myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आप औरों से हटकर दिखना चाहते हैं और अलग दिखने के लिए बालों को कलर करने के बारे में सोचते होंगे। बालों को कलर करने के लिए मार्किट में कई प्रकार के हेयर कलर उपलब्ध होते हैं। कुछ हेयर कलर परमानेंट, सेमी-परमानेंट होते हैं और कुछ कलर टेम्पररी (कुछ ही वक़्त के लिए) होते हैं। निर्भर करता है कि आप कौन से ब्रांड का हेयर कलर इस्तेमाल कर रहे हैं।

हालांकि, बालों को कलर करने के लिए ऐसे उत्पादों को चुनना बेहद मुश्किल है जो केमिकल मुक्त हो या आपके बालों को नुकसान न पहुंचाये। लेकिन चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आज हम आपको प्राकृतिक तरीके से कलर बनाने की विधि बताने वाले हैं। इनसे न सिर्फ आपके बाल केमिकल मुक्त रहेंगे, बल्कि स्वस्थ भी रहेंगे। 

तो आइये आपको बताते हैं बाल कलर करने के तरीके, विधि और नुकसान –

  1. बालों में कलर लगाने का तरीका - Balo me colour lagane ka tarika
  2. हेयर कलर कैसे करें घर में - Hair colour kaise kare ghar me
  3. हेयर कलर के नुकसान - Hair colour ke nuksan
  4. बालों में कलर करने के टिप्स - Balo me colour karne ke tips
  5. हेयर कलर करवाने से पहले याद रखें ये 4 बातें, बढ़ेगी बालों की उम्र

पहला चरण – बालों में कलर लगाने के लिए कलर को मिलाएं –

  • सबसे पहले कलर को मिक्स करें और डब्बे में मौजूद डेवलपर (developer) को एक कटोरी में डाल लें। फिर दोनों को अच्छे से ब्रश से मिला लें, जिससे उसका कलर दिखने लगे।
  • अब अपने सिर के आसपास तौलिये को रखें। इस तरह आपके कपड़ो पर कलर नही गिरेगा।
  • लगाने से पहले अपने हाथों में ग्लब्स पहन लें। इस प्रकार आपके हाथों में कलर नहीं लगेगा। आप कलर लगाने से पहले हाथों में वैसलीन या तेल भी लगा सकते हैं, इससे हेयर कलर असानी से आपके हाथों से हट जाएगा।
  • अब कलर लगाना शुरू करें।

दूसरा चरण – बाल कलर करने के लिए मिश्रण को लगायें –

  • सबसे पहले माथे के पास के बालों से हेयर कलर को लगाना शुरू करें।
  • बालों को एक साथ पूरा कलर न करके थोड़े-थोड़े हिस्से पर कलर करें। इसमें आप माथे से कलर लगाना शुरू करें और धीरे-धीरे कलर को उस हिस्से के पूरे बालों पर अच्छी तरह से लगा लें। इसके बाद यही प्रक्रिया अन्य बचें हुए बालों में भी अपनाएं।
  • पूरे बालों में कलर लगाने के बाद आधे घंटे के लिए कलर को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें। या जब तक कलर बालों में सूख न जाए तब तक ऐसे ही लगाकर रखें।

तीसरा चरण - बाल कलर करने के बाद उन्हें धो लें -

जब समय खत्म हो जाए तो अपने बालों को पानी से धोएं। तब तक धोएं जब तक आपके बालों से साफ पानी न निकलने लगे। इस बात का ध्यान रखें कि बालों से कलर अच्छे से निकल जाये, जिससे बाद में आपके बालों में डैंड्रफ या स्किन इरिटेशन की समस्या पैदा न हो।

चौथा चरण - बालों को कलर करने के बाद कंडीशनर लगाएं -

किसी भी केमिकल से बचाने के लिए कंडीशनर बेहद जरूरी है। बालों को धोने के बाद कंडीशनर लगाएं। दो मिनट तक कंडीशनर को लगाकर रखें और फिर बालों को पानी से धो लें।

बालों में कलर करना है तो गाजर और चुकंदर का इस्तेमाल करें - Balo me colour karna hai to gajar aur chukandar ka istemal kare

सामग्री –

  1. एक कप चुकंदर का जूस। (और पढ़ें - चुकंदर के फायदे)
  2. एक या दो कप गाजर का जूस। (और पढ़ें - गाजर के फायदे)
  3. पुरानी टी शर्ट।
  4. स्प्रे बोतल।

तैयार का समय –

दो मिनट।

पूरी प्रक्रिया का समय –

एक घंटा।

बालों में कलर कैसे करें –

  1. सबसे पहले कोई पुरानी टी शर्ट पहन लें। अब एक स्प्रे बोतल में दोनों सामग्रियों को मिला लें।
  2. अब अपने बालों पर बोतल से स्प्रे करें और फिर एक घंटे के लिए सूरज के सामने रहें।
  3. अगर आप सूरज के सामने नहीं रहना चाहते तो आप ब्लो ड्रायर का अधिक तापमान करके उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. जब एक घंटा बीत जाये तब बालों को शैम्पू से धो लें।
  5. शैम्पू से बालों को धोने के बाद कंडीशनर लगा लें।

कब तक करें –

एक से दो हफ्ते तक इस प्रक्रिया को दोहराएं।

यह कलर किस तरह काम करता है –

यह तरीका पहली प्रक्रिया में आपको एकदम से अच्छा परिणाम नहीं दिखाएगा। आपको अपने बालों में इस उपाय को कई बार दोहराना पड़ेगा तब जाकर आपके बाल लाल दिखने शुरू होंगे। बालों को चमकदार और खूबसूरत दिखाने के लिए यह तरीका बेहद अच्छा है। इस प्राकृतिक कलर से आपको किसी भी तरह के नुकसान देखने को नहीं मिलेंगे।

बाल कलर करने के तरीके में सेब के सिरके और सोया सॉस का प्रयोग करे - Baal colour karne ke tarike me seb ke sirke aur soya sauce ka prayog kare

सामग्री –

  1. एक या दो कप सेब का सिरका। (और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे)
  2. एक या दो कप सोया सॉस।

तैयार का समय –

2 मिनट।

पूरी प्रक्रिया का समय –

20 मिनट।

बालों में कलर कैसे करें –

  1. सबसे पहले एक जग में दोनों सामग्रियों को मिला लें। फिर इस मिश्रण को अलग रख दें।
  2. अब अपने बालों को शैम्पू से धोएं और फिर कंडीशनर का इस्तेमाल करें।
  3. जब आपके बाल कंडीशनर से धुल जाएं, तब अपने बालों में सेब का सिरका और सोया सॉस का मिश्रण लगाएं।
  4. इस मिश्रण से अच्छे से अपने बालों को धोएं।
  5. मिश्रण को लगाने के बाद अपने बालों को फिर न धोएं और इन्हें प्राकृतिक तरीके से सूखने दें। 

कब तक करें –

महीने में दो से चार बार इस प्राकृतिक कलर को दोहराएं।

यह कलर किस तरह काम करता है –

सेब का सिरका बालों को साफ करता है। सोया सॉस आपके बालों में गहरा रंग चढ़ाता है। यह कलर बहुत आसानी से बालों से निकल जाता है, तो बालों में गहरा कलर चढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल रोजाना करें।

बालों में कलर लगाने का तरीका हिना है - Balo me colour lagane ka tarika henna hai

सामग्री –

  1. एक या दो कप हिना। (और पढ़ें - हिना (मेहंदी) के फायदे)
  2. एक या दो कप पानी।
  3. शावर कैप।

तैयार का समय –

5 मिनट।

पूरी प्रक्रिया का समय –

दो घंटे।

बालों में कलर कैसे करें –

  1. एक कटोरी में, सबसे पहले हिना और पानी को एक साथ मिला लें। जिससे गाढ़ा पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस मिश्रण को अपने बालों में लगाएं। इस बात का ध्यान रखें कि सभी बाल हिना से ढक गए जाएं।
  3. फिर दो से तीन घंटे के लिए बालों में हिना को लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर बालों को शैम्पू से धो लें।
  5. शैम्पू के बाद कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें।

कब तक करें –

महीने में एक बार हिना को जरूर लगाएं।

यह कलर किस तरह काम करता है –

हिना बहुत ही बेहतरीन प्राकृतिक सामग्री है। आप इसे बालों को कलर करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। ये न सिर्फ बालों को गहरा रंग देती है, बल्कि बालों को पोषण भी देती है। आप हिना को काली चाय के साथ भी मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपके बालों को लाल रंग की जगह ब्राउन रंग मिलेगा। इसका कलर एक महीने तक आपके बालों में रहता है और अगर आपको अपने बाल सफेद दिख रहे हैं तो फिर से हिना का इस्तेमाल कर सकते हैं।

बालों को कलर करने के घरेलू नुस्खे में कॉफी को शामिल करें - Balo ko colour karne ke gharelu nuskhe me coffee ko shamil kare

सामग्री –

  1. एक चम्मच चाय या कॉफी। (और पढ़ें - कॉफी पीने के फायदे)
  2. एक या डेड कप पानी।

तैयार का समय –

20 मिनट।

पूरी प्रक्रिया का समय –

5 मिनट।

बालों में कलर कैसे करें –

  1. सबसे पहले चाय या कॉफी को 20 मिनट के लिए पानी में उबाल लें।
  2. जब तक एक या डेड कप पानी उबलते-उबलते एक तिहाई न हो जाए, तब तक पानी को उबालते रहें।
  3. फिर मिश्रण को छान लें। अब पहले अपने बालों को शैम्पू से धोएं।
  4. धोने के बाद बालों में कंडीशनर लगाएं।
  5. फिर बालों को इस मिश्रण से अच्छे से धोएं।
  6. बालों को अब पानी से न धोएं और प्राक्रतिक तरीके से उन्हें सूखने दें।

कब तक करें –

हफ्ते में एक या दो बार इस उपाय को दोहराएं।

यह कलर किस तरह काम करता है –

जब आप अपने बालों को दुबारा धोएंगे तो यह कलर आसानी से निकाल जाएगा। रोजाना इस कलर का इस्तेमाल करें, जिससे आपके बालों का रंग गहरा हो जाये। आप अन्य चाय की पत्तियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे कैमोमाइल टी के इस्तेमाल से आपके बाल पीले लगने लगेंगे या फिर लौंग की चाय तैयार कर सकते हैं। इससे आपके बालों को लाल रंग मिलेगा। आप चाय या ब्लैक टी का भी उपयोग कर सकते हैं, इससे आपके बालों को ब्राउन कलर मिलेगा।

बालों को कलर नींबू से करें - Balo ko colour nimboo se kare

सामग्री –

  1. दो हिस्से नींबू के जूस के। (और पढ़ें - नींबू के फायदे)
  2. एक हिस्सा पानी का।
  3. स्प्रे बोतल।

तैयार का समय –

2 मिनट।

पूरी प्रक्रिया का समय –

एक घंटा।

बालों में कलर कैसे करें –

  1. एक स्प्रे बोतल में, सबसे पहले नींबू के जूस को पानी के साथ मिला लें। दोनों सामग्रियों को बोतल में डालने के बाद अच्छे से हिलाएं।
  2. जिन बालों के हिस्सों को आप कलर करना चाहते हैं, उन हिस्सों में स्प्रे करें। इस बात का ध्यान रखें कि ये मिश्रण नींबू और पानी से बना हो।
  3. फिर एक घंटे के लिए सूरज के सामने खड़े हो जाएं। अगर आप सूरज के सामने नही जाना चाहते तो आप ब्लो ड्रायर का तापमान तेज करके बालों में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. एक घंटे के बाद, बालों को शैम्पू से धोएं और फिर कंडीशनर का इस्तेमाल करें।  

कब तक करें –

इस उपाय को हफ्ते में एक बार दोहराएं।

यह कलर किस तरह काम करता है –

नींबू के जूस में ब्लीचिंग गुण होते हैं जो गर्माहट लगने के बाद उत्तेजित हो जाते हैं। अगर आप इस प्रक्रिया को कुछ महीने तक हफ्ते में एक बार दोहराते हैं तो आपको अपने बालों में बदलाव खुद ब खुद दिखने लगेगा।

हेयर डाई के कारण बिगड़ जाता है त्वचा का रंग - Hair dye ke karan bigad sakta hai twacha ka rang

बालों को कलर करते समय स्किन डिस्कलोरेशन सामान्य है। रंग के छींटे और हेयरलाइन के चारों ओर कुछ अतिरिक्त रंग से त्वचा पर कलर पैच दिखाई दे सकते हैं। हालांकि, यह अस्थायी होता है और त्वचा कुछ दिनों के भीतर खुद को नवीनीकृत कर लेती है।

कान्टेक्ट डर्माटाईटिस का कारण बनती है हेयर डाई - Contact dermatitis ka karan banti hai hair dye

डर्मेटाइटिस त्वचा की सूजन होती है और आमतौर पर लालिमा और खुजली का कारण बनती है। यह तब होता है जब त्वचा रसायनों से उत्तेजित होती है।

एक्जिमा का कारण है हेयर कलर - Eczema ka karan hai hair colour

यह एक बहुत ही सामान्य त्वचा की स्थिति है और त्वचा पर खुजली, लालिमा और क्रस्टिंग पैच इसकी विशेषता है। सूजन, फ्लेकिंग और उस क्षेत्र पर ब्लिस्टरिंग आम लक्षण हैं।

हेयर डाई से संबंधित त्वचा कैंसर - Hair dye se sambandhit twacha cancer

त्वचा कैंसर लोगों में होने की एक संभावना होती है विशेष रूप से सैलून प्रोफेशनल्स, जो लगातार हेयर कलर के संपर्क में रहते हैं। (और पढ़ें – कैंसर के प्रकार)

सफेद बालों की वजह है हेयर डाई - Safed balo ki vajah hai hair dye

अगर कोई व्यक्ति बहुत अधिक हेयर कलर कराता है तो इससे हेयर फॉलिकल्स पर इसका बुरा असर पड़ता है जिससे बाल जल्दी सफ़ेद हो सकते हैं।

हेयर कलर के नुकसान से कैसे बचाएँ बालों को - Hair colour ke nuksan se kaise bachaye balo ko

 हेयर कलर के नुकसान से इस प्रकार बचाएं बालों को -

  1. अपने बालों को बार-बार कलर न करें और केवल तभी करें जब आवश्यक हो।
  2. एक ब्रांड का कलर उपयोग करें और इसे बार-बार बदले नहीं।
  3. अमोनिया से मुक्त हेयर कलर्स का उपयोग करें क्योंकि अमोनिया के साथ कलर्स आपके हेयर के लिए अधिक हानिकारक होते हैं।
  4. यदि आप कलर्स के साथ किसी भी अन्य रासायनिक उपचार की योजना बना रहे हैं, तो अच्छा होगा यदि आप अपने बालों को अंत में कलर कराएं। अपने बाल रंगवाने बाद तुरंत किसी भी रासायनिक उपचार से बचें।

बालों में कलर करने के टिप्स कुछ इस प्रकार है -

  1. जब आप बालों के लिए कलर का चयन करें तो कभी भी अपने बालों के प्राकृतिक रंग से न ज्यादा गहरा न ज्यादा हल्का कलर चुनें।
  2. बालों में कलर हमेशा बिना धुले बालों में लगाएं। इससे आपके बाल उलझेंगे नहीं और कलर लगाने में भी आसानी होगी।
  3. इससे फर्क नही पड़ता कि आपने हेयर कलर कितनी बार इस्तेमाल किया हुआ है। हमेशा उत्पादों पर लिखी जानकारी को जरूर पढ़ें। सभी ब्रांड के उत्पादों में बालों में कलर लगाने का समय, लगाने का तरीका और लगाने के बाद की प्रक्रिया अलग-अलग होती है।
  4. अगर आप अपने बालों के प्राकृतिक रंग से एकदम हटकर हेयर कलर करना चाहते हैं तो घर में बालों को कलर न करके पार्लर में जाकर कलर करवाएं।
  5. अगर आपको हेयर कलर करने से पहले एलर्जी टेस्ट करना है तो कुछ मात्रा में कलर को अपने बालों के कुछ हिस्से में लगा लें। किसी भी तरह की समस्या अगर नहीं दिखती है तो आप पूरे बालों में कलर लगा सकते हैं। अगर कुछ भी परेशानी नजर आती है तो अपने डर्मेटोलॉजिस्ट से बात जरूर करें।
  6. अच्छा परिणाम पाने के लिए एक बात अपने दिमाग में रखें कि कलर का चयन, तयारी, लगाने का तरीका और देखभाल की सही तकनीक बालों से रूखेपन को दूर रखती है और उन्हें चमकदार और मुलायम बनाती है।  
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें