आयुर्वेद में कहा गया है कि तांबे के बर्तन में पानी पीने से शरीर को कई लाभ मिलते हैं। इस पानी के सेवन से शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। तांबे के बर्तन में रखे हुए पानी को पीने से शरीर में उपस्थित कई बीमारियां आसानी से खत्म हो जाती हैं। हम लोग कई बीमारियों से परेशान रहते हैं। इसके लिए हम नये-नये तरीके अपनाते हैं। पर इन नये-नये तरीकों से हमें कोई फायदा नहीं होता है। इस से अच्छा है कि हम तांबे के बर्तन में पानी को रख कर पिएं जो कि हमें आसानी से बहुत सी बीमारियों से आराम दिलाएगा।

(और पढ़ें - तांबे के फायदे)

तांबे के बर्तन में संग्रहित पानी को ताम्र जल के नाम से जाना जाता है। तांबे के लोटे, जग या गिलास में कम से कम 8 घंटे रखा हुआ पानी लाभदायक होता है। चलिए आज हम और आप तांबे के बर्तन में रखे हुए जल के स्वास्थ्य लाभ के बारे में जानते हैं।

  1. ताम्बे के बर्तन में पानी पीने के फायदे - Tambe ke bartan me pani pine ke labh
  2. ताम्बे के बर्तन में पानी पीने के नुकसान - Tambe ke baran me pani peene ke nuksan

ताम्र जल के फायदे पीलिया के लिए - Tambe Ke Bartan Me Pani Ke Fayde Jaundice Me In Hindi

कॉपर को प्रकति में ओलिगोडीनामिक (Oligodynamic) के रूप में जाना जाता है और इसमें रखे पानी के सेवन से बैक्टीरिया (bacteria) का आसानी से नाश किया जा सकता है। इसमें रखे पानी को पीने से डायरिया और पीलिया (jaundice) जेसे रोगों के जीवाणु (bacteria) भी मर जाते हैं। लेकिन तांबे के बर्तन का पानी साफ और स्वच्छ होना चाहिए। 

(और पढ़ें –  डायरिया का घरेलू इलाज)

ताम्र जल के लाभ थायराइड में - Drinking Water In Copper Vessel Benefits For Thyroid In Hindi

विशेषज्ञ मानते हैं कि तांबे की धातु वाला पानी शरीर में थाइरोइड ग्लैंड की बेहतर कार्य करने में मदद करता है। तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से रोगों को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे गठिया के लिए - Tambe Ke Bartan Ka Pani For Arthritis In Hindi

तांबे में एंटी-इफ्लेमेटरी गुण होते हैं जिस के कारण जोड़ो में दर्द और गठिया की शिकायत होने पर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीने से लाभ मिलता है। तांबे बर्तन में रखे पानी में ऐसे गुण आ जाते हैं जिसके उपयोग से शरीर में यूरिक एसिड (uric acid) कम होता है और गठिया रोग भी दूर हो जाता है।

ताम्बे के बर्तन के पानी के लाभ त्वचा में - Benefits Of Copper Water For Skin In Hindi

तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल त्वचा को चमकदार बनता है। त्वचा को चमकदार बनाने के लिए सुबह-सुबह उठकर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पिएं और स्वस्थ रहें। त्वचा को अल्ट्रावॉयलेट किरणों से बचाने के लिए मेलानिन के निर्माण में तांबा बहुत मदद करता है। मेलानिन त्वचा, आंखों एवं बालों के रंग के लिए जरूरी होता है।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल कैसे करें)

झुर्रियों और पिंपल्स को रोकने के लिए Sprowt Collagen Powder का उपयोग करें -
Sprowt Plant-Based Collagen Powder
₹799  ₹899  11% छूट
खरीदें

तांबे के बर्तन में पानी रखने से फायदे बढती उम्र के लिए - Tambe Ka Pani Ke Fayde For Anti Ageing In Hindi

उम्र बढ़ने से सभी परेशान रहते हैं। हर कोई चाहता है कि उनकी बढ़ती उम्र की निशानी छुपी रहे। तांबे के बर्तन में रखे पानी का सबसे बड़ा फायदा है कि इस के नियमित सेवन से आप की बढ़ती उम्र की सारी निशानियाँ छुप जाती हैं। मजबूत एंटी-ऑक्‍सीडेंट और सेल गठन के गुणों से समृद्ध होने के कारण तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से झुर्रियां, त्वचा का ढीलापन आदि दूर हो जाता है। साथ ही इस जल को पीने से मृत त्वचा निकल जाती है और नयी त्वचा आ जाती है।

(और पढ़ें - उम्र बढ़ने के लक्षण

तांबे के पानी के फायदे पेट की समस्या में - Benefits Of Tambe Ka Pani In Stomach Problem In Hindi

एसिडिटीगैस और पेट में कोई अन्य समस्या होने पर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीने से आराम मिलता है। आयुर्वेद के अनुसार अगर आप अपने शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकालना चाहते हैं तो 8 घंटे के लिए पानी को तांबे के बर्तन में रहने दें। फिर इस पानी का सेवन करें। 

(और पढ़ें – पेट में गैस के घरेलू उपचार)

तांबे के बर्तन के फायदे वजन घटाने के लिए - Copper Vessel Water For Weight Loss In Hindi

अगर कोई भी व्यक्ति अपना वजन घटाना चाहता है तो उसे तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीना चाहिए। ताम्बे के बर्तन में रखे पानी को पीने से शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी कम हो जाती है और शरीर में कोई भी कमी या कमजोरी हो तो वो भी ख़त्म हो जाती है।

(और पढ़ें - वजन घटाने के तरीके)

वजन कम करने के लिए myUpchar Ayurveda Medarodh Capsule का उपयोग करें -
myUpchar Ayurveda Medarodh Capsule For Weight Management
₹899  ₹999  10% छूट
खरीदें

तांबे के बर्तन का पानी पीने के फायदे एनीमिया में - Copper Utensil Water Benefits For Anemia In Hindi

तांबा के बारे में यह तथ्य सबसे ज्यादा आश्चर्यजनक है। तांबा शरीर के लिए आवश्यक पोषण तत्व को अवशोषित करने के काम आता है। तांबा भोज्य में युक्त आयरन को आसानी से अवशोषित कर लेता है। तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से खून की कमी या विकार दूर हो जाते हैं। 

(और पढ़ें - खून की कमी का कारण)

आयरन की कमी, एनीमिया, थकान जैसी समस्या के लिए Sprowt Vitamin B12 Tablets का उपयोग करें -
Sprowt Vitamin B12 Tablets
₹499  ₹499  0% छूट
खरीदें

तांबे के बर्तन का पानी के फायदे दिल के रोगों में - Benefits Of Drinking Water From Copper Jug For Heart In Hindi

यदि कोई व्यक्ति दिल के रोगों से ग्रसित है या उसे हृदय की किसी भी तरह की बीमारी है तो उसे सुबह उठकर ताम्बे के बर्तन में रखा पानी पीना चाहिए। इससे आप को काफ़ी हद तक आराम मिलेगा। तांबे के बर्तन में रखे हुए पानी को पीने से शरीर में रक्त परिसंचरण (blood circulation) बढ़ता है।

(और पढ़ें - हृदय रोग के लक्षण)

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने के लिए myUpchar Ayurveda Hridyas Capsule का उपयोग करें -
myUpchar Ayurveda Hridyas Capsule For Heart Care
₹899  ₹999  10% छूट
खरीदें

ताम्बे के बर्तन में पानी पीने के फायदे कैंसर में - Benefits Of Storing Drinking Water In Copper Vessel For Cancer In Hindi

कैंसर होने पर हमेशा तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीना चाहिए। इससे कैंसर पीड़ित व्यक्ति को बहुत लाभ मिलेगा। तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल वात, पित्त और कफ जैसी परेशानियों से हमारे शरीर को बचाता है। तांबे के बर्तन के जल में एंटीऑक्सीडेंट भी होता है जो हमारे शरीर को रोग से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। ताम्र जल पीने के फायदे पर अमेरिकन कैंसर सोसाइटी की हुई एक रिसर्च के अनुसार तांबा कई तरीके से कैंसर मरीज़ो की मदद करता है। यह धातु लाभकारी होता है। तो हम बोल सकते हैं कि यह एक एंटीकैंसर इफेक्ट्स प्रदान करता है।

तांबे के बर्तन में पानी पीने से गर्भावस्था में लाभ - Drinking Water In Copper Vessel During Pregnancy In Hindi

हमारे मस्तिष्क को उत्तेजित कर उसे सक्रिय बनाए रखने में तांबे का पानी बहुत मदद करता है। तांबे के पानी का सेवन करने से हमारी स्मरण शक्ति मजबूत होती है और दिमाग तेज होता है। इसके अलावा, गर्भावस्था के दौरान तांबे की कमी से अजन्मे बच्चे के मस्तिष्क और तंत्रिका का विकास अधूरा हो सकता है।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में पेट में दर्द और प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करें)

अम्रीका के सीडीसी के अनुसार पानी में ताम्बे की मात्रा अधिक होने से पाचन सम्बन्धी समस्याएं हो सकती हैं जैसे मतली, उलटी और दस्त। अगर पानी में ताम्बे की मात्रा बहुत ही अधिक हो, तो परिणाम और भी गंभीर हो सकते हैं। 

(और पढ़ें - पाचन तंत्र के रोगों के लक्षण)

डॉक्टर हिदायत देते हैं कि पीने के पानी को ताम्बे के बर्तन से ना पीएं और रातभर तो पानी को ताम्बे के बर्तन में बिलकुल न छोडें। इसके अलावा, अम्लीय खाद्य और तरल पदार्थ जैसे अचार या संतरे का जूस भी ताम्बे के बर्तन में ना रखें।

कुछ अन्य डॉक्टर यह भी कहते हैं कि डेयरी उत्पाद जैसे दूध, घी, दही और मक्खन भी ताम्बे के बर्तन में नहीं रखे जाने चाहिए। लेकिन इन बर्तनों में खाना परोसकर आप खा-पी सकते हैं। उससे हानि होने की आशंका बहुत ही कम होती है। बस इतना ध्यान रखें कि ताम्बे के बर्तनों में इन खाद्य पदार्थों को स्टोर न करें।

ऐप पर पढ़ें