमतौर पर 10 या 15 मिनट से ज़्यादा नहीं होता) तो सबसे पहले होठों के आसपास ब्लीच को थोड़ा सा साफ़ करके देखें। अगर उस क्षेत्र के बाल काले से भूरे नज़र आये तो इसका मतलब ये है कि ब्लीच लगाकर रखने की प्रक्रिया अब समाप्त हो चुकी है। फिर रूई या मुलायम कपड़े को पानी में गीला करें और फिर त्वचा से ब्लीच को धीरे-धीरे साफ़ करें। रूई से ब्लीच साफ़ करने के बाद त्वचा को पानी से धो लें और फिरसे क्लीन्ज़र से त्वचा को धो लें।
     
  10. ब्लीच करने के बाद देखभाल -
    त्वचा को गोरी करने का कार्य सिर्फ ब्लीच पर ही खत्म नहीं होता। उत्पाद का प्रभाव बरक़रार रखने के लिए एसपीएफ (SPF) 15 से 30 के बीच की सनस्क्रीन क्रीम का रोज़ाना इस्तेमाल करें। अगर आप घर में भी हैं तब भी सनस्क्रीन को ज़रूर लगाएं। सनस्क्रीन को रोज़ाना लगाने की आदत बनाएं और इस तरह आप ब्लीच को लम्बे समय तक त्वचा पर देख पाएंगे। (और पढ़ें - त्वचा को निखारने के लिए जूस रेसिपी)

आलू से बनी ब्लीच - Potato bleach in Hindi

आलू एक बेहतरीन ब्लीच सामग्री है। आलू को त्वचा की टैनिंग साफ़ करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

(और पढ़ें -  रूखी त्वचा के लिए क्रीम )

आलू से बने ब्लीच का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले आलू को छीलकर घिस लें।
  2. अब घिसे हुए पेस्ट में कुछ मात्रा में गुलाब जल मिलाएं और फिर इस मिश्रण को मिक्सर में डाल दें।
  3. अगर आपकी बेहद रूखी त्वचा है तो इस मिश्रण में शहद मिला सकते हैं। इसके अलावा अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो आप शहद की जगह नींबू के जूस का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. पेस्ट तैयार होने के बाद, अब इस मिश्रण को चेहरे, गर्दन और हाथों पर लगाएं।
  5. लगाने के बाद, सूखने का इंतज़ार करें और फिर त्वचा को पानी से धो दें।

(और पढ़ें -  रूखी त्वचा के लिए फेस पैक )

आलू त्वचा को बिना किसी नुकसान के ब्लीच करता है। इसके रोज़ाना इस्तेमाल से आपकी त्वचा निखरी लगने लगेगी और काले धब्बे भी गायब हो जाएंगे। 

(और पढ़ें -  रूखी त्वचा के लिए घरेलू उपाय )

गोरी त्वचा के लिए टमाटर से बना ब्लीच - Tomato bleach for fair skin in Hindi

टमाटर एक एसिडिक खाद्य पदार्थ है जो विटामिन सी से समृद्ध होता है। ये विटामिन आपकी त्वचा के लिए बहुत ही बेहतरीन है।

(और पढ़ें -  चेहरे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय )

टमाटर से बने ब्लीच का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले टमाटर को काट लें और फिर उसे पीस लें।
  2. टमाटर के बीज निकालने के लिए छलनी का इस्तेमाल करें।
  3. फिर जूस में एक चम्मच दही को अच्छे से मिला लें।
  4. अब इस ब्लीच को चेहरे पर लगा लें और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  5. फिर चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

इस ब्लीच के रोज़ाना इस्तेमाल करने से दाग धब्बे एकदम साफ़ हो जाएंगे और त्वचा भी निखरी-निखरी लगेगी।

(और पढ़ें - चेहरे पर चमक लाने के उपाय)

खीरे से बनी ब्लीच का करें इस्तेमाल - Bleach your skin with cucumber in Hindi

खीरे से बने ब्लीच का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले खीरा लें और फिर उसे छील लें।
  2. अब छीले हुए खीरे को घिस लें और फिर उसका जूस निकाल लें।
  3. अब इस जूस में एलो वेरा का जूस मिलाएं और फिर मिश्रण को अपने चेहरे और गर्दन पर अच्छे से लगा लें।

(और पढ़ें - चमकदार त्वचा पाने के लिए गाइड )

ये त्वचा का रंगत न ही सुधारेगा बल्कि त्वचा को गर्मियों में ताज़ा भी रखेगा। 

(और पढ़ें - शहनाज़ हुसैन के टिप्स ग्लोइंग स्किन पाने के लिए )

संतरे के छिलके का ब्लीच - Orange peel bleach in Hindi

संतरे का छिलका विटामिन सी से समृद्ध होता है और इसमें बहुत ही बेहतरीन ब्लीचिंग गुण मौजूद होते हैं।

(और पढ़ें -  चेहरे को गोरा करने के घरेलू उपाय)

संतरे के छिलके से बनी ब्लीच का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले सूरज के सामने संतरे के छिलकों को सूखाने के लिए रख दें और फिर सूखने के बाद इसे मिक्सर में डालकर पाउडर तैयार कर लें।
  2. अब पाउडर में शहद और गुलाब जल मिलाएं और फिर इस ब्लीच को अपने चेहरे पर लगा लें।
  3. जब ये पेस्ट चेहरे पर एक बार सूख जाए तब फिर चेहरे को पानी से धो दें।

(और पढ़ें - गोरा होने के उपाय)

ब्लीच पैक बनाने के लिए नींबू का करें प्रयोग - Lemon face bleach pack in Hindi

नींबू विटामिन सी समृद्ध होता है और इसे बहुत ही अच्छी प्राकृतिक ब्लीचिंग सामग्री माना जाता है। इसका प्रभावी परिणाम आपको पहले इस्तेमाल के बाद ही दिखने लगेगा।

(और पढ़ें -  सन टैन दूर करने के घरेलू उपाय )

नींबू से बनी ब्लीच का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले नींबू को निचोड़ लें और फिर इसके जूस को अपनी त्वचा पर लगा लें।
  2. फिर इसमें आप शहद, दही या गिल्सरीन भी मिला सकते हैं, जिससे नींबू के जूस का एसिडिक स्तर कम हो सके।
  3. अच्छा परिणाम पाने के लिए आप इस ब्लीच को हफ्ते में एक बार ज़रूर इस्तेमाल करें।
  4. इस ब्लीच को आँखों से बचाकर रखें और त्वचा को धोने के बाद सूरज के सामने जाने से बचें।
  5. त्वचा को पोषित करने के लिए एक अच्छा सनस्क्रीन मॉइस्चराइज़र भी ज़रूर लगाएं क्योंकि नींबू में मौजूद एसिड आपकी त्वचा को कभी कभी रूखा कर सकता है।

(और पढ़ें -  सिर्फ़ 5 दिन में चेहरे और शरीर से सन टैन को हटायें )

ओटमील से बनी ब्लीच है फायदेमंद - Oatmeal bleach pack in Hindi

ओटमील एक प्राकृतिक एक्सफोलिएटिंग सामग्री है जो त्वचा की अशुद्धियों को साफ़ करने में मदद करती है। जब ओटमील को दही, नींबू और जैतून के तेल के साथ मिलाया जाता है तो इस पैक के गुण आपकी त्वचा को साफ़ करने, मॉइस्चराइज़ करने और निखारने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें -  सनबर्न से छुटकारा पाने के उपाय )

ओटमील से बानी ब्लीच का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले दो चम्मच ओट्स, एक चम्मच दही, दो चम्मच नींबू का जूस और एक चम्मच जैतून के तेल को एक साथ मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद त्वचा पर लगा लें और प्राकृतिक तरीके से सूखने का इंतज़ार करें।
  3. फिर त्वचा को आधे घंटे बाद ठंडे पानी से धो लें।
  4. त्वचा को अब अच्छे से पोछ लें और फिर मॉइस्चराइज़र लगा लें।
  5. इस ब्लीच को हफ्ते में दो बार ज़रूर दोहराएं जिससे काले दाग धब्बे गायब हो सकें।

(और पढ़ें -  झाइयां हटाने के घरेलू उपाय)

त्वचा पर ब्लीच करने के कई फायदे देखने को मिलते हैं और उनमे से कुछ फायदे निम्नलिखित हैं -

  1. ब्लीच त्वचा को निखारती है -
    ब्लीच त्वचा को निखारती है साथ ही मेलानिन के स्तर को कम करती है और त्वचा की रंगत को गोरा बनाती है। ब्लीच के इस्तेमाल के बाद टैन की समस्या एकदम गायब हो जाती है। इसके अलावा ब्लीच के रोज़ाना के इस्तेमाल से गंदगी भी बिल्कुल निकल जाती है। ये तो आप सभी जानते हैं ब्लीच का प्रभाव कभी-कभी कुछ समय तक ही रहता है। इसलिए ब्लीच को हर 15 दिन बाद या रोज़ाना ज़रूर लगायें। (और पढ़ें -  झुर्रियों के लिए फेस पैक)
     
  2. ब्लीच त्वचा को गोरा बनाती है -
    ब्लीचिंग से त्वचा पर एक अच्छा प्रभाव देखने को मिलता है। इससे त्वचा गोरी और चमकदार लगने लगती है। ब्लीच करने के बाद चेहरा और त्वचा एकदम चमकदार, ताज़ा और जवान दिखने लगती हैं। रोज़ाना ब्लीच का इस्तेमाल करने से बेजान त्वचा पर एक निखार आने लगता है। तो त्वचा को गोरा बनाने के लिए ज़रूरी है कि आप रोज़ाना ब्लीच का इस्तेमाल करें। (और पढ़ें -  आंखों के नीचे की झुर्रियों के उपाय)
     
  3. ब्लीच दाग धब्बों को दूर करती है -
    अगर त्वचा पर दाग,धब्बे और पिगमेंटेशन की समस्या बहुत ज़्यादा दिखती है, तो इन्हें साफ़ करने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल ज़रूर करें। ब्लीच में त्वचा से दाग, धब्बों और पिगमेंटेशन को दूर करने के गुण मौजूद होते हैं। ब्लीच त्वचा के छिद्रों और कोशिकाओं से अशुद्धियों और मेलानिन को साफ़ करने में मदद करती है। रोज़ाना त्वचा पर ब्लीच का इस्तेमाल करने से टैनिंग बिल्कुल साफ़ हो जाती है। इस वजह से कुछ फेस वाश और क्रीम्स में भी ब्लीचिंग के गुण शामिल किया जाते हैं। (और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियों हटाने के घरेलू उपाय)
     
  4. ब्लीच त्वचा की रंगत (टेक्सचर) को सुधारता है -
    त्वचा को ब्लीच करने के बाद, त्वचा की रंगत एकदम जवान और खूबसूरत दिखने लगती है। साथ ही ब्लीच से त्वचा मुलायम और कोमल होती जाती है। रोज़ाना त्वचा को ब्लीच करने से मृत कोशिकाएं, ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स भी आसानी से साफ़ हो जाते हैं। (और पढ़ें - स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय)
     
  5. ब्लीच का असर लंबे समय तक रहता है -
    त्वचा के लिए ब्लीच बहुत ही आसान उपाय है। साथ ही ये  स्किन ट्रीटमेंट लंबे समय तक रहता है। ये अन्य प्रक्रियाओं के मुकाबले त्वचा को प्रभावी तरीके से ठीक रखती है। त्वचा के लिए कुछ अन्य इलाज भी हैं जैसे लेज़र, केमिकल पीलिंग आदि। लेकिन ब्लीचिंग बहुत ही आसान प्रक्रिया है जिसका इस्तेमाल काफी ज़्यादा किया जाता है। (और पढ़ें – ब्लैक हेड्स हटाने के घरेलू नुस्खे)

ब्लीचिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जो आपकी त्वचा के बालों को आपकी रंगत से मिलाकर एक नया निखार देने में मदद करती है। हालाँकि केमिकल ब्लीच करने के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जो निम्नलिखित दिए गए हैं -

  • ब्लीच के इस्तेमाल से त्वचा पर काले धब्बे पड़ सकते हैं।
  • ब्लीच के उपयोग से स्किन कैंसर की समस्या शुरू हो सकती है।
  • इसके इस्तेमाल के बाद मुहांसे बढ़ने लगते हैं।
  • ब्लीच से त्वचा पर कभी-कभी सूजन दिखाई देने लगती है।
  • ब्लीच के प्रयोग से त्वचा पतली होने लगती है।
  • ब्लीच के प्रभाव से आपको मोतियाबिंद की समस्या हो सकती है।
  • ब्लीच करने से आपकी भूख बढ़ती है और इस तरह वजन बढ़ता जाता है।
  • ब्लीच करते रहने से ऑस्टियोपोरोसिस की परेशानी उतपन्न हो सकती है।
  • ब्लीच की क्रीम में ज़्यादा मात्रा में मर्करी के इस्तेमाल से किडनी खराब हो सकती है और आपके मस्तिष्क पर भी गलत असर पड़ सकता है।
  • इससे मानसिक रोग पनप सकता है।
  • अस्थमा की समस्या शुरू हो सकती है।
  • आपका लिवर खराब भी हो सकता है।

(और पढ़ें -  तैलीय त्वचा से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय)

साथ ही इनमे से कुछ प्रभाव आपको तभी देखने को मिल सकते हैं। और कुछ प्रभाव लंबे समय तक ब्लीच का इस्तेमाल करते रहने से भी बीच-बीच में दिख सकते हैं।

(और पढ़ें -  तैलीय त्वचा के लिए फेस पैक)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें