myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

जब आप अपने चेहरे पर काले दाग धब्बे देखते हैं तो उनको ठीक करने के लिए आप क्या करते हैं? कुछ सटीक नहीं पता न क्योंकि कभी आप बाजार से ऐसा उत्पाद लाते हैं जो कुछ ही घंटे के लिए आपके चेहरे के दाग धब्बों को छुपा देता है या फिर मेकअप से आप उन्हें ढक देते हैं। लेकिन इनका इस्तेमाल आपको सिर्फ और सिर्फ बाहर से फायदा पहुंचाता है। पर इन दाग धब्बों को हटाने के लिए ज़रूरी है इनका अंदर से इलाज करना और इनका अंदर से इलाज करने में आपकी मदद करेंगी घर के किचन में मौजूद ढेर सारी सामग्रियां।

(और पढ़ें - काले दाग हटाने के घरेलू उपाय)

तो आइये आपको बताते हैं चेहरे के दाग धब्बों को साफ़ करने के कुछ घरेलू उपाय लेकिन ध्यान रहे कि इनका इस्तेमाल आप एक दिन करके न छोड़ें वरना आपको किसी भी तरह का बदलाव नहीं दिखेगा। कम से कम इन घरेलू उपायों का उपयोग एक महीने तक रोज़ाना करते रहें। 

  1. चेहरे के दाग धब्बे हटाने का उपाय है नींबू का जूस - Lemon juice for blemishes on face in Hindi
  2. चेहरे के दाग धब्बे मिटाने का घरेलू उपाय है विटामिन ई - Vitamin e for blemishes and spots on face in Hindi
  3. आलू के लाभ से चेहरे के दाग धब्बे हटाए - Potato remove dark spots on face in Hindi
  4. छाछ है दाग धब्बे हटाने का नुस्खा - Buttermilk reduces dark spots on face in Hindi
  5. चेहरे के दाग धब्बे हटाने की विधि है एलो वेरा जेल - Aloe vera gel helps to get rid of blemishes on face in Hindi
  6. चेहरे के दाग धब्बे हटाने का घरेलू नुस्खा है ओटमील - Oatmeal good for dark spots and blemishes on face in Hindi
  7. चेहरे के दाग धब्बे हटाने का टिप्स है चना - Chickpea cure dark spots on face in Hindi
  8. चेहरे के दाग धब्बे दूर करने का सरल उपाय है हल्दी - Turmeric for blemishes and dark spots on face in hindi
  9. प्याज का रस चेहरे के दाग धब्बे हटाए - Onion juice benefits for spots on face in Hindi
  10. चेहरे के दाग धब्बे दूर करने का घरेलू उपाय है अनानास का जूस - Benefits of pineapple juice for dark spots and blemishes on face in Hindi

नींबू का इस्तेमाल आप लेमोनेड बनाने के अलावा चेहरे के दाग धब्बों को ठीक करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। नींबू में मौजूद साइट्रिक एसिड और विटामिन सी होता है जो त्वचा को ब्लीच करने में मदद करता है साथ ही दाग धब्बों को भी हल्का करता है।

पहली प्रक्रिया - नींबू जूस और पानी

नींबू का जूस दाग धब्बों को हटाने का बेहद प्रभावी उपाय है। हालाँकि अगर आप सिर्फ नींबू का इस्तेमाल करते हैं तो ये आपकी त्वचा को ड्राई कर सकता है। तो इसका इस्तेमाल आप पानी के साथ करें। खासकर तब जब आपकी त्वचा सवेदनशील है।

सामग्री

  1. एक नींबू।
  2. साफ़ पानी।
  3. रूई।

विधि

  1. सबसे पहले नींबू को निचोड़ लें और फिर उसे एक कटोरे में दाल दें।
  2. अब उसमे साफ़ पानी भी मिलाएं।
  3. अब इस मिश्रण को अच्छे से चलाने के बाद इसमें रूई डुबोकर अपने चेहरे पर लगाएं।
  4. फिर इसे 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  5. इसके बाद अपने चेहरे को पानी से धो लें। ध्यान रहे इसके बाद चेहरे को धोने के लिए साबुन का इस्तेमाल न करें।

नींबू और पानी का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण का इस्तेमाल एक दिन छोड़कर इस्तेमाल करें।

दूसरी प्रक्रिया - नींबू जूस और दही

नींबू के जूस का ब्लीचिंग प्रभाव और दही के क्लींजिंग गुण दोनों मिलकर दाग धब्बों को हल्का करते है और चेहरे को भी निखारते हैं।

सामग्री

  1. एक नींबू।
  2. एक चम्मच ताज़ा दही

विधि

  1. सबसे पहले एक नींबू को एक कटोरे में डाल लें।
  2. अब एक चम्मच दही को उसमे अच्छे से मिला लें।
  3. अब इस पेस्ट को अपने पूरे चेहरे पर लगाएं और आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर अपने चेहरे को साफ़ पानी से धो दें।

नींबू जूस और दही का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण का इस्तेमाल हफ्ते में दो बार ज़रूर करें।

तीसरी प्रक्रिया - नींबू का जूस और शुगर फेस स्क्रब

चीनी के एक्सफोलिएटिंग प्रभाव और नींबू के जूस के ब्लीचिंग प्रभाव एक बहुत ही अच्छा स्क्रब बनाने में मदद करते हैं। जिनकी मदद से मृत कोशिकाएं खत्म होती हैं और आपका चेहरा निखरता है।

सामग्री -

  1. आधा नींबू।
  2. एक चम्मच चीनी।

विधि

  1. सबसे पहले एक नींबू को एक कटोरे में निचोड़ लें।
  2. अब एक चम्मच चीनी को नींबू के जूस में मिला दें और अच्छे से इस मिश्रण को चलाएं (अगर आपकी त्वचा रूखी है तो आप इसमें एक चम्मच नारियल का तेल भी मिला सकते हैं)।
  3. अब अपनी उँगलियों में मिश्रण को लें और पूरे चेहरे पर लगाकर स्क्रब करें। ये स्क्रब दाग धब्बों पर अच्छे से लगाएं।
  4. दो मिनट तक स्क्रब करते रहें।
  5. फिर अपने चेहरे को साफ़ पानी से धो लें।

नींबू के जूस और शुगर फेस स्क्रब का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण का इस्तेमाल हफ्ते में एक बार ज़रूर करें।

चेतावनी

  1. नींबू के जूस में मिले हुए कोई भी उपाय को आँखों के नीचे ना लगाएं क्योंकि वहा की त्वचा बेहद सवेदनशील होती है।
  2. नींबू के जूस से बने मिश्रण के इस्तेमाल के तुरंत बाद या दौरान सूरज के सामने न जाएँ। इससे आपकी त्वचा बहुत सवेंदनशील हो सकती है साथ ही सनबर्न से भी प्रभावित हो सकती है।

टिप्स -

  1. जब भी नींबू का इस्तेमाल करें तो हमेशा ताज़ा नींबू ही लें।
  2. अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो आप फिर जूस में शहद या गुलाब जल मिला सकते हैं।  

(और पढ़ें - नींबू के फायदे और नुकसान

कई डर्मटालोजिस्ट विटामिन ई के तेल का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं क्योंकि इसके इस्तेमाल से त्वचा से जुडी सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं, खासकर दाग धब्बे। इसलिए इस तेल का इस्तेमाल कई स्किन केयर प्रोडक्ट्स में भी किया जाता है। विटामिन ई में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो फ्री रेडिकल को दूर करता है और खराब हुई कोशिकाओं को सुधारता है। आप विटामिन ई के तेल को किसी के साथ न मिलाकर सीधे तौर पर भी त्वचा पर लगा सकते हैं।

पहली प्रक्रिया - विटामिन ई तेल की बोतल

सामग्री

  1. विटामिन ई तेल की बोतल।

विधि

  1. सीधे तौर पर विटामिन ई तेल को चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं और फिर कुछ मिनट तक मसाज करें।

विटामिन ई तेल का इस्तेमाल कब तक करें

रात को सोने से पहले आप इसका इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - विटामिन ई कैप्सूल्स

सामग्री

  1. एक विटामिन ई कैप्सूल्स।
  2. एक सूई।

विधि

  1. सबसे पहले विटामिन ई कैप्सूल्स में सूई घुसाएँ।
  2. अब कैप्सूल को निचोड़कर तेल को अपनी उँगलियों में निकाल लें।
  3. फिर इस तेल को अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं और फिर कुछ मिनट तक मसाज करें।

विटामिन ई कैप्सूल्स का इस्तेमाल कब तक करें

इस कैप्सूल्स का इस्तेमाल रात को सोने से पहले रोज़ाना करें।

चेतावनी

  1. कुछ लोगों को विटामिन ई के तेल से एलर्जी होती है। तो इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्ट (patch test) ज़रूर करें।
  2. अगर विटामिन ई का इस्तेमाल आप बहुत ज़्यादा करते हैं तो इससे आपकी त्वचा को नुकसान भी पहुंच सकता है।

टिप्स -

  1. आप इस तेल का इस्तेमाल रात में मॉइचराइज़र की जगह करें।
  2. अपने रोज़ाना के आहार में विटामिन ई से भरपूर आहार खाएं जैसे बादाम, मूंगफली, सूरजमुखी के बीज और अखरोट

(और पढ़ें - विटामिन ई के स्रोत, फायदे और नुकसान

आलू में मौजूद स्टार्च और शुगर एक्सफोलिएटिंग की तरह काम करते हैं जिनकी मदद से मृत कोशिकाएं साफ़ हो जाती है और नई कोशिकाओं को बढ़ाने में मदद मिलती है। आलू में मौजूद  विटामिन b6, विटामिन सी, पोटैशियम, जिंक और फॉस्पोरस जैसे खनिज त्वचा क कोलाजेन का उत्पादन करते हैं।

पहली प्रक्रिया - आलू के टुकड़े

सामग्री

  1. एक आलू।
  2. एक चाक़ू।

विधि

  1. सबसे पहले आलू के पतले पतले टुकड़े कर लें।
  2. अब आलू के टुकड़ों में थोड़ा सा पानी डालें और फिर उसमे से टुकड़ों को निकालकर अपने दाग धब्बों पर रख लें।
  3. इन टुकड़ों को 10 मिनट के लिए ऐसे ही रखा रहने दें।

आलू के टुकड़ों का इस्तेमाल कब तक करें

इस प्रक्रिया को रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - आलू और नींबू का जूस

सामग्री

  1. एक आलू।
  2. एक कप गर्म पानी।
  3. एक चम्मच नींबू का जूस।
  4. चाकू।
  5. रूई।

विधि

  1. सबसे पहले आलूओं को पतले पतले टुकड़ों में काट लें और फिर उन्हें गर्म पानी में रख दें।
  2. आलू के टुकड़ों को गर्म पानी में आधे घंटे के लिए ऐसे ही रखे रहने दें।
  3. अब आलू के टुकड़ों को निकाल लें और उस बचे हुए पानी में नींबू का जूस मिलाएं।
  4. अब इस मिश्रण को आधे घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।
  5. आधे घंटे बाद मिश्रण को निकालें और और फिर उसमे रूई डुबोकर अपने चेहरे पर लगाएं।
  6. मिश्रण को 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ रहने दें फिर साफ़ पानी से त्वचा को धो लें।

आलू और नींबू के जूस का इस्तेमाल कब तक करें

इस प्रक्रिया को रोज़ाना पूरे दिन में दो बार ज़रूर दोहराएं।

तीसरी प्रक्रिया - आलू और शहद

सामग्री

  1. एक आलू।
  2. एक चम्मच शहद।

विधि

  1. सबसे पहले आलू को घिस लें।
  2. अब उसमे शहद मिलाएं (अगर मिश्रण अभी भी ड्राई है तो आप उसमे शहद की मात्रा और मिला सकते हैं)।
  3. अब इस मिश्रण को चेहरे पर 15 मिनट के लिए लगाकर रखें।
  4. अब चेहरे को साफ़ पानी से धो लें।

शहद और आलू का इस्तेमाल कब तक करें

आप इस मिश्रण को एक दिन छोड़कर इस्तेमाल कर सकते हैं।

चेतावनी

त्वचा पर आलू लगाने के बाद अगर आप किसी भी तरह की लालिमा या खुजली महसूस करते हैं तो त्वचा को पानी से धो लें और फिर इस मिश्रण का इस्तेमाल न करें।

टिप्स

आप तीन से चार आलूओं को टुकड़ों में काट सकते हैं या घिस सकते हैं और फिर किसी टाइट डब्बे में बंद करके फ्रिज में रख दें। इस तरह आपको रोज़ाना एक एक आलू काटना नहीं पड़ेगा।

(और पढ़ें - आलू के फायदे और नुकसान)

छाछ आपके चेहरे से मृत कोशिकाओं को दूर करता है और दाग धब्बों को कम करने में मदद करता है। बाजार के उत्पाद से बेहतर आप अपने चेहरे पर छाछ का इस्तेमाल करें।

पहली प्रक्रिया - कच्चा छाछ

आप छाछ का इस्तेमाल बिना किसी के साथ मिलाएं सीधे तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

सामग्री

  1. छाछ।
  2. रूई।

विधि

  1. सबसे पहले एक कटोरे में छाछ डालें।
  2. अब एक रूई उसमे डुबोएं और फिर उसे अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगा लें।
  3. फिर 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर चेहरे को पानी से धो लें।

कच्चे छाछ का इस्तेमाल कब तक करें

छाछ का इस्तेमाल रोज़ाना करें। 

दूसरी प्रक्रिया - छाछ और टमाटर का जूस

सामग्री

  1. चार चम्मच छाछ।
  2. दो चम्मच टमाटर का जूस।

विधि

  1. एक कटोरे में सबसे पहले छाछ और टमाटर का जूस डालें।
  2. अच्छे से इस मिश्रण को चला लें और फिर इसे अपने चेहरे पर लगाएं और आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  3. फिर अपने चेहरे को पानी से धो लें।

छाछ और टमाटर के जूस का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

चेतावनी

छाछ को अपने आँखों के नीचे न लगाएं क्योंकि छाछ में लैक्टिक एसिड होता है जो असहजता को बढ़ा सकता है।

टिप्स

आप छाछ की जगह दही या दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं अगर आपको छाछ बाजार में नहीं मिल रही।

(और पढ़ें - छाछ के फायदे)

एलो वेरा में बीटा-केरोटीन पाया जाता है जो एंटी-एजिंग को दूर करता है और त्वचा को नमी देने में मदद करता है। इसके अलावा ये झाइयां, चेहरे के दाग धब्बे और सनबर्न का इलाज करता है। इस पौधे में एनाल्जेसिक और एंटीसेप्टिक के भी गुण होते हैं।

पहली प्रक्रिया - एलो वेरा जेल

सामग्री

  1. एलो वेरा जेल की पत्ती।
  2. चाक़ू।

विधि

  1. सबसे पहले चाक़ू से एलो वेरा की पत्ती को काट लें।
  2. अब इसमें से जेल को निकालें और सीधा चेहरे के धब्बे पर लगाएं।
  3. जेल को 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर त्वचा को साफ़ पानी से धो लें।

एलो वेरा जेल का इस्तेमाल कब तक करें

एलो वेरा जेल को रोज़ाना लगाएं।

दूसरी प्रक्रिया - एलो वेरा जेल, शुगर और नींबू जूस

चीनी एक्सफोलिएटर की तरह काम करता है और मृत कोशिकाओं को दूर करता है और एलो वेरा और नींबू का जूस दाग धब्बों को कम करते हैं।

सामग्री

  1. आधा कप एलो वेरा जेल।
  2. एक चम्मच शुगर।
  3. दो चम्मच नींबू का जूस।

विधि

  1. सबसे पहले एक कटोरे में एलो वेरा जेल, शुगर और नींबू का जूस डालें और अच्छे से इस मिश्रण को मिला लें।
  2. अब साफ़ हाथों से अपने चेहरे पर इस मिश्रण को लगाएं और 10 मिनट तक स्क्रब करें।
  3. फिर साफ़ पानी से चेहरे को धो लें और फिर त्वचा को मॉइचराइज़ करें।

एलो वेरा, शुगर और नींबू के जूस का इस्तेमाल कब तक करें

अब इस मिश्रण को एक दिन छोड़कर लगाएं।

चेतावनी

  1. एलो वेरा जेल में एलोइन (aloin) होता है जो एलो वेरा की पत्तियों में पाया जाता है। इससे आपके हाथों में खुजली हो सकती है। इसलिए इस्तेमाल करने के लिए हाथों में ग्लव्स (gloves) का इस्तेमाल करें।
  2. अगर आपको लहसुन, प्याज से एलर्जी है तो आपको एलो वेरा से भी एलर्जी हो सकती है। इसलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट करें।

टिप्स

  1. आप एलो वेरा का पौधा अपने घर में लगवा सकते हैं जिससे आप रोज़ाना इसका इस्तेमाल कर सके।
  2. एलो वेरा जेल को आप अन्य किसी फल के साथ मिलाकर खा सकते हैं इससे आपकी त्वचा स्वस्थ और निखरी हुई रहेगी।

(और पढ़ें - एलोवेरा के फायदे और नुकसान

ओटमील में मौजूद सैपोनिन्स त्वचा को एक्सफोलिएट और क्लीन करने में मदद करता है जिससे मृत कोशिकाएं दूर होती हैं। इसके सूजनरोधी गुण मुहांसों का इलाज करते हैं और चेहरे के दाग धब्बों का सफाया करते हैं। ओटमील त्वचा के तेल को संतुलित करने में मदद करता है जिससे ये तेलिये और ड्राई त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

पहली प्रक्रिया - ओटमील, शहद और दूध

सामग्री

  1. तीन चम्मच ओटमील।
  2. एक चम्मच शहद।
  3. एक चम्मच दूध

विधि

  1. एक कटोरे में ओटमील, शहद और दूध को एक साथ मिला लें और एक पेस्ट तैयार कर लें।
  2. अब इस फेस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं।
  3. इस पैक को अच्छे से सूखने दें।
  4. फिर चेहरे को पानी से धो लें।

ओटमील, शहद और दूध का इस्तेमाल कब तक करें

आप इस पैक को हफ्ते में तीन बार ज़रूर इस्तेमाल करें।

दूसरी प्रक्रिया - ओटमील, हल्दी, बेसन और ग्रीन टी

ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट न ही आपकी पाचन क्रिया के लिए बेहतर है बल्कि आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद है। बेसन और हल्दी आपकी त्वचा को निखारने में भी मदद करते हैं।

सामग्री

  1. दो चम्मच ओटमील।
  2. आधा चम्मच हल्दी।
  3. एक चम्मच बेसन।
  4. एक चम्मच ग्रीन टी की पत्तियां।
  5. पानी।

विधि

  1. सबसे पहले इन सभी सामग्रियों को एक साथ कटोरे में मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण में थोड़ा पानी मिलाएं और एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें।
  3. अब इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  4. फिर चेहरे को पानी से धो लें।

ओटमील, हल्दी, बेसन और ग्रीन टी का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण का इस्तेमाल हफ्ते में दो बार करें।

चेतावनी -

ध्यान रहे ओटमील का इस्तेमाल करने से पहले आप उसका पाउडर तैयार कर लें। वरना सीधा इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा पर स्क्रैचेस पड़ सकते हैं।

टिप्स -

  1. आप ओटमील का पाउडर अच्छे से तैयार करके एक बोतल में बंद करके रख सकते हैं। इससे आपको रोज़ाना मिक्सर में मिक्स करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।
  2. आप ग्रीन टी के पत्तों के अलावा ग्रीन टी के बैग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - ओट्स के फायदे

चनों में मैगनीस होता है जो त्वचा को निखारने में मदद करता है और फ्री रेडिकल्स की वजह से होने वाली झुर्रियों को भी दूर करता है। इसमें मौजूद विटामिन बी सूरज से खराब होने वाली त्वचा को ठीक रखते हैं। इसके इस्तेमाल से मृत कोशिकाएं दूर होती हैं और चेहरे के दाग धब्बों को भी कम करने में मदद मिलती है।

पहली प्रक्रिया - चनों का पेस्ट

सामग्री

  1. आधा कप चने।
  2. आधा कप पानी।
  3. मिक्सर।

विधि –

  1. सबसे पहले चनों को पानी में उबालने के लिए रख दें और तब तक उबालें जब तक चने मुलायम न हो जाएँ।
  2. उबालने के बाद चनों को ठंडा होने के लिए रख दें। जब एक बार ये ठंडे हो जाएँ तो चनों को मिक्सर में मिक्स कर लें और थोड़ा पानी भी मिलाएं जिससे एक गाढ़ा पेस्ट तैयार हो सके।
  3. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और आधा घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर चेहरे को पानी से साफ़ कर लें।

चनों के पेस्ट का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - चने और नींबू का जूस

सामग्री

  1. चार चम्मच चने का पेस्ट।
  2. तीन चम्मच नींबू का जूस।

विधि

  1. एक कटोरे में चने के पेस्ट को डालें और फिर नींबू का जूस मिलाएं जिससे कि एक गाढ़ा पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और खासकर दाग धब्बों पर इन्हे अच्छे से लगाएं।
  3. फिर चेहरे को 20 मिनट के बाद साफ़ पानी से धो लें।

चने और नींबू का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण को एक दिन छोड़कर लगाएं।

चेतावनी

चनों का पेस्ट त्वचा के लिए थोड़ा गाढ़ा और भारी होता है और अगर आपकी त्वचा सेंसिटिव है तो ये आपकी त्वचा के छिद्रों को खोलने में रुकावट पैदा कर सकता है।

टिप्स

  1. आप एक दो किलो चने के पेस्ट को फ्रिज में स्टोर करके रख सकते हैं।
  2. अगर आप चनों के पेस्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहते है तो आप चने के पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।  

हल्दी में करक्यूमिन होता है जिसमे एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं जो फ्री रेडिकल से लड़ते हैं और चेहरे के दाग धब्बों को हटाने में मदद करते हैं।

पहली प्रक्रिया - हल्दी, नींबू का जूस और दूध

सामग्री –

  1. आधा चम्मच हल्दी।
  2. एक चम्मच नींबू का जूस।
  3. दो चम्मच दूध।

विधि –

  1. सबसे पहले हल्दी, नींबू क जूस और दूध को एक कटोरे में मिला लें।
  2. अब इस पेस्ट को अच्छे से चलाने के बाद अपने चेहर पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद इस पेस्ट से मसाज करें।
  4. 15 मिनट के बाद चेहरे को पानी से धो लें।

हल्दी, नींबू के जूस और दूध का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण का इस्तेमाल एक दिन छोड़कर करें।

दूसरी प्रक्रिया - हल्दी, दही और जैतून का तेल

सामग्री –

  1. आधा चम्मच हल्दी।
  2. एक डेड चम्मच दही।
  3. एक चम्मच जैतून का तेल

विधि –

  1. सबसे पहले सारी सामग्रियों को एक साथ कटोरे में मिला लें।
  2. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर मसाज करें और दाग धब्बों पर तो खासकर अच्छे से मसाज करें।
  3. 20 मिनट के बाद फिर त्वचा को गर्म पानी से धो लें।

हल्दी, दही और जैतून के तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण को हफ्ते में तीन बार जारूर इस्तेमाल करें।

चेतावनी –

  1. 15 से 20 मिनट तक हल्दी से बने मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाते हैं तो आपका चेहरा पीला दिखने लगेगा जिसका रंग जाने में काफी समय लग सकता है। हालाँकि दिए गए समय पर आप तभी इस मिश्रण को हटा लें और हटाने के बाद क्लीन्ज़र का इस्तेमाल ज़रूर करें।
  2. किसी भी ख़ास मौके पर आप हल्दी का इस्तेमाल त्वचा पर एक दिन पहले न करें। इससे आपकी त्वचा पीली पीली दिखने लगेगी।

टिप्स –

इस मिश्रण का इस्तेमाल करते समय पुराने कपड़ो का इस्तेमाल न करें क्योंकि इससे वो पेस्ट आपके कपड़ो पर गिर सकता है।

(और पढ़ें - हल्दी के फायदे और नुकसान)

प्याज में विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन ई होता है। साथ ही इसके प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट आपकी त्वचा को सूरज की किरणों से दूर रखने में मदद करते हैं और फ्री रेडिकल की वजह से होने वाली झुर्रियों को साफ़ करते हैं। इसमें सल्फ़र से समृद्ध फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो दाग धब्बों को दूर करते हैं और त्वचा को निखारते हैं।

पहली प्रक्रिया - प्याज का जूस और लहसुन का जूस

सामग्री –

  1. आधा प्याज।
  2. तीन लहसुन की फांकें।
  3. मिक्सर।
  4. छलनी।
  5. रूई।

विधि –

  1. सबसे पहले प्याज और लहसुन को मिक्सर में मिक्स कर लें और फिर इनके जूस को छान लें।
  2. अब एक रूई लें और फिर इसे जूस में डुबोकर दाग धब्बों पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद चेहरे पर जूस सूखने के लिए छोड़ दें।
  4. फिर अपने चेहरे को पानी से धो लें।

प्याज का जूस और लहसुन के जूस का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण का इस्तेमाल रात को सोने से पहले ज़रूर करें।

दूसरी प्रक्रिया - प्याज का जूस और शहद

सामग्री -

  1. एक चम्मच प्याज का जूस।
  2. दो चम्मच शहद।
  3. रूई।

विधि –

  1. सबसे पहले प्याज के जूस को और शहद को एक कटोरे में डाल लें।
  2. अब एक रूई लें फिर इस मिश्रण में डुबोकर रूई को अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं।
  3. आधे घंटे के लिए इस मिश्रण को अपनी त्वचा पर ऐसी ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर चेहरे को पानी से धो लें।

प्याज के जूस और शहद का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - प्याज का जूस, बेसन और गुलाब जल

सामग्री –

  1. एक चम्मच प्याज का जूस।
  2. दो चम्मच बेसन।
  3. एक चम्मच गुलाब जल।

विधि –

  1. सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक कटोरे में मिक्स कर लें।
  2. इस पेस्ट को तब तक चलाएं जब तक ये एक गाढ़ा पेस्ट न बन जाए।
  3. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगाकर रखें।
  4. फिर अपने चेहरे को पानी से धो लें।

प्याज का जूस, बेसन और गुलाब जल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस पैक का इस्तेमाल हफ्ते में तीन बार ज़रूर करें।

चेतावनी –

किसी भी ख़ास मौके पर प्याज के जूस का इस्तेमाल एक दिन पहले न करें क्योंकि इसकी गंध अगले दिन तक भी रहती है।

टिप्स –

प्याज से बने मिश्रण के इस्तेमाल के बाद खुशबूदार फेशियल क्लेंसे का इस्तमाल करें जिससे कि इसकी स्ट्रांग गंध को कम किया जा सके।

(और पढ़ें - प्याज के फायदे और नुकसान)

अनानास में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ए और विटामिन सी होता है जो फ्री रेडिकल डैमेज से लड़ता है और त्वचा के कोलाजेन को भी बढ़ाता है। ये सभी झाइयों और दाग धब्बों को दूर करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही अनानास में ब्रोमेलैन होता है जो आपकी त्वचा को कोमल बनाता है और झुरीयों को भी रोकता है।

पहली प्रक्रिया - अनानास जूस

सामग्री –

  1. एक चौथाई अनानास।
  2. एक मिक्सर।
  3. एक छलनी।
  4. रूई।

विधि –

  1. सबसे पहले एक चौथाई अनानास को मिक्सर में मिक्स कर लें और फिर इसके जूस को छान लें।
  2. अब एक रूई लें और फिर उसे जूस में डुबोकर अपने दाग धब्बों पर लगाएं और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  3. फिर त्वचा को पानी से धो लें।

अनानास के जूस का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण को रोज़ाना दोहराएं।

दूसरी प्रक्रिया - अनानास जूस और दही

सामग्री –

  1. दो चम्मच ताज़ा अनानास का जूस।
  2. दो चम्मच दही।

विधि –

  1. सबसे पहले अनानास के जूस और दही को एक कटोरे में मिक्स कर लें और एक पेस्ट तैयार कर लें।
  2. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 25 मिनट तक लगाकर रखें।
  3. अब त्वचा को पानी से धो लें।

अनानास जूस और दही का इस्तेमाल कब तक करें –

इस मिश्रण का इस्तेमाल हफ्ते में तीन बार ज़रूर करें।

चेतावनी –

  1. अनानास का जूस कही गलत प्रभाव न डालें उससे पहले आप एक फोरआर्म में पैच टेस्ट ज़रूर करके देख लें।
  2. कभी भी रखे हुए अनानास के जूस का इस्तेमाल न करें क्योंकि इससे आपकी त्वचा और भी ज़्यादा खराब हो सकती है।

टिप्स –

आप एक ग्लास अनानास के जूस को भी रोज़ाना पी सकते हैं।

(और पढ़ें - अनानास के फायदे और नुकसान)

और पढ़ें ...

References

  1. American Osteopathic Association.Hyperpigmentation . American Osteopathic College of Dermatology [internet].
  2. Nouveau S, Agrawal D, Kohli M, Bernerd F, Misra N, Nayak CS. Skin Hyperpigmentation in Indian Population: Insights and Best Practice. 2016 Sep-Oct;61(5):487-95. PMID: 27688436
  3. Hollinger JC, Angra K, Halder RM. Are Natural Ingredients Effective in the Management of Hyperpigmentation? A Systematic Review. 2018 Feb;11(2):28-37. PMID: 29552273
  4. Huang MT, Xie JG, Lin CB, Kizoulis M, Seiberg M, Shapiro S, Conney AH. Inhibitory effect of topical applications of nondenatured soymilk on the formation and growth of UVB-induced skin tumors.. 2004;14(7-8):387-97. PMID: 15301430
  5. Debabrata Bandyopadhyay. Tropical treatment of melasma . 2009 Oct-Dec; 54(4): 303–309. PMID: 20101327