myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

यदि आप थका हुआ महसूस करते हैं और आपको विटामिन्स की कमी का संदेह है तो आपका डॉक्टर आपको रक्त परीक्षणों की एक लिस्ट दे सकता है ताकि पता लगा सकें कि आपमें किस पोषक तत्व की कितनी कमी है। कभी-कभी ये रक्त परीक्षण बहुत महंगे हो सकते हैं लेकिन यह पता लगाने के अन्य तरीके भी हैं कि आपमें कौन से पोषक तत्वों की कमी है। आप अपना चेहरा पढ़ सकते हैं और आसानी से जान सकते हैं। यहां कुछ पोषक तत्व की कमी के बारे में बता रहे हैं जिनकी कमी के लक्षण आसानी से आपके चेहरे पर दिखाई देते हैं:

  1. विटामिन बी 12 की कमी का असर है पीली त्वचा - Pale Skin Vitamin B12 Deficiency in Hindi
  2. विटामिन बी7 की कमी है बालों में रूसी का कारण - Dandruff Due to Vitamin B7 Deficiency in Hindi
  3. आयोडीन की कमी है फूली हुई आँखे - Iodine Deficiency Cause Puffy Eyes in Hindi
  4. आयरन की कमी है पीले रूखे होंठ - Pale Lips Sign of Anemia in Hindi
  5. विटामिन सी की कमी है मसूड़ों में खून आना - Vitamin C Deficiency Causes Bleeding Gums in Hindi

यदि आप नोटिस करते हैं कि आप दिन प्रतिदिन पीले हो रहे हैं, तो आपमें विटामिन बी 12 की कमी हो सकती है। अपनी जीभ की जांच करें, यदि जीभ पूरी तरह से चिकनी है, तो यह विटामिन बी 12 की कमी का एक और महत्वपूर्ण संकेत है। इस पोषक तत्व की कमी थकान और पुवर मेमोरी का कारण बनती है। इस विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए अपने आहार में मछली और जैविक पोल्ट्री उत्पाद जोड़ें।

(और पढ़ें - विटामिन बी 12 खाद्य पदार्थ दूर करे अवसाद)

यदि रूसी, शुष्क त्वचा और भंगुर बाल आपके जीवन की एक दैनिक कहानी बन गये हैं तो यह एक संकेत है कि आपमें विटामिन बी7 उर्फ बायोटिन की कमी हो सकती है। यह तब होता है जब आप बहुत सारे एंटीबायोटिक्स लेते हैं जो बायोटिन उत्पन्न करने वाले आँतो के बैक्टीरिया को बाधित करते हैं। इसके लिए आप फूलगोभी, अंडे की जर्दी और मशरूम जैसे खाद्य पदार्थों को अपने आहार में जोड़ें जो कि इस विटामिन के अच्छे स्रोत हैं। 

(और पढ़ें - विटामिन बी7 है कोशिकाओं के विकास में सहायक)

यदि आप देखते हैं कि आपकी आंखें फूली हुई हैं और आपके पैर सूजे हुए हैं तो यह आयोडीन की कमी का एक संकेत हो सकता है। आयोडीन की कमी के अन्य लक्षण वजन बढ़ाना, ड्राइ स्किन और भंगुर नाखून आदि। टेबल आहार हमारे भोजन में आयोडीन का प्रमुख स्रोत है। आप अपने आहार में मछली, समुद्री सब्जियां और समुद्री शैवाल मिला सकते हैं ताकि आयोडीन के स्तर को बढ़ाया जा सकें।

यदि आपके होंठ बार बार सूखते हैं या होंठ पीले पड़ने लगा हैं तो आपका शरीर लोहे की कमी से पीड़ित हैं। यह पुरुषों की तुलना में अधिकतर महिलाओं में देखा जाता है। इसमें आपको मिट्टी या बर्फ खाने की की इच्छा महसूस होती है। यह आपके शरीर का एक तरीका है जो आपके शरीर में लोहे की कमी को पूरा करने की कोशिश कर रहा है। अपने आहार में अधिक लाल मांस, सूखे सेम और पालक जोड़ें।  मछली भी लौह का एक बड़ा स्रोत है।

यदि आपके मसूड़ों में दर्द या खून बह रहा है या आपके दांत एक अच्छी स्थिति में नहीं हैं तो आपमें विटामिन सी की कमी है। इस आवश्यक पोषक तत्व की कमी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है। आपकी मांसपेशियों में दर्द भी हो सकता है। विटामिन सी की एक गंभीर कमी स्कर्वी हो सकती है, जिससे आपके सभी दाँत निकल सकते हैं। इस कमी को पूरा करने के लिए अपने आहार में अधिक खट्टे फल जोड़ें। इसके अलावा अपने आहार में खरबूजा, बेरी, कीवी, आमपपीतातरबूज और लाल मिर्च जोड़ें।

(और पढ़ें -क्या आपने कभी सोचा है कि आपके चेहरे से चल सकता है आपकी हेल्‍थ प्राब्लम का पता)

और पढ़ें ...